तुम तो ठहरे परदेशी साथ क्या निभाओगे ..

दशहरा महोत्सव के दुसरे दिन अल्ताफ राजा ने पेश किए  कार्यक्रम

राजधानी के गांधी मैदान में  11 दिवसीय दशहरा महोत्सव के दूसरे दिन अल्ताफ राजा की कव्वाली के पहले दर्शकों ने हंगामा कर दिया. कार्यक्रम में देर  होने पर भड़के दर्शकों ने जमकर बवाल मचाया और कुर्सियां फेंकी। इस स्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा जिससे शान्ति हो सके .निर्धारित समय से देर शुरू हुए कार्यक्रम में मंच पर जब अल्ताफ राजा पहुंचे तब कार्यक्रम शुरू हुआ.मशहूर गायक अल्ताफ राजा ने रविवार की शाम गांधी मैदान में गाना शुरू किया तो श्रोता झूम उठे। अल्ताफ का तुम तो ठहरे परदेशी गाना सुना कर दर्शकों को झुमने पर मजबूर कर दिया .




श्री कृष्ण स्मारक संस्थान आयुक्त कार्यालय पटना प्रमंडल और कला संस्कृति विभाग की ओर से आयोजित इस सांस्कृतिक संध्या में अल्ताफ राजा ने एक से बढ़कर एक गीतों को अपनी  आवाज में सुनाकर  श्रोताओं को अपना दीवाना बना दिया। गांधी मैदान में गीत-संगीत की इस हसीन शाम में  इश्क़ और प्यार का मज़ा लीजिए थोड़ा इंतज़ार का मज़ा लीजिए… जैसे सदाबहार गीतों को अपनी मधुर आवाज में गाकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।  की – बोर्ड पर मंगेश सांवत, नजीर खान, हारमोनियम पर नाजिश खान, ऑक्टोपैड पर मो. हसन, ढ़ोलक पर अब्दुल गनी, तबला पर मो. नूर ने उनका संगत किया.

download-1 untitled-3