प्रधानमंत्री ने डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

अद्वितीय प्रतिभा के धनी भारत रत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की है.एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा हैः “स्वतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति और अद्वितीय प्रतिभा के धनी भारत रत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को उनकी जयंती पर शत-शत नमन. उन्होंने देश के स्वतंत्रता संग्राम में अपना विशिष्ट योगदान दिया। राष्ट्रहित में समर्पित उनका जीवन देशवासियों के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बना रहेगा.” PATNA NOW की ओर से संविधान के निर्माण में अहम भूमिका निभाने वाले महान भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं देश के प्रथम राष्ट्रपति भारत रत्न डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद जी की जयंती पर उन्हें शत्-शत् नमन…

Read more

अब WhatsApp पर मुफ्त में मिलेंगे डॉक्टर, सरकार की नई योजना शुरू

सीएससी हेल्थ सर्विसेज हेल्पडेस्क’ करेगा आपकी मददसर्विस हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में उपलब्ध होगी प्रशासन से सहयोग और डॉक्टरों से सलाह लेना भी आसान अभी मदद चाहिए तो यहां क्लिक करें –https://wa.me/917290055552/. यहाँ सुने :- डॉक्टर की मदद चाहिए तो बस अपने मोबाइल में +917290055552 नम्बर सेव करें और HI लिख कर भेजें. आपके मेसेज के जवाब में आपको कई विकल्प मिलेंगे, सही विकल्प का चयन करें और अपने समस्या का समाधान पाए. केंद्र सरकार की इस योजना को योजना इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कॉमन सर्विस सेंटर (csc) स्कीम ने लागू किया है. देश के ग्रामीण और दूरदराज के हिस्सों में रहने वाले लोगों को बहुत फायदा होगा. इसके लिए टेलीकंसल्टेशन से समस्या का समाधान प्रदान करने के उद्देश्य से वॉट्सऐप पर एक डेडिकेटेड हेल्पलाइन शुरू है, जिसे ‘सीएससी हेल्थ सर्विसेज हेल्पडेस्क’ नाम दिया गया है. वॉट्सऐप हेल्पडेस्क सामान्य स्वास्थ्य के साथ-साथ कोविड-19 से संबंधित क्षेत्रों में उनकी विशिष्ट स्वास्थ्य आवश्यकताओं के आधार पर लोगों को डॉक्टर की मुफ्त सलाह उपलब्ध कराएगा. वॉट्सऐप हेल्पडेस्क से आम लोगों के लिए प्रशासन से सहायता लेना,डॉक्टरों से सलाह लेना, कोविड से संबंधित संसाधनों की एक बड़ी सुविधा मुहैया कराएगा और लोगों के प्रश्नों का समाधान प्राप्त करना भी आसान होगा, इस प्रकार की सेवा सभी के लिए मुफ्त में उपलब्ध है.आप फ्री में वॉट्सऐप पर सीएससी हेल्थ सर्विसेज हेल्पडेस्क का उपयोग कर सकेंगे. PNCDESK #aapkikahbar यह भी पढ़ें:-पपीता खाने से पहले यह जान लें फायदा और नुकसान

Read more

ओमिक्रोन से सहमी दुनिया,’वेंरिएंट ऑफ कंसर्न’ घोषित

कोरोना के अन्य वेरिएंट के मुकाबले 30 गुणा खतरनाक एयर बबल के तहत जारी उड़ानों को लेकर भी नई गाइडलाइंस 15 दिसंबर से शुरू होने वाली अंतर्राष्ट्रीय उड़ान स्थगित 619 दिन से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर हैं बैन ओमिक्रोन के खतरे के मद्देनज़र संचालन फिलहाल स्थगित नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने 15 दिसंबर से शुरू होने वाली अंतर्राष्ट्रीय उड़ान सेवाओं को स्थगित कर दिया है. इससे पहले 26 नवंबर को नागर विमानन मंत्रालय ने बताया था कि 15 दिसंबर से भारत आने-जाने वाली सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें सामान्य रूप से संचालित होंगी. हालांकि कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के खतरे के मद्देनज़र संचालन को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है. नई तारीखों की घोषणा बाद में की जाएगी. आपको बता दें कि भारत आने-जाने वाली सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें कोविड-19 महामारी के कारण 23 मार्च, 2020 से ही बंद हैं. हालांकि, पिछले साल जुलाई से करीब 28 देशों के साथ हुए एयर बबल समझौते के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें संचालित हो रही हैं. सरकार ने करीब 619 दिन से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन लगा रखा है. कोरोना वायरस को ओमिक्रोन वेरिएंट ने पूरी दुनिया में एक नया डर पैदा कर दिया है.इस डर का खौफ अब दुनिया के विभिन्न देशों में भी देखा जा रहा है. इस वेरिएंट को ‘वेंरिएंट ऑफ कंसर्न’  घोषित किया गया है और सभी देशों से सतर्क रहने को कहा है. इसी के चलते भारत भी कई तरह के कदम उठा चुका है. एयर बबल के तहत जारी उड़ानों को लेकर भी नई गाइडलाइंस जारी की गई हैं. इसके अलावा जो देश रिस्क वाले कैटगरी में आते हैं, वहां से आने वाले यात्रियों को लेकर अधिक

Read more

सड़क पर वाई फाई से चार्ज होगी इलेक्ट्रिक कार

कॉन्क्रीट मिक्सचर में करंट से बनाते हैं चुंबकीय क्षेत्र आयरन ऑक्साइड, निकल और जिंक जैसे धातु का कमाल अमेरिका में सड़क को चार्जर में तब्दील करने का प्रयोग अब ऐसी सड़कें बनाने की दिशा में काम चल रहा है, जो कारों को चलने पर उन्हें चार्ज भी कर देंगी. इसके लिए इंडक्टिव चार्जिंग नामक तकनीक का विकास किया जा रहा है. इस साल जुलाई में इंडियाना के परिवहन विभाग और परड्यू यूनिवर्सिटी ने दुनिया के पहले वायरलेस चार्जिंग कॉन्क्रीट हाइवे की योजना बनाई है. इस परियोजना पर एस्पायर नामक एक इंजीनियरिंग रिसर्च सेंटर काम कर रहा है. इसे नेशनल साइंस फाउंडेशन से फंडिंग मिल रही है. एस्पायर की डायरेक्टर नाडिया कहती हैं कि हमारा उद्देश्य इलेक्ट्रिक वाहनों को सड़क पर चलने के दौरान ही चार्ज करना है. इसके लिए चुंबकीय कॉन्क्रीट तकनीक का उपयोग करते हैं, जिसमें आयरन ऑक्साइड, निकल और जिंक जैसे धातु तत्व मिलाए जाते हैं. इस कॉन्क्रीट को जर्मन कंपनी मैगमेंट ने विकसित किया है. फिलहाल इस तकनीक पर कई चरणों में परीक्षण किया जा रहा है. यह कुछ-कुछ ऐसा ही है जैसे मोबाइल फोन वायरलेस तरीके से चार्ज होता है. कॉन्क्रीट मिक्सचर में बिजली का करंट दौड़ाकर इसे चुंबकीय बनाया जाता है. इससे एक चुंबकीय क्षेत्र बनता है जो वायरलैस तरीके से वाहन को पावर देकर चार्ज करता है. पेटेंट कराए गए मटेरियल से बने 12 फीट लंबी 4 फीट चौड़े प्लेट या बॉक्स को सड़क पर कुछ इंच नीचे दबा दिया जाता है. इस बॉक्स को पावर ग्रिड से जोड़कर इसमें करंट दौड़ाया जाता है.

Read more

‘ओमाइक्रोन’ कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा खतरनाक

दो डोज या बूस्टर डोज के बाद भी है प्रभावी डब्ल्यूएचओ ने नए कोरोनावायरस स्ट्रेन को ‘चिंता के प्रकार’ के रूप में नामित किया, इसे ‘ओमाइक्रोन’ नाम दिया ओमाइक्रोन’ वैरिएंट, जिसकी घोषणा दक्षिण अफ्रीका में वैज्ञानिकों ने की है जो दो और देशों, इज़राइल और बेल्जियम में पाया गया. वहीँ बोत्सवाना और हांगकांग अन्य देश हैं जहां ‘ओमाइक्रोन’ संस्करण पाया गया है.अब डर है कि एक नया, तेजी से फैलने वाला कोरोनावायरस संस्करण संभावित रूप से अधिक खतरनाक हो सकता है, यहां तक कि डेल्टा संस्करण ने कई देशों को प्रभावित क्षेत्रों से यात्रा पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रेरित किया, और दुनिया भर के शेयर बाजारों को इसने धाराशायी कर दिया.विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस संस्करण, बी.1.1.529 को “चिंता के प्रकार (वीओसी)” के रूप में नामित किया था, और इसे ओमाइक्रोन नाम दिया था.डब्ल्यूएचओ ने कहा कि अब तक वैरिएंट के लगभग 100 जीनोम अनुक्रमों की सूचना मिली है. कई संक्रमित लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया गया था, इज़राइल में कम से कम एक व्यक्ति को टीका की तीसरी, बूस्टर, खुराक भी मिली थी.भारत में 15 दिसंबर से नियमित अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाओं को फिर से शुरू करने की घोषणा की है ऐसे में यह यात्रियों, विशेष रूप से प्रभावित देशों के लोगों की स्क्रीनिंग पर ज्यादा ध्यान देने की जरुरत है. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों से कहा कि कोरोना के नए स्ट्रेन ‘ओमाइक्रोन’ को देखते हुए सार्वजनिक स्थल पर जांच और उनसे सतर्कता बढ़ाने के लिए कहा है . अब तक के वैज्ञानिक

Read more

पारिवारिक पार्टियां देश को बर्बाद कर रही है -पीएम मोदी

खुद लोकतांत्रिक कैरेक्टर खोने वाले दल लोकतंत्र की रक्षा कैसे करेंगे अच्छा होता अगर देश के आजाद होने के बाद कर्तव्य पर बल दिया गया होता नई दिल्ली : आज 71वें संविधान दिवस पर संसद के सेंट्रल हॉल में एक समारोह को सम्बोधित करते हुए पीएम ने कहा कि भारत एक ऐसे संकट की तरफ़ बढ़ रहा है, जो संविधान को समर्पित लोगों के लिए चिंता का विषय है, लोकतंत्र के प्रति आस्था रखने वालों के लिए चिंता का विषय है और वह है पारिवारिक पार्टियांआज का दिवस इस सदन को प्रणाम करने का है। इसी पवित्र जगह पर महीनों तक भारत के एक्टिविस्टों ने देश के उज्जवल भविष्य के लिए व्यवस्थाओं को निर्धारित करने के लिए मंथन किया था और संविधान रुपी अमृत हमें प्राप्त हुआ.कार्यक्रम को राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और लोकसभा अध्यक्ष संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान परिवारवाद को लेकर विपक्ष पर हमला किया. पीएम मोदी ने कहा कि भारत एक ऐसे संकट की ओर बढ़ रहा है, जो संविधान को समर्पित लोगों के लिए चिंता का विषय है, लोकतंत्र के प्रति आस्था रखने वालों के लिए चिंता का विषय है और वो है पारिवारिक पार्टियां. पीएम मोदी ने आगे कहा, योग्यता के आधार पर एक परिवार से एक से अधिक लोग जाएं, इससे पार्टी परिवारवादी नहीं बन जाती है. लेकिन एक पार्टी पीढ़ी दर पीढ़ी राजनीति में है. संविधान की भावना को भी चोट पहुंची है, संविधान की एक-एक धारा को भी चोट पहुंची है, जब राजनीतिक दल अपने आप में अपना लोकतांत्रिक

Read more

अटल इनोवेशन मिशन तैयार करेगा दस लाख बच्चे

भारत में तैयार होंगे दस लाख बच्चे 9200 से अधिक एटीएल क्षमता से लैस स्कूल शामिल भारत का पहला अंतरक्रियाशील ओटीटी चैनल बनेगा युवा मस्तिष्क में जिज्ञासा, रचनात्मकता और कल्पनाशीलता का पोषण करना स्कूलों के प्रधानाध्यपकों,शिक्षकों तथा छात्रों को ध्यान में रखकर नियमित गतिविधियां छात्र और शिक्षक विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग व गणित (एसटीईएम) के प्रति होंगे आकर्षित अटल इनोवेशन मिशन और विज्ञान प्रसार द्वारा अटल टिंकरिंग लैब तथा इंगेज विद साइंस के बीच आपसी सहयोग की घोषणा अटल टिंकरिंग लैब अटल इनोवेशन मिशन का हिस्सा है, एक अद्वितीय पहल है जिसमें सरकारी स्कूलों में नीति आयोग की सहायता से वर्कस्पेस बनाए जाते हैं ताकि स्कूली छात्रों में नवीनीकरण और उद्यमिता के भाव को उजागर किया जा सके.   नई दिल्ली-नीति आयोग की मुख्य पहल अटल इनोवेशन मिशन (अटल नवप्रवर्तन मिशन – एआईएम) ने भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के एक स्वायत्तशासी संगठन विज्ञान प्रसार के साथ सहयोग की घोषणा की। इसके तहत एआईएम के अटल टिंकरिंग लैब्स (एटीएल) और विज्ञान प्रसार के अभिनव अंतरक्रियाशील मंच इंगेज विद साइंस (ईडब्लूएस) के बीच सहयोगात्मक तालमेल स्थापित करेगा. ईडब्लूएस अपने यहां 9200 से अधिक एटीएल क्षमता से लैस स्कूलों को शामिल करेगा तथा उनके छात्रों, शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को अपनी समस्त अंतरक्रियाशीलता में संलग्न करेगा. इन गतिविधियों के तहत प्वॉइंट अर्जित करने होंगे, जिनके आधार पर प्रमाणपत्र और प्रोत्साहन प्रदान किया जायेगा, ताकि छात्र और शिक्षक विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग व गणित (एसटीईएम) के प्रति आकर्षित हो सकें.  ‘आधुनिक नवाचारियों के रूप में भारत में दस लाख बच्चों को तैयार करने’ के दृष्टिकोण

Read more

आपके घर में हो रहा है ‘बाल शिव’ का आगमन

&टीवी पर प्रसारित होगा बाल शिव बाल शिव का आपके घर आने को तैयार हैं तो इन्तजार किस बात का बाल शिव का स्वागत कीजिये.बाल शिव के रचनाकार और कहानीकार अनिरुद्ध पाठक ने पटना नाउ से विशेष रूप से साझा किया, “हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि बाल शिव का प्रीमियर 23 नवंबर, 2021 को होगा।” लेखक और रचनाकार के रूप में अनिरुद्ध पाठक एक नई कहानी के माध्यम से बाल शिव लेकर आ रहे है जो मंगलवार से &टीवी पर प्रसारित होगा. जहां महादेव की कथाओं का अंत हुआ था वहीं से एक नई कहानी ने जन्म लिया है..मेरा ये दृष्टिकोण मेरी कथा के संबंध में है .बस चाहता हूँ आपका प्यार इसे भी मिले …शिव ही सत्य हैं और सत्य ही सबसे सुन्दर है और शिवत्व को जानने के लिए जरुर देखिये बाल शिव .इस धारावाहिक में संवाद लिखा है जाने माने लेखक जीतेन्द्र सुमन ने । शो के कलाकारों में बाल शिव के रूप में आन तिवारी, महासती अनुसूया के रूप में मौली गांगुली, महादेव के रूप में सिद्धार्थ अरोड़ा, देवी पार्वती के रूप में शिव्या पठानिया, असुर अंधक के रूप में कृप कपूर सूरी, नारद मुनि के रूप में प्रणीत भट्ट, नंदी के रूप में दानिश अख्तर सैफी, दक्ष अजीत सिंह के रूप में शामिल हैं। इंद्राणी के रूप में इंद्र, अंजिता पूनिया, आचार्य दंडपानी के रूप में रवि खानविलकर, मैना देवी के रूप में पल्लवी प्रधान, आदि।बाल शिव एक पौराणिक शो है जो भगवान शिव की पौराणिक बचपन की कहानियों को दर्शाएगा।

Read more

CM योगी की PM के साथ फोटो वायरल

बीबीसी ने फोटो डाल कर कैप्शन माँगा ट्वीटर पर कर रहा है ट्रेंड जिद है एक सूर्य उगाना है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने ट्वीट कर लिखा है कि जिद है एक सूर्य उगाना है, प्रधानमंत्री के साथ दो तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है, ‘हम निकल पड़े हैं प्रण करके, अपना तन-मन अर्पण करके,  जिद है एक सूर्य उगाना है, अम्बर से ऊंचा जाना है,  एक भारत नया बनाना है.’ हम निकल पड़े हैं प्रण करके अपना तन-मन अर्पण करकेजिद है एक सूर्य उगाना हैअम्बर से ऊँचा जाना हैएक भारत नया बनाना है  pic.twitter.com/0uH4JDdPJE — Yogi Adityanath (@myogiadityanath) November 21, 2021

Read more

केंद्र सरकार ने वापस लिया तीनों कृषि कानून

प्रधानमंत्री को यहाँ सुने देश के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरु पर्व और कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आज देशवासियों से क्षमा मांगते हुए और देशवासियों से यह कहना चाहता हूं कि हमारी तपस्या में कोई कमी रह गई होगी. उन्होंने कहा कि कुछ किसान भाइयों को समझा नहीं पाए. आज गुरुनानक देव का पवित्र पर्व है. ये समय किसी को दोष देने का समय नहीं है. आज पूरे देश को यह बताने आया हूं कि तीन कृषि कानूनों का वापस लेने का फैसला किया है.राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरु पर्व और कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आज देशवासियों से क्षमा मांगते हुए और देशवासियों से यह कहना चाहता हूं कि हमारी तपस्या में कोई कमी रह गई होगी. उन्होंने कहा कि कुछ किसान भाइयों को समझा नहीं पाए. आज गुरुनानक देव का पवित्र पर्व है. ये समय किसी को दोष देने का समय नहीं है. आज पूरे देश को यह बताने आया हूं कि तीन कृषि कानूनों का वापस लेने का फैसला किया है. बता दें कि जब से केंद्र सरकार ने तीनों कृषि कानून लागू किए उस दिन से ही कुछ राज्यों के किसान संगठन मिलकर दिल्ली और इसके आसपास धरना प्रदर्शन कर रहे हैं आखिरकार केंद्र सरकार को किसानों के विरोध और विपक्ष के रुख को देखते हुए

Read more