कोरोना महामारी में असहायों की सेवा में कीट और किस

कोविड-19 सर्वव्यापी महामारी ने संपूर्ण विश्व के व्यक्तियों का सामान्य जीवन एवं रोजी-रोटी में व्यवधान उत्पन्न कर उनका जीवन तहस-नहस कर दिया है. ओडिशा भी इस सर्वव्यापी महामारी से बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. इस आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए सरकार के सहायक बनने में बहुत से संगठनों एवं व्यक्तियों ने पहल की है. कलिंगा इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी, भुवनेश्वर एवं सहयोगी संस्थान कलिंगा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, इन संस्थाओं ने संस्थापक प्रोफेसर अच्युत सामंथा के नेतृत्व में इस महामारी के प्रकोप से बचाव हेतु सिलसिलेवार पहल की है एवं कोरोना वायरस के विरुद्ध ओडिशा इस संग्राम में आगे आया है. केआईआईटी एवं केआईएसएस ने राज्य की स्वास्थ्य सतर्कता में महत्वपूर्ण योगदान दिया है, तथा वंचित एवं उपेक्षित जीवन जी रहे व्यक्तियों की पीड़ा में अत्यधिक कमी लाए हैं. कोविड-19 के विरुद्ध ओडिशा में महत्वपूर्ण आयामों में से एक,केआईआईटी डीम्ड विश्वविद्यालय के एक संगठन कलिंगा इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज ओडिशा ने तीन जनजाति बाहुल्य जिलों एवं भुवनेश्वर में स्थित, ओडिशा सरकार की सहायता से, 4 अत्याधुनिक कोविड चिकित्सा की स्थापना की है. इन चिकित्सालयों में 12 सौ मरीजों के उपचार की संयुक्त क्षमता है. केआईएसएस कोविड चिकित्सालय, भुवनेश्वर में जो भारत में प्रथम कोविड चिकित्सालय है, इसमें अत्याधुनिक सुविधाओं सहित 500 बेड हैं साथ ही 500 संकटकालीन देखभाल बेड है. कोविड चिकित्सालयों द्वारा तुरंत देखभाल से हजारों जीवन बच गए हैं. कोविड-19 सर्वव्यापी महामारी ना केवल एक वैश्विक स्वास्थ्य आपातकालीन संकट है वरन लंबे लॉकडाउन एवं रोजी-रोटी के नुकसान के कारण इसने गंभीर मानवीय संकट पैदा कर दिए हैं.

Read more

राष्ट्रीय जलीय जीव को बचाना सबसे जरूरी

जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया गंगा भूमि प्रादेशिक केंद्र, पटना में गांगेय एवं समुद्री डॉल्फिन पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन पटना के जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया गंगा भूमि प्रादेशिक केंद्र, पटना में गांगेय एवं समुद्री डॉल्फिन के संरक्षण को लेकर एक राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया. इस वेबिनार में बोलते हुए जूलॉजिकल सर्वे ऑफ कोलकाता के निदेशक डॉ. कैलाश चंद्र ने कहा कि भारत में डॉल्फिन राष्ट्रीय जलीय जन्तु है. भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 15 अगस्त 2020 को लाल किले के प्राचीर से गंगेय डॉल्फिन एवं समुद्री डॉल्फिन के संरक्षण पर एक राष्ट्रीय कार्यक्रम प्रोजेक्ट डॉल्फिन कि घोषणा की है जो देश में प्रोजेक्ट टाइगर तथा प्रोजेक्ट एलिफैंट के तर्ज पर चलेगा. इसके लिए हम प्रधानमंत्री जी को धन्यवाद देते हैं. डॉल्फिन के संरक्षण के कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण हिं क्योंकि यह राष्ट्रीय संपदा है. जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया डॉल्फिन के संरक्षण में हर संभव सहयोग करेगा. हम प्रशिक्षित लोगों के साथ मिलकर डॉल्फिन को बचाने की मुहिम जल्द शुरू कर रहे हैं. वहीं श्रीमाता वैष्णव देवी विश्वविद्यालय कटरा, जम्मू के कुलपति और डॉल्फिनमैन के नाम से विख्यात प्रो. आर के सिन्हा ने डॉल्फिन की उत्पत्ति, इसकी इतिहास एवं आजतक किये गए  इसके संरक्षण पर प्रकाश डाला.  उन्होंने कहा कि डॉल्फिन को कुछ लोग भगवान शिव का दूत मानते हैं. इसका कैरेक्टर 20 मिलियन वर्षों में भी नहीं बदला है. प्रो. सिन्हा ने डॉल्फिन के ब्लाइंड होने के रहस्यों पर भी शोध करने की जरूरत बताई. उन्होंने डॉल्फिन के संरक्षण पर जोर देते हुए कहा कि इन दिनों सोन के

Read more

एयरपोर्ट पर पहुंचते ही दो टुकड़े हुआ विमान

केरल के कोझिकोड एयरपोर्ट पर बड़ा विमान हादसा हुआ है. रनवे पर एयर इंडिया का विमान फिसलने से वह दो टुकड़ों में बंट गया. दुबई से आ रहे इस विशेष विमान में 191 यात्री और क्रू मेंबर्स सवार थे. पायलट कैप्टन डीवी साठे समेत 10 से ज्यादा लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है. कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है. केरल विमान हादसे को लेकर हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं. 056 546 3903, 0543090572, 0543090572 और 0543090575. PNCB

Read more

एक तरफ लक्ष्मण, एक तरफ सीता, बीच में जगत के पालनहारी…

साकार हुआ सपना, आज से मंदिर निर्माण शुरू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व के करोड़ों लोगों की आस्था को साकार रूप देने के लिए अयोध्या पहुंचे. पांच अगस्त को शुभ मुहूर्त में भूमि पूजन के साथ अयोध्या में राम मंदिर का वर्षों पुराना सपना साकार रूप लेने जा रहा है. सीधी तस्वीरें नीचे दिए गए लिंक को क्लिक करके देख सकते हैं. Live from Ayodhya साभार कुछ ऐसा होगा अयोध्या में श्रीराम का मंदिर PNCB

Read more

CBI करेगी मामले की जांच

बिहार सरकार ने आखिरकार दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच की सिफारिश सीबीआई से कर दी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद इसकी पुष्टि की है. मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार लगातार इस मामले में बिहार पुलिस अधिकारियों के साथ भेदभाव कर रही थी. उनका रवैया कहीं से भी सही नहीं था. जब सुशांत सिंह के पिता ने सीबीआई जांच की मांग की तो हमने इसे सीबीआई के सुपुर्द करने का फैसला किया. राजेश तिवारी

Read more

ये हैं वो खास राखियाँ’ जो सिर्फ सरहद पर जाती हैं!

संभावना स्कूल कर रहा है पिछले 5 सालों से यह पहल आरा. भाई-बहन के अनूठे प्यार को कलाईयों में बंधने वाली रेशम की डोरियाँ एक अनोखी चमक दे जाती हैं. जी हां हम बात कर रहे हैं रेशमी डोरी से कई रंगों में छँटा बिखेरनी वाली राखी की. रक्षाबंधन का त्योहार भाईयो के खास होता है क्योंकि उन्हें इंतजार रहता है बहनों के इस रक्षासूत्र का सालों से जो न सिर्फ उनकी रक्षा करता है बल्कि उनके रिश्ते की मजबूती को भी दर्शाता है. बाजार में उपलब्ध ये राखियां खास तब हो जाती हैं जब इसे बहने अपने हाथों से इसे भाईयों के लिए बनाती हैं. राखियों को हम अपने हरम तो जरूर बांध लेते हैं लेकिन वे भाई बहन के इस प्यार से मरहूम रह जाते हैं जो सरहदों पर हमारी हिफाजत के लिए खड़े रहते हैं. सीमा पर तैनात ऐसे ही वीर जवानों को उनके कलाईयों के लिए भेजती हैं राखियाँ,भोजपुर जिले की बहने,जिसमें उनके असीम प्रेम के साथ हुनर और कल्पनाशीलता का मिश्रण रहता है पिछले 4-5 सालों से लगातार भारत चीन सीमा पर राखियाँ भेजने वाली ये बहनें कोई और नही बल्कि संभावना आवासीय स्कूल की छात्रायें, शिक्षिकाएं और विद्यालय की कर्मचारी हैं. शहर के शुभ नारायण नगर मझौंवा स्थित संभावना आवासीय उच्च विद्यालय आरा के छात्राओं, शिक्षिकाओं एवं महिला कर्मचारियों द्वारा हस्त निर्मित राखियों को देश की सीमा पर तैनात सैनिक भाइयों तथा कोरोना वारियर्स के लिए इस बार भी भेजा गया. बताते चलें कि हर वर्ष रक्षाबंधन के अवसर पर विद्यालय में “राखी मेकिंग

Read more

प्रेमिका की फरमाइश पर चांद पर ले ली जमीन

गया / पटना (फुलवारी शरीफ ) प्यार में न जाने से इस कायनात के बनने के बाद आजतक कितने मजनू रांझा प्रेमियों ने अपनी लैला के लिए क्या क्या न ख़रीदे और लाने का वादा करते रहे होंगे लेकिन प्यार में कहे जाने वाले वो डायलौग की तू कहे तो चाँद तारे लाकर तेरे कदमो में बिछा दूँ ..इसे अबक लोग प्यार जताने के लिए कहते आये हैं लेकिन बिहार के गया के रहने वाले एक युवक नीरज ने अपनी प्रेमिका के यह कहने पर की मुझसे प्यार करते हो तो मेरे लिए चाँद लाकर दे दो …बस इतनी सी बात और गया के युवक ने चाँद तो लाकर नही दिया लेकिन प्रेमिका के लिए चाँद पर जमीन खरीद ली है और वह एक एकड़ जमींन . उसे जमीन के कागजात मिल गए हैं और अब उसने लूनार सिटिजनशिप ग्रहण किया है .   नीरज देश के चौथे व्यक्ति हैं . जो चांद पर प्लाट की खरीदारी की है . बकौल नीरज अभी तक चांद पर जमीन खरीदने वालों में देश के एक कारोबारी और फिल्मी दुनियां के अभिनेता शाहरूख खान और दिवंगत सुशांत सिंह राजपुत हैं . लेकिन संभवत : बिहार के पहले व्यक्ति हैं . जिन्होंने चांद पर प्लाट की खरीदारी की है . क्योंकि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह ने प्लाट खरीदारी में अपना पता मुम्बई का दिया है . किसी न किसी सफलता के पीछे एक महिला का हाथ अवश्य होता है . कुछ इसी तरह का वाकया बोधगया के एक कारोबारी नीरज कुमार गिरि के साथ

Read more

देवघर में इस वर्ष नहींं लगेगा श्रावणी मेला

तय समय सीमा में ही होगी पूजादेवघर, और दुमका सीमा में बाहर के किसी भी बसों पर पूर्ण रोक पटना,3 जुलाई. सावन के महीने में देश भर आने वाले शिवभक्त इस वर्ष बाबाधाम में बाबा को जल नही चढ़ा पाएँगे. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए झारखंड सरकार ने इस साल श्रावणी मेले का आयोजन रदद् कर दिया है. वैसे तो सालोभर बाबा की नगरी देवघर गुलजार रहता है लेकिन श्रावणी मेले में इसकी छँटा देखने लायक होती है. जो इस बार देखने को नही मिलेगी. यहाँ तक कि शिवगंगा में स्नान तक करने पर सरकार ने रोक लगा दी है. सावन के महीने में लगने वाले श्रावणी मेले के आयोजन को लेकर झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने दुमका और देवघर उपायुक्त से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात कर कई निदेश दिए हैं. मंदिर परिसर को पूरी तरह से हाई जेनिक करने के साथ रंग-रोगन कर देवघर व बासुकीनाथ मंदिर को और भव्य बनाने का निर्देश दिया है. सीएम ने निर्देश जारी कर कहा है कि बैरीकेडिंग कर शिवगंगा को अच्छी तरह से धेरा जाए ताकि कोई भी उसमें स्नान न कर सके. मुख्यमंत्री ने सूचना तंत्र को मजबूत करने को कहा है जिससे श्रद्धालु एक जगह जमा न हो सकें. पूरे सावन लगभग एक महीने तक इस अवधि में राज्य सरकार ने किसी भी राज्य से देवघर और दुमका की सीमा में बसों के आने तक पर पाबंदी लगा दी है. सरकार ने पदाधिकारियों से कहा है कि झारखण्ड की सीमा पर सूचना वे जगह-जगह सूचना

Read more

शहीद बीएसएफ जवान आशु रंजन को श्रद्धांजलि देने उमड़ा शहर

गुरुवार की देर रात जैसे ही कुरकुरी के रहने वाले बीएसएफ के शहीद जवान आशु रंजन के पार्थिव शरीर को सेना के अधिकारियो के काफिले के साथ लेकर फुलवारी शरीफ पहुंची तो अपने लाल को सलामी देने झमझम बारिश में भी पूरा शहर से लेकर गाँव तक लोगो का हुजूम सडको पर उमड़ पड़ा. झमाझम बारिश में भी शहर वासियों के जज्बे न हुए कम औरे  देर रात तक शहीद का गाँव में भारत माँ के लाल तुझे सलाम के नारे गूंजते रहे इन्डियन आर्मी जिंदाबाद शहीद आशु रंजन अम रहें आदि नारे गूंजते रहे. अपनी मिटटी के लाल के शहादत के बाद उसके पार्थिव शरीर के आने पर लोगों ने जगह जगह फुलों की बारिश करके सम्मान प्रकट किया. देर रात ग्यारह बजे के बाद हजारों लोगों के जोशपूर्ण देशभक्ति नारे के बीच जब शहीद जवान के घर कुरकुरी में उसका पार्थिव शरीर पहुंचा तो उसकी माँ शैल देवी ने सैल्यूट देकर अपने कोख के लाल को सलाम किया और बेहोश हो गयी. इससे पहले लोगों ने शहीद जवान की माँ के जोशपूर्ण सलामी देख अपने आंसू नही रोक पाए जो अपने लाल के स्वागत में सीना ताने खडी थी.  वही पत्नी पति की शहादत की खबर सुनकर पहले ही बीमार हो गयी थी जो अपने सुहाग के दीदार के लिए आते ही तिरंगे में लिपटे सुहाग को देख पछाड़ खाकर गिर पड़ी. सेना के जवानों जो साथ आये थे वो शहीद साथी के पार्थीव शरीर को उसके माँ के पास रखकर ताबूत के पास से अन्य लोगों को

Read more