ये कैसी डॉक्यूमेंट्री, जिसके लिए दर्शको से भरा सिनेमा हॉल !

साधनापूत का हुआ प्रीमियर,अमेरिका से देखने आये दर्शक आरा, 7 जनवरी. भोजपुरी फिल्मों में फुहड़ता के चलते आ रही लगातार गिरावटों ने जहाँ थियेटर से दर्शको का मोह भंग कर दिया है, वैसे में छोटी फिल्मो, डॉक्यूमेंट्री फिल्मों और कुछ स्थानीय सार्थक फ़िल्म निर्माण करने वाले शख्सियतों के बदौलत सिनेमाघरों में पुरानी रौनक लौटती दिखाई पड़ रही है. जी हाँ ये चौकाने वाला तथ्य जरूर है लेकिन वास्तविकता है. पटना नाउ की खास रिपोर्ट हम बात कर रहे हैं सोमवार को स्थानीय मोहन सिनेमा हॉल में रिलीज की गई फ़िल्म “साधनापूत” की, जिसके प्रीमियम शो में सिनेमाघर दर्शकों से ठसाठस भरा दिखा और दर्शकों ने शानदार लुत्फ उठा फ़िल्म निर्माण से जुड़े लोगों को बधाई दी. बताते चलें कि इस तरह की प्रीमियम शो की शुरुआत अम्बा ने पिछले साल 16 सितम्बर को “ह्यूमन बम” नामक लघु फ़िल्म से मोहन सिनेमा हॉल, आरा से ही की थी. दर्शकों की भारी भीड़ अम्बा की छवि,सत्यकाम आनंद और ओ पी पांडेय जैसे चर्चित नामो की बदौलत इक्कठी हुई थी. फ़िल्म देखने के बाद दर्शको का फ़िल्म मेकरों पर विश्वास और बढ़ा और इस तरह के प्रयोगों में जब “साधनापूत” की खबर दर्शकों तक पहुँची तो हॉल में दर्शकों के बैठने की जगह काम पड़ गयी. स्थानीय मोहन सिनेमा हॉल में सोमवार को भोजपुर के पुरोधा कहे जाने वाले प्रो.डॉ यू एस पांडेय की 84वीं वर्षगाँठ पर भोजपुर दर्शन द्वारा निर्मित साधनापूत फ़िल्म का प्रीमियर किया गया. यह फ़िल्म प्रो.डॉ यू एस पांडेय की जिंदगी पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म थी. फ़िल्म के

Read more

माँ विंध्यवासिनी के आज के रूप का कीजिये दर्शन

जय माँ विध्यवासिनी आपका दिन शुभ हो. माँ का आज यूं है श्रृंगार माँ के दरबार से. जिसके दर्शन मात्र से सफल होता है आपका काम.   पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट

Read more

ब्रह्मर्षि सेवा समाज, हैदराबाद का 20वाँ वार्षिकोत्सव रंगारंग कार्यक्रम के बीच पूरी गरिमा और भव्यता के साथ सम्पन्न

हैदराबाद (ब्यूरो रिपोर्ट) । ब्रह्मर्षि सेवा समाज का वार्षिकोत्सव मंगलवार 25 दिसम्बर की सांध्यबेला में निस्मसमे के ऑडिटॉरीयम युसुफ़गुडा में मंगलवार की शाम रंगारंग कार्यक्रम के बीच पूरी भव्यता और गरिमा के साथ सम्पन्न हुआ. इस बार बिहार सरकार के मंत्री विजय कुमार सिन्हा, मुख्य अतिथि एवम् आचार्य किशोर कुणाल विशिष्ट अतिथि के तौर पर पधारे. अतिथियों ने एक स्वर से ब्रह्मर्षि समाज के गौरवशाली इतिहास पर प्रकाश डाला और वर्तमान चुनौतियों से निपटने के मंत्र सुझाए. मुख्य अतिथि ने कहा कि हमें सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने, शिक्षा औऱ रोजगार से जुड़ने तथा एक दूसरे को सहयोग कर समाज की प्रतिभा को निखारने की दिशा में कार्य करना चाहिए. विशिष्ट अतिथि ने ब्रह्मर्शी के इतिहास और विकास पर रौशनी डाला और उम्मीद जताई की ब्रह्मर्षि परिवार अपनी क्षमता, दक्षता और मेधा के बल पर पहले की तरह समाज के हर क्षेत्र में शीर्ष गौरव को प्राप्त करेगा. सम्मेलन में हैदराबाद में रहने वाले समाज के लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और ब्रहमर्षि समाज की एकता का संकल्प लिया. स्वस्तिवाचन के बीच भगवान परशुराम और स्वामी सहजानंद सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण के साथ समारोह की शुरुआत हुई. अतिथियों का स्वागत महिला अध्यक्ष श्रीमती संगीता सिंह ने किया. सम्मेलन के दौरान समाज के वरिष्ठ जनों का पुष्पगुच्छ और शॉल ओढ़ाकर सम्मानित भी किया गया. समाज के पूर्व अध्यक्ष श्रिकांत चौधरी, , संस्थापक सदस्य निर्मल पांडेय, वरिष्ठ IFS अधिकारी मुन्निदर, ITC के CEO रजनीकांत राय, परमानंद शर्मा, डॉ. सरज कुमार, अरविन्द सिंह, सतीश शर्मा, विनय कुमार, राजेंद्र ठाकुर, अनूप राय, सीधरथ

Read more

तो बक्सर का यह लाल भी पायेगा युवा सम्मान !

युवा कुंम्भ में देश भर के 20 युवा राष्ट्रीय युवा पुरस्कार से होंगे सम्मानित बक्सर,23 दिसम्बर. उतर प्रदेश द्वारा आयोजित युवा कुम्भ में देशभर से चुने गए 20 युवाओं को उतर प्रदेश सरकार सम्मानित करेगी. जिसमे बिहार से बक्सर के छात्र राजनीति और गंगा सफाई अभियान के प्रणेता के रूप में उभरे छात्रशक्ति के संयोजक सौरभ तिवारी का भी चयन किया गया है. सौरभ हिन्दू जागरण मंच के प्रदेश मंत्री भी है. 23 दिसम्बर को लखनऊ में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिये बक्सर से सौरभ तिवारी के अलावा, युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष दुर्गेश सिंह, बक्सर युवा मोर्चा के जिला प्रवक्ता राहुल दुबे, ABVP के विवि प्रमुख अनुराग श्रीवास्तव, छात्रशक्ति के विवि महामंत्री जितेश दुबे, संजीव तिवारी समेत अन्य लोग भी गये हैं. कौन हैं सौरभ ? सौरभ तिवारी मूलतः छात्र राजनीति में विद्यार्थी परिषद के नेता रहे है. 2011 में विद्यार्थी परिषद से अलग होने के बाद स्वतन्त्र छात्रसंगठन छात्रशक्ति के माध्यम से छात्रहित के आंदोलनों को आगे बढ़ाया था और छात्र मुद्दों को ले राजनीति में बक्सर के सबसे लोकप्रिय छात्रनेता के रूप में उभरे. उसके बाद सौरभ ने गंगा की तटों पर गंदगी देख 2014 से छात्रशक्ति के बैनर तले गंगा सफाई अभियान हर रविवार, को युवा पुकार, माँ गंगा किनार की शुरुआत कर पूरे तन्मयता से लगातार लगे रहे. 2014 से शुरू हुआ यह सफर आजतक जारी है. हर रविवार गंगा से कचरा निकालने का अनवरत कार्यक्रम सौरभ तिवारी के नेतृत्व में चलाया जाता है. युवा जिसके पास श्रमदान के लिए

Read more

लंदन ने दिया सम्मान,तो घर मे जश्न का हुआ माहौल

भोजपुरवासियों के धन्यवाद का लगा ताँता मेरा नही छात्रों और शिक्षकों के मेहनत का है यह सम्मान : कुमार द्विजेन्द्र आरा, 22 दिसम्बर. कहते हैं कि अगर सच्चे मन और निष्ठा के साथ यदि आप कार्य करें तो पुरी दुनिया आपकी मुरीद बन जाती है. शिक्षा के माध्यम से अपने बेहतरीन काम की वजह से कला, खेल और सामाजिक गतिविधियों में लगातार बेहतर परिणाम देने वाले सम्भावना स्कूल के प्रबन्ध निदेशक, कुमार द्विजेन्द्र को लंदन की यूनिवर्सिटी ने सम्मानित कर इस कथन को साबित कर दिया है. लंदन की बॉल्स ब्रीज यूनिवर्सिटी उनके उत्कृष्ट कार्यो की मुरीद बन उन्हें PHD की उपाधि से सम्मानित किया है. पिछले दिनों यह सम्मान उन्हें यूनिवर्सिटी द्वारा दिल्ली में प्रदान किया गया. कुमार द्विजेन्द्र को बॉल्स ब्रीज यूनिवर्सिटी, लन्दन द्वारा डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किये जाने के बाद उनके आरा आगमन पर विद्यालय के छात्रा-छात्राओं और शिक्षकों ने शनिवार को विद्यालय में ‘अभिनन्दन समारोह’ का आयोजन कर भब्य स्वागत किया. विद्यालय के छात्र-छात्राओं तथा शिक्षकों द्वारा आयोजित ‘अभिनन्दन समारोह’ में बच्चों ने स्वागत गान प्रस्तुत किया तथा निदेशक को माल्यार्पण कर स्वागत किया. तत्पचश्चात् विद्यालय की प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने निदेशक, कुमार द्विजेन्द्र को बुके और अंग-वस्त्र देकर मंच पर स्वागत किया. इस अवसर पर स्वागत सम्बोधन करते हुए प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि निदेशक कुमार द्विजेन्द्र का सम्मान पूरे विद्यालय परिवार का सम्मान है. एक अन्तर्राष्ट्रीय विवि द्वारा निदेशक को डॉक्टरेट(PHD) की मानद उपाधि से सम्मानित किया जाना विद्यालय के लिए गर्व का विषय है. बताते चलें कि

Read more

शाहजहाँपुर रंग महोत्सव का शानदार आगाज

पहले दिन ही प्रस्तुत 4 नाटकों और 7 नृत्यों ने दर्शको का दिल मोहा शाहजहाँपुर,17 दिसम्बर. पांचवे शाहजहांपुर रंग महोत्सव का शुभारंभ रविवार को शानदार रंग उत्सव के प्रदर्शन से हुआ. कार्यक्रम की शुरुआत संध्या लगभग 6:00 बजे हुई जिसमें देश के कई भागों भागों से पहुंचे कलाकारों ने हिस्सा लिया. दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया. शास्त्रीय नृत्य से कार्यक्रम की शुरुआत हुई. उसके बाद 7 नृत्य और 4 नाटकों की प्रदर्शन की गई, जिसकी प्रस्तुति शानदार रही. कार्यक्रम में कांगड़ा से उत्तम कुमार,मध्य प्रदेश के द्वारिका दहिया,रविंद्र जी, ललिता कुंजू, किरण कश्यप निर्णायक के रूप में पहुंचे हैं जो नाटक और नृत्य का निर्णय करेंगे. निर्णायक मंडल में पहुंचे लोग राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय और शास्त्रीय नृत्य के चर्चित नाम है. नाटक की शुरुआत दिल्ली से आई टीम ने “अत्याचारी औरत” नाटक से की. वहीं मानसी गुरुकुल आर्ट, शाहजहांपुर ने “इंकलाब जिंदाबाद” की प्रस्तुति से काकोरी-कांड की शहादत में शामिल लोगों की जीवनी को जीवंत प्रस्तुति की. तीसरे नंबर पर आरा बिहार से पहुंचे संस्कार कला आश्रम की प्रस्तुति “तेतू” ने मनोशारीरिक शैली में अपने नाटक से दर्शकों पर अपना विशेष प्रभाव छोड़ा. आखरी और चौथे नंबर पर प्रस्तुत नाटक “अरे शरीफ लोग” ने प्रेक्षागृह में उपस्थित दर्शकों हंसा-हंसा कर लोटने पर मजबूर कर दिया. इस नाटक की प्रस्तुति राजस्थान की अलवर से आई टीम ने की. शाहजहांपुर से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more

जानिए भोजपुर के किस व्यक्ति को लंदन की यूनिवर्सिटी ने किया सम्मानित !

लंदन की यूनिवर्सिटी ने किया आरा के शिक्षाविद को सम्मानित बधाइयों का लगा ताँता, जिलेवासियो में खुशी की लहर आरा, 17 दिसम्बर. आरा के संभावना आवासीय हाई स्कूल के प्रबंध निदेशक कुमार द्विजेन्द्र को लंदन की वाल्स ब्रीज यूनिवर्सिटी ने रविवार को सम्मानित किया. लंदन स्थित बॉल्स ब्रिज यूनिवर्सिटी ने नई दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में रविवार को यह सम्मान, कुमार द्विजेन्द्र को “डॉक्टरेट के मानद उपाधि” का प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया. यह सम्मान उन्हें शिक्षा,संस्कृति और समाज सेवा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य कर एक विशिष्ट पहचान बनाने के लिए प्रदान किया गया है. यह उपाधि उच्च शैक्षणिक योग्यता वाले व्यक्ति को ही प्रदान की जाती है. बताते चलें कि कुमार विजेंद्र ने श्रम एवं समाज कल्याण विभाग में मास्टर डिग्री,विधि में स्नातक और पत्रकारिता में भी स्नातक की डिग्री हासिल की है. कुमार विजेंद्र ने अपने करियर की शुरुआत रंगमंच, और पत्रकारिता से की थी. उन्होंने जिले की कई नाट्य संस्थाओं में बतौर अभिनेता कार्य किया तथा विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं के लिए लेखन का भी कार्य कर चुके है. पिछले कई सालों से स्कूल के जरिये शिक्षा और समाज सेवा के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान कर समाज को सही दिशा प्रदान करने का कार्य कर रहे हैं. इस अति विशिष्ट सम्मान को पाकर वे अभिभूत है. उन्होंने “पटना नाउ” से बातचीत करते हुए कहा कि सम्मान मिलने के बाद उनकी जिम्मेवारी और बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि शिक्षा को अपनी संस्कृति एवं संस्कार के साथ जोड़कर राष्ट्र सेवा के लिए बेहतर नागरिक तैयार किया जा सकता है.

Read more

चौथी औद्योगिक क्रांति से प्राप्त अवसरों व चुनौतियों का रखना होगा ध्यान – पोद्दार

चौथी औद्योगिक क्रांति से प्राप्त अवसरों व चुनौतियों का रखना होगा ध्यान : महेश पोद्दार पोद्दार ने चौथी आद्योगिक क्रांति विषयक समूह चर्चा का विषय प्रवेश कराया ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग में भाजपा के प्रतिनिधि हैं पोद्दार रांची (ब्यूरो रिपोर्ट) |  झारखण्ड से राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कहा है कि चौथी आद्योगिक क्रान्ति का समुचित लाभ लेने के लिए सरकारों को यथासंभव भविष्य की समझ विकसित करने की आवश्यकता है. उन्हें पता होना चाहिए कि यह महत्वपूर्ण तकनीकी परिवर्तन उन्हें कौन से अवसर उपलब्ध करा रहा है और इसकी चुनौतियां क्या है. पोद्दार दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में आयोजित ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज डायलॉग के तहत ग्रुप डिस्कसन कार्यक्रम में चौथी औद्योगिक क्रांति पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे. पोद्दार दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में आयोजित ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग में भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधि के रूप में शामिल हैं. ग्रुप डिस्कसन का विषय प्रवेश कराते हुए पोद्दार ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति की वजह से होनेवाले तकनीकी परिवर्तन का लाभ उठाने के लिए सभी देशों को मजबूत बुनियादी ढांचे की आवश्यकता है. उन्हें भविष्य में सरकार की भूमिका, नागरिकों,कंपनियों और अन्य संगठनों के बीच संबंधों के परिवर्तन के संभावित प्रभाव की समझ विकसित करनी होगी. सरकारों को श्रम बाजार में अस्थिरता और धन वितरण में असमानता का ध्यान भी रखना होगा तथा सामाजिक एकजुटता बनाए रखने की आवश्यकता है. यह ध्यान भी रखना होगा कि प्रौद्योगिकी हमारे जीवन को कैसे प्रभावित कर रही है. साथ ही, आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक वातावरण के बारे में एक व्यापक

Read more

विकास के पारंपरिक चरणों से छलांग लगाते हुए विकसित देशों की श्रेणी की ओर तेजी से बढ़ रहा है भारत

सामूहिक प्रगति के लिए वरदान हो सकती है चौथी औद्योगिक क्रांति : महेश पोद्दार दक्षिण अफ्रीका में ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग को किया संबोधित तकनीक आधारित ‘सबका साथ – सबका विकास’ है पीएम मोदी का मन्त्र : महेश पोद्दार रांची (ब्यूरो रिपोर्ट) | झारखण्ड से राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति भारत के लिए ढेर सारी संभावनाएं लेकर आई है. प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि चौथी औद्योगिक क्रांति से प्राप्त तकनीक का लाभ लेकर गरीबी कम करने, किसानों के जीवन में सुधार लाने और दिव्यांगों के जीवन को आसान बनाने में सफलता पायी जा सकती है. पोद्दार दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में आयोजित ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग को भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधि के रूप में संबोधित कर रहे थे. ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग के वर्तमान संस्करण का विषय ‘चौथी औद्योगिक क्रांति’है. अपने संबोधन में पोद्दार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संचालित मेक इन इंडिया अभियान और इसमें हो रहे आधुनिकतम तकनीक के कुशलतापूर्वक प्रयोग का जिक्र किया. उन्होंने बताया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस महत्वकांक्षी अभियान के माध्यम से वर्ष 2022 तक 100 मिलियन अतिरिक्त रोजगार सृजित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है. पोद्दार ने दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी द्वारा नागरिक अधिकारों की रक्षा के लिए किये गए अहिंसक सत्याग्रह का विशेष तौर पर जिक्र किया और इसके माध्यम से भारत और दक्षिण अफ्रीका के मजबूत संबंधों का महत्व निरुपित किया. उन्होंने बताया कि विविधता में एकता भारत की सबसे बड़ी शक्ति है और मानवता हमारे लिए सबसे बड़ी

Read more

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा अब भारत में

प्रधानमंत्री ने ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ को राष्ट्र को समर्पित किया प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ को राष्ट्र को समर्पित किया. लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर 182 मीटर की उनकी प्रतिमा गुजरात के नर्मदा जिले के केवड़िया में राष्ट्र को समर्पित की गई. इस अवसर पर प्रधानमंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने मिट्टी और नर्मदा नदी के पानी को कलश में भरकर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को राष्ट्र को समर्पित किया. प्रधानमंत्री ने बटन दबाकर प्रतिमा के वर्चुअल अभिषेक की शुरूआत की.  प्रधानमंत्री ने वॉल ऑफ यूनिटी का उद्घाटन किया. स्टैच्यू ऑफ यूनिटी प्रतिमा के नीचे प्रधानमंत्री ने विशेष पूजा की. प्रधानमंत्री ने संग्रहालय तथा प्रदर्शनी और दर्शक दीर्घा को भी देखा. यह दीर्घा 153 मीटर ऊंची है और एक साथ इसे 200 आगुंतक देख सकते है. यहां से सरदार सरोवर बांध, इसके जलाशय तथा सतपुड़ा और विंध्य पर्वत श्रृंखलाओं का विहंगम दृश्य देखा जा सकता है. इस समारोह में भारतीय वायु सेना के विमान और सांस्कृतिक दस्तों ने करतब दिखाए. प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर देशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि आज पूरा देश राष्ट्रीय एकता दिवस मना रहा है. उन्होंने कहा कि आज का दिन भारत के इतिहास में विशेष महत्व का दिन है. स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के लोकार्पण के साथ भारत ने आज भविष्य के लिए स्वयं को विशाल प्रेरणा दी है. उन्होंने कहा कि यह प्रतिमा आने वाली पीढ़ियों को सरदार पटेल के साहस, क्षमता और संकल्प की याद दिलाती रहेगी. उन्होंने कहा कि सरदार पटेल द्वारा भारत के एकीकरण

Read more