बिहार में एनडीए गठबंधन खत्म, नई सरकार बनाने की तैयारी

नीतीश 4 बजे मिलेंगे राज्यपाल से भाजपा जदयू का गठबंधन टूटा राज्यपाल से मिल कर दे सकते हैं इस्तीफ़ा नई सरकार बनाने की तैयारी पटना।। सांसदों की बैठक के बाद राज्यपाल से मिल कर नीतीश कुमार अपना इस्तीफ़ा सौंप सकते हैं. शाम चार बजे राज्यपाल से मिलने का समय नीतीश कुमार ने मांगा है. बैठक में शामिल एक नेता ने इस बात की पुष्टि की है कि जदयू एनडीए गठबंधन से बाहर निकल रहा है. इधर राजद और कांग्रेस ने नीतीश कुमार को भाजपा का साथ छोड़ने पर बिना शर्त समर्थन देने का ऐलान किया है, वहीँ नीतीश कुमार के इस्तीफ़ा के पहले सभी मंत्री भी इस्तीफ़ा दे सकते हैं . इतिहास दोहराएंगे नीतीश कुमार आपको याद दिला दें कि ठीक 5 साल पहले वर्ष 2017 में जुलाई महीने के आखिरी हफ्ते में भी कुछ ऐसा ही उथल-पुथल बिहार की राजनीति में हुआ था. उस वक्त नीतीश कुमार ने राजद से पल्ला झाड़ते हुए एनडीए का दामन थामा था. एक बार फिर सीएम नीतीश पलटी मार रहे हैं और इस बार भाजपा से पल्ला झाड़ते हुए महागठबंधन का दामन थामने की तैयारी हो रही है. pncdesk

Read more

भारत को मिले अब तक 22 गोल्ड,हॉकी मेंस टीम को सिल्वर मेडल

कॉमनवेल्थ गेम 2022बैडमिंटन में भारत ने जीते 3 गोल्ड मेडल, शरत कमल ने भी किया कमालक्लोजिंग सेरेमनी में भारत के ध्वज वाहक होंगे शरत कमल और निकहत जरीन भारतीय टीम ने अब तक कॉमनवेल्थ गेम्स में शानदार प्रदर्शन किया है. आज गेम के आखिरी टीम भारत की नजर कई गोल्ड पदकों पर थी. पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन, सात्विकसाइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी बैडमिंटन में गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है. टेबल टेनिस में शरथ कमल ने भी गोल्ड मेडल जीता. वहीं हॉकी में इंडिया मेंस टीम ने सिल्वर मेडल जीता. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के क्लोजिंग सेरेमनी में भारत के ध्वज वाहक टेबल टेनिस के सुपर स्टार शरत कमल और बॉक्सिंग में गोल्ड जीतने वाली विश्व चैंपियन निकहत जरीन होंगी. 11वें दिन की हाईलाइटवीमेंस सिंगल्स मुकाबले में पीवी सिंधु ने जीता गोल्ड मेडलमेंस सिंगल्स मुकाबले में लक्ष्य सेन ने जीता गोल्ड मेडलसात्विकसैराज रंकीरेड्डी / चिराग शेट्टी ने जीता गोल्ड मेडलटेबल टेनिस में शरत कमल ने जीता गोल्ड मेडलहॅाकी फाइनल- ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 7-0 से हराया भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु अपने गोल्ड मेडल मुकाबले 21-15 और 21-13 से मैच को सिंधु ने अपने नाम करते हुए पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडल हासिल किया.मेंस सिंगल्स फाइनल गेम में अचंता शरथ कमल ने इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड को हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया. लियाम पिचफोर्ड के खिलाफ खेलते हुए कमल ने पहला गेम 11-13 से जीता लिया फिर कमल ने लगातार दूसरे गेम में लियाम पिचफोर्ड को 11-7, 11-2 से हराकर गेम में 2-1 की बढ़त बना ली थी.

Read more

आरसीपी सिंह और परिवार ने कैसे खरीदे करोड़ों के 58 प्लॉट ?

जदयू नेताओं ने उठाया सवाल कई जगह पत्नी के नाम भी अलग लिखा जदयू नेताओं ने ही जुटाएं हैं सुबूत जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने आरसीपी को पत्र लिखकर खरीदे गए भूखंडो को लेकर जवाब मांगा है. इस पत्र में बताया गया है कि नालंदा जिले में जदयू के दो साथियों की सबूत के साथ शिकायत मिली है. इसमें आपके और आपके परिवार के नाम से वर्ष 2013 से 2022 तक अकूत संपत्ति निबंधित कराया गया है जिसमें कई प्रकार की अनियमितता दिखाई दे रही है. आप लंबे समय तक दल के सर्वमान्य नेता नीतीश कुमार के साथ अधिकारी और राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे हैं. आपको, हमारे माननीय नेता ने दो बार राज्यसभा का सदस्य, पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव (संगठन), राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा केंद्र में मंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर, पूर्ण विश्वास एवं भरोसे के साथ दिया. आप इस तथ्य से भी अवगत हैं कि माननीय नेता, भ्रष्टाचार के जीरो टॉलरेंस पर काम करते रहे हैं और इतने लंबे सार्वजनिक जीवन के बावजूद उन पर कभी दाग नहीं लगा और न उन्होंने कोई संपत्ति बनाई.पार्टी आपसे अपेक्षा करती है कि इस परिवाद के बिंदुओं पर बिंदुवार अपनी स्पष्ट राय से पार्टी को तत्काल अवगत कराएंगे. जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली नीतीश सरकार अपनी इस नीति के तहत अपनी ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्र में मंत्री रहे आरसीपी सिंह पर जांच बिठा दी है. चुनावी हलफनामा 2010 एवं 2016 में आरसीपी सिंह ने अपनी पत्नी का नाम गिरिजा

Read more

हजारों लोग जब लुट गए तब खुली सीएम नीतीश की नींद

साइबर क्राइम और आर्थिक अपराध कांडों में बढ़ोतरी साइबर अपराधियों पर अब कसेगी सरकार नकेल पटना: कानून व्यवस्था को बेहतर करने की दिशान में नीतीश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. राज्य सरकार ने विभिन्न विभागों में 1258 पदों पर नियुक्ति और सृजन करने का निर्णय लिया है. इन पदों में गृह विभाग में ही कुल 995 पुलिस अधिकारियों और कर्मियों के नये पद बनाये गये हैं. इसके अलावा वित्त विभाग में वित्तीय विशेषज्ञ और बजट पदाधिकारी का भी एक-एक पद है. पुलिस विभाग में जिन 995 नए पदों का सृजन किया गया है, उनमें साइबर क्राइम की रोकथाम पर विशेष जोर दिया गया है. बिहार पुलिस सेवा संवर्ग के तहत साइबर क्राइम और आर्थिक अपराध कांडों में बढ़ोतरी को देखते हुए अनुसंधान और अनुश्रवण के लिये 181 पदों का सृजन किया गया है जिसमें इसमें स्टॉफ आफिसर (ग्रामीण एसपी) के 15 पद, अपर पुलिस अधीक्षक के 12 पद, वरीय पुलिस उपाधीक्षक के 114 पद और पुलिस उपाधीक्षक के 40 पद शामिल हैं. कैबिनेट विभाग के अपर मुख्य सचिव एस सिद्धार्थ ने बताया कि साइबर क्राइम की बढ़ती घटनाओं पर रोकथाम के लिए आर्थिक अपराध इकाई पटना में डीआइजी, एसपी (साइबर) अनुसंधान एवं अभियान, पुलिस अधीक्षक (साइबर) प्रशिक्षण, पोर्टल एवं समन्वय, पुलिस उपाधीक्षक (साइबर), पुलिस निरीक्षक, पुलिस निरीक्षक, प्रवाचक, पुलिस अवर निरीक्षक और आशु सहायक अवर निरीक्षक कोटि के पद शामिल किये गये हैं. PNCDESK

Read more

बिहार में अशोक चक्र की जगह लगाया चांद-सितारा, राष्ट्र ध्वज का किया अपमान

वैशाली जिले के बिदुपुर थाना क्षेत्र की पठान टोली का मामला पुलिस अभी कुछ भी कहने से बच रही है घटना के बाद से इलाके में तनाव की स्थिति 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस में चंद दिन शेष बचे हैं ऐसे में बिहार के साथ-साथ देशभर में तैयारियां हो रही है  है. बिहार के वैशाली जिले में खुलेआम तिरंगे का अपमान किया जा रहा है. वैशाली जिले में तिरंगा में आशोक चक्र की जगह चांद-सितारा लगा दिया गया है. सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और झंडा को उतारकर जब्त कर कारवाई में जुट गई है. ये हरकत बिदुपुर थाना क्षेत्र की पठान टोली का है. देश आज 75 वें स्वतंत्रता दिवस पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से 13 से 15 अगस्त तक पूरे देश के हर घर में तिरंगा फहराने की अपील की है. साथ ही पीएम ने लोगों से अपने सोशल मीडिया की प्रोफाइल में भी तिरंगा लगाने का आह्वान किया है. वहीं कुछ लोगों ने राष्ट्रीय ध्वज में अशोक चक्र की जगह  चांद सितारा चिन्ह लगा कर उसे अपने घर पर लगा दिया जो एक धर्म विशेष से जुड़ा हुआ है. मुस्लिम धर्म में चांद सितारा का इस्तेमाल किया जाता है. इसका वीडियो वायरल होने पर बढ़ते विवाद को देखते हुए पुलिस ने झंडा जब्त किया है और जांच कर रही है कि आखिर किसने और क्यों किया है ऐसा काम. इस घटना के बाद से इलाके में तनाव की स्थिति हो गई है. PNCDESK

Read more

बर्मिंघम में साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया ने जीता गोल्ड

पकिस्तान के रेसलर इनाम को हरा कर दीपक पुनिया ने जीता गोल्ड कुश्ती में भारत को मिला तीसरा गोल्ड Gold in CWG 2022: बर्मिंघम में चल रहे 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की साक्षी मलिक ने इतिहास रच दिया. साक्षी ने फ्रीस्टाइल 62 किग्रा वर्ग में कनाडा की एन्ना गोडिनेज गोंजालेज को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया. साक्षी ने पहले विपक्षी खिलाड़ी को चित्त कर चार अंक हासिल किए. उसके बाद पिनबॉल से ऐतिहासिक जीत दर्ज की. साक्षी मलिक का यह पहला गोल्ड है. साक्षी इससे पहले राष्ट्रमंडल खेलों में रजत (2014) और कांस्य पदक (2018) जीत चुकी थीं. बजरंग पूनिया ने भी जीता गोल्ड इससे पहले भारत के बजरंग पूनिया ने कमाल कर दिया. बजरंग पूनिया ने 65 किलोग्राम भारवर्ग में कनाडा के पहलवान को हराकर गोल्ड मेडल जीता. भारत के दिग्गज पहलवान बजरंग पूनिया ने कॉमनवेल्थ गेम्स में लगातार दूसरा गोल्ड मेडल जीता. उन्होंने फ्रीस्टाइल 65 किग्रा वर्ग में कनाडा के लचलान मैकनिल को 9-2 से हराकर गोल्ड जीता. भारत का बर्मिंघम में कुश्ती में यह पहला और कुल छठा गोल्ड मेडल है. बजरंग ने इससे पहले 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था. वहीं 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने सिल्वर मेडल अपने नाम किया था. कुश्ती में इस बार भारत का यह दूसरा पदक है। बजरंग से पहले अंशु मलिक रजत पदक जीतने में कामयाब हुई थीं. 22वें कामनवेल्थ गेम्स 2022 में 86 किलोग्राम भारवर्ग के फ्रीस्टाइल कुश्ती प्रतियोगिता में भारत के पहलवान दीपक पूनिया ने फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान के पहलवान मो. इनाम

Read more

सुपर लग्जरी ब्रांड बॉलेनसिएगा को भारत में बेचेगा रिलायंस

रिलायंस ब्रांड्स लिमिटेड ने बॉलेनसिएगा के साथ एक फ्रैंचाइज़ी समझौते पर हस्ताक्षर किए आरबीएल भारत में बॉलेनसिएगा का एकमात्र भागीदार कलेक्शन में महिलाओं और पुरुषों के रेडी-टू-वियर कपड़े और एसेसरीज़ की बड़ी रेंज दुनिया के सुपर लग्जरी ब्रांड को भारतीय बाजारों उतारने के लिए रिलायंस ब्रांड्स लिमिटेड (आरबीएल) ने बॉलेनसिएगा के साथ एक रणनीतिक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं. इस दीर्घकालिक फ्रैंचाइज़ी समझौते के तहत आरबीएल भारत में बॉलेनसिएगा का एकमात्र भागीदार होगा. स्पेनिश मूल के क्रिस्टोबल बॉलेनसिएगा ने कंपनी की शुरुआत 1937 में पेरिस से की थी. बॉलेनसिएगा फैशन की दुनिया में बड़ा नाम है, इसे मार्डन कपड़ों और फैशन में नए प्रयोगों के लिए जाना जाता है. 2015 से डेमना, बॉलेनसिएगा की आर्टिस्टिक डायरेक्टर हैं और तभी से बॉलेनसिएगा नई ऊंचाईयां छू रहा है. बॉलेनसिएगा के कलेक्शन में महिलाओं और पुरषों के रेडी-टू-वियर कपड़े और एसेसरीज़ की बड़ी रेंज शामिल है. इस समझौते पर खुशी जाहिर करते हुए रिलायंस ब्रांड्स लिमिटेड के एमडी दर्शन मेहता ने कहा कि दुनिया में कुछ ही ब्रांडों ने वास्तव में बॉलेनसिएगा जैसी रचनात्मकता को अपनाया है. उन्होंने अपने बेहतरीन और सरल क्रिएशंस के माध्यम से दुनिया में एक खास मुकाम हासिल किया है. देश में ब्रांड को पेश करने का सबसे उपयुक्त समय है क्योंकि भारतीय लग्जरी ग्राहक परिपक्व हो गए हैं और फैशन का उपयोग अपने व्यक्तित्व की रचनात्मक अभिव्यक्ति के रूप में कर रहे हैं. PNCDESK

Read more

पुलवामा में आतंकियों ने ग्रेनेड फेंका बिहार के मजदूर की मौत, दो घायल

कश्मीर में नहीं रुक रहा है बिहारियों पर हमला ग्रेनेड हमले में गई जान कब रुकेगा बिहार के लोगों पर आतंकी हमला धरती का स्‍वर्ग कहे जाने वाले कश्‍मीर में आतंकवादियों ने एक और घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है. कश्‍मीर घाटी में एक बार फिर से बिहार के एक मजदूर की हत्‍या कर दी गई है. अपने लाल की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया. बुजुर्ग माता-पिता से उनके बुढ़ापे का सहारा छिन गया. उनका रो-रो कर बुरा हाल है. बेटे की मौत के बाद उनके सामने जीवन-यापन की समस्‍या भी गहरा गई है. यह पहला मौका नहीं है, जब कश्‍मीर घाटी में प्रवासी मजदूर खासकर बिहार के मजदूर की हत्‍या की गई है. इस तरह की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं. घटना जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले की है. यहां आतंकियों के ग्रेनेड हमले में एक प्रवासी मजदूर की मौत हो गयी, जबकि दो अन्य लोग घायल हो गये. घटना के बाद इलाके की घेराबंदी कर दी गयी है. जम्मू और कश्मीर पुलिस आतंकियों की तलाश में जुटी है. पुलिस ने बताया कि आतंकी हमले का शिकार मजदूर बिहार के रहने वाले हैं. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि आतंकी हमले में मारे गये मजदूर की पहचान बिहार के सकवा परसा निवासी मोहम्मद मुमताज के रूप में हुई है. वहीं, घायलों की पहचान बिहार के रामपुर निवासी मो. आरिफ और मो. मजबूल के रूप में हुई है. इनकी हालत स्थिर है. घटना की सूचना मिलने के बाद मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया. PNCDESK

Read more

जस्टिस यूयू ललित हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस

सीजेआई रमणा ने की नाम की सिफारिश सिफारिशी पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंपा भारत के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एन वी रमणा ने अगले सीजेआई के लिए जस्टिस उदय उमेश ललित के नाम की सिफारिश की है. चीफ जस्टिस रमणा ने सिफारिशी पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंप दिया है. अगर जस्टिस यूयू ललित के नाम की सिफारिश मान ली जाती है तो वे देश के 49वें चीफ जस्टिस बन जाएंगे. बता दें कि जस्टिस एनवी रमणा इस महीने ही सेवानिवृत्त हो रहे हैं. भारत के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एन वी रमणा ने अगले सीजेआई के लिए जस्टिस उदय उमेश ललित के नाम की सिफारिश की है. सीजेआईरमणा ने सिफारिशी पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंप दिया है. अगर जस्टिस यूयू ललित के नाम की सिफारिश मान ली जाती है तो वे देश के 49वें सीजेआइ बन जाएंगे. पारंपरिक रूप से सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश अपनी वरिष्ठता के आधार पर सीजेआई के रूप में कार्यभार संभालते हैं. चीफ जस्टिस के तौर पर कोई कार्यकाल निर्धारित नहीं है. सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की सेवानिवृत्ति की आयु संविधान के तहत 65 वर्ष निर्धारित की गई है. सुप्रीम कोर्ट में दशकों बाद ऐसा मौका आने वाला है, जब देश चार महीनों में तीन चीफ जस्टिस देखेगा. इसी साल जुलाई से नवंबर के दौरान सीजेआई एनवी रमण के अलावा जस्टिस उदय उमेश ललित और जस्टिस धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ भी मुख्य न्यायाधीश बनेंगे. इस दिलचस्प संयोग के पांच साल बाद 2027 में भी देश ऐसे ही संयोग का साक्षी होगा.

Read more

अब दिल्ली से पटना का सफर सिर्फ 4-5 घंटे में

वंदे भारत ट्रेन 4-5 घंटे में तय कर लेगी दिल्ली-पटना की दूरी बुलेट ट्रेन से भी तेज रफ्तार पकड़ती है रफ़्तार भारत में स्वदेशी तकनीक से विकासित भारतीय रेल की सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन शून्य से सौ किलोमीटर की रफ्तार तक पहुंचने में विदेशी बुलेट ट्रेन से भी तेज है. रेलवे बोर्ड के अधिकारियों का दावा है कि शून्य से सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पाने में बुलेट ट्रेन को जहां 55.4 सेकंड लगता है, वहीं वंदे भारत इस रफ्तार को मात्र 54 सेकंड में पा लेती है. वंदे भारत काफी अपग्रेड है. यही कारण है कि इसकी रफ्तार बेहतर है. यह इंजन नहीं बल्कि स्वचालित मोटरों की सहायता से चलती है. 16 कोच वाली इस ट्रेन के पांच कोच में मोटर लगी होती हैं. स्वचलित मोटरों की मदद से त्वरित रफ्तार अधिक है. बुलेट ट्रेन के आगे लगे एक इंजन पर वंदे भारत के पूरे ट्रेन में लगी 20 मोटर ज्यादा कारगर होती है. अभी वंदे भारत ट्रेन की गति 160 किलोमीटर प्रतिघंटा है. नया वर्जन 180 किमी प्रतिघंटा होगा. जबकि चरणबद्ध तरीके से 2025 तक अपग्रेड वर्जन 260 किमी प्रतिघंटा से दौड़ेगी. इससे दिल्ली से पटना तक की दूरी महज 4-5 घंटों में तय हो जाएगी. अभी राजधानी एक्सप्रेस को 12 घंटे से अधिक समय लगता है. रेलवे बोर्ड देशभर में 400 सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन को चलाने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए जापान, फ्रांस, चीन, जर्मनी आदि देशों की तर्ज पर उच्च क्षमता की विद्युत लाइनें (2 गुणा 25) बिछाई

Read more