आर के सिंह ने किया आचार संहिता का उलंघन, क्या दर्ज होगा केस ?

आरा,23 मई. आचार संहिता उलंघन को लेकर आरा के भाजपा प्रत्याशी राजकुमार सिंह, एवं राघवेंद्र प्रताप सिंह को अनुमंडल पदाधिकारी सदर, आरा ने एक नोटिस जारी कर 24 घण्टे के भीतर जवाब मांगा. यह जवाब 19 मई को संध्या को किये गए एक आम सभा को लेकर मांगा गया है. जिला प्रशासन के अनुसार मुफ्फसिल थाना,आरा के नजदीक स्थित भाजपा नेता राघवेन्द्र प्रताप सिंह के आवास पर संध्या 6 बजे एक आम सभा का आयोजन किया गया जिसमें लगभग 200 लोग शामिल हुए. इस आम सभा को भाजपा प्रतायशी राज कुमार सिंह ने संबोधित भी किया जिसे प्रशासन ने आचार संहिता का उलंघन माना है. जिला दंडाधिकारी भोजपुर द्वारा भेजे गए ज्ञापांक 224(10/5/19)के अनुसार उस दिन संपूर्ण भोजपुर जिले में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू की गई थी. साथ ही आदेश की कंडिका एक में स्पष्ट रूप से उल्लिखित है कि किसी भी व्यक्ति, राजनीतिक दल, संगठन, के द्वारा राजनीतिक प्रयोजन से संबंधित किसी भी प्रकार की सभा ,जुलूस ,धरना ,प्रदर्शन तथा ध्वनि विस्तारक यंत्र का प्रयोग बिना किसी सक्षम पदाधिकारी के पूर्व अनुमति के आयोजित नहीं किया जाएगा तथा अनुमति की शर्तो के प्रतिकूल कोई भी कार्य नहीं किया जाएगा. इसके बावजूद भी राजकुमार सिंह एवं राघवेंद्र प्रताप सिंह द्वारा सभा का आयोजन किया गया तथा आदर्श आचार संहिता के साथ- साथ दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 का भी उल्लंघन किया गया. फलस्वरूप उक्त दोनों व्यक्तियों से 24 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण की मांग की गई है. पत्र में कहा गया है कि क्यों नहीं लोकसभा

Read more

भारत वैश्विक आपदा न्यूनीकरण और स्थिति बहाली समूह (जीएफडीआरआर) की सहअध्यक्षता करेगा

नई दिल्ली (ब्यूरो रिपोर्ट) | भारत को वित्तआ वर्ष 2020 के लिए वैश्विक आपदा न्यूसनीकरण और स्थिति बहाली समूह (जीएफडीआरआर) का सर्वसम्मवति से सहअध्य क्ष चुना गया है. ये फैसला जीएफडीआरआर के सलाहकार समूह की आज स्विट्जरलैंड के जेनेवा में हुई बैठक में लिया गया. अफ्रीकी कैरिबियाई और प्रशांत समूह के देशों, यूरोपीय संघ और विश्वन बैंक ने सलाहकार समूह बैठक की सहअध्याक्षता की. जीएफडीआरआर, यूएनडीआरआर और यूरोपीय संघ के साथ मिलकर 13 से 14 मई, 2019 तक विश्व पुर्नसंरचना सम्मेआलन के चौथे संस्कसरण का भी आयोजन करेगा. जीएफडीआरआर एक वैश्विक साझेदारी वाला संगठन है जो विकासशील देशों को प्राकृतिक आपदाओं और जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रिभावों से निपटने में मदद करता है. जीएफडीआरआर विश्व बैंक द्वारा प्रबंधित एक ऐसा संगठन है जो दुनिया भर में आपदा जोखिम प्रबंधन परियोजनाओं के लिए वित्ती.य मदद देता है. यह वर्तमान में 400 से अधिक स्थानीय, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय साझेदारों के साथ काम कर रहा है और उन्हें ज्ञान, वित्त पोषण और तकनीकी सहायता प्रदान कर रहा है. भारत 2015 में जीएफडीआरआर के सलाहकार समूह का सदस्य बना और अक्टूबर 2018 में आयोजित समूह की अंतिम बैठक की सह-अध्यक्षता करने की इच्छाम व्यक्त की थी. देश में आपदा जोखिम में कमी लाने में निरंतर प्रगति तथा इसके लिए अनुकूल अवसंरचना विकसित करने के लिए साझेदारी की पहल को ध्यारन में रखते हुए सहअध्य क्षता के लिए भारत की उम्मीसदवारी का समर्थन किया गया. यह देश को आने वाले समय में आपदा जोखिम न्यूनीकरण एजेंडा को आगे बढ़ाने की दिशा में सक्रिय योगदान के

Read more

वह ‘गाँव’ जहाँ एक ही चापाकल से चलता है काम…

एकौना- जहां एक चापाकल से पूरे गांव का काम चलता है आरा, 14 मई. गंगा से गंगोत्री तक पिछले पांच सालों में 4 बार पैदल और साइकिल से यात्रा कर चुके प्रख्यात कवि, लेखक और पत्रकार निलय उपाध्याय निरन्तर जल को लेकर चिंतित हैं. उनकी यात्राएँ प्रकृति को उसके मूल रूप में लाने के लिए है. उन्होंने अभी हाल में भोजपुर के संगम बिंदगांवा से लेकर बक्सर तक गंगा के तटीय इलाकों का भ्रमण किया और आर्सेनिक की समस्या को लेकर लोगों की समस्याओं से रूबरू हुए और लोगों को जागरूक किया. उनकी इस यात्रा से मिले अनुभवों को हम आपके सामने हर दिन लाने की कोशिस करेंगे. आज जानिए भोजपुर में बसे उस गांव की दास्तान जहां पूरे गांव का काम मात्र एक चापाकल के भरोसे ही चलता है.. patna now Exclusive समय से हम एकौना आ गए। एक मोटर सायकिल और तीन लोग। सडक ठीक थी और कहीं कहीं इतनी खराब कि कहना मुश्किल।उपर से समान और आर्सेनिक का पर्चा भी। राह में पर्चा बांटते आए। जो मिला बात करते आए। हर जगह आर्सेनिक का हाल पूछते आए। एक ही किस्सा दुहराया जाता। बर्तन में रात भर पानी छोड दो तो पीला हो जाता है। इस पानी से कपडा साफ़ नहीं होता। इलाज कराने गए तो कैंसर निकल गया। और अंत में आप ही बताईए न हम क्या करे? पेड पौधों में नेताओं की तरह गजब की हरियाली थी मगर अभिशप्त। खेत कटने के बाद खलिहान लदे थे और दाने भी पुष्ट थे पर आरसेनिक का शाप उन्हें

Read more

पहले चरण में 53 फीसदी रही वोटिंग

बिहार में पहले चरण के चुनाव में जमकर वोटिंग हुई. पिछली बार से 2.25 फीसदी ज्यादा लोगों ने इस बार अपने मताधिकार का प्रयोग किया. सबसे ज्यादा पोलिंग गया में जबकि सबसे कम वोटिंग औरंगाबाद में हुई. फिर भी हर जगह पोलिंग परसेंटेज पिछले (2014) लोकसभा चुनाव से ज्यादा रहा. कहां कितनी हुई वोटिंग औरंगाबाद 51.5% नवादा 52.5% जमुई 54% गया 56.5%

Read more

भारतीय वायु सेना की कार्रवाई पर उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी की प्रतिक्रिया

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) 26 फरवरी | पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान में घुसकर वायुसेना द्वारा जवाबी कार्रवाई पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पूरा देश भारतीय वायु सेना के साथ खड़ा है और पूरा देश खुश है, हमारे प्रधानमन्त्री ने जो संकल्प लिया था कि हमारे देश के शहीदों का खून बेकार नहीं जायेगा. उन्होंने बरौनी की सभा में कहा था कि जो आग आपके दिल में जल रही है वही आग मेरे दिल में लगी है, हमसब लोग बहुत खुश है कि तड़के सुबह भारतीय वायु सेना के जवानो ने पकिस्तान की सीमा में घुस कर उन आतंकी ठिकानों पर हमला किया है. पूरा देश भारतीय वायु सेना के पीछे खड़ा है, यही भारतीय वायु सेना है जिन्होंने कारगिल के युद्ध में भी चमत्कार किया था, फिर एक बार भारतीय वायु सेना ने अपना करतब दिखाया है, पूरा देश प्रधानमन्त्री और आर्म्स फ़ोर्स के पीछे खड़ा है. इसके साथ उन्होंने कहा कि मैं राजनैतिक दलों से भी अपील करंगा कि इस समय कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए, कहीं भी देश विभाजित दिखाई नहीं पड़ना चाहिए, पूरा देश प्रधानमन्त्री और सेना के पीछे खड़ा होना दिखाई पड़ना चाहिए.

Read more

क्या गिरफ्तार होंगे अरनब ?

श्रीनगर / नई दिल्ली / पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) |श्रीनगर की चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत ने पीडीपी के वरिष्ठ नेता नईम अख्तर द्वारा दाखिल आपराधिक मानहानि के मामले की सुनवाई के बाद शनिवार 23 फरवरी को रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी और तीन अन्य लोगों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी कर दिया.ज्ञातव्य है अख्तर ने इस मामले में 16 नवंबर 2018 को कोर्ट के समक्ष एक याचिका दायर की थी जिसमें अख्तर ने आरोप लगाया था कि अरनब गोस्वामी व अन्य लोगों ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के झूठे व निराधार आरोप लगाए हैं. अख्तर ने अरनब गोस्वामी औऱ अन्य लोगों पर उनके खिलाफ निंदनीय कंटेंट प्रसारित करने के भी आरोप लगाए थे. बताया जाता है कि अदालत ने इससे पहले 27 दिसंबर को अरनब गोस्वामी के साथ ही रिपब्लिक टीवी में श्रीनगर की विशेष संवाददाता जीनत ज़िशान फ़ाज़िल, सीनियर एसोसिएट एडिटर आदित्य राज कौल और एंकर सकल भट्ट को कोर्ट के समक्ष पेश होने के आदेश दिए थे. शनिवार को अरनव के अधिवक्ता इरशाद अहमद ने कोर्ट को बताया कि पुलवामा में हुए आंतकी हमले के बाद कश्मीर घाटी के बिगड़े हालातों के मद्देनजर गोस्वामी, कौल और भट्ट निजी तौर पर पेश होकर समन का जवाब नहीं दे सकते हैं. इसके अलावा कुछ कारणों से फाज़िल का भी कोर्ट के सामने पेश होना मुश्किल है. इन्हीं उन्होंने आरोपियों को निजी तौर पर कोर्ट में पेश होने से छूट देने की मांग की. इस पर चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत ने कहा कि आरोपियों को कोर्ट के सामने पेश होकर

Read more

मेट्रो रेल प्रोजक्ट्स ने अर्बन ट्रैफिक को दी नई रफ्तार

भारत में मेट्रो परियोजनाएं- शहरी यातायात और गतिशीलता की दिशा में बढ़ते तेज कदम तेज गति से बढ़ते शहरीकरण के साथ, देश के सभी नगरों और शहरों में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली पर दबाव बढ़ रहा है. मास रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम, एमआरटीएस श्रेणी-I एवं श्रेणी-II शहरों में रहने वाले लोगों के लिए गतिशीलता के सबसे प्रभावी माध्यमों में से एक के रूप में उभरा है और मेट्रो एक प्रमुख माध्यम बन गया है. अब मेट्रो पटना में भी अपनी राह बनाने जा रहा है. मेट्रो की वर्तमान स्थिति- वर्तमान में 585 किलोमीटर मेट्रो लाइन परिचालनगत है. अहमदाबाद, लखनऊ, नागपुर एवं गाजियाबाद नगरों में अगले एक महीने में लगभग 60 किलोमीटर मेट्रो लाइन के और आरम्भ किए जाने की संभावना है. 2002 में 8 किलोमीटर की मामूली शुरूआत से लेकर आधुनिक मेट्रो रेल ने देश में ऐतिहासिक वृद्धि प्रदर्शित की है। चालू वित्त वर्ष (2018-19) में लोगों के लिए 140 किलोमीटर मेट्रो लाइन (10 फरवरी, 2019 तक) आरम्भ की जा चुकी है. 10 फरवरी 2019 तक परिचालनगत 585 किलोमीटर मेट्रो लाइन में से 326 किलोमीटर मई 2014 के बाद परिचालनगत हुई है. मई 2014 से भारत सरकार द्वारा 258 किलोमीटर मेट्रो लाइन की मंजूरी दी गई है. वर्तमान में लगभग 600 किलोमीटर मेट्रो लाइन निर्माणाधीन हैं जो अगले पांच वर्षों में परिचालनगत होंगी. लगभग 1000 किलोमीटर मेट्रो लाइन प्रस्ताव योजना निर्माण के अधीन है. भारत सरकार ने भारत में मेट्रो रेल के मानकीकरण एवं विकास के लिए कई कदम उठाए हैं. भारत सरकार की मेट्रो रेल नीति 2017 देश में मेट्रो रेल

Read more

नहीं रहे जॉर्ज फर्नांडीज | बिहार में दो दिनों (29 एवं 30 जनवरी) की राजकीय शोक की घोषणा

पटना (राजेश तिवारी की रिपोर्ट) | भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का मंगलवार तड़के दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में निधन हो गया. वे 88 वर्ष के थे. फर्नांडिस लंबे समय से बीमार चल रहे थे. वह अल्जाइमर से ग्रस्त थे, साथ ही उन्हें स्वाइन फ्लू भी था. वाजपेई सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडीज एक जुझारू नेता के रूप में जाने जाते थे. वे कई बार लोकसभा राज्यसभा का सांसद भी रहे थे. जॉर्ज फर्नांडिस सबसे पहले साल 1967 में लोकसभा सांसद चुने गए. उनके कार्यकाल के दौरान ही पोखरण में परमाणु टेस्टिंग और करगिल युद्ध हुआ था. 2004 में ताबूत घोटाला सामने आने के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया. बाद में दो अलग-अलग कमिशन ऑफ इन्क्वायरी में उन्हें निर्दोष करार दिया. आखिरी बार अगस्त 2009 से जुलाई 2010 तक राज्यसभा के सांसद थे लेकिन अल्जाइमर नामक बीमारी से ग्रस्त होने के बाद राजनीति से कट गए थे. ऐसे बने फर्नांडिस एक बड़े नेता1974 की रेल हड़ताल के बाद वह कद्दावर नेता के तौर पर उभरे और उन्होंने बेबाकी के साथ इमर्जेंसी लगाए जाने का विरोध किया. 1975 में इंदिरा गांधी की ओर से लगाए गए आपातकाल के दौरान उन्हें जेल में डाल दिया गया था. उन पर सरकारी प्रतिष्ठानों और रेलवे पटरियों को उड़ाने के लिए ‘बड़ौदा डायनामाइट षड्यंत्र’ रचने का आरोप लगाया गया था. इन सब के चलते जॉर्ज फर्नांडिस इमर्जेंसी के वक्त के हीरो के तौर पर उभरे. 1977 में उन्होंने जेल से चुनाव लड़ा और रिकॉर्ड वोटों से जीते.जब 1977 में मोरारजी देसाई

Read more

ये कैसी डॉक्यूमेंट्री, जिसके लिए दर्शको से भरा सिनेमा हॉल !

साधनापूत का हुआ प्रीमियर,अमेरिका से देखने आये दर्शक आरा, 7 जनवरी. भोजपुरी फिल्मों में फुहड़ता के चलते आ रही लगातार गिरावटों ने जहाँ थियेटर से दर्शको का मोह भंग कर दिया है, वैसे में छोटी फिल्मो, डॉक्यूमेंट्री फिल्मों और कुछ स्थानीय सार्थक फ़िल्म निर्माण करने वाले शख्सियतों के बदौलत सिनेमाघरों में पुरानी रौनक लौटती दिखाई पड़ रही है. जी हाँ ये चौकाने वाला तथ्य जरूर है लेकिन वास्तविकता है. पटना नाउ की खास रिपोर्ट हम बात कर रहे हैं सोमवार को स्थानीय मोहन सिनेमा हॉल में रिलीज की गई फ़िल्म “साधनापूत” की, जिसके प्रीमियम शो में सिनेमाघर दर्शकों से ठसाठस भरा दिखा और दर्शकों ने शानदार लुत्फ उठा फ़िल्म निर्माण से जुड़े लोगों को बधाई दी. बताते चलें कि इस तरह की प्रीमियम शो की शुरुआत अम्बा ने पिछले साल 16 सितम्बर को “ह्यूमन बम” नामक लघु फ़िल्म से मोहन सिनेमा हॉल, आरा से ही की थी. दर्शकों की भारी भीड़ अम्बा की छवि,सत्यकाम आनंद और ओ पी पांडेय जैसे चर्चित नामो की बदौलत इक्कठी हुई थी. फ़िल्म देखने के बाद दर्शको का फ़िल्म मेकरों पर विश्वास और बढ़ा और इस तरह के प्रयोगों में जब “साधनापूत” की खबर दर्शकों तक पहुँची तो हॉल में दर्शकों के बैठने की जगह काम पड़ गयी. स्थानीय मोहन सिनेमा हॉल में सोमवार को भोजपुर के पुरोधा कहे जाने वाले प्रो.डॉ यू एस पांडेय की 84वीं वर्षगाँठ पर भोजपुर दर्शन द्वारा निर्मित साधनापूत फ़िल्म का प्रीमियर किया गया. यह फ़िल्म प्रो.डॉ यू एस पांडेय की जिंदगी पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म थी. फ़िल्म के

Read more

माँ विंध्यवासिनी के आज के रूप का कीजिये दर्शन

जय माँ विध्यवासिनी आपका दिन शुभ हो. माँ का आज यूं है श्रृंगार माँ के दरबार से. जिसके दर्शन मात्र से सफल होता है आपका काम.   पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट

Read more