सकारात्मक सोच से मिलेगी कामयाबी : राजीव रंजन प्रसाद

जीकेसी के सौजन्य से टॉक शो ‘फैशन एंड लाइफ स्टाइल’ आयोजित नयी दिल्ली, ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) कला संस्कृति प्रकोष्ठ के सौजन्य से टॉक शो ‘फैशन एंड लाइफ स्टाइल’ का आयोजन किया गया जिसमें फैशन एंड मॉडलिंग इंडस्ट्री से जुड़े लोगों ने लोगों को जिंदगी में आगे बढ़ने के साथ ही ग्लैमर की दुनिया में आगे बढ़ने के टिप्स दिये.जीकेसी कला-संस्कृति प्रकोष्ठ के सौजन्य से टॉक शो ‘फैशन एंड लाइफ स्टाइल’ का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में जीकेसी कला-संस्कृति प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय सचिव और मॉडल- अभिनेत्री शिल्पी बहादुर ने मॉडेरटर की भूमिका निभायी जबकि जीकेसी कला-संस्कृति प्रकोष्ठ के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रेम कुमार ने कार्यक्रम का सह संचालन किया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर मिसेज एशिया यूनविर्स 2020 ऋचा कुमारी मौजूद थी. कार्यक्रम में ऋचा कुमारी और शिल्पी बहादुर के साथ ही अभिनेता तन्मय सिन्हा, मिस इंडिया पैशोनेट पैसेफिक आकांक्षा श्रीवास्तव,शबनम वर्मा, ऋचा श्रीवास्तव, मिसेज बिहार फर्स्टँ रनर अप ज्योति दास और मॉडल तनुश्री सिन्हा ने लाइफ एंड स्टाइल के बारे में अपनी बात रखी. कार्यक्रम के सफल संचालन में डिजिटल-तकनीकी प्रकोष्ठ के ग्लोबल अध्यक्ष आनंद सिन्हा, डिजिटल-तकनीकी प्रकोष्ठ के ग्लोबल महासचिव सौरभ श्रीवास्तव, नवीन श्रीवास्तव और उत्कर्ष आनंद ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी. इस अवसर पर जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि हमे यदि जीवन में आगे बढ़ना है तो अपनी नकारात्मक सोच को बदल लेना चाहिए। जब हमारी सोच सकारात्मक होगी तभी हमे कामयाबी मिलनी शुरू होगी। हमे अपने जीवन में कभी बीत हुयी बातों के बारे में नही सोचना चाहिए,और

Read more

सबका साथ और सबका विकास के साथ काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है जीकेसी

जीकेसी महाराष्ट्र कार्यकारिणी की पहली बैठक संपन्न कायस्थों को एकजुट होने और राष्ट्र निर्माण में कायस्थों की भूमिका को उन्नत करने की जरूरत : शिशिर सिन्हामुंबई, 26 जुलाई कायस्थों के सामाजिक- आर्थिक और राजनीतिक उत्थान के लिए प्रतिबद्ध अंतरराष्ट्रीय संस्था ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) महाराष्ट्र कार्यकारिणी की पहली बैठक संपन्न हो गयी.(जीकेसी) महाराष्ट्र कार्यकारिणी की पहली बैठक जीकेसी महाराष्ट्र के अध्यक्ष शिशिर सिन्हा की अध्यक्षता में आहूत की गयी। इस दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद के अलावा ,रवि व्यास अध्यक्ष भाजपा मीरा-भायंदर जिला, भाजपा कॉर्पोरेटर विजय राय और सुश्री नीला सोन्स, शिक्षा एवं प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के वैश्विक अध्यक्ष दीपक कुमार वर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आलोक अविरल, जीकेसी युवा प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय प्रभारी और बॉलीवुड सिंगर प्रिया मल्लिक और जीकेसी की मुख्य वित्तीय अधिकारी निष्का रंजन मौजूद थी. राजीव रंजन प्रसाद ने लोगों को संबोधित करते हुये जीकेसी के सात मूलभूत सिद्धांत सेवा, सहयोग, संप्रेषण, सरलता, समन्वय, सकारात्मकता और संवेदशनीलता के बारे में विस्तृत जानकारी दी और उन्हें अपने जीवन में आत्सात करने पर जोर दिया. उन्होंने कायस्थों के इतिहास और इस राष्ट्र के निर्माण में उनकी भूमिका के बारे में लोगों को याद दिलाया। उन्होंने कहा कि हाल के तीन चार दशकों में राजनीतिक दलों द्वारा कायस्थ की महिमा का अवमूल्यन किया गया है. हम सभी को मिलकर जीकेसी आगे बढ़ाने के लिए सोच और विचारधारा का ज़मीनी स्तर पर क्रियान्वयन की जरूरत है. जीकेसी सबका साथ और सबका विकास के साथ काम करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं.श्री रवि व्यास- अध्यक्ष भाजपा मीरा-भायंदर

Read more

‘सोने’ के मामले में टॉपर

बिहार एक बार फिर नंबर वन साबित हुआ है. इस बार बिहार को नंबर वन का तमगा मिला है नेशनल मिनरल इन्वेंटरी डाटा से. प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो की रिपोर्ट के मुताबिक गोल्ड ओर (Gold Ore)या यूं कहें कि कच्चा सोना का भंडार देश मेंं सबसे ज्यादा बिहार में हैै. बिहार में देश के कुल स्वर्ण भंडार का 44 फ़ीसदी है तो दूसरे नंबर पर राजस्थान है जहां 25% स्वर्ण भंडार है. 1 अप्रैल 2015 तक के आंकड़ों के मुताबिक भारत में सोने का कुल भंडार करीब 501.83 मिलियन टन है. pncb

Read more

तीसरी लहर: जानिए कोरोना की वास्तविक स्थिति

स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने दी कोविड-19 पर ताज़ा जानकारीलेटेस्ट अपडेट : 23 JUL 2021 9:14AM देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक वैक्सीन की 42.34 करोड़ खुराक लगाई गई है. अब तक पूरे देश में कुल 3,04,68,079 मरीज स्वस्थ हुये. रिकवरी दर बढ़कर 97.36 प्रतिशत हुआ. पिछले 24 घंटों के दौरान 38,740 मरीज ठीक हुए. भारत में पिछले 24 घंटों में 35,342 मामले सामने आए हैं. भारत में सक्रिय मामले वर्तमान में 4,05,513 हैं. सक्रिय मामले कुल मामलों का 1.30 प्रतिशत हैं. साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 5 प्रतिशत से नीचे बनी हुई है, वर्तमान में 2.14 प्रतिशत है. दैनिक पॉजिटिविटी दर 2.12 प्रतिशत, लगातार 32 वें दिन भी 3 प्रतिशत से कम. जांच क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि हुई – कुल 45.29 करोड़ नमूनों की जांच की गई है. pncb

Read more

मॉनसून सत्र भी हो सकता है हंगामेदार

भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की उठेगी आवाजकोरोना काल के दौरान चिकित्‍सा व्‍यवस्‍था, तीसरी लहर को लेकर तैयारी, युवाओं को रोजगार जैसे गंभीर मुद्दे पटना: बिहार मानसून सत्र के ऐलान के साथ ही विधानसभा और बिहार विधान परिषद दोनों में तैयारियां भी शुरू हो गई हैं.राजनीतिक दल भी अपनी अपनी मांगों के साथ कमर कस के तैयार है . विधानमंडल के इस सत्र भी हंगामेदार रहने की संभावना है. डबल इंजन की सरकार अपने विधायकों को जवाबी हमला करने और मंत्रियों को अपने महकमे से संबंधित पूरी जानकारी और तैयारी से आने के लिए कहा है. क्या हुआ था पिछले सत्र में विधानमंडल का पिछला सत्र काफी हंगामेदार रहा था.विपक्ष ने सत्र के दौरान कुछ ऐसा कर दिया कि एक इतिहास ही बन गया. विधानसभा में उस समय पुलिस भी बुलानी पड़ी थी . विपक्ष के विधायकों को उठा कर और घसीट कर सदन से बाहर कर दिया गया था . बात नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव के विधानसभा अध्‍यक्ष के आसन तक जा पहुंचने से शुरू हुई थी ,जबकि उन्‍होंने बात में सफाई देते हुए कहा था कि वे हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराने गए थे. उनके आसन तक पहुंचने के बाद राजद के कई नेता भी आसन तक पहुंच गए थे और हंगामा करने लगे थे. विपक्ष का वार को तैयार ,सरकार को कई मुद्दों पर घेरने की प्लानिंग कोरोना संक्रमण को देखते हुए मॉनसून सत्र केवल पांच दिनों का ही होगा। संक्षिप्‍त सत्र में केवल पांच बैठक ही हो पाएगी. राज्‍य में कोरोना काल

Read more

हिन्दी रंगमंच में अभिनेता स्थायी नहीं -परवेज अख्तर

दुर्भाग्यवश हिन्दी रंगमंच में अभिनेता स्थायी नहीं है, जबकि यह उसी का माध्यम है चन्द रंगकर्मी ही औपचारिक प्रशिक्षण प्राप्त कर पाते हैं कितने प्रतिशत कलाकार संस्थानों से प्रशिक्षित होते हैं, 5% या उससे भी कम किसी व्यक्ति द्वारा कला-सृजन, उस व्यक्ति के रचनात्मक रुझान और उसकी नैसर्गिक* कला-प्रतिभा पर निर्भर करता है। कलात्मकता का प्रशिक्षण कदाचित सम्भव नहीं है। रंगमंच में प्रशिक्षण दरअसल शिल्प का ही होता है। फिर भी रंगमंच के क्षेत्र में सक्रिय कितने प्रतिशत कलाकार संस्थानों से प्रशिक्षित होते हैं, 5% या उससे भी कम। लेकिन प्रशिक्षण केन्द्र कुछ इस तरह का माहौल या हाइप बनाते हैं, गोया औपचारिक प्रशिक्षण प्राप्त नाट्यकर्मी ही रंगमंच के वास्तविक नायक हैं। जबकि वस्तुस्थिति यह है कि बहुत बड़ी संख्या में अप्रशिक्षित या अनौपचारिक रूप से प्रशिक्षित कलाकर्मी रचनात्मक क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करते और अति-महत्वपूर्ण रचते हुए दिखते हैं और कला-जगत उनका उच्च-मूल्यांकन भी करता है। हालाँकि सभी कलाओं में शिल्प-के-प्रशिक्षण का अत्यधिक महत्व है; इसका विकल्प नहीं है लेकिन कितने हैं, जिन्हें औपचारिक प्रशिक्षण का अवसर मिल पाता है ? वैसे देखें, तो आप पाएँगे कि अप्रशिक्षित कोई होता नहीं। चन्द रंगकर्मी ही औपचारिक प्रशिक्षण प्राप्त कर पाते हैं; जबकि अधिकांश हिन्दी-नाट्यकर्मी, नाट्य-दल में अपनी सक्रियता के क्रम में अनौपचारिक रूप से प्रशिक्षित होते रहते हैं।कला प्रशिक्षण केन्द्र, वास्तव में ‘शिल्प’ या ‘क्राफ़्ट’ तथा ‘तकनीक’ का प्रशिक्षण देते हैं, कला अथवा कलात्मकता का नहीं। रंगमंच कला में, अंतर्शिल्पीय दक्षता की आवश्यकता होती है। नाट्य-शिल्प के अन्तर्गत स्टेज-क्राफ़्ट, लाइटिंग, म्यूजिक, मेक-अप, कास्ट्यूम, सीनिक-डिजाईन आदि-इत्यादि रंगमंच-कला के मुख्य-सर्जक अभिनेता और

Read more

पुलित्ज़र पुरस्कार से सम्मानित पत्रकार की कंधार में मौत

बहादुरी को कैमरे में कैद करने वाले जर्नलिस्ट की जंग के मैदान में मौत!पटना,16 जुलाई. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के लिए काम करने वाले भारतीय मूल के फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की कंधार में मौत की खबर ने सबको हैरान कर दिया है.  उनकी मौत उस वक्त हुई जब वे अफगानिस्तान के कंधार में तालिबानियों और सिक्योरिटी फोर्सेस के मुठभेड़ के दौरान फंस गए.  स्पिन बोल्डक जिले में दानिश पिछले कई दिनों से मौजूदा हालात को कवर कर रहे थे. अफगानिस्तान की स्पेशल फोर्सेस जब एक रेस्क्यू मिशन पर थी, तब दानिश उनके साथ मौजूद थे. उनकी बॉडी कंधार के स्पिन बोल्डक से रिकवर की गई. दानिश के सिर और पसलियों में गनशॉट दिखाई पड़ रहे हैं. 2018 में उन्हें बेस्ट फोटोग्राफी के लिए पुलित्जर अवॉर्ड रोहिंग्या कवरेज के लिए मिला था.  दानिश मुंबई के रहने वाले थे. उन्हें रॉयटर्स के फोटोग्राफी स्टाफ के साथ पुलित्जर अवॉर्ड दिया गया था. उन्होंने दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से इकोनॉमिक्स में ग्रैजुएट किया था. 2007 में उन्होंने जामिया के मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर से मास कम्युनिकेशन की डिग्री ली थी. उन्होंने टेलीविजन से अपना करियर शुरू किया और 2010 में रॉयटर्स से जुड़े. इसी हफ्ते जब तालिबान ने कंधार के स्पिन बोल्डक पर कब्जा किया तो स्पेशल फोर्सेस के साथ लगातार उसकी मुठभेड़ शुरू हो गईं. पिछले कई दिनों से दोनों के बीच भीषण संघर्ष जारी है. दानिश इसी मिशन को कवर कर रहे थे. दानिश सिद्दीकी ने  2 दिन पहले आखिरी बार अपने पिता प्रोफेसर अख्तर सिद्दकी से बात की थी.

Read more

जहरीली शराब पीने से आठ की मौत, कई गंभीर

लालू यादव ने कहा हर साल हजारों लोगों की मौत हो चुकी है देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता रहा है बिहार में शराब बंदी के पांच साल तीन महीने बाद भी नहीं थम रहा है मौतों का सिलसिला दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप बिहार में शराब पर पूर्ण प्रतिबन्ध के बावजूद लोगों की मौत लगातार शराब के कारण हो रही है. राज्य के पश्चिम चंपारण के लौरिया प्रखंड में दो दिनों में संदिग्ध रूप से जहरीली शराब पीने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों का इलाज अभी भी जारी है. लोक इन मौतों के पीछे जहरीली शराब पीने के कारण रहे हैं. इस मामले की प्राथमिकी लौरिया थाना में दर्ज कर ली गई है. चंपारण के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) ललन मोहन प्रसाद ने बताया कि इस मामले में पीड़ित व्यक्ति के बयान पर लौरिया थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. प्राथमिकी में दो लोगों को आरोपी बनाया गया है. उन्होंने कहा कि दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप लगाया गया है. देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता है, जहां लोगों ने शराब पी थी और सभी की तबियत बिगड़ने लगी. ग्रामीणों के मुताबिक मरने वालों में देउरवा गांव के रहने वाले बिकाउ अंसारी, लतीफ मियां, रामवृक्ष चैधरी, बुलाई गांव के नईम हाजम, सीतापुर गांव के भगवान पांडा, जोगिया गांव के सुरेष साह, बगही के रातुल मियां और गौनही के झुन्ना मियां की मौत हुई है. विभिन्न अस्पतालों

Read more

देश के अन्नदाताओं को उनका वाजिब हक दिलाना है -नरेंद्र सिंह

यह बिल किसानों को गुलाम बनाने वाला है देश में कारपोरेट घराने को किसानों के हाथों बेचने की कोशिश पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह आज कल किसानों की मांग को लेकर जिलों में भ्रमण कर रहे हैं ।किसानों की दयनीय स्थिति पर केंद्र में मोदी सरकार और बिहार की नीतीश कुमार की सरकार पर मानवता के नाते भी अनदेखी करने का आरोप लगाया।आरा के सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मेरा मुख्य कार्य है देश के अन्नदाताओं को उनका वाजिब हक दिलाना। बिहार में शाहाबाद से संयुक्त किसान संघर्ष समन्वय समिति कृषि बिल के खिलाफ लोगों को एकजुट करने की कवायद शुरु करते हुए नरेंद्र सिंह ने कहा कि रोहतास जिले से 13 जुलाई को नोखा में चौपाल से आंदोलन का शुभारंभ हो चुका है किसानों का लागत का डेढ़ गुना पैसा मिले, खरीदारी सुनिश्चित हो प्राथमिकता यही होगी। यह बिल किसानों को गुलाम कर देगा है। अनाज भंडारण के लिए भी प्रावधान नहीं है । देश में कारपोरेट घराने को किसानों के हाथों बेचने की कोशिश की जा रही है। स्वामीनाथन कमिटी की सिफारिश को देश में लागू नहीं किया जा रहा है। इस यात्रा के दौरान संयुक्त किसान संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक सह पत्रकार दिनेश सिंह, डॉ राजेंद्र प्रसाद, समाजसेवी डॉ जितेंद्र शुक्ला एवं अजीत सिंह समेत कई उपस्थित थे ।

Read more

बालिका वधू की दादी सा ने कहा अलविदा

मुंबई,16 जुलाई. अपने अभिनय के बदौलत सपोर्टिंग कैरेक्टर के लिए 3 बार नेशनल अवार्ड जीतने वाली टेलीविजन और फ़िल्म अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का मुंबई में निधन शुक्रवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने से हो गया. वे काफी समय से बीमार चल रही थीं. 2020 में सुरेखा, ब्रेन स्ट्रोक की शिकार हो गई थीं. वे दूसरे ब्रेन स्ट्रोक की वजह से हुए कॉम्पलीकेशन्स से जूझ रही थीं. बालिका वधू सीरियल की दादी सा(कल्याणी देवी) के रूप में अपने अभिनय से उन्होंने लोगों के दिलो पर राज किया था. उनका अभिनय आने वाले समय तक लोगों के लिए अविष्मरणीय रहेगा. सुरेखा ने 1971 में नेशनल स्कूल और ड्रामा से अभिनय में ग्रेजुएशन किया था और संगीत नाटक अकादमी से 1989 का अवार्ड भी जीता. PNCB

Read more