21st टिफिन“मानवीय भावनाओं और रिश्तों की अंतरंग कहानी”

52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) की एक ऐसी फिल्म है, जिसका मुख्य पात्र बेनाम 21st टिफिन – 52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) की एक ऐसी फिल्म है, जिसका मुख्य पात्र बेनाम है. इसका कारण साधारण भी है और असाधारण भी.निराले चरित्र-चित्रण के बारे में फिल्म निर्देशक विजयगिरि बावा कहते हैं, “यह मानवीय भावना और रिश्तों की अंतरंग कहानी है. हमने उन सभी महिलाओं के जीवन को पेश करने की कोशिश की है, जिन्होंने दूसरों की सेवा में अपनी पहचान तक खो दी है। यही कारण है कि हमने मुख्य पात्र को कोई नाम नहीं दिया है.” बावा आज 52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव से अलग गोवा में एक प्रेस-वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे. उल्लेखनीय है कि महोत्सव का आयोजन 20 नवंबर से 28 नवंबर, 2021 तक गोवा में हो रहा है. यह फिल्म गुजराती लेखक राम मोरी की साहित्य अकादमी द्वारा पुरस्कृत पुस्तक पर आधारित है। मोरी भी इस अवसर पर उपस्थित थे. बेटी, बहन, पत्नी और मां के दर्जे तक पहुंचते-पहुंचते, महिलायें त्याग और बलिदान का प्रतीक होती हैं. हम कितनी बार यह समझकर उनके प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करते हैं? फिल्म निर्देशक ने बताया कि 21st टिफिन उन सभी महिलाओं को नमन है, जो दूसरों को खुश रखने के लिये अथक सेवा के दौरान अपनी पहचान तक खो देती हैं. फिल्म निर्देशक ने कहा कि उनकी फिल्म में एक प्रौढ़ महिला की कहानी दर्शायी गई है, जो अपने परिवार के लोगों की सेवा करने के साथ-साथ बाहरी लोगों को टिफिन बॉक्स भेजकर उनकी सेवा में व्यस्त रहती है. यह महिला खुद टिफिन

Read more

मध्यमवर्गीय परिवार का जीवन हास्य से भरा -मनोज बाजपेयी

एक मध्यमवर्गीय भारतीय का जीवन हास्य से भरा होता है जो मेरे पात्रों को प्रेरित करता है: आईएफएफआई के संवाद सत्र में मनोज वाजपेयी के विचार भारत में ओटीटी और बड़े पर्दे के बीच खूबसूरत सहअस्तित्व देखा जा सकता है: अपर्णा पुरोहित ओटीटी मजबूत कहानी और चरित्र की मांग करता है: सामंथा “मैंने कभी भी व्यक्तित्व को जीवन से बड़ा बनाने की कोशिश नहीं की। मैं हमेशा वास्तविकता में जीने की कोशिश करता हूं और अपने व्यक्तित्व को लोगों के प्रतिनिधि की तरह बनाता हूं।” यह बात जाने-माने अभिनेता मनोज बाजपेयी ने गोवा में भारत के 52वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के मौके पर आयोजित ‘क्रिएटिंग कल्ट आइकॉन: इंडियाज ओन जेम्स बॉन्ड विद द फैमिली मैन’ पर एक ‘ संवाद सत्र’ में कही। वर्चुअल माध्यम से आयोजित सत्र को संबोधित करते हुए मनोज ने कहा कि एक भारतीय मध्यम वर्ग का जीवन हास्य से भरा होता है और यह उनके सभी पात्रों के लिए प्रेरणा और संदर्भ है। उन्होंने कहा, “मुझे द फैमिली मैन सीरीज़ में अपने किरदार श्रीकांत तिवारी को कहीं और खोजने की ज़रूरत नहीं थी। मुझे यह मेरे भीतर, मेरे परिवार में, मेरे आसपास और हर जगह मिला है।” ‘द फैमिली मैन’ एक मध्यम वर्गीय भारतीय व्यक्ति की एक बेहतरीन कहानी है। पारिवारिक पृष्ठभूमि वाला यह व्यक्ति, जो काम से भरा हुआ है और उच्च उम्मीदें रखता है, अपने जीवन को संतुलित करने की कोशिश कर रहा है। मनोज ने कहा, “जब राज और डीके सिनॉप्सिस लेकर मेरे पास आए, तो मैं काम करने के लिए तुरंत तैयार हो गया।” द फैमिली मैन के

Read more

आपके घर में हो रहा है ‘बाल शिव’ का आगमन

&टीवी पर प्रसारित होगा बाल शिव बाल शिव का आपके घर आने को तैयार हैं तो इन्तजार किस बात का बाल शिव का स्वागत कीजिये.बाल शिव के रचनाकार और कहानीकार अनिरुद्ध पाठक ने पटना नाउ से विशेष रूप से साझा किया, “हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि बाल शिव का प्रीमियर 23 नवंबर, 2021 को होगा।” लेखक और रचनाकार के रूप में अनिरुद्ध पाठक एक नई कहानी के माध्यम से बाल शिव लेकर आ रहे है जो मंगलवार से &टीवी पर प्रसारित होगा. जहां महादेव की कथाओं का अंत हुआ था वहीं से एक नई कहानी ने जन्म लिया है..मेरा ये दृष्टिकोण मेरी कथा के संबंध में है .बस चाहता हूँ आपका प्यार इसे भी मिले …शिव ही सत्य हैं और सत्य ही सबसे सुन्दर है और शिवत्व को जानने के लिए जरुर देखिये बाल शिव .इस धारावाहिक में संवाद लिखा है जाने माने लेखक जीतेन्द्र सुमन ने । शो के कलाकारों में बाल शिव के रूप में आन तिवारी, महासती अनुसूया के रूप में मौली गांगुली, महादेव के रूप में सिद्धार्थ अरोड़ा, देवी पार्वती के रूप में शिव्या पठानिया, असुर अंधक के रूप में कृप कपूर सूरी, नारद मुनि के रूप में प्रणीत भट्ट, नंदी के रूप में दानिश अख्तर सैफी, दक्ष अजीत सिंह के रूप में शामिल हैं। इंद्राणी के रूप में इंद्र, अंजिता पूनिया, आचार्य दंडपानी के रूप में रवि खानविलकर, मैना देवी के रूप में पल्लवी प्रधान, आदि।बाल शिव एक पौराणिक शो है जो भगवान शिव की पौराणिक बचपन की कहानियों को दर्शाएगा।

Read more

हम बचपन की मासूमियत को भूल गए हैं -प्रसून

52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में ’75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो’ बच्चों के लिए फ़िल्में बननी जरुरी हमें बच्चों के लिए मनोरंजक सामग्री के बारे में सोचने की जरूरत है “आज, बच्चे अपने दादा-दादी के साथ समय नहीं बिताते हैं और उनकी कहानियाँ नहीं सुनते हैं.इसके बजाय, माता-पिता अपने बच्चों को YouTube वीडियो दिखा रहे हैं. जाने-माने गीतकार और सीबीएफसी के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने कहा कि भारतीय फिल्म उद्योग के लिए अलग-अलग पृष्ठभूमि के लोगों का अलग-अलग कहानियां सुनाना जरूरी है. जोशी ने कहा कि हर क्षेत्र को बड़े पर्दे पर प्रतिनिधित्व का अहसास कराने के लिए फिल्म उद्योग में नए चेहरों को लाने की जरूरत है.”चूंकि मैं उत्तराखंड से आता हूं और मुंबई से संबंधित नहीं हूं, मुझे विश्वास था कि हमारी फिल्म उद्योग में केवल वे लोग शामिल हो रहे हैं जो बड़े शहरों से आते हैं. “हमारी फिल्मों में विविधता तभी आएगी जब हमारी प्रतिभा में विविधता होगी. तभी हम एक किसान के जीवन का सच्चा प्रतिनिधित्व देख सकते हैं. लोग तर्क दे सकते हैं कि चर्चा और अवलोकन के माध्यम से एक फिल्म निर्माता दूसरे व्यक्ति की कहानी बता सकता है. लेकिन अगर कोई व्यक्ति जो उस परिवेश से ताल्लुक रखता है, वह इंडस्ट्री में आता है, तो आपको एक सच्ची कहानी मिलेगी.”वह 52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में ’75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो’ पहल के शुभारंभ कार्यक्रम में बोल रहे थे. इस पहल का उद्देश्य देश में युवा रचनात्मक दिमागों और नवोदित प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करना और उन्हें पहचानना है. 7 महिला

Read more

कंगना, मनोज और धनुष का धमाल ,मिला बेस्ट एक्टर का अवार्ड

67वें नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स का आयोजन दिल्ली के विज्ञान भवन में सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म ‘छिछोरे’ को भी बेस्ट हिंदी फिल्म के लिए पुरस्कार मिला कंगना रनौत, मनोज बाजपेयी और धनुष बने बेस्ट एक्टर रजनी कान्त को दादा साहब फाल्के पुरस्कार फिल्म अवार्ड से उप राष्ट्रपतिवेंकैय ने किया सम्मानित एक समारोह में उपराष्ट्रपति एम वेकैया नायडू कलाकारों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया .बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत, साउथ सुपरस्टार धनुष और बॉलीवुड एक्टर मनोज बाजपेयी सहित कई कलाकारों को नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया .कंगना रनौत को फिल्म मणिकर्णिका और पंगा के लिए अवॉर्ड मिला है. धनुष और मनोज बाजपेयी को ‘असुरन’ और ‘भोंसले’ के लिए अवॉर्ड दिया गया है. वहीं सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म ‘छिछोरे’ को भी बेस्ट हिंदी फिल्म के लिए पुरस्कार मिला है. सावनी रविंद्र को भी नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित हुईं तो वहीं बॉलीवुड के सिंगर बी प्राक को अक्षय कुमार की फिल्म ‘केसरी’ के गाने ‘तेरी मिट्टी’ के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड मिला। सावनी रविंद्र को ‘रान पटेला’ गाने के लिए बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर का अवार्ड मिला.बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के लिए साउथ सुपरस्टार विजय सेतुपति (सुपर डीलक्स- तमिल)और बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए पल्लवी जोशी (द ताशकंद फाइल्स- हिंदी) को अवॉर्ड मिला । बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट के लिए नागा विशाल, करुप्पु दुराई (तमिल) को अवॉर्ड मिला। बच्चों की फिल्म कस्तूरी (हिंदी), निर्माता- इनसाइट फ़िल्म्स, निर्देशक- विनोद उत्तरेश्वर काम्बले को पुरस्कार से सम्मानित किया गया . PNC DESK #BIHARKEKHABAR #KanganaRanaut #Manikarnika #NationalFilmAwards #Panga #Bollywood

Read more

टिप टिप बरसा पानी ..कभी न देखा होगा ऐसा

सूर्यवंशी 5 नवंबर को 2021 नवंबर को 3200 स्क्रीन पर रिलीज़ होगी मुंबई :जब सूर्यवंशी बननी शुरू हुई थी तब से ही अक्षय कुमार और कैटरीना कैफ के टिप टिप बरसा पानी रीमेक की चर्चा रही है. सूर्यवंशी में अक्षय कुमार, अपनी ही फिल्म मोहरा का ये मशहूर गाना, रीमेक कर चुके हैं. पिछली बार उनके साथ रवीना टंडन थीं और इस बार कैटरीना कैफ. दर्शक, इसकी झलक पाने के लिए काफी उत्साहित हैं. बस थोड़ा इंतज़ार और. जिस किसी ने भी ये गाना देखा है वो ये साफ तौर पर मानने को तैयार है कि रोहित शेट्टी ने ये गाने का रीमेक, ओरिजिनल से बेहतर बनाया है. रोहित शेट्टी इससे पहले भी अपनी फिल्मों में नींद चुराई मेरी, आंख मारे ओ लड़की आंख मारे जैसे गाने रीमेक कर चुके हैं. सूर्यवंशी वर्ष 2021 में रिलीज होने वाली बॉलीवुड एक्शन थ्रिलर हैं, जिसका निर्देशन रोहित शेट्टी कर रहे हैं. फिल्म में अक्षय कुमार एटीएस ऑफिसर की भूमिका में नजर आयेंगे. इस फिल्‍म में अभिमन्‍यु सिंह विलन की भूमिका में होंगे तो वहीं कैटरीना कैफ अक्षय के अपोजिट दिखाई देंगी. इस फिल्म की कहानी मुंबई पर होने वाले आतंकवादी हमले पर आधारित है. मुंबई पर लश्करों द्वारा एक अटैक प्लान किया जा रहा है, जिसे रोकने की ज़िम्मेदारी, ,मुंबई एंटी-टैररिस्म स्कॉट के एक योद्धा की जिसका नाम सूर्यवंशी है. मुंबई पर होने वाले हमले को रोकने के लिए सूर्यवंशी, सिम्बा और सिंघम ये तीनो ही अपनी पूरी ताकत लगा देते है. इन तीनो ही अफसरों की एक बड़ी लड़ाई आतंकवादी संघठन

Read more

पटना की बबली ने जीता डांडिया डांस कम्पटीशन 2021

फुलवारी शरीफ । त्यौहारी खुशियों का इंतज़ार जिस तन्मयता से बच्चे करते हैं शायद ही कोई और करता होगा. कोरोना महामारी को झेल रहे जीवन मे दुर्गा माता की शक्ति श्रद्धा भक्ति से भरपूर जीवन जीना  और जिंदादिली से जीना हमे हमारे घर के बच्चे ही  सिखलाते है. बच्चों की इसी जिंदादिली तथा उनकी त्योहारी खुशियां बरक़रार रहे इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए कुमुदिनी एजुकेशनल कम चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा डांडिया धमाल की प्रस्तुति ऑनलाइन हुई. इस रंगारंग कार्यक्रम में डांडिया डांस की प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें बिहार और झारखंड और देश के विभिन्न जगहों से लगभग 50 से भी अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया. सभी ने रंग-बिरंगे कपड़ों में नवरात्रि के गानों पर जम कर मस्ती की. प्रतियोगिता दो ग्रुप  में बाटी  गयी . पहला ग्रुप सिंगल डांस प्रस्तुति तथा दूसरा ग्रुप फॅमिली डांस प्रस्तुति रहा .  चेयरपर्सन उषा कुमारी और मुख्य अतिथि ट्रस्ट की सचिव सरस्वती देवी ने बच्चों का उत्साह वर्धन किया.  जज में अहमदाबाद से  डॉ  रश्मि  देवदत्त , पटना से डॉ परिणीति सिन्हा तथा मुंबई से डॉ रेशमा पवार  ने अपनी भूमिका निभायी. डांडिया नृत्य प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार पटना के शिशु विद्या मंदिर  की बबली कुमारी  ने जीता . वहीं दूसरे स्थान पर संत जोसफ कान्वेंट पटना की आशी बरनवाल  और तीसरे स्थान पर विद्यामंदिर  स्कूल वास्को गोवा से सार्थक नाइक तथा चौथे स्थान पर  रयान इंटरनेशनल स्कूल गुरुग्राम से भाविका रही .सभी विजेताओं को  इ- प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया. अजीत

Read more

डांडिया के बहाने बुजुर्गों को सम्मान देने का नयाब तरीका

अंबा ने मनाया डांडिया उत्सव का पांचवा साल, बुजुर्गों को भी युवाओं ने किया उत्सव में शामिल आरा, 13 सितंबर. मंगलवार की शाम से देर रात तक अंबा द्वारा आयोजित डांडिया नाइट 2021 होटल आरा ग्रांड में ग्रांड सेलिब्रेशन के साथ सम्पन्न हुआ. कार्यक्रम का उद्घाटन मां दुर्गा की पूजा अर्चना और आरती कर किया गया. वही डांडिया खेलने के लिए शहर की दो प्रतिष्ठित व्यक्तियो की बुजुर्ग माताओं ने डांडिया स्टिक से डांडिया खेल डांडिया उत्सव की शानदार आगाज की. कार्यक्रम का प्रारंभ मां आरण्य देवी के महंत मनोज बाबा ने दुर्गा माता की पूजा अर्चना कर की. पूजा के बाद मुख्य अतिथि के रूप में राकेश ओझा, विशिष्ट अतिथियों में ब्राह्मण सेना के शाहाबाद के अध्यक्ष अंजनी तिवारी, मारकंडेय ओझा, पवन तिवारी,संतोष तिवारी, डॉ विजय गुप्ता, डॉ संगीता गुप्ता और भोजपुर दर्शन के संपादक राजेश तिवारी ने मां दुर्गा की आरती की. इस अवसर पर महंत मनोज बाबा की माताजी और राजेश तिवारी की माताजी ने भी मातारानी की आरती की और डांडिया खेल कर डांडिया उत्सव की शुरुआत की. डांडिया उत्सव में मां दुर्गा की पूजा करते महंत मनोज बाबा तिलक लगा कर आने वालों का किया गया स्वागत डांडिया उत्सव में शामिल होने के लिए शहर के विभिन्न स्थलों से आने वालों का स्वागत अंकिता ने तिलक लगाकर किया. उत्सव में भारतीय परंपरा की इस पुरानी पद्धति के जरिए सम्मान और भारतीय संस्कृति से रूबरू कराने की कोशिश की गई. तीन पीढियां एक साथ थिरकते दिखे संगीत की धुनों पर हाथ में डांडिया,चेहरे पर अनगिनत खुशी

Read more

आरा के लाल सत्यकाम ने रैम्प पर दिखाया कमाल

मॉन्ट्रोज़ रनवे फैशन वीक- संस्करण 3 संपन्न मॉन्ट्रोस फाउंडेशन ऐसे सामाजिक कारणों के लिए अपने प्रयासों को जारी रखने का कोशिश करता है, साथ में सभी प्रायोजकों, प्रतिभागियों और उनके उल्लेखनीय योगदान को समाज के सामने लाने की कोशिश करता है. नोयडा: “बेटी की पाठशाला”मॉन्ट्रोज़ रनवे फैशन वीक, एमआरएफडब्ल्यू, एक ‘शो फॉर ए कॉज़’ है, जो पिछले 8 वर्षों से समाज के वंचित वर्ग के उत्थान के लिए समर्पित एक गैर-लाभकारी गैर सरकारी संगठन, मॉन्ट्रोज़ फाउंडेशन, दिल्ली के तत्वावधान में आयोजित किया गया. संगठन ने पहले ही नोएडा में एमआरएफडब्ल्यू संस्करण-1 का आयोजन किया गया , जिसका उद्देश्य था कैंसर रोगियों और लोगों की सहायता करना है, जबकि इसका संस्करण 2 जयपुर में आयोजित किया गया था, जो निम्न आय वर्ग के बच्चों की शिक्षा के लिए था. वर्तमान में, संस्करण-3, लक्ष्मी स्टूडियो, नोएडा में 24 और 25 सितंबर, 2021 को बेटी फाउंडेशन के सहयोग से, ‘बेटी की पाठशाला’शीर्षक के तहत बालिका शिक्षा और महिला सशक्तिकरण के लिए था. शो के संस्थापक और आयोजक विशाल मोंट्रोस हैं, उनकी सक्षम टीम ने सह-आयोजक नितिन भारद्वाज, एक अभिनेता और पेशेवर मॉडल, और यतिन गांधी, मुंबई स्थित स्टाइलिस्ट के साथ कार्य किये हैं .कार्यक्रम की अध्यक्षता और मुख्य अतिथि विक्रमशिला विश्वविद्यालय के संस्थापक और सीईओ अमरदीप सिंह ने की. इस अवसर पर शिरकत करने वाली हस्तियों में सत्यकाम आनंद (फिल्म अभिनेता), दिनेश मोहन (मॉडल / फिल्म अभिनेता), मान्या सिंह (मिस इंडिया 2020) विपिन भारद्वाज (मॉडल / फिल्म अभिनेता) इलाक्षी गुप्ता (मॉडल/टीवी अभिनेता) जैसे प्रसिद्ध नाम शामिल थे. इस शो में फैशन और एक्सेसरीज़

Read more

एक्टर पंकज त्रिपाठी की अंदर की बात आ गई सामने

ट्वीट कर कहा दूसरों को तुच्छ न समझें अपने से जूनियर को ग़ुलाम और स्वयं को मालिक समझ लेना दुःखद है पटना: किसी भी संस्था में अपने से जूनियर को ग़ुलाम और स्वयं को मालिक समझ लेना दुःखद है. अपनी सोच समझ को श्रेष्ठ और दूसरों को तुच्छ समझना दुःखद है. जूनियर, सीनियर से परे लोग एक दूसरे को सहकर्मी क्यों नहीं स्वीकार कर पाते हैं? अपनी महत्वकांक्षाओं के लिए सहकर्मियों को उनके निजी जीवन, उनके हॉबी की आहुति देने पर क्यों मजबूर कर देते हैं? आपके सहकर्मी एक रिसोर्स के साथ एक ह्यूमन भी तो हैं ना! लोगों के जीवन मे उत्साह घोलने की जगह अनावश्यक तनाव क्यों घोलना है? सेहतमंद वर्क कल्चर आपको नहीं भी मिला हो तो आप इसकी शुरुआत कर सकते हैं ना! याद रखिए नौकरी जीवन के लिए हैं, जीवन नौकरी के लिए नहीं है। आज विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस है। जागरूक हों और समाज मे अपना योगदान सुनिश्चित करने का प्रयास करें. प्रख्यात अभिनेता बिहार के लाल पंकज त्रिपाठी की दिल की बात आज सामने आ गई है उन्होंने लोगों से बिना भेद भाव ,जूनियर सीनियर से अलग काम करने की अपील की है। पंकज त्रिपाठी अपने बेबाकी बात के लिए जाने जाते हैं । अपने ट्वीट के जरिए देश के लोगों से अपील की है और कई सवाल भी पूछे हैंपंकज त्रिपाठी के इस ट्वीट को सोशल मीडिया में खूब शेयर किया जा रहा है.खास कर रंगकर्मियों के बीच इस ट्वीट को ज्यादा पसंद किया जा रहा है। आपके क्या विचार हैं हमें

Read more