बिहार की झोली में 13 संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार

संगीत नाटक अकादमी अवार्ड में हृषिकेश सुलभ, सुमन झा, रंजना कुमारी झा, मैथिली ठाकुर और सुदीपा घोष प्रमुख दिसंबर में  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों ये पुरस्कार दिल्ली में दिए जाएंगे विशेष अलंकरण समारोह: छत्तीसगढ़ की तीजन बाई व ममता चंद्राकर को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, राष्ट्रपति करेंगी सम्मानित संगीत, नाटक और नृत्य के क्षेत्र में पिछलेतीन साल के लिए घोषित संगीत नाटक अकादमी अवार्ड में बिहार के 13 कलाकारों का चयन हुआ है. इनमें चर्चित नाटककार और रंगकर्मी हृषीकेश सुलभ, ठुमरी गायिका कुमुद झा दीवान, लोकगायिका रंजना झा और मैथिली ठाकुर भी शामिल हैं. संगीत नाटक अकादमी (दिल्ली) के सचिव अनीश पी राजन ने शुक्रवार शाम साल 2019, 2020 और 2021 के अवार्ड की अधिसूचना जारी की. हृषीकेश सुलभ को नाट्य लेखन, नीलेश्वर मिश्र को अभिनय, मिथिलेश राय को निर्देशन के लिए अकादमी अवार्ड मिलेगा. 13 कलाकारों में पांच बेटियां हैं. वरीय पुरस्कारों में कुमुद झा दीवान और रंजना झा और बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार की सूची में भरतनाट्यम की कलाकार सुदीपा घोष, लोकनृत्य के सुपरिचित नाम जितेन्द्र चौरसिया, मैथिली ठाकुर व अभिनेत्री रूबी खातून शामिल हैं. 90 वर्षीय अभिनेता, निर्देशक गणेश प्रसाद सिन्हा, 75 वर्षके अभिनेता-निर्देशक सुमन कुमार, लोकगीतों के जाने-मानेनाम भरत सिंह भारती और ध्रुपद गायक रघुवीर मलिक का चयन अमृत अवार्ड के लिए किया गया है. युवा पुरस्कार के लिए 25 हजार जबकि संगीत नाटक अकादमी और अमृत अवार्ड धारियों को एक-एक लाख रुपये, ताम्र पत्र और अंगवस्त्र दिए जाएंगे. संगीत नाटक अकादमी ने 86 कलाकारों के लिए भारत की आजादी के

Read more

अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने बिहार को लेकर ये क्या कह दिया!

बिहार के अपने पुराने दिनों को याद करते हुए भावुक हो गए एक्टर फिल्म बाजार में बिहार पवेलियन का उद्घाटन सचिव, कला, संस्कृति और युवा विभाग बंदना प्रेयषी ने किया किया स्वागत बिहार फिल्म नीति पर विचार-विमर्श के लिए सचिव ने किया आमंत्रित 20 से 28 नवंबर 2022 तक गोवा में चल रहा है 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव बिहार सरकार द्वारा हाल ही में की गई पहल, बेहतर सुरक्षा परिदृश्य, तेजी से कनेक्टिविटी के बारे में भी बताया, जिससे बिहार में फिल्म उद्योग आकर्षित हो. उन्होंने रचनात्मकता को राज्य में बढ़ावा देने के लिए आवश्यक समर्थन का आश्वासन दिया और आगामी बिहार फिल्म नीति पर विचार-विमर्श के लिए त्रिपाठी को अपनी अगली बिहार यात्रा पर पटना आमंत्रित किया. बंदना प्रेयषी,आईएएस, सचिव, कला, संस्कृति और युवा विभाग, बिहार सरकार ‘अनछुए रमणीक स्थानों और फिल्म निर्माण की अपार संभावनाओं वाले बिहार, को पहले ही फिल्म बाजार में भाग लेना चाहिए था’. फिल्म उद्योग के जाने-माने कलाकार पंकज त्रिपाठी ने 20 से 28 नवंबर 2022 तक गोवा में चलने वाले 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के अवसर पर राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम द्वारा आयोजित फिल्म बाजार में बिहार पवेलियन का उद्घाटन करते हुए प्रसन्नता व्यक्त की.पंकज त्रिपाठी, जो कि बिहार से ही ताल्लुक रखते हैं, ने कड़ी मेहनत, प्रतिभा और जमीन से जुड़े अभिनय कर फिल्म जगत क्षेत्र में अपना और बिहार का नाम रौशन किया है. बंदना प्रेयषी, आईएएस, सचिव, कला, संस्कृति और युवा विभाग, बिहार सरकार ने इस अवसर पर पंकज त्रिपाठी को गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया. बिहार पवेलियन

Read more

64 योगिनियों पर है आधारित अनिता की कलाकृति

पांच दिनों में दिखी योगिनी के विभिन्न स्वरूपसामाजिक संस्कृति की बहुस्तरीय भावना को दर्शाती एकल चित्र प्रदर्शनीश्याम शर्मा ,मिलन दास ,अनिल बिहारी अजय पाण्डेय चंद्रभूषण श्रीवास्तव ,मजहलाई ने आयोजन को सराहा राजधानी पटना में पांच दिनों अनीता कुमारी की चित्र श्रृंखला योगिनी को दर्शकों को खूब प्रशंसा मिली. चित्रकला में अपना स्थान ख़ास बनाने वाली अनीता कुमारी की एकल चित्र प्रदर्शनी में पौराणिक महत्ता की योगिनी को प्रस्तुत किया है. ललित कला अकादमी में आयोजित इस एकल चित्रकला प्रदर्शनी का में अब तक कई चित्रकार शिरकत कर चुके हैं. प्रसिद्ध कलाकार मिलन दास अनिल बिहारी दर्शक के रूप में आए इनके साथ-साथ पटना आर्ट कॉलेज के प्राचार्य अजय पाण्डेय ,सहायक प्रोफेसर चंद्रभूषण श्रीवास्तव और मजहलाई एवं कलाकार संजय सिंह अमित कुमार,और कॉलेज के छात्र छात्राएं भी शामिल हुए. मिलन दास एवं अन्य बिहारी ने प्रदर्शित चित्रों को सराहा और उसकी बारीकियों पर भी चर्चा की. वहीँ मिलन दास ने कहा कि इनकी पेंटिंग में जो सबसे ख़ास बात है वह है संयोजन जो किसी भी चित्रकार को अपनी ओर आकर्षित करता है. वहीँ आर्ट कॉलेज प्रोफेसर चंद्रभूषण श्रीवास्तव ने कहा कि समकालीन समाज की झलक इन चित्रों में दिखती है. अमरेश कुमार,रश्मि सिंह,जितेंद्र मोहन,रामू कुमार संजय कुमार,प्रमोद रजक समेत तारकेश्वर और संगीता सिन्हा  चित्रकारों ने अनीता की पेंटिंग को सराहा.   अनीता ने बताया कि योगिनी एक प्रतीकात्मक चिन्ह है जिस पर काम करते हुए मैं अपने कामों में आनंद की प्राप्ति करती हूँ. नारी समाज की पवित्र प्रतीक है क्योंकि पूरा समाज नारी के इर्द-गिर्द घूमती है. मेरी कला

Read more

होश उड़ा देंगी जलपरी बनीं जाह्नवी कपूर की हॉट एंड बोल्ड तस्वीरें

अभिनेत्री श्रीदेवी की बड़ी बेटी जाह्नवी कपूर ने बॉलीवुड में कुछ अलग करने का ठान लिया है.जाह्नवी इस कड़ी में सबसे पहले अपने बोल्ड अंदाज से फैंस को अपनी ओर खींचने का काम कर रही हैं. यह हम नहीं बल्कि एक्ट्रेस की सिजलिंग और सांसें रोक देने वालीं तस्वीरें इसका सबूत दे रही हैं. एक्ट्रेस की सिजलिंग और सांसें रोक देने वालीं तस्वीरें इसका सबूत दे रही हैं. सीग्रीन इस गाउन में जाह्नवी ने बोल्डनेस दिखाने में कोई कम नहीं छोड़ी है.इन तस्वीरों को शेयर कर जाह्नवी लिखती हैं विजन यह था किबॉटलिकली वीनस ने एक जलपरी से मुलाकात की. अब तक आपको समझ आ गया होगा कि इस जाह्नवी ने एक जलपरी का लुक धारण किया है दरअसल बीती रात एक ब्यूटी अवार्ड शो में जाह्नवी ने इस सनसनी मचा देने वाले लुक में एंट्री की थी.अब सोशल मीडिया पर जाह्नवी कपूर की ये तस्वीरें पारा बढ़ाने के साथ फैंस का चैन भी चुरा रही हैं. PNCDESK

Read more

बच्चों ने बाल दिवस सप्ताह में मचाया धमाल

म्यूजिक एंड आर्ट पॉइंट ने किया बाल दिवस सप्ताह का आयोजन                        म्यूजिक एंड आर्ट पॉइंट ( संगीत एवं कला महाविद्यालय ) में चाचा नेहरू के जन्मदिन पर बच्चों ने तैलचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित किया एवं केक काटकर एक दूसरे को बधाई दी. कार्यक्रम की शुरुआत मास्टर रोहित एवं आकर्ष ने सरस्वती वंदना से किया. इसके बाद तो गीत संगीत एवं नृत्य का जबरदस्त उत्साह के साथ एक से बढ़कर एक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां हुई जिसे देखकर श्रोताओं ने लगातार तालिया बजाकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया. गायन में गौरव विशाल सिंह, पंकज पाठक, सुधीर कुमार, मुकेश कुमार, रोहित कुमार, अवध कुमार, रागिनी सिंह, मोहम्मद इस्लाम, मोहम्मद ज़ाहिर, रौशन कुमार सहित दर्जनों छात्रों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया, तबले पर संगत राकेश कुमार ने बखूबी किया. वहीँ  नृत्य में अंशी सिंह, आमर्या , विराट सिंह , सम्राट सिंह, सृष्टि सिंह, अक्ष विजय सिंह, आयुष विजय सिंह, ने नृत्य में अपना प्रदर्शन कर खूब तालियां बटोरी . इस अवसर पर संस्था के निदेशक डॉ. वेद प्रकाश सागर ने सभी बच्चों को उपहार देकर सम्मानित किया और कहा के बच्चें मन के सच्चे होते है, ये हमारा और देश का भविष्य है इनको सही मार्ग पर चलने की आदत माता पिता और गुरु का कर्तव्य बनता है. उपस्थित प्रमुख व्यक्तियों में डॉ. कुमार जीतेन्द्र ( निदेशक,हेल्थ हैवन हॉस्पिटल ) डॉ. आर. के. सिंह, प्रो. डॉ. रणविजय कुमार, राज किशोर पाठक सहित कई अभिभावकों की शानदार उपस्थिति रही. मंच संचालन ऋचा ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन संस्था के निदेशक डॉ. वेद प्रकाश सागर

Read more

नारी समाज की पवित्र प्रतीक है ‘योगिनी’ : अनीता कुमारी

योगिनी चित्र शिल्प एक कहानी कहता है : पद्मश्री श्याम शर्मा सामाजिक संस्कृति की बहुस्तरीय भावना को दर्शाती एकल चित्र प्रदर्शनी का आयोजन नारी समाज की पवित्र प्रतीक है पूरा समाज नारी के इर्द-गिर्द है घूमती दुनिया को अपने कैनवस पर समेटना चाहती हूं मैं एकल प्रदर्शनी -15 नवम्बर से 20 नवम्बर 2022  का आयोजन पटना में आये दिन कोई न कोई चित्र प्रदर्शनी का आयोजन होता ही रहता है कभी समूह में तो कभी एकल. देश में अपना स्थान ख़ास बनाने वाली अनीता कुमारी की एकल चित्र प्रदर्शनी में योगिनी को प्रस्तुत किया है.ललित कला अकादमी में आयोजित इस एकल चित्रकला प्रदर्शनी का उद्घाटन देश दुनिया के प्रख्यात चित्रकार श्याम शर्मा किया.उन्होंने कहा कि अनीता कुमारी के चित्र ने सृजन से लेकर कई अवस्थाओं का चित्रण किया है जिसमें कला के प्रति उनका नजरिया स्पष्ट दिखता है.  उन्होंने कहा कि अनीता कुमारी के चित्र ने सृजन से लेकर कई अवस्थाओं का चित्रण किया है जिसमें कला के प्रति उनका नजरिया स्पष्ट दिखता है। योगिनी एक योग है मतलब जोड़ना मतलब योगी। षोडशमातृकाएं या 64 योगिनियों की कल्पना है। ये सभी भारतीय चित्र परंपरा के अनुसार है। इनके चित्रों में कथात्मक का गुण है जो अपनी कहानी कहती है। योगिनी को आज के संदर्भ में प्रस्तुत करना ही कलात्मकता है। अनीता ने बताया कि योगिनी एक प्रतीकात्मक चिन्ह है जिस पर काम करते हुए मैं अपने कामों में आन्नद की प्राप्ति करती हूँ. नारी समाज की पवित्र प्रतीक है क्योंकि पूरा समाज नारी के इर्द-गिर्द घूमती है. मेरी कला 21वीं

Read more

यहाँ बहुत एनर्जी है, फिर आउंगी- वर्तिका झा

डुमराँव महाराज भी डांस वर्कशॉप में पहुँचे वर्तिका के डांस वर्कशॉप में पहुंचे कई राज्यों के डांसर डुमराँव,8 नवंबर. रॉयल डांस अकादमी द्वारा आयोजित डांस वर्कशॉप में रविवार को डांसर, कोरियोग्राफर और अभिनेत्री वर्तिका झा का आगमन डुमराँव में हुआ, जहां उन्होंने बच्चे-बच्चियों को डांस के कई टिप्स दिए. वर्तिका झा इस डांस वर्कशॉप के लिए वैसे तो शनिवार के शाम में ही डुमराँव आ चुकी थीं,जहाँ वे एक स्थानीय होटल में ठहरी थीं. रविवार के कार्यक्रम के लिए वे राजगढ पहुँची जहाँ डांस वर्कशॉप के लिए उनका इंतजार कर रहे प्रशंसको ने उनका जोरदार स्वागत किया. उनके साथ उनकी मां कांति झा, मैनेजर और उनकी भाभी रक्षा झा, भाई मुदित झा और उनका भतीजा मिहिर झा की भी उपस्थिति देखी गयी. आयोजन समिति की ओर से जोरदार आतिथ्य सत्कार किया गया. श्वेता सिंह और ममता ने सभी अतिथियों को तिलक लगाया, जिसके बाद अनुराग मिश्रा, हनी हसनैन और वेद सागर ने पुष्प गुच्छ देकर अतिथियों का स्वागत किया. कैप्मस से लेकर मार्बल हाउस तक अनुराग संगीत कला केंद्र के बच्चियों ने अतिथियों के ऊपर पुष्प वर्षा कर उनका जोरदार स्वागत किया. वर्तिका के इस डांस वर्कशॉप के लिए बिहार और यूपी के अलावा एमपी से भी डांसर आये हुए थे. राजगढ़ स्थित मार्बल हाउस में दो शिफ्ट में बक्सर और बक्सर के बाहर से आये डांसरों को डांस की सुपर स्टार वर्तिका झा ने डांस सिखाया. डांस सीखने वालों में छोटे बच्चे से लेकर बड़े उम्र के लोग शामिल थे. डांस को आसान तरीके से कैसे किया जाए उस

Read more

सोनपुर मेला का रंगारंग आगाज

उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने गंगा और गंडक के संगम स्थल पर प्रत्येक वर्ष कार्तिक पूर्णिमा से शुरू होने वाले विश्वविख्यात ऐतिहासिक, धार्मिक और पौराणिक हरिहर क्षेत्र सोनपुर मेला का आज उद्घाटन किया. उद्घाटन समारोह में राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश, सारण सांसद राजीव प्रताप रूडी, सोनपुर विधायक रामानुज प्रसाद, विज्ञान प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित सिंह, मढ़ौरा विधायक सह मंत्री जितेंद्र राय, राजद एमएलसी सुनिल सिंह भी मौजूद थे. इस मेले में प्रत्येक वर्ष लाखों देसी-विदेशी पर्यटक आते हैं. यह आज भी एशिया का सबसे बड़ा पशु मेला है. यह वैष्णव (हरि)और शैव (हर) संप्रदायों का समन्वय स्थल है. बाबा हरिहरनाथ शिवलिंग विश्व का एकमात्र ऐसा मंदिर है जिसके आधे भाग में शिव (हर) और शेष में विष्णु (हरि) की आकृति है, एक ही गर्भगृह में विराजे दोनों देव एक साथ हरिहर कहलाते हैं. यह स्थल बिहार की राजधानी पटना से 25 किमी तथा हाजीपुर से 3 किमी दूर है. इस दौरान ”सोनपुर मेला 2022” एप का भी शुभारंभ किया गया. उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि सोनपुर मेला बिहार ही नहीं पूरे देश की धरोहर है. इस मेले के गौरव और मान-सम्मान को बरकरार रखते हुए इसके प्रचार-प्रसार एवं विकास के लिए सरकार के स्तर पर हरसंभव उपाय किए जा रहे हैं. pncb

Read more

अज्ञान अंधेरा समाप्त हो ज्ञान का उजियारा फैले यही है सच्ची दीवाली

– बड़ी धूमधाम से मनाया गया रोशनी का पावन पर्व दीपावली – ओम शांति रिट्रीट सेंटर में हुआ भव्य आयोजन – आत्मिक दीप प्रज्ज्वलित होने का त्योहार है दीपावली – दीपावली के नए गीत की हुई लॉन्चिंग – 3000 से भी अधिक लोगों ने की कार्यक्रम में शिरकत ब्रह्माकुमारीज के भोराकलां स्थित ओम शांति रिट्रीट सेंटर में रोशनी का पावन पर्व दीपावली बड़ी धूमधाम से मनाई गया. कार्यक्रम में दिल्ली एवं एनसीआर के 3000 से भी अधिक लोगों ने शिरकत की.दीप प्रज्ज्वलित कर सभी ने स्वयं को ज्ञान की रोशनी से रोशन कर बुराइयों से मुक्ति का संकल्प लिया. संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन ने दिवाली की शुभ कामनाएं देते हुए कहा कि दीवाली सतयुगी स्वर्णिम दुनिया का यादगार है. उन्होंने कहा कि बाहर के दीपक जगाना तो आसान है. लेकिन सच्ची दीवाली तो आत्मदीप जगाने से होगी. दशहरा के बाद दीवाली का त्योहार मनाया जाता है. जो कि अज्ञान अंधकार खत्म हो ज्ञान दीप जगाने का प्रतीक है. दीपावली पर एक दो को मिठाई बांटने का अर्थ ही है कि अंदर की कड़वाहट समाप्त कर जीवन में मिठास भरें. ओआरसी की निदेशिका आशा दीदी ने सभी का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि दीपराज परमात्मा के साथ आत्मा रूपी दीप रानियों का मिलन ही दीवाली के आध्यात्मिक रहस्य को दर्शाता है.दीवाली पर स्वच्छता वास्तव में आत्मिक शुद्धि का प्रतीक है. पटाखे चलाना खुशी से सम्पन्न स्थिति का सूचक है। हम आध्यात्मिक शक्ति से जितना भरपूर होंगे। उतना ही आत्मिक ज्योति जगमगाएगी. दीवाली की शुभ कामनाएं व्यक्त करते हुए शुक्ला

Read more

रजनी बनी मोटिवेटर, दिया छात्रों को मंत्र

अपने ससुराल पहुँच पुरखों के मंदिर में पूजा-अर्चना किया आरा की अधिष्ठात्री आरण्य देवी दरबार मे भी माथा टेका आरा,13 अक्टूबर. आरा की बेटी और आरा की बहु रजनी मिश्रा KBC में सफलता के झंडे गाड़ने के बाद युवाओं और बुजुर्गों के लिए प्रेरणा बन गए हैं. हर कोई उनकी सफलता का मूल मंत्र जानना चाहता है. यही कारण है कि सोशल मीडिया से लेकर पर्सनल लेबल तक हर कोई उनसे कॉन्टेक्ट साधने की पूरी जुग्गत लगा उनके पास पहुँच ही जा रहा है और जो नही पहुँच पा रहे हैं वे खिसियानी बिल्ली बन सोशल प्लेटफार्म पर उनको कोस रहे हैं कि आरा का नाम जिसने नही लिया उसे क्यों सम्मानित करना…लेकिन इन सबके बावजूद रजनी मिश्रा की जीत और उनकी बेवाकी हर किसी को अपना दीवाना बनाये हुए है. उनकी हर बात सम्मोहन की तरह सामने वाले के लिए मंत्र हो जाता है. यही कारण है कि रजनी मिश्रा एक मोटिवेटर की तरह बच्चों से इंटरैक्शन में नजर आयीं. बुधवार को वे आरा का के दो कोचिंग संस्थानों पीआर क्लासेज और मिथलेश प्रधान के कोचिंग में मेहमान के तौर पर गयीं. मिथलेश प्रधान के कोचिंग में उन्हें शॉल और बुके से सम्मनित किया गया. सम्मान के इस खास मौके पर नमामि गंगे के DPO अमित कुमार सिंह सम्मान समारोह की व्यवस्था में लगे हुए थे. बच्चों को सम्बोधित करने के बाद उनसे लाइव सेसन का 30 मिनट का सत्र रहा जिसमे छात्र-छात्राओं ने सवालों के जरिये अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया और रजनी मिश्रा को देखने के बाद

Read more