नाटक से सीख सकते हैं स्वयं का विकास-रवींद्र भारती

कार्यशाला के सातवें दिन अभिनय के आयामों पर किया गया कार्य आरा। रेडक्रॉस के बगल में स्थित मंगलम द वेन्यू में चल रहे अभिनव एवं ऐक्ट द्वारा आयोजित 20 दिवसीय निःशुल्क नाट्य कार्यशाला के सातवें दिन नाटक के गुर को सिखाया गया। इस दौरान कार्यशाला के निदेशक रवीन्द्र भारती ने बच्चों को खुद से नाटक तैयार कर प्रस्तुत करने के लिए प्रेरित किया। उसके बाद एक- एक कर बच्चों ने नाटक को तैयार कर अपने अपने प्रस्तुति देकर सबका दिल जीता। किसी ने शोले फ़िल्म को कॉमेडी में दिखाया। तो किसी ने शादी करवाई। उसके बाद समय पर आधारित संगीत पर नृत्य कर के दृश्य को जीवंत करने में कोई कोशिश नहीं छोड़ी । संस्था के मुख्य संरक्षक तारकेश्वर शरण सिन्हा ने बच्चों की कार्यशाला को देखते हुए कहा कि अनुशासन बहुत जरूरी है। अगर कोई भी कलाकार बेहतर अनुशासन में अव्वल आता है, तो उसे पुरस्कृत किया जाएगा। इसको लेकर रवींद्र भारती ने बताया कि सातवें दिन नाटक के विभिन्न आयामों पर कार्य किया गया । एक एक्टर के लिए जरूरी आंगिक, वाचिक, आहार्य और  सात्विक अभिनय के साथ रसों के ऊपर कार्य करने की चुनौती दी गई। जिसमें सभी कलाकारों ने स्तानिस्लावस्की के अभिनय सिद्धांत जो मेथड एक्टिंग के लिए प्रसिद्ध है उस पर एक एक कर सबने अपनी प्रस्तुतियां दी। उसके बाद कई फिल्मी गानों पर साथ ही कई विषयों पर नाटक भी प्रस्तुत किया। कलाकारों में  छठवें दिन की कार्यशाला से सीखने के उपरांत अपने सहयोगियों की तालियां बटोरी। नाट्यकार्यशाला में भाग ले रहीआशी सिंह ने

Read more

अभिनेता को भाषाओं पर पकड़ होनी चाहिए

बच्चों में अलग-अलग भाषाओं में भी नाटक करने की है क्षमता — मनोज श्रीवास्तव आरा। 20 दिवसीय कार्यशाला के छठवें दिन छात्रों को खुद से एक्ट प्रस्तुत करने का टास्क दिया गया। इस दौरान ए, बी, सी, डी और इ ग्रुप बना कर बच्चों को बराबर बराबर बांट दिया गया। उसके बाद सभी ग्रुप के बच्चों ने अपनी प्रस्तुति दिया। इस दौरान अभिराम के दल के द्वारा प्रस्तुत की गई एक्ट पर बच्चों ने जमकर ताली बजाई। अभिराम की टीम ने रानी लक्ष्मीबाई का अभिनय बखूबी निभाया। इसके बाद वर्कशॉप के निदेशक ने भोजपुरी में किये जा रहे एक्ट को अंग्रेजी में करने को कहा। छात्रों ने अपने अभिनय को अंग्रेजी माध्यम में प्रस्तुत किया जिससे बच्चों की टूटी फूटी अंग्रेजी ने खूब हंसाया। छात्रा शीतल गुप्ता ने बताया कि मैंने पहले कभी एक्टिंग वर्कशॉप नहीं किया है। लेकिन योगा करती थी। वर्कशॉप में आकर मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मुझे यहां आने के बाद खुद में हुई गलतियों का पता चल पाया है। अगर मुझे अभिनय के लिए चुना जाता है तो मुझे अच्छा लगेगा। छात्रा रितु पांडेय ने बताया कि लगातार छह दिनों से मैं वर्कशॉप में आ रही हूं। मैंने कभी पहले वर्कशॉप नहीं किया है। उन्होंने बताया कि जब मैं स्टेज पर जाती हूँ तो थोड़ा डर बना रहता है लेकिन मैं यहां सीखने आई हूं और अच्छा करना चाहती हूं। 14 वर्षीय छात्रा मुस्कान पांडेय ने बताया कि स्टेज पर जाने से पहले डर लगता था, लेकिन अब डर नहीं लगता है। जब शुरू

Read more

अभिनेता को खुद पर नियंत्रण रखना होगा – नागेंद्र पांडेय

20 दिवसीय नाट्यकार्यशाला के पांचवें दिन संगीत और नृत्य के क्लास में झूमें प्रतिभागी आरा। रेडक्रॉस के बगल में स्थित मंगलम द वेन्यू में चल रहे अभिनव एवं एक्ट की ओर से आयोजित स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित 20 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के पांचवे दिन प्रतिभागियों ने संगीत के बारे में जाना। इस दौरान प्रशिक्षक नागेंद्र पांडेय ने बच्चों को म्यूजिक के गुर सिखाये।उन्होंने शास्त्रीय संगीत, लोक संगीत के बारे में बताया। वहीं फ़िल्म अभिनेता अजय साह ने एक्टिंग के साथ साथ एक्टर के चलने के सही तरीके को बताया। प्रतिभागियों ने इस कार्यशाला के बारे में बताते हुए कहा कि ये पहला अवसर है जब हम बच्चों की कुछ नया सीखने को मिल रहा है। छात्रा खुशी गुप्ता ने बताया कि मुझे क्लास करके बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैं पहले से संगीत की क्लास करती थी। लेकिन यहां मुझे कुछ नया सीखने को मिल रहा है। संगीत के साथ-साथ मुझे एक्टिंग के नए नए गुर सीखने के लिए मिल रहे हैं, मुझे यहां आकर अच्छा लग रहा है। वहीं प्रशिक्षण ले रहे छात्र शुभम दुबे ने बताया कि वो लगातार पांच दिनों से वर्कशॉप का हिस्सा हैं। पांच दिनों में अभिनय की बारीकियों से समझा है। इसके साथ ही म्यूजिक के बारे में भी जानने की कोशिश की। वर्कशॉप में मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। सबसे खास चंद्रभूषण पांडेय का क्लास लगा। क्योंकि उन्होंने सबसे पहले बताया कि एक अभिनेता के लिए रोड ही उसके लिए विवि होती है। वो जो कुछ भी सीखता है,

Read more

बालिका वधू की दादी सा ने कहा अलविदा

मुंबई,16 जुलाई. अपने अभिनय के बदौलत सपोर्टिंग कैरेक्टर के लिए 3 बार नेशनल अवार्ड जीतने वाली टेलीविजन और फ़िल्म अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का मुंबई में निधन शुक्रवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने से हो गया. वे काफी समय से बीमार चल रही थीं. 2020 में सुरेखा, ब्रेन स्ट्रोक की शिकार हो गई थीं. वे दूसरे ब्रेन स्ट्रोक की वजह से हुए कॉम्पलीकेशन्स से जूझ रही थीं. बालिका वधू सीरियल की दादी सा(कल्याणी देवी) के रूप में अपने अभिनय से उन्होंने लोगों के दिलो पर राज किया था. उनका अभिनय आने वाले समय तक लोगों के लिए अविष्मरणीय रहेगा. सुरेखा ने 1971 में नेशनल स्कूल और ड्रामा से अभिनय में ग्रेजुएशन किया था और संगीत नाटक अकादमी से 1989 का अवार्ड भी जीता. PNCB

Read more

फूहड़ गाने वालों सावधान! नीतीश सरकार ने अश्लीलता पर लिया संज्ञान

भोजपुरी और मगही में अश्लील गाने वालों पर चलेगा कानून का चाबुक पटना,12 जुलाई. भोजपुरी और मगही में अश्लीलता फैलाने वाले सावधान! नीतीश सरकार ने लॉक डाउन के टूटते ही अपने पहले जनता दरबार में आये एक शिकायतकर्ता की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए अश्लीलता फैलाने वालों को अपने रडार पर ले लिया है और इससे सम्बंधित वरीय अधिकारियों के साथ मुख्य सचिव के जिम्मे लगा दिया है. बिहार में इन दिनों भोजपुरी और मगही में फूहड़ गानों की बाढ़ आ गई है. आये दिनों यू ट्यूब पर नए से लेकर नामी गायकों द्वारा यह सिलसिला शुरू है. नया  IT एक्ट जरूर लागू हो गया है लेकिन  इसके बाद भी सरकार द्वारा ऐसे गायकों या कम्पनी वालों पर कोई कार्रवाई नही हुई है. ऐसे फूहड़ और अश्लील गीतों से तंग आम जनता में से एक ने अपनी फरियाद को जनता दरबार मे पहुंचा दिया. सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में एक फरियादी ने भोजपुरी और मगही में अश्लीलता पर रोक लगाने की अपील की. अश्लीलता के खिलाफ अपनी शिकायत लेकर पहुंचे शिकायतकर्ता ने मुख्यमंत्री से मिल कहा कि इन दिनों भोजपुरी और मगही गानों में अश्लीलता को खुलेआम परोसा जा रहा है,जो सभ्य समाज के लिए घातक है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने युवक की बात को सुनने के बाद त्वरित एक्शन लेते हुए तुरन्त चीफ सेक्रेटरी को फोन लगा इस मामले को तत्काल देखने का निर्देश दिया. इतना ही नही मुख्यमंत्री ने शिकायतकर्ता को सीनियर अधिकारी के पास भेज दिया.  सरकार भोजपुरी और मगही द्वारा अश्लीलता पर सख्त दिखी.

Read more

राजकीय सम्मान के साथ ट्रैजडी किंग की विदाई

मुंबई,7 जुलाई. ट्रेजडी किंग के नाम से मशहूर फ़िल्म अभिनेता दिलीप कुमार का 98 वर्ष की आयु में बुधवार को निधन हो गया. वे पिछले कई दिनों से अस्वस्थ थे और कई बार उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. उनका इलाज हिंदूजा अस्पताल में चल रहा था जहाँ बुधवार की सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली. हिंदूजा अस्पताल के डॉक्टर जलील पालकर ने दिलीप कुमार के निधन की पुष्टि की. वे दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित व्यक्ति थे. साथ ही वे राज्य सभा के सदस्य भी रह चुके थे. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है. राजकीय सम्मान के साथ अभिनेता दिलीप कुमार के शव को जुहू क़ब्रिस्तान में शाम 5 बजे दफ़नाया गया. दिलीप कुमार के ट्विटर हैंडल से सुबह 8 बजे उनके निधन की जानकारी ट्वीट की गई. यह ट्वीट उनके पारिवारिक मित्र फ़ैसल फ़ारूक़ी की ओर से किया गया.ट्वीट में लिखा है, “भारी मन और गहरे दुख के साथ मैं यह घोषणा कर रहा हूं कि हमारे चहेते दिलीप साब कुछ देर पहले नहीं रहे. हम ख़ुदा की तरफ़ से आए हैं और उसी की ओर लौट जाना है.- फ़ैसल फ़ारूक़ी.” PM मोदी ने भी जताया शोक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दिलीप कुमार के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने ट्वीट के जरिये इसे सांस्कृतिक दुनिया के लिए नुक़सान बताया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा, “दिलीप कुमार जी को एक सिनेमाई लीजेंड के रूप में याद किया जाएगा. वो अद्वितीय प्रतिभा के धनी थे, जिससे पीढ़ी दर पीढ़ी

Read more

आरा संगीत उत्सव में बही संगीत की धारा

आरा संगीत उत्सव में गायन वादन व नृत्य की त्रिवेणी का संगम. इस कार्यक्रम में देर रात तक संगीत की धारा बहती रही. एक ओर मॉनसून के आगमन से बारिश की बूंदों के बौछार ने मौसम को सुहावना किया तो दूसरी ओर राग मल्हार के सुर व तानों ने श्रोताओं को भिगोया. कर्नाटक से ऑल इंडिया रेडियो की कलाकार ने बजाया धुन :वायलिन के सुरों ने दर्शकों के मन के तार को झंकृत कर दिया. इस कार्यक्रम में कर्नाटक से ऑल इंडिया रेडियो की चर्चित कलाकार विदुषी दुर्गा शर्मा ने वायलिन पर आलाप की प्रस्तुति देते हुए रागों का आवरण किया. तबला वादन के लय में झूमते रहे श्रोता:बीएचयू से आचार्य की उपाधि प्राप्त तबला वादक चन्दन कुमार ठाकुर ने स्वतंत्र तबला में उठान पेशकार, कायदा, रेला, टुकड़ा इत्यादि सुनाकर दर्शकों को झूमने पर मजबूत कर दिया. वादन में आचार्य ने पूरब और पश्चिम बाज के विभिन्न अंगों को बखूबी प्रस्तुत किया. दाएं की मिठास और बाएं पर ओजपुर्ण थाप आकर्षण का केंद्र रहा. राग मल्हार के सुरों की बौछार ने श्रोताओं को भिगोया:अगली प्रस्तुति में संगीत विदुषी विमला देवी ने राग मल्हार से गायन प्रारम्भ किया. दानेदार तानों की बौछार ने बारिश की बूंदों के साथ युगलबंदी की अनुभूति करवाई. इसके बाद राग मुलतानी में “नाना की बंदिशे” परंपरा की एक खास बंदिश शुभ शुभ गावत मंगल गान व देवी की पारंपरिक बंदिश ” मंगल करनी माई को प्रस्तुत कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया. थिरकते कदमों से घुंघरुओं के नाद ने कथक को जीवंत किया:कथक नर्तक अमित कुमार

Read more

अवतार फ़िल्म की टीम तैयार करेगी रावण के कॉस्ट्यूम

ऋतिक बनेंगे रावण और महेश बाबू भगवान राम मुंबई,11 जून. करोड़ों दिलों की धड़कन वर्सेटाइल एक्टर ऋतिक रोशन काफी समय से ऑफ-स्क्रीन बने हुए हैं. वे आखिरी बार 2019 में सिद्धार्थ आनंद की वॉर में टाइगर श्रॉफ के साथ देखे गए थे. उनकी एक्शन थ्रिलर वह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट भी रही थी. 2020 से कोरोना के कारण फ़िल्म निर्माण पर काफी असर पड़ा है. हालांकि उनकी अगली परियोजना की आधिकारिक घोषणा अभीतक नही हुई है, लेकिन इंडस्ट्री में चर्चा है कि वे मधु मंटेना के महाकाव्य रामायण के रूपांतरण में पौराणिक चरित्र रावण की भूमिका में नजर आने वाले हैं. अगर मामला फिट रहा तो ऋतिक के किरदार के लिए एक पोशाक तैयार करने के लिए यूएस-आधारित कॉस्ट्यूम टीम के साथ बातचीत चल रही है. आपको बता दें कि कॉस्ट्यूम की इसी टीम ने हॉलीवुड के साइंस फिक्शन फ़िल्म अवतार के किरदारों के लिए कॉस्ट्यूम डिजाइन किया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिल्म में महेश बाबू भगवान राम और दीपिका पादुकोण के सीता का किरदार निभाने की संभावना है, हालांकि, निर्माताओं ने पहले करीना कपूर खान के साथ इस भूमिका के बारे में बातचीत की थी, इसलिए अभी यह तय नहीं है कि यह फ़िल्म फाइनल कसके झोली में गिरेगी. बड़े बजट की यह फिल्म एक लाइव-एक्शन ट्रायोलॉजी होगी जिसे 3डी में शूट किया जाएगा. इसका बजट लगभग 500 करोड़ रुपये माना जा रहा है और इसे मधु, अल्लू अरविंद और नमित मल्होत्रा ​​​​द्वारा सह-निर्मित किया जाएगा. इसे हिंदी के अलावा तमिल और तेलुगू भाषाओं में भी रिलीज

Read more

क्या आपने पढ़ी है ये जंगल गाथा!

जंगल गाथा की विषय वस्तु यह किताब झारखण्ड/बिहार के जंगलों और उनसे जुड़े मुद्दों पर केन्द्रित है, यही स्थिति पूरे देश के जंगलों की है. मंडल और सारंडा जैसे जंगलों का नाश, जानवर, अविकास, अंधविश्वास, आदिवासी, नक्सल, पर्यावरण, प्रदूषण, भ्रष्टाचार, विस्थापन, डायन-हत्या, प्राकृतिक सम्पदा का निर्मम दोहन – देश के कई इलाकों में आम मुद्दे हैं. झारखण्ड एक परखनली है. इसमें पूरे देश के जंगलों, जंगली जीवों और वनवासियों के विनाश की प्रक्रिया देखी जा सकती है. इसकेे लेखक गुंंजन सिन्हा कहते हैं- “इस गंभीर विषय में मेरा दखल बस इतना है कि मेरे पिता एक वन अधिकारी थे, सो बचपन से मुझे जंगलों में जाने, जीने, उन्हें देखने-जानने के मौके मिले. मेरे पास बस कुछ अनुभव हैं जंगल से इसी भावात्मक सम्बन्ध के. प्रकृति हमारे निजी जीवन, उसके सुख दुःख को स्पर्श करती है. प्रकृति की सबसे आकर्षक अभिव्यक्ति है जंगल. यह तन और मन दोनों को चंगा करता है. नदियों, पहाड़ों, जंगलों में रहने वाले इंसानों और जीव-जंतुओं को लगातार नष्ट कर प्रकृति की अमूल्य देन को खत्म किया जा रहा है. लेकिन आम लोग ऐसे व्यवहार कर रहे हैं, मानो उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. कहीं कोई प्रभावकारी विरोध नहीं है.दुनिया भर के लोगों ने ग्रेटा थनबर्ग के रुंधे हुए गले से उनकी बातें सुनीं, आंसू देखे, कुछ देर सोचा और फिर रोजमर्रे की ओर बढ़ लिए.आप रुकें और देखें अपने आस पास – आपका रुकना, देखना, बोलना और गलत का विरोध करना ज़रूरी है. किसी इलाके में उग्रवाद तभी बढ़ता है, जब व्यवस्था का भ्रष्टाचार और

Read more

नहीं रहे तेनालीराम के बीरबल

अमित मिस्त्री ने सबको अलविदा कहा‌मुंबई।। मशहूर टीवी और फ़िल्म कलाकार अमित मिस्त्री का शुक्रवार की सुबह कार्डियक अटैक के कारण निधन हो गया. वे 47 वर्ष के थे. 1974 में जन्मे अमित एक बेहद ही ऊर्जावान और युवा कलाकार थे. उन्होंने अपने अभिनय की शुरुआत थियेटर से की थी. गुजराती थियेटर सर्किट में लोकप्रिय होने के साथ ही कई बॉलीवुड फिल्मों में उनकी भूमिका के लिए जाना जाता था, जिनमें क्या कहना, एक चालिस की आखिरी लोकल, 99, शोर इन द सिटी, यमला पगला दीवाना और एक जेंटलमैन शामिल हैं. उन्होंने सोनी टीवी पर प्रसारित तेनालीराम में भी दमदार भुमिका अदा की थी. वेब सिरीज बंदिश बैंडिट में उन्हें काफी लोकप्रियता मिली थी.   अमित मिस्त्री की मौत ने फिल्म और टीवी जगत में उनके सहयोगियों को हैरान कर दिया है. सुमीत व्यास, स्वानंद किरकिरे, दिलीप जोशी और अन्य लोगों ने अमित के निधन पर शोक व्यक्त है. अमित अपने माता-पिता के साथ अंधेरी, मुंबई में रहते थे और निधन के वक्त वे अपने परिवार के साथ ही घर पर थे. उनकी असामयिक मृत्यु ने उनके सहयोगियों, दोस्तों और प्रशंसकों को हैरान कर दिया. इंडियन फिल्म टीवी प्रोड्यूसर्स काउंसिल ने ट्विटर पर उनकी मृत्यु पर शोक व्यक्त किया, “एक प्रतिभाशाली अभिनेता अमित मिस्त्री के निधन का चौंकाने वाला और गहरा दुःखद समाचार … परिवार और दोस्तों के प्रति हार्दिक संवेदना..प्रति संवेदना।” ‌जैकलीन फर्नांडीज ने भी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर उनकी एक तस्वीर साझा की और लिखा ‘रेस्ट इन पीस’. अभिनेता सुमीत व्यास और पूर्व वीजे साइरस साहूकर ने भी अपनी संवेदना

Read more