पटना के इस नये फ्लाइओवर की जानिए खूबियां

सीएम ने बटन दबाकर की नये फ्लाइओवर की शुरुआत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को आर ब्लॉक फ्लाई ओवर का शुभारंभ किया. इस फ्लाइओवर के शुरु होने से विधानसभा एवं हार्डिंग रोड के रास्ते वीरचंद पटेल पथ और इनकम टैक्स होते हुए डाकबंगला जाने वाले लोगों को आवागमन में सहुलियत होगी. मुख्यमंत्री ने फ्लाईओवर के आर ब्लॉक गोलंबर पर बने एलिवेटेड रोटरी में नेटवर्क ऑफ फ्लाई ओवर नक्शे के अवलोकन के दौरान अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए. पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृृृतलाल मीणा ने मुख्यमंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि आर ब्लॉक-दीघा पथ को भी जीपीओ के पास इस फ्लाई ओवर से जोड़ दिया जाएगा जिससे गंगा पथ और दीघा पुल से आवागमन का सीधा जुड़ाव हो जाएगा और उत्तर बिहार के लोगों को भी यहां आने में सहुलियत होगी. मुख्यमंत्री ने आर ब्लाॅक फ्लाईओवर को एलिवेटेड पथ के माध्यम से फोरलेन आर ब्लाॅक दीघा पथ को जोड़ने का निर्देश दिया. इससे पटना रेलवे स्टेशन से जेपी सेतु तक का सीधा सम्पर्क स्थापित हो जायेगा. मुख्यमंत्री ने करबिगहिया एलिवेटेड रोटरी का भी निरीक्षण किया और उससे जुड़ने वाले निर्माणाधीन पुलों एवं मार्गों से संबंधित जानकारी ली. इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए. निरीक्षण के दौरान जानकारी दी गई कि इस गोलंबर के एक छोर से चिरैंयाटांड पुल होते हुए कंकड़बाग फ्लाईओवर भी कनेक्ट होगा. चिरैयाटांंड़ पुल के दक्षिणी छोर से यह कनेक्ट होगा जिससे मीठापुर-करबिगहिया और कंकड़बाग फ्लाईओवर सीधे जुड़ जायेंगे. गोलंबर के दूसरी तरफ पुल के निर्माण से पुनपुन होते

Read more

क्या इस बार पूरी होगी मुख्यमंत्री नीतीश की ये मांग!

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर से सार्वजनिक रूप से केंद्र सरकार से गुहार लगाई है. पहले मुद्दा कुछ और था इस बार मुद्दा कुछ और है. मुद्दे अलग-अलग हैं लेकिन व्यक्ति एक है और वह व्यक्ति हैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. आपको याद होगा कुछ साल पहले पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पटना आए थे. समारोह के दौरान मंच से नीतीश कुमार ने हाथ जोड़कर प्रधानमंत्री से मांग की थी कि पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिया जाए. लेकिन प्रधानमंत्री ने उसी मंच से उनकी मांग ठुकरा दी थी. आपको वह वीडियो दिखाते हैं कि किस तरह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंच पर बैठे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाथ जोड़कर यह अपील की थी। यह वीडियो वर्ष 2017 का है. अब वर्ष 2020 में जब महात्मा गांधी सेतु के पश्चिमी लेन का जीर्णोद्धार के बाद 31 जुलाई को उद्घाटन हुआ तो इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए केंद्र सरकार से एक और बड़ी अपील कर दी है. मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से यह मांग की है बक्सर को सड़क मार्ग से सीधे वाराणसी से जोड़ा जाए. वर्तमान में बक्सर से वाराणसी जाने के लिए लंबा रास्ता तय करना पड़ता है इसलिए 2 ऐतिहासिक शहरों के लिए सीधा सड़क मार्ग बनाने की मांग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री से की है. देखिए वीडियो अब देखना है कि मुख्यमंत्री की इस मांग पर केंद्र सरकार क्या कार्रवाई करती है. बक्सर से बीजेपी सांसद अश्विनी

Read more

DM और जदयू के कई नेताओं को हुआ संक्रमण

जदयू से राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह पत्नी समेत कोरोना पॉजिटिव,सांसद दम्पति के साथ एक घरेलू स्टाफ भी पटना एम्स में भर्ती बिहार ने 1 दिन में कोरोना केसेज के मामले में नया रिकॉर्ड बना दिया है. 1 अगस्त को 3521 नए मरीज मिले हैं. वही पटना में संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है. पटना में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 10 हजार के करीब पहुंच रही है. पटना में शनिवार को 594 मरीज बढ़ गए. पटना में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी काफी बढ़ गई है. कंकड़बाग अशोक नगर रोड नंबर 11 में कई मरीज मिलने के बाद प्रशासन ने इसे एक कंटेनमेंट जोन बना दिया. कोरोना ने हाई फ्रोफाइल लोगो को अपनी चपेट में लेकर राजनितिक गलियारे में हडकंप मचा दिया. पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि के कोरोना पॉजिटिव होते ही घर में ही आइसोलेट कर लिए जाने की खबर के कुछ ही देर बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी और जदयू के राज्यसभा सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी गिरिजा देवी को भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आने की खबर मिलते ही राजनीतिकक हस्तियों को सन्न कर दिया. जदयू सांसद आर सी पी सिंह के साथ ही उनके आवास का एक स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव निकला है. सूत्रों के मुताबिक जदयू के राज्य सभा सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी गिरिजा देवी समेत आवास के स्टाफ को पटना एम्स में भर्ती कराया गया है. जहाँ इनका इलाज आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है. हालाँकि एम्स से कोई भी अधिकारी इन

Read more

1 अगस्त से पटना में ऐसे होगा काम

बिहार में 16 दिनों का एक और लॉकडाउन लगने के बाद लोगों के जेहन में यह सवाल बार-बार आ रहा था कि आखिर इस दौरान कौन-कौन सी दुकान खुलेगी, कौन-कौन से दफ्तर खुलेंगे और इनके खुलने की अवधि क्या होगी. सरकार ने एक ओर जहां 1 अगस्त से 16 अगस्त तक लॉकडाउन की घोषणा की है, वही हर जिले में परिस्थितियों के मुताबिक जिलाधिकारी को फैसला लेने का अधिकार दिया है. पटना डीएम कुमार रवि ने देर रात निर्देश जारी किया है. पटना में 1 अगस्त से 16 अगस्त के बीच सभी दुकानें और दफ्तर खुल सकते हैं. हालांकि उनके लिए खुलने की अवधि सुबह 10:00 से शाम 6:00 बजे के बीच होगी. निजी प्रतिष्ठान 50% स्टाफ के साथ काम कर सकते हैं. फल सब्जी और मांस मछली की दुकानों के लिए भी समय तय किया गया है. फल सब्जी और मांस मछली की दुकानें सुबह 6:00 बजे से 11:00 बजे तक और दोपहर 3:00 से शाम 7:00 बजे तक खुलेगी. रात 10 से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. किसी भी शॉपिंग मॉल में स्थित दुकान नहीं खुलेगी. रेस्टोरेंट, ढाबा या भोजनालय से सिर्फ होम डिलीवरी या टेक अवे सर्विस होगी. सबसे महत्वपूर्ण, आपको अपनी जरूरत की चीजें घर के नजदीक दुकान से ही लेनी होगी. बेवजह और नियम विरुद्ध सड़क पर पकड़े जाने पर कानून के मुताबिक कार्रवाई होगी. PNCB

Read more

एम्स में तीन डॉक्टर और कृषि पदाधिकरी समेत कोरोना से नौ लोगों की मौत

39 नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये25 लोगों ने कोरोना को हराया, मिली छुट्टी पटना एम्स में गुरुवार को सेना में मेजर रहे एक डॉक्टर के साथ तीन चिकित्सकोंं और दानापुर के कृषि पदाधिकारी समेत कुल 9 लोगों की मौत कोरोना से हो गयी जबकि नए मरीजो में 39 मरीजोंं की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव निकली है. इसके आलावा एम्स में 25 लोगों ने कोरोना को मात दे दिया जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया.एम्स कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार के मुताबिक पटना एम्स में पटना निवासी सेना में मेजर रहे डॉ एके सिंह , चंपारण मोतिहारी के सदर हॉस्पिटल के डॉ नागेन्द्र प्रसाद और जहानाबाद के रहने वाले डॉ के राजन की मौत कोरोना से हो गयी है. वही दानापुर के कृषि पदाधिकारी जयनाथ प्रसाद की मौत भी कोरोना संक्रमण से हुई है. इसके अलावा पटना राजेन्द्रनगर के 56 वर्षीय संजय कुमार गंगवाल, दिघा कि 74 वर्षीय मालती सिंहा, पुर्वी चंपारण के 81 वर्षीय अनिरूद्ध प्रसाद सिंह, गया के 57 वर्षीय पवन कुमार, मुजफरपुर के 78 वर्षीय पुरूषोतक लाल मसकारा की कोरोना से मौत हो गयी है । वहीं गुरूवार को एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 39 नये मरीजो की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई जिसमे पटना के 25, औरगाबाद, वैशाली, मुजफरपुर, मधुबनी, भोजपुर, लखीसराय,बेगुसराय, के मरीज शामिल हैं. बता दें कि पटना में गुरुवार तक 8130 लोग पॉजीटिव पाए गए हैं. इनमें से 4599 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं. जबकि 45 लोगों की इस महामारी ने जान ली है. अजीत

Read more

तारीख पर तारीख… गांधी सेतु के पश्चिमी लेन पर क्या अब शुरू होगा परिचालन!

पिछले 2 साल से कई बार गांधी सेतु के पश्चिमी लेन को शुरू करने की घोषणा सरकार की तरफ से की गई है लेकिन हर बार किसी न किसी वजह से पश्चिमी लेन पर परिचालन प्रारंभ नहीं हो पाया है. अब एक बार फिर बिहार सरकार के पथ निर्माण विभाग ने यह दावा किया है कि पश्चिमी लेन के जीर्णोद्धार का काम पूरा हो चुका है. गंगा नदी पर बने इस 5.75 किलोमीटर लंबे पुल का पश्चिमी लेन बनकर तैयार है. जैसे ही केंद्र सरकार की ओर से हरी झंडी मिलेगी इस पर परिचालन शुरू हो जाएगा. सूत्रों के मुताबिक अगस्त के पहले हफ्ते में या 15 अगस्त तक गांधी सेतु के इस लेन पर परिचालन शुरू हो सकता है. इस बात की भी पूरी संभावना है कि वर्तमान में पुल के पूर्वी लेन पर जारी परिचालन को बरसात तक जारी रखा जाएगा क्योंकि पूर्वी लेन को भी तोड़ कर स्टील स्ट्रक्चर का रूप देना है. लेकिन यह काम बरसात के बाद होगा और तब तक गांधी सेतु का दोनों लेन चालू रहेगा. राजेश तिवारी

Read more

पटना के इन 5 अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस

पांच प्राइवेट अस्पतालों को जिलाधिकारी ने किया स्पष्टीकरण, 24 घंटे के अंदर जवाब देने का निर्देश कोविड-19 संक्रमितों के इलाज में सहयोग नहीं करने , अपने अस्पतालों में इलाज संबंधी तैयारी नहीं करने एवं अभिरुचि नहीं लेने का आरोप बिहार एपेडमिक डिजीज, कोविड-19 रेगुलेशन 2020 के तहत की जाएगी कानूनी कार्रवाई पटना में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सरकारी अस्पतालों के अतिरिक्त प्राइवेट अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों के इलाज की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कराने की कोशिश हो रही है. इसके लिए जिलाधिकारी कुमार रवि ने 17 जुलाई को प्राइवेट अस्पताल के प्रबंधकों के साथ बैठक आयोजित कर उन्हें अपने अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के इलाज हेतु आइसोलेशन वार्ड बनाने तथा बेड कर्णांकित करने का निर्देश दिया था. लेकिन 23 जुलाई को प्राइवेट अस्पतालों की समीक्षा बैठक में पाया गया कि इन अस्पतालों के द्वारा कोविड-19 संक्रमितों के इलाज हेतु कोई व्यवस्था नहीं किया गया है और ना ही इस संबंध में अभिरुचि दिखाई जा रही है. प्राइवेट अस्पतालों के इस गैर जिम्मेदाराना कृत्य को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने 5 प्राइवेट अस्पतालों के प्रबंधक से स्पष्टीकरण करते हुए 24 घंटे के अंदर जवाब तलब किया है. उन्होंने पूछा है कि उनके इस कृत्य के लिए क्यों नहीं बिहार एपेडमिक डिजीज , कोविड-19 रेगुलेशन 2020 के तहत कानूनी कार्रवाई प्रारंभ की जाए. जिन प्राइवेट अस्पतालों के मैनेजर से स्पष्टीकरण किया गया है वो हैं- मैनेजर, हाईटेक इमरजेंसी पटना। मैनेजर, राजेश्वर हॉस्पिटल पटना। मैनेजर ,जगदीश मेमोरियल हॉस्पिटल पटना। मैनेजर ,सहयोग हॉस्पिटल पटना। मैनेजर मिडवर्सल हॉस्पिटल पटना. PNCB

Read more

पटना एम्स में 2 चिकित्सकोंं सहित कोरोना संक्रमित 13 मरीजोंं की मौत

कोरोना ने एम्स में भर्ती इलाजरत दो और डॉक्टरों की जान ले ली है. इसके आलावा एम्स में एक दिन में अबतक सबसे ज्यादा 13 कोरोना संक्रमित मरीजोंं की मौत से हड़कम्प मचा हुआ है. साथ ही एम्स में शुक्रवार को 25 नए मरीजोंं की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी है जिनका इलाज आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है. वहींं 23 मरीजोंं ने कोरोना को हरा दिया है जिससे उन्हें एम्स अस्पताल से डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया. एम्स के कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि सुपौल जिले के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. महेंद्र चौधरी की इलाज के दौरान पटना एम्स में मौत कोरोना से हो गई है. डॉक्टर महेंद्र चौधरी अरवल में सरकारी अस्पताल में पदस्थापित थे. बीमार होने के बाद डॉक्टर चौधरी सुपौल आए थे. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद गंभीर हालत में 20 जुलाई को पटना एम्स रेफर कर दिया गया था. वहीँ पीएमसीएच के रेडियोथेरेपी विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ मिथिलेश प्रसाद सिंह की मौत भी कोरोना से हो गयी है. पटना के राजेन्द नगर टेलीफोन एक्सचेंज के पीछे इलाके में रहने वाले 70 वर्षीय डॉ मिथलेश कुमार पीएमसीएच से सेवानिवृत हुए थे. डॉ मिथिलेश को एम्स में आज ही भर्ती कराया गया था. एक साथ दो दो कोरोना योद्धाओं की मौत से चिकित्सा जगत में मातम का माहौल है. साथ ही एम्स में शुक्रवार को ही पीएमसीएच के डॉ रंजीत कुमार की कोरोना संक्रमित पत्नी की भी मौत हो गयी है. एम्स कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार के मुताबिक

Read more

लॉकडाउन में बेहतर प्रदर्शन से शिवांगी ने कायम की मिसाल

“आई सी एस सी” परीक्षा में शिवांगी का कमाल लॉकडाउन में एक तरफ जहां हर व्यक्ति परेशान है छात्र-छात्राओं को भी परीक्षा की तैयारी में विशेष मशक्कत करनी पड़ी. इस दौरान पटना के छात्र और छात्राओं ने मैट्रिक परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर मिसाल कायम किया है. 90 फ़ीसदी से ज्यादा मार्क्स लाने वाली छात्राओं में एक शिवांगी भी शामिल है जो पटना के माउंट कार्मेल हाई स्कूल की छात्रा है. कार्मल हाई स्कूल, पटना की छात्रा शिवांगी पाठक “आई सी एस सी” की परिक्षा में 93.5% मार्क्स से उत्तीर्ण हुई है. उसे कम्प्यूटर एप्लीकेशन में 98%, हिन्दी में 95%, गणित में 93%, इतिहास, सिविक्स और भूगोल में 92%, अंग्रेजी में 91% और साइंस में 89% प्राप्त हुआ है. सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के प्रशाखा पदाधिकारी विनोद कुमार पाठक ने बताया कि शिवांगी ने स्वयं से घर पर ही परीक्षा की तैयारी की थी. उसे तैयारी में कभी भी कोई कठिनाई होती थी तो अपने स्कूल के शिक्षकों की सहायता लेती थी. जितेंद्र कुमार सिन्हा

Read more

पटना की सब्जी मंडी पर प्रशासन की सख्ती, 3 दिन बंद रखने का आदेश

मंडी में भीड़-भाड़ लगाने, मास्क/सैनिटाइजर का प्रयोग नहीं करने , सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने के उल्लंघन में हुई कठोर कार्रवाई कोविड-19 आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, बिहार महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 तथा महामारी अधिनियम 1897 के घोर उल्लंघन का आरोप कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए पटना जिलाधिकारी कुमार रवि ने संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु सभी मजिस्ट्रेट एवं पुलिस पदाधिकारी को सक्रिय एवं तत्पर होकर मानक संचालन प्रक्रिया के तहत मास्क सेनीटाइजर का अनिवार्य प्रयोग करने सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कराने का सख्त निर्देश दिया है. साथ ही दुकान, बाजार अथवा सार्वजनिक स्थलों पर मास्क का प्रयोग नहीं करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध ₹50 की जुर्माना राशि की वसूली करने का निर्देश दिया है. अगर दुकान/ मंडी में ज्यादा भीड़- भाड़ लगाने, मास्क का प्रयोग नहीं करने , सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं करने की शिकायत पाई जाती हो तो उसे महामारी एक्ट के तहत बंद किया जा सकता है. तदनुसार अनुमंडल पदाधिकारी पटना सदर तनय सुल्तानिया ने मीठापुर सब्जी मंडी में मानक संचालन प्रक्रिया के घोर उल्लंघन की स्थिति को गंभीरता से लेते हुए मंडी को 3 दिनों तक बंद करने का आदेश निर्गत किया है. साथ ही 24 घंटे के अंदर इस आशय का स्पष्टीकरण उनके न्यायालय में स्वयं अथवा वकालतन उपस्थित होने का निर्देश दिया गया है. इस आशय का आदेश अनुमंडल पदाधिकारी ने राजकुमार यादव सब्जी मंडी मीठापुर को संबोधित कर निर्गत किया है. इस मामले की जांच अनुमंडल पदाधिकारी ने अपर अनुमंडल पदाधिकारी पटना सदर से कराई थी. जांच के

Read more