सैनिटाइजर की कमी और कालाबाजारी पर बोले तेजस्वी

पटना,26 मार्च. इधर पूर्व डिप्टी CM, नेता प्रतिपक्ष, बिहार विधानसभा तेजस्वी यादव ने राज्य में हैंड सेनिटाइज़र की भारी क़िल्लत, कालाबाज़ारी और बढ़ती क़ीमतों को देखते हुए बिहार सरकार से सैनिटाइजर बनाने के सुझाव दिए हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से मदद नहीं मिलने की स्थिति में बिहार सरकार को राज्य में बंद पड़ी अल्कोहल फैक्ट्रियों अथवा डिस्टलरी को अपनी निगरानी में लेकर अथवा हैंड सेनिटाइज़र बनाने वाली कंपनियों से एमओयू कर इसका उत्पादन युद्ध स्तर पर शुरू करना चाहिए ताकि स्वास्थ्य कर्मियों, डॉक्टरों और इसका प्रयोग करने वाली आम जनता को यह कम क़ीमत पर आसानी से मिल सके. ऐसी असाधारण परिस्थितियों में जनहित में असाधारण फ़ैसले भी लेने चाहिए. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार भर के अस्पतालों के स्वास्थ्यकर्मी और डॉक्टर खुलकर हैंड सेनिटाइज़र, मास्क, पीपीई और दूसरे उपकरणों की कमी के बारे में बता रहे है और यथाशीघ्र उसकी उपलब्धता की भी माँग कर रहे है. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार जनहित में राज्य की चीनी मिलों को हैंड सेनिटाइज़र उत्पादकों को बनाने के लिए एथनॉल उत्पादन, एथिल अल्कोहल की निरंतर सप्लाई का भी निर्देश दे सकती है. पटना नाउ ब्यूरो की रिपोर्ट

Read more

बिहार में कोरोना के 6 पॉजिटिव मरीज, 1228 लोग सर्विलांस पर

पटना,26 मार्च. स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के संदेह में और 319 लोगों को सर्विलांस पर लिया है जिन्हें फिलहाल होम क्वारन्टीन में रखा गया है. मंगलवार को आशंका के आधार पर कुल 909 लोगों को सर्विलांस पर लिए गया था. जिनकी संख्या बुधवार को बढ़कर 1228 हो गई हैं. कोरोना के विभिन्न जिलों में संदेहास्पद लोग : पटना-100, गोपालगंज-183, गया- 66,भागलपुर-109, सिवान-107, भोजपुर-32, मुजफ्फरपुर-21, समस्तीपुर -88,सारण-57,नालंदा-88, पू. चंपारण-70,प. चंपारण 74, किशनगंज-19, मधुबनी -63, रोहतास-10, दरभंगा-28, जहानाबाद-19, कैमूर-12, सीतामढ़ी-7, अररिया-2, सुपौल-3, मधेपुरा-9, वैशाली-6, बांका-2, सहरसा-5, शिवहर-2, मुंगेर-18, लखीसराय-1, बेगूसराय-7, नवादा-9, कटिहार-3, पूर्णिया-1 363 सैम्पल में 357 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव सरकार ने कोरोना के संदेह में राज्य में अब तक कुल 1228 लोगों को सर्विलांस पर रखा है. इनमें से अबतक कोरोना वायरस के कुल 363 मरीजो की सैम्पल जांच हुई . जांच में 6 पोजीटिव मरीज पाए गए तो 357 मरीजों का रिपोर्ट निगेटिव पाया गया. बुधवार को दो मरीज पोजेटिव पाए गए, जिसमे मुंगेर की एक महिला और एक बच्चे शामिल है. बुधवार को 128 मरीजों का सैम्पल जांच किया गया जिसमे अबतक 90 मरीजो के मिले रिजल्ट में 2 पोजेटिव और 88 निगेटिव मिले. ब्यूरो रिपोर्ट पटना नाउ

Read more

तेजस्वी का तेज पहल : एक माह की सैलरी के साथ अपने आवास को जाँच केंद्र बनाने के लिए कहा

पटना, 24 मार्च. पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कोरोना से आई आफत के इस घड़ी में अपनी दरियादिली दिखाते हुए एक जिम्मेदार नागरिक का भी परिचय दिया है. उन्होंने वर्तमान सरकार से कहा है कि अगर सरकार चाहे तो कोरोना से लड़ने में नेता प्रतिपक्ष के नाते आवंटित आवास का isolation, जाँच केंद्र या क्वारंटाइन के लिए इस्तेमाल कर सकती है. तेजस्वी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में एक माह की सैलरी देने का किया ऐलान. कोरोना से लड़ेंगे, मिलकर उसे हराएँगे, बिहार को सुरक्षित बनाएँगे. तेजस्वी ने कहा इस कठिन घड़ी में सभी सामर्थ्यवान राज्यवासी ज़िम्मेदारी से अपना-अपना कर्तव्य निभाएँ. साथ ही बिहारवासियों के जीवन सुरक्षा का ज़िम्मा लें. जितना बन सके, उतना करें. मास्क, हैंड सैनिटाइजर और ज़रूरी वस्तुओं की कालाबाज़ारी ना करे.

Read more

मीडिया पर कोरोना लगाम, बिहार सरकार ने जारी किया कवरेज के लिए गाइडलाइन

गोपनीय रखी जाएगी कोरोना मरीजों की जानकारी मीडिया को दायरे में रहकर रिपोर्टिंग करने का फरमान पटना, 24 मार्च. कोरोना पर मचे कोहराम के बाद जहाँ सभी चीजों को बंद कर दिया गया है वही कोरोना मीडिया पर भी लगाम बनकर आड़े हाथ खड़ा हो गया है. कोरोना के बीच मचे भय और दहशत के इस माहौल की वजह से बिहार सरकार ने बिहार लॉक डाउन की घोषणा के बाद कोरोना से जुड़ी खबरों का कवरेज करने के लिए मीडिया के लिए भी गाइडलाइन जारी किया है. स्वास्थ्य विभाग ने इस सम्बंध में कुछ खास हिदायते जारी की है. स्वास्थ्य सचिव संजय कुमार ने यह गाइडलाइन जारी किया है, जिसके तहत अब इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट, वेब और सोशल मीडिया को इस गाइडलाइन के अंदर ही काम करना होगा. गाइडलाइन को फॉलो नही करने वालों पर सरकार सख्ती से पेश आएगी और उनपर कोरोना 2020, और आइपीसी की धाराओं की तहत कार्रवाई भी की जाएगी. इस गाइड लाइन के तहत कोरोना वायरस के किसी भी संक्रमित मरीज या उसके परिजन का इंटरव्यू लेने पर अब रोक लगा दी गई है. इसके साथ ही साथ उस डॉक्टर का इंटरव्यू भी लेने पर रोक होगी जो कोरोना पेसेंट का इलाज कर रहा है. स्वास्थ विभाग ने यह रोक एपिडेमिक डिजीज एक्ट के तहत लगाई है. इसका उल्लंघन करने वाले मीडिया कर्मियों पर आईपीसी की धारा के तहत कार्यवाही की जाएगी. इसके अलावा सरकार ने कवरेज के लिए यह गाइडलाइन भी जारी किया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित या पॉजिटिव मरीज और उसके परिजनों

Read more

बिहार सरकार ने जनता के लिए खोला दिल, सहायता पैकेज की घोषणा

चिकित्सकों एवं स्वास्थ्यकर्मियों को एक माह के मूल वेतन के समतुल्य प्रोत्साहन राशि के साथ कई अन्य एलान पटना,23 मार्च (ओ पी पांडेय). बिहार सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू किये गये लॉकडाउन के दौरान जनता के लिए बड़ा एलान किया है. कोरोना संकट की इस घड़ी में घरों में स्थिर लोगों की धैर्यता को देखते हुए सरकार ने अपने बड़े दिल का परिचय देते हुए सहायता पैकेज का एलान किया है. 1 अणे मार्ग स्थित संकल्प में सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना वायरस से उत्पन्न संक्रमण की गंभीर स्थिति की समीक्षा की. समीक्षा बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा तथा मुख्य सचिव दीपक कुमार सहित वरीय अधिकारीगण उपस्थित थे. बैठक में लॉकडाउन के परिपे्रक्ष्य में लोगों को सहायता पैकेज देने के संबंध में निम्न निर्णय लिये गयेः सभी राशन कार्डधारी परिवारों को एक माह का राशन मुफ्त में दिया जायेगा सभी प्रकार के पेंशनधारियों (मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन, दिव्यांग पेंशन, विधवा पेंशन, वृद्धावस्था पेंशन) को अगले तीन माह की पेंशन अग्रिम तौर पर तत्काल दी जायेगी. यह राशि उनके खाते में सीधे अंतरित की जायेगी. लॉकडाउन क्षेत्र के सभी नगर निकाय क्षेत्रों एवं प्रखंड मुख्यालय की पंचायत में अवस्थित सभी राषन कार्डधारी परिवारों को एक हजार रूपये प्रति परिवार दिया जायेगा. यह राशि डी0बी0टी0 के माध्यम से उनके खाते में अंतरित की जायेगी. वर्ग 1 से 12 के सभी छात्र/छात्राओं को देय छात्रवृति 31 मार्च 2020 तक उनके खाते में दे दी जायेगी.

Read more

कोरोना के कारण राज्य में सभी सेवाएं ठप्प

पटना (ब्युरो रिपोर्ट) | कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बिहार सरकार द्वारा रविवार को एपिडेमिक डिजीज ऐक्ट 1897 की धारा 2 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कुछ सेवाओं को छोड़कर राज्य के सभी निजी प्रतिष्ठानों, निजी कार्यालयों एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्णता बंद करने का आदेश दिया गया है. यह आदेश सभी जिला मुख्यालयों, सभी अनुमंडल मुख्यालयों, सभी प्रखंड मुख्यालयों एवं सभी नगर निकायों पर लागू होगा. सरकार द्वारा दिया गया यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया. फिलहाल यह लॉकडाउन 31 मार्च 2020 तक लागू रहेगा. इस लॉकडाउन में निजी क्षेत्र में कार्यरत चिकित्सा, सेवा दूरसंचार सेवा, बैंकिंग एवं एटीएम सेवाएं, डेयरी एवं डेयरी से संबंधित प्रतिष्ठान, खाद्यान्न एवं किराने के प्रतिष्ठान, फल सब्जियों की दुकानें, दवा की दुकानें, सर्जिकल आइटम से संबंधित संस्थान, पेट्रोल पंप एवं सीएनजी स्टेशन, एलपीजी गैस एजेंसी, पोस्ट ऑफिस तथा कोरियर सेवाएं, कॉमर्स सेवाएं और इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया को सम्मिलित नहीं किया गया है. बताते चलें कि 31 मार्च तक लॉकडाउन के दौरान मालवाहक वाहन, एंबुलेंस, आवश्यक एवं आपातकालीन सेवाओं से संबंधित वाहनों के परिचालन को अनुमति दी गई है. साथ ही इन सभी सेवाओं के लिए उपयोग में आने वाले वाहनों एवं सरकारी कार्यों में लगे हुए वाहनों को इस आदेश की परिधि से बाहर रखा गया है. सरकारी कार्यालयों में आमजन के प्रवेश को प्रतिबंधित करने संबंधी सामान्य प्रशासन विभाग के पहले का निर्देश लागू रहेगा. उपरोक्त आदेश का अनुपालन सुनिश्चित कराने हेतु सभी जिला दंडाधिकारियों को प्राधिकृत किया गया है. इस कार्य

Read more

बिहार में रेलवे सख्त, स्टेशन पर यात्रियों की गहन जाँच शुरू

कोरोना वायरस को लेकर महाराष्ट्र से स्पेशल ट्रेनों में आने वाले यात्रियों की जांच दानापुर स्टेशन पर जारी खगौल / दानापुर (अजीत यादव ) । दानापुर स्टेशन पर महाराष्ट्र से आने वाले इन यात्रियों में कहीं कोरोना वायरस तो नहीं है | इस को लेकर स्थानीय दानापुर रेल मंडल प्रशासन और स्थानीय पटना जिला प्रशासन इस को लेकर काफी सजग है | ऐसे सभी यात्रियों को दानापुर स्टेशन में पहुँचने के बाद इसकी जाँच की दानापुर स्टेशन और स्थानीय रेलवे स्कूल में की रही | फिलहाल अभी तक एक भी रोगी कोरोना का नहीं मिला है | जांच के बाद निगेटिव पाए जाने वाले यात्रियों को छोड़ दिया जा रहा है. कोरोना वायरस के दिन-प्रति दिन बढ़ते प्रभाव को लेकर पटना जिला प्रशासन और दानापुर रेल मंडल में पूरी तरह से संवेदनशील और सक्रिय देखने को मिल रहा है | मिली जानकारी के मुताबिक आज 22 मार्च’2020 रविवार को जिस दिन देश में जनता कर्फ्यू का घोषणा किया गया है, इसी दिन सब से अधिक कोरोना वायरस से प्रभावित राज्य महाराष्ट्र से कुल चार स्पेशल ट्रेन से करीब 8000 यात्री बक्सर,आरा और दानापुर स्टेशन पर पहुँचने लगा है |

Read more

कोरोना से बिहार में हुई पहली मौत

मृतक मुंगेर का निवासी,AIIMS ने की मौत की हुई पुष्टि 114 सैम्पलों में दो की आई पॉजिटिव रिपोर्ट, एक की मौत फुलवारी शरीफ, 22 मार्च. बिहार से एक बड़ी खबर आ रही है. पटना में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत हो गयी है. दो दिन पहले पटना AIIMS में मुंगेर का एक मरीज किडनी रोग का इलाज कराने आया था, उसकी मौत कोरोना की वजह से हो गयी. AIIMS के चिकित्सकों ने उसे संदिग्ध कोरोना मरीज माना था और आइसोलेशन वार्ड में रख उसका इलाज कर रहे थे. इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गयी. मरीज की मौत के घंटो बाद जब उसकी रिपोर्ट पटना के RMRI से AIIMS पहुंची तब पता चला कि किडनी रोग ग्रस्त मरीज की मौत कोरोना से ही हुई है. सूत्रों की माने तो मुंगेर निवासी किडनी रोगग्रस्त मरीज 38 वर्षीय सैफ अली की मौत कोरोना से हो गयी. कोरोना रोग की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के पहले ही उसकी मौत हो गयी थी. इसके बाद उसके परिजन डेड़ बॉडी लेकर अपने गाँव चले गए. सूत्र बताते हैं कि सैफ विदेश में कतर में काम करता था जहां से बीमार होने पर बिहार आया और फिर उसके परिजनो ने उसे AIIMS में भर्ती कराया. पटना AIIMS के निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने कहा कि मुंगेर निवासी एक मरीज किडनी रोग का इलाज कराने आया था जिसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था. शनिवार की सुबह ही उसकी मौत इलाज के दौरान हो गयी लेकिन उसकी रिपोर्ट RMRI से शनिवार की देर शाम मिली.

Read more

बिहार में कोरोना से पहली मौत, पटना AIIMS में भर्ती था मरीज

फुलवारीशरीफ/पटना (अजीत की रिपोर्ट) | राजधानी पटना से बड़ी खबर एम्स से आ रही है. पटना एम्स में मुंगेर निवासी एक मरीज जो किडनी रोग का इलाज कराने आया था. दो दिन पहले ही एम्स में भर्ती हुआ था. एम्स के चिकित्सकों ने उसे संदिग्ध कोरोना मरीज मानकर आइसोलेशन वार्ड में रखकर इलाज कर रहे थे जिसकी मौत इलाज के दौरान हो गयी. मरीज की मौत के घंटो बाद जब उसकी रिपोर्ट पटना के आरएमआरआई से एम्स पहुंची तब पता चला कि किडनी रोग ग्रस्त मरीज की मौत कोरोना से ही हुई है. सोर्स बताते हैं कि मुंगेर निवासी किडनी रोगग्रस्त मरीज 38 वर्षीय सैफ अली की मौत कोरोना से हो गयी . कोरोना रोग की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के पहले ही उसकी मौत हो गयी थी . इसके बाद उसके परिजन डेड़ बॉडी लेकर अपने गाँव चले गए . सोर्स बताते हैं कि सैफ विदेश में कतर में काम करता था जहां से बीमार होने पर बिहार आया और फिर उसके परिजन उसे एम्स लेकर आये थे. पटना एम्स के निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने कहा कि मुंगेर निवासी एक मरीज किडनी रोग का इलाज कराना आया था जिसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था. शनिवार सुबह ही उसकी मौत इलाज के दौरान हो गयी लेकिन उसकी रिपोर्ट आरएमआर आई से शनिवार की देर शाम मिली. उन्होंने कहा कि मुंगेर के मरीज की मौत कोरोना से ही हुई है. मिली जानकारी के अनुसार पटना के राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्‍टीच्‍यूट (RMRI) में दो मरीजों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव मिली

Read more

31 मार्च तक बिहार में रहेगा लॉकडाउन – नीतीश

पटना (ब्युरो रिपोर्ट) | कोरोना वायरस के चलते बढ़ रहे संकट पर रविवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों से विचार विमर्श किया. विमर्श के बाद उन्होंने मीडिया के मार्फत बिहार वासियों को संदेश दिया. अपने दिए गए संदेश में नीतीश कुमार ने ये कहा – “कोरोना वायरस से पूरी मानव जाति संकट में है। हम सब इस महामारी का डट कर मुकाबला कर रहे हैं. आवश्यक सावधनियां भी बरती जा रही हैं किंतु इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुये प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना नितांत आवश्यक है. इसका सबसे अच्छा उपाय सोशल डिस्टेंसिंग है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से आमलोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुये राज्य सरकार द्वारा तत्काल प्रभाव से फिलहाल 31 मार्च 2020 तक के लिये सभी जिला मुख्यालयों, सभी अनुमंडल मुख्यालयों, सभी प्रखंड मुख्यालयों एवं सभी नगर निकायों के स्वबाकवूद का निर्णय लिया गया है. निजी प्रतिष्ठानों, निजी कार्यालयों एवं सार्वजनिक परिवहन को पूर्णतः बंद किया गया है, परंतु आवश्यक एवं अनिवार्य सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठानों यथा चिकित्सा सेवाओं, खाद्यान्न एवं किराने के प्रतिष्ठान, दवा की दुकानों, डेयरी एवं डेयरी से संबंधित प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप एवं सी0एन0जी0 स्टेशन, बैंकिंग एवं ए0टी0एम0, पोस्ट ऑफिस तथा प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया आदि सेवाओं एवं इन सेवाओं के लिये उपयोग किये जा रहे वाहनों को इस आदेश की परिधि से बाहर रखा गया है. उन्होंने बिहार के तमाम लोगों से अपील की कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही इस मुहिम में अपना पूरा सहयोग दें. जब भी संकट का समय आया

Read more