सरकार ने बढ़ाई टीइटी-एसटीइटी सर्टिफिकेट की वैलिडिटी

आखिरकार छात्रों और टेट अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के बाद सरकार की आंख खुली है. बुधवार को बिहार सरकार के शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने घोषणा की है कि वर्ष 2011-12 में टेट और एसटेट पास अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्र अगले दो साल के लिए वैलिड रहेंगे। बता दें कि बिहार में पहली बार शिक्षक पात्रता परीक्षा(TET-STET) वर्ष 2011 में हुई थी. वर्ष 2012 में मई-जून महीने में शिक्षक पात्रता परीक्षा में पास हुए अभ्यर्थियों को प्रमाणपत्र दिया गया था. जिनकी वैधता सात साल थी. यानि ये वैधता इस साल मई-जून में समाप्त हो रही थी. अभ्यर्थी लगातार सरकार से इसकी वैधता बढ़ाने की मांग कर रहे थे क्योंकि शिक्षकों की बहाली कई साल से नहीं हो पाई थी.

Read more

JDU का कुनबा बढ़ा, रालोसपा के MLA-MLC अब JDU के हुए

लोकसभा में पार्टी के सफाये के बाद अब बिहार विधानमंडल से भी रालोसपा का पत्ता साफ हो गया है. विधायक ललन पासवान और सुधांशु शेखर के साथ संजीव श्याम सिंह अब विधिवत जदयू के सदस्य हो गए हैं. बिहार विधानसभा के स्पीकर विजय चौधरी ने तीन सदस्यों की अर्जी को स्वीकार करते हुए उनके जदयू में विलय को मंजूरी दे दी. 24 मई को ही इन विधायकों ने विलय की अर्जी दी थी. बता दें कि रालोसपा ने एनडीए से 2014 के लोकसभा चुनाव में 3 सीटों पर चुनाव लड़ा था और तीनों पर उनकी जीत हुई थी. 2019 चुनाव में महागठबंधन में शामिल रालोसपा ने पांच सीटों पर चुनाव लड़ा और पांचों पर उनकी हार हुई. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा काराकाट और उजियारपुर से चुनाव लड़े और दोनो जगहों से हारे. ऐसे में अब लोकसभा के साथ बिहार विधानमंडल से भी पार्टी का कोई प्रतिनिधि नहीं बचा है. JDU में शामिल इन तीन नेताओं के मंत्री बनने की चर्चा भी जोरों पर है.

Read more

बहन मीसा के लिए एक मंच पर आए तेजस्वी-तेजप्रताप

फुलवारी और खगौल में मीसा भारती ने किया रोड शो फुलवारी शरीफ / खगौल / दानापुर (अजीत) पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से महागठबंधन प्रत्याशी डॉ मीसा भारती ने गुरुवार को नामांकन कर दिया. इस दौरान उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और भाई तेजप्रताप यादव भी मौजूद थे. नामांकन के बाद आयोजित चुनावी सभा में महागठबंधन के दिग्गज नेताओं प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भटटाचार्य और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी भी शामिल हुए. बहन मीसा भारती के चुनावी सभा में पहली बार शिरकत करते हुए पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि यह चुनाव लोकतंत्र बचाने और संवैधानिक संस्थाओं को बचाने की लड़ाई है. बाबा साहेब अंबेडकर के बनाये संविधान को समाप्त करने के लिए भाजपा और एनडीए पूरी ताकत से देश के युवाओं को धार्मिक भड़काकर चुनाव जीतना चाह रही है.एनडीए के पास कोई मुद्दा नहीं रह गया है. विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य और बेरोजगारी को भुलाकर जनता को झूठे वायदे करके युवाओं को गुमराह करने का काम किया जा रहा है. उन्होंने मीसा भारती को भारी बहुमत से विजयी बनाने की अपील की. भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भटटाचार्य ने मीसा भारती को जिताने का आह्वान करते हुए कहा कि किसानों और बेरोजगारी के मुद्दे पर एनडीए की मोदी सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है. मोदी जी नोटबन्दी करके और देशभक्ति का ढोंग करके अब किसानों युवाओ को फिर से ठगने का स्वांग रच रहे हैं. आज देश मे जन जागरण का माहौल है और जनता भाजपा के झूठ को पहचान चुकी

Read more

पृथ्वी के बिना हमारा अस्तित्व नहीं

‘‘राष्ट्र की रक्षा तभी होगी, जब हम अपनी प्रकृति एवं पर्यावरण की रक्षा करें. प्रकृति की रक्षा के बिना राष्ट्र की रक्षा का कोई मतलब नहीं है.’’ ये पंक्तियाॅ उस पोस्टर प्रर्दशनी से उदधृत हैं जो ‘‘पृथ्वी दिवस’’ पर टी.पी.एस. काॅलेज में आयोजित विज्ञान एवं पर्यावरण उत्सव: इद्रधनुष 2019 में प्रर्दशित की गई थी. उत्सव का उद्घाटन करते हुए पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति    प्रो. गिरीश कुमार चैधरी ने महाविद्यालय परिवार को इस अनूठे आयोजन की बधाई देते हुए कहा कि हर विभाग के छात्र-छात्राओं, विशेषकर उर्दू साहित्य के विद्यार्थियों की इसमें भागीदारी पर्यावरण जागरूकता का परिचय देती है. आज पर्यावरण को बचाने के लिए नित नये शोध हो रहे है. जिस तरह हमारे विद्यार्थियों ने अपने माॅडल द्वारा वर्षा के पानी के उपयोग को प्रदर्शित कर के दिखाया वह अनुकरणीय है. हम परिवहन के क्षेत्र में ध्यान देकर एवं पौधारोपण को बढ़ावा देकर बहुत हद तक पृथ्वी को बचाने की दिशा में अपनी भूमिका निभा सकते हैं. मुख्य वक्ता के रूप में जन्तु विज्ञान विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. अरूण कुमार ने बताया कि प्रकृति में कोई भी चीज अकेले नहीं चलती. एक की रक्षा में ही दूसरे की रक्षा निहित है. गिद्ध जैसी प्रजातियाॅ लुप्त हो रही हैं, जो जैविक गंदगी को साफ करने का काम करती रही है. हमारी वैदिक परम्परा में प्रकृति की सर्वत्र वंदना है, आज हम उसे भुला चुके है.   उत्सव के मुख्य अतिथि महाविद्यालय के पूर्व प्रधानाचार्य प्रो. श्रीकांत शर्मा ने कहा कि इस तरह के आयोजन से सामाज में जागरूकता बढ़ती

Read more

‘तेजस्वी आरोप साबित करें या राजनीति से लें संन्यास’

जदयू ने मंगलवार को राजद और तेजस्वी यादव पर बड़ा हमला बोला है. जदयू नेता राजीव रंजन ने पटना में कहा कि तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार की छवि धुमिल करने के लिए शराब की होम डिलिवरी के संबंध में अर्मयादित बयान देते हुये कहा है कि 1500 रूपये की शराब में 1300 राज्य सरकार के पास जाता है. तेजस्वी या तो आरोप साबित करें अन्यथा राजनीति से सन्यास लें. भारतीय निर्वाचन आयोग तेजस्वी यादव के इस झूठे बयान का संज्ञान ले एवं उनपर कार्यवाई करे. उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शराबबंदी कानून के जरिये राज्य एक बड़े बदलाव की ओर अग्रसर हुआ है. महिला उत्पीड़न के मामले घटे हैं. सड़क दुर्घटनायें कम हुयी हैं. घरों में खुशहाली आयी है, क्योंकि शराब पर होने वाले अपव्यय के स्थान पर घर में पैसे बच रहे हैं, जिससे बच्चों की शिक्षा, बुजुर्गों की चिकित्सा एवं परिजनों के जीवन आवश्यकताओं के लिए प्रयोग हो रहा है. दलितों पर केस ज्यादा होने का तेजस्वी यादव का आरोप निराधार एवं पूर्णतः बेबुनियाद है. जनता दल (यूनाईटेड) विशेष राज्य दर्जा की माॅंग पर कायम है. लेकिन तेजस्वी यादव बतायें कि जिस कांग्रेस के साथ वह महागठबंधन में हैं, उसने आजादी के बाद देश पर 50 वर्ष शासन किया. लेकिन भाड़ा, समानीकरण, सेस एवं राॅयल्टी में दोहरे मानदंड एवं बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की माॅंग पर कांग्रेस की भूमिका क्या रही है? जदयू नेता ने कहा कि डबल इंजन की सरकार से बिहार की जनता को उम्मीदें हैं. विकास की तेज

Read more

बिहार में शांतिपूर्ण रहा तीसरा चरण

बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से पांच- झंझारपुर, मधेपुरा, सुपौल, अररिया और खगड़िया क्षेत्रों में तीसरे चरण में 60 प्रतिशत वोटिंग हुई है.  इस चरण में दिग्गज समाजवादी नेता शरद यादव, रंजीत रंजन, पप्पू यादव, मुकेश सहनी, सरफराज आलम और महबूब अली कैसर सहित 82 उम्मीदवारों के राजनीतिक किस्मत का फैसला इवीएम में कैद हो गया है. झंझारपुर में जहां 17 प्रत्याशी हैं, वहीं सुपौल में 20, मधेपुरा में 13, अररिया में 12 और खगड़िया में 20 प्रत्याशी सहित कुल 82 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. कहां कितनी हुई वोटिंग- झंझारपुर 56.92% मधेपुरा 59.12% सुपौल 62.80% अररिया 62.34% खगड़िया 58.83% अगले चरण में 29 अप्रैल को दरभंगा, समस्तीपुर, मुंगेर, उजियारपुर और बेगूसराय में मतदान होगा. चौथे फेज में अब्दुल बारी सिद्दीकी, नित्यानंद राय, उपेन्द्र कुशवाहा, कन्हैया, गिरिराज सिंह, ललन सिंह और अशोक राम समेत कई दिग्गज मैदान में हैं. राजेश तिवारी

Read more

खुशखबरी… SBI में 8653 पदों के लिए निकली वैकेंसी

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | पहले तो 2000 पीओ के पद और अब स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने जूनियर एसोसिएट्स के 8653 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला है. 12 अप्रैल से 3 मई तक कैंडिडेट अप्लाई कर सकेंगे. स्नातक कर चुके अभ्यर्थी इसके पात्र होंगे. स्टेट बैंक के मुताबिक, प्रारंभिक परीक्षा जून में होगी जबकि मुख्य परीक्षा का आयोजन 10 अगस्त को होगा.

Read more

पहले चरण में 53 फीसदी रही वोटिंग

बिहार में पहले चरण के चुनाव में जमकर वोटिंग हुई. पिछली बार से 2.25 फीसदी ज्यादा लोगों ने इस बार अपने मताधिकार का प्रयोग किया. सबसे ज्यादा पोलिंग गया में जबकि सबसे कम वोटिंग औरंगाबाद में हुई. फिर भी हर जगह पोलिंग परसेंटेज पिछले (2014) लोकसभा चुनाव से ज्यादा रहा. कहां कितनी हुई वोटिंग औरंगाबाद 51.5% नवादा 52.5% जमुई 54% गया 56.5%

Read more

राजद का घोषणा पत्र जनता के छलावा

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | जनता दल (यू) के प्रदेश प्रवक्ता अरविंद निषाद ने राष्ट्रीय जनता दल के घोषणा पत्र पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राजद अपने 15 वर्षों के शासनकाल में पंचायत चुनाव में वंचित वर्ग (अतिपिछड़ा वर्ग) को आरक्षण देने का निर्देश दिया था. लालू राबड़ी की सरकार ने न्यायालय के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एल पी ए दायर कर दिया जिसके फलस्वरूप बिहार के सबसे बड़ी आबादी को आरक्षण से महरूम होना पड़ा. पंचायत चुनाव में अतिपिछड़ा समाज को कैसे वंचित किया गया आज नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को स्थिति स्पष्ट करना चाहिये था. राजद को बताना चाहिए कि इस लोकसभा चुनाव में वंचित समाज को कितना उम्मीदवार बनाया है?  निषाद ने कहा कि सब्जीबाग दिखाकर दलितों/पिछड़ो का वोट लेने के लिए सत्तर प्रतिशत आरक्षण का राग अलापा जा रहा है. जब लालू प्रसाद संयुक्त मोर्चा की सरकार बनाने में किंग मेकर की भूमिका में थे उस समय जाति आधारित जनगणना कराने में अपनी महती भूमिका निभा सकते थे किंतु उन्होंने इसे मुद्दा नहीं बनाया, श्री निषाद ने तेजस्वी यादव को चुनौती दिया की सरकार बनने पर जातीय जनगणना कराने को लेकर राहुल गांधी से 11 अप्रैल को गया में सार्वजनिक रूप से घोषणा कराये क्या?                                       

Read more

मधुबनी में राजद ने दिया वीआइपी को प्रत्याशी

मधुबनी लोकसभा सीट से ई. बद्री कुमार पूर्वे होंगे महागठबंधन के उम्‍मीदवार वीआईपी प्रमुख सन ऑफ मल्‍लाह मुकेश सहनी ने किया एलान कहा – राजनीतिक अनुभव रखने वाले व्‍यक्ति हैं ई. बद्री कुमार पूर्वे मधुबनी लोकसभा सीट से महागठबंधन ने ई. बद्री कुमार पूर्वे अपना उम्‍मीदवार बनाया है. पूर्वे विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के सिंबल पर चुनाव लड़ेंगे. इसकी आधिकारिक घोषणा आज वीआईपी पार्टी के पटना स्थित कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्‍मेलन में पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह खगडि़या लोकसभा सीट से महागठबंधन के उम्‍मीदवार सन ऑफ मल्‍लाह मुकेश सहनी ने की. इस दौरान पत्रकारों को संबोधित करते हुए सन ऑफ मल्‍लाह मुकेश सहनी ने कहा कि महागठबंधन में हमारी पार्टी को तीन सीटें मिलीं हैं. इनमें खगड़िया, मुजफ्फरपुर और मधुबनी की सीटें शामिल हैं. दो सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा हम पहले कर चुके थे. अब तीसरी सीट मधुबनी की थी, जिसकी घोषणा आज हमने कर दी है. इस सीट पर एक राजनीतिक अनुभव रखने वाले व्यक्ति ई. बद्री कुमार पूर्वे चुनाव लड़ेंगे. उन्‍होंने कहा कि पूर्वे सिविल इंजीनियर हैं और छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय रहे हैं. वर्तमान में राजद के प्रदेश महासचिव के पद पर कार्यरत थे. उनके सामाजिक अनुभव, राजनीतिक समर्पण और सामाजिक विचारधारा को देखकर मुधबनी लोकसभा सीट के लिए हमने टिकट देने का काम किया है. पूर्वे बद्रीनगर एनएच – 57 मधुबनी रोड, वासुदेवपुर के निवासी हैं. मुकेश सहनी ने आगे कहा कि बद्री कुमार पूर्वे मधुबनी में पार्टी के हित में काम करेंगे. हमें पूरा भरोसा है कि वो पार्टी के लिए मजबूती

Read more