हीरो के बाद ये कौन आ गया ?

40 घण्टे बाद भी जदयू नेता के घर गोली चलाने वाले पुलिस की गिरफ्त से दूर आरा, 16 नवम्बर. भोजपुर पुलिस की एक ओर जहाँ जिले का आतंक बना हीरो के एनकांउटर के बाद सराहना हो रही है वही पुलिस के लिए अभी भी चुनौतियां सिर उठाये खड़ी हैं. युवा होते बच्चों के बीच किसी भी काम को करने के जुनून और जल्द ही अपने नामो के फेमस होने की लालसा उन्हें अपराध के दलदल में धकेल रही है. अभी हीरो के एनकाउंटर हुए 24 घंटे भी नही बीते थे कि बुधवार की रात नवादा थाना के अनाइठ में पूर्व छात्र जदयू सचिव अभिषेक तिवारी के घर पर रात 8.30 बजे के करीब 2 गोलियाँ चला अपराधियों ने दहशत फैला दिया. इस घटना के बाद मुहल्ले में हड़कंप मच गया. चर्चा ये होने लगी कि अपराध का नाम बना हीरो तो मारा गया फिर ये कौन है जो गोलियां बरसा रहा है? कहीं कोई और तो हीरो बनने की तैयारी तो नही कर रहा? इस घटना के बाद हलांकि पुलिस जदयू नेता के घर पहुँची और तफ्तीश में जुट गई लेकिन 45 घण्टे बीत जाने के बाद भी अभी तक कुछ भी हाथ नही लगा है. घटना स्थल से पुलिस को 1 खोंखा और एक जिंदा कारतूस बरामद हुए और CCTV का फुटेज हाथ लगा. CCTV फुटेज में दो लोगों के गोली चलाने की तस्वीर कैद तो जरूर हुई है पर वे अभी भी पुलिस की कैद से दूर हैं. सूत्रों से मिली जानकारी की माने तो हाल में हुई

Read more

हीरो के एनकाउंटर होने तक…..

आरा (सत्या की खास रिपोर्ट) । नाम मनीष उर्फ हीरो, काम- रंगदारी के लिए किसी को भी मौत के घाट उतार देना और गोलियों से भून डालना. कुछ ऐसा ही था भोजपुर पुलिस और एसटीएफ की गोलियों का शिकार बने मनीष का प्रोफाइल. कम समय में ही जिले में खौफ और आतंक का पर्याय बन चुके इस अपराधी को पुलिस ने ढेर कर चैन की सांस ली है. हीरो का नाम भोजपुर समेत आसपास के जिलों में बड़ी तेजी से फैल रहा था और उसके गैंग में नौजवान शामिल हो रहे थे. इसे भी पढ़े      हीरो का एनकाउंटर।।। भोजपुर पुलिस ने एसटीएफ की मदद से मंगलवार की शाम कुख्यात अपराधी मनीष सिंह उर्फ हीरो को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया. इस दौरान पुलिस ने उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया जो कि बनारस के जीवीएम मॉल में हुई शूटआउट की घटना के आरोपी थे और फरार चल रहे थे. पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में हीरो का एक साथी अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा. दरअसल पुलिस हीरो की टोह में कई दिनों से लगी थी. इसी दौरान ये सूचना मिली कि हीरो अपने 4 गुर्गों के साथ किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए भोजपुर के ही पीरो की ओर जा रहा है. पुलिस ने रास्ते में तत्काल घेराबंदी की तो हीरो और उसके गैंग ने गोलीबारी शुरू कर दी. इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई शुरू की और हीरो को मार गिराया. पुलिस ने उसके दो साथी कुंदन और अभिषेक को

Read more

कुख्यात हीरो का एनकाउंटर

आरा (राकेश कुमार तिवारी की रिपोर्ट) | भोजपुर के लिए आतंक बन चुके मनीष उर्फ हीरो को पुलिस STF ने पीरो के जीतौरा बाजार के समीप बरांव गांव में एक मुठभेड़ के दौरान मार गिराया. हीरो के अपने सहयोगियों के साथ जीतौरा में आने की सूचना मिली थी. सूचना मिलने पर पुलिस ने घेराबंदी की। हीरो गैंग की तरफ से फायरिंग होने पर पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की. इस एनकाउंटर में हीरो मारा गया. पुलिस ने हीरो के साथ चल रहे कुछ अन्य अपराधकर्मियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है. पहले भी मनीष उर्फ हीरो कोर्ट परिसर से पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल रहा था. बाद में उसने आरा शहर में आतंक फैलाने के लिए एक ही दिन में गोलीबारी की लगातार कई घटनाओं को अंजाम दिया था, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हुई थी. इसके बाद उसने व्यवसायियों में आतंक फैला कर रंगदारी वसूलने के लिए कई अन्य घटनाओं को अंजाम दिया था. हीरो हर घटना के बाद अपना विजिटिंग कार्ड छोड़ कर जाता था ताकि दहशत पैदा हो सके. पिछले तीन महीनों से पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके हीरो को पुलिस ने कई बार घेरा मगर हर बार वह बच निकलता था. एसपी आदित्य कुमार ने हीरो के मारे जाने की पुष्टि की है.

Read more

‘हीरो’ की दस्तक से जब मची दहशत

गौलियों की बौछार से दुबके लोग, भटटा का मुंशी घायल आरा, 21 अक्टूबर. भोजपुर में इन दिनों एक ऐसे ‘हीरो’ की चर्चा है जिसके नाम से लोग खौफ खाते हैं. जी हां ‘हीरो’ अपराध जगत का एक ऐसा उभरता सितारा है, जिसने बहुत ही कम उम्र में कई घटनाओं को अंजाम दे भोजपुर पुलिस का सिर दर्द बना हुआ है. नाम ‘हीरो’ तेवर भी हीरो वाला… लेकिन काम ‘विलेन- वाला’. लूट,हत्या,फिरौती,रंगदारी और धमकी…यही पेशा है अपराध के उभरते इस सितारे हीरो का जिसका नाम भी ‘हीरो’ ही है. फिल्मी स्टाइल की तरह वह घटनाओं को अंजाम देने के बाद अपने नाम का कार्ड छोड़ कर चला जाता है या यूं कहें कि घटनाओं को अंजाम देने के बाद वह अपनी पहचान छोड़ भोजपुर पुलिस को एक चैलेंज दे जाता है और अंडरग्राउंड हो जाता है कुछ दिनों के लिए, जिसे पुलिस खोजते-खोजते परेशान हो जाती है. उसकी इस शातिर अंदाज ने उसे कुख्यात अपराधियों का अब सरगना बना दिया है. आज शहर एक बार फिर हीरो के खौफ से सहम उठा जब उसने एक ईंट भट्ठा पर काम कर रहे मुंशी को रंगदारी की मांग कर नही देने पर गोली मार कर जख्मी कर दिया. कुख्यात हीरो ने ईट भट्ठा मुंशी को न सिर्फ गोली मारी बल्कि दहशत फैलाने के लिए करीब 15 राउंड फायरिंग भी की और अपने आतंक का खौफ जमाने के लिए हीरो लिखा हुआ कार्ड फेंक कर वहां से हथियार लहराते हुए फरार हो गया. सूत्रों की माने तो घटना उस समय घटी जब नगर थाना

Read more

पटना एम्स में हंगामा को लेकर कन्हैया समेत 2 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज

पटना एम्स में हंगामा को लेकर एफआईआर दर्ज, फुलवारीशरीफ थाने में दर्ज हुई एफ आई आर, कन्हैया समेत 2 लोगों के खिलाफ नामजद FIR, 80 अज्ञात लोगों पर भी एम्स प्रशासन ने दर्ज कराई प्राथमिकी आइये जानते हैं वाकया क्या था. दरअसल कल जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व नेता कन्हैया कुमार अपने समर्थक के साथ रविवार रात पटना के एम्स में भर्ती एआईएसएफ के अध्यक्ष सुशील कुमार को देखने गए थे. उनके साथ उनके कई समर्थक भी थे. एम्स में अचानक अचानक कन्हैया के समर्थकों ने किसी कारण वहां के गार्ड के साथ मारपीट करना शुरू इतना ही नहीं, उनलोगों ने ऑर्थो विभाग के एक डॉक्टर के साथ बदसलूकी भी की. इसी बात से नाराज होकर सोमवार सुबह से सुरक्षा की मांग को लेकर पटना एम्स के डॉक्टर्स स्ट्राइक पर चले गए थे. इस घटना से नाराज एम्स, पटना के रेजिडेंट डॉक्टर और जूनियर डॉक्टरों ने आज सोमवार से अपने कार्य का बहिष्कार कर दिया। डॉक्टरों की मांग थी कि उन्हें सुरक्षा चाहिए जो कि एम्स पटना के लिए एक बड़ा सवाल है. रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉo विनय ने कहा था कि सभी डॉक्टर्स अभी फिलहाल कार्य बहिष्कार पर है और यदि सोमवार शाम 5 बजे तक कन्हैया कुमार एवं उनके समर्थकों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज नही होती है तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे. शक था कि यदि दोषियों पर कार्रवाई नही हुई तो एम्स, पटना में हड़ताल होना तय है. इसपर छानबीन करने पहुंचे फुलवारीशरीफ के एसएचओ ने बताया था कि मामले में प्राथमिकी दर्ज

Read more

पटना के इंजीनियरिंग कॉलेज के पीछे से डॉक्टर के पुत्र की बॉडी बरामद

रूपसपुर थाना क्षेत्र के इंजीनियरिंग कॉलेज के पीछे से डॉक्टर के पुत्र की बॉडी बरामद चाकू मार की गई हत्त्या फुलवारी शरीफ (ब्यूरो रिपोर्ट) । रूपसपुर के होम्योपैथ डॉक्टर शशिभूषण के 15 साल के अपहृत बेटे की हत्या कर अपहरण कर्ताओं ने आरपीएस इंजीनियरिंग कॉलेज के पीछे बधार में फेंक दिया. डॉक्टर पुत्र की लाश बरामद होने की खबर से परिजनों में चीत्कार मच गया. पुलिस मुख्यालय में भी हडकम्प मचा है. एसएसपी मनु महाराज की मॉनिटरिंग में पुलिस अपहरण की खबर के बाद से लगातार कई इलाके में छापेमारी में जुटी थी. कोथवां में भी छापेमारी के बाद कई बदमाशो को पुलिस ने गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही थी. इस पूछताछ के बाद ही रूपसपुर थाना क्षेत्र के इंजीनियरिंग कॉलेज के पीछे से डॉक्टर के पुत्र की बॉडी बरामद कर ली गयी. डेड बॉडी देखने से लगता है कि अपहरण के बाद ही उसकी चाकुओं से गोद गोद कर हत्त्या कर दी. अपहरण कर्ताओं ने डॉक्टर परिवार से फिरौती में 50 लाख की रकम की डिमांड कर रहे थे. पुलिस का दावा है कि इस वारदात में शामिल दो अपराधियो को गिरफ्तार कर लिया गया है और एक अपराधी जो फरार चल रहा है उसे भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. इस हत्त्या में प्रेम प्रसंग की चर्चा की भी जांच हो रही है. गौरलतब है कि डॉक्टर शशिभूषण के पुत्र शिवम का अपहरण बृहस्पतिवार को उस समय कर लिया गया था जब वह बीबीगंज दानापुर में कोचिंग के लिए गया था. उसी कोचिंग में कोथवां के भी

Read more

ये क्या ? प्यार की सजा.. टुकड़े-टुकड़े काट देंगे !

मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री से वीडियो के जरिये मदद के लिए की गुहार Patna now Special report बचपन से आपने और हमने सुना है जीवन में प्रेम ही सब कुछ होता है लेकिन जब यह प्रेम अपनों के बीच सामने आता है तो यह शिक्षा टाय टाय फिस्स हो जाती है. जिगर मुरादाबादी ने एक शेर लिखा था-“ये इश्क़ नहीं आसाँ इतना ही समझ लीजे, इक आग का दरिया है और डूब के जाना है.” इश्क के इसी आग में डूब कर पार करने का निर्णय ले चुके झारखंड के दो प्रेमियों संजय और निखत को यह आग का दरिया उनके जीवन के लिए आफत बन गया है. एक दूसरे को बेइन्तहाँ प्यार करने वाले संजय और निखत ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर सबको चौंका दिया है कि शादी के बाद लड़की के परिवार वाले दोनों को मारने की धमकी दे रहे हैं. सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल है जिसमें दो प्रेमी युगल मुख्यमंत्री रघुवर दास और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपनी जान की हिफाजत के लिए अपील करते दिख रहा है. वीडियो में झारखंड के रामगढ़ जिले के भुरकुंडा निवासी संजय कुमार और निखत परवीन लोगों से यह अपील कर रहे हैं कि उनके प्यार को लेकर उनके परिवारों के बीच में तकरार है. निखत प्रवीण के अनुसार उसके पिता हबीब खान, जीजा फिरोज खान और और मामा मेराज खान उसके जान के दुश्मन बन गए है. वीडियो में वह बताती है कि वह संजय से बेहद प्यार करती है. वे एक दूसरे को हद

Read more

BREAKING : पूर्व मेयर समेत दो को गोलियों से किया छलनी

मुजफ्फरपुर (ब्यूरो रिपोर्ट) | शहर के पूर्व मेयर और उनके ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मुजफ्फरपुर के बनारस बैंक चौक पर पूर्व मेयर समीर कुमार और उनके ड्राइवर की रविवार शाम करीब 6.30 बजे अपराधियों ने AK-47 से भून डाला. दोनों की मौत मौके पर ही हो गई. हत्या इतने खौफनाक ढंग से की गई कि समीर कुमार का शव पहचान में नहीं आ रहा है. उसके गर्दन और चेहरे पर कई गोलियां दागी गई. आगे की सीट पर बैठे समीर कुमार को करीब से एक दर्जन से अधिक गोलियां मारी गई. चालक को भी करीब इतनी ही गोलियां लगीं. किसी के कुछ समझ में आता, इसक पहले अपराधी घटना को अंजाम देकर आराम से भाग निकले. स्थानीय लोगों ने बताया कि घटना को अंजाम देकर दोनों बाइक सवार अपराधी बूढी गंडक नदी के बांध की ओर भाग निकले. शाम करीब साढ़े छह बजे समीर कुमार अखाड़ाघाट स्थित अपने होटल से निकलकर घर आ रहे थे. बांध रोड होते हुए उनकी गाड़ी फायर ब्रिगेड कार्यालय से जैसे ही आगे बढ़ी, अपराधियों ने कार को चारों ओर से घेर कर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. जिस कार में वे सवार थे, वह उनकी पत्नी वर्षा रानी के नाम से निबंधित है. हत्या के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. सैकड़ों की संख्या में लोग घटनास्थल जुट गए हैं. बड़ी वारदात के कारण पुलिस व प्रशासन अलर्ट पर है. सूचना मिलते ही नगर डीएसपी मुकुल रंजन और नगर थानेदार मो. सुजाउद्दीन समेत कई थानों की पुलिस छानबीन

Read more

हाथ में लिया कानून, नाबालिग के साथ ज्यादती

पटना से बड़ी खबर है. जहां फुलवारी शरीफ के ईसापुर में मोबाइल चोरी के आरोप में लोगों ने एक दस साल के नाबालिग चोर को निर्वस्त्र करके पेड़ से बांधकर पिटाई की और उसके शरीर पर चीनी का घोल डालकर चिंटियों कटवाया. आसपास खड़े लोग लोग नाबालिग की मदद करने की बजाय मोबाइल में फ़ोटो लेने और तालियां बजा मजा लेने में लगे रहे. काफी देर बाद सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने उसे लोगों के चंगुल से छुड़ाया और थाने ले आयी. फुलवारी इंस्पेक्टर कैसर आलम ने बताया कि जिसकी पिटाई की बात सामने आई है वह मो नियाज उर्फ टुन्ना का बेटा कल्लू उर्फ अमन है . नाबालिग कल्लू बड़ा ही शातिर चोर और स्मैकियर भी है. कल्लू के शरीर पर चोट के निशान नजर नहीं हैं. लोगों ने हल्की  पिटाई की है. कल्लू पहले भी चोरी के मामले में जेल जा चुका है.  इस बारे में कल्लू ने बताया कि वह मोबाइल चोरी करके अपने गैंग के सद्दाम उर्फ कऊआ को दे दिया. फिलहाल कऊआ अभी जेल में है. उसने इससे पहले कई लोगो के घरों में चोरी करने का अपराध स्वीकार किया है. कल्लू अभी हाल ही में बाल सुधार गृह से छूटकर आया है. चोर की पिटाई मामले पुलिस ने नूर और उसके भाई को हिरासत में लिया है . इधर ईसापुर के लोगों ने बताया कि अधपा मुहल्ले में मो निजाम और उसके बेटे नूर सहित परिवार के लोगों ने निम्बू के पेड़ में बांध कर नाबालिग चोर कल्लू उम्र करीब दस साल को

Read more

पटना कोतवाली से सिर्फ 100 मीटर दूर हुई हत्या

पटना [ब्यूरो रिपोर्ट]।  बेखौफ अपराधियों ने शुक्रवार दिन दहाड़े पटना पुलिस को खुली चुनौती देते हुए कोतवाली के निकट राजद के पूर्व सांसद और तिहाड़ जेल में बंद मोहम्मद शहाबुद्दीन के शार्प शूटर तबरेज उर्फ तब्बू को गोलियों से भून डाला. अपराधियों ने, जो बाइक पर आए थे, उसे पांच गोलियां मारकर फरार हो गए. गोली की आवाज सुनकर आस पास के लोग चौंक गए. जबतक लोग कुछ समझ पाते, अपराधी घटना स्थल से भाग चुके थे. पंद्रह मिनट बाद मौके पर पुहंची पुलिस तबरेज को पीएमसीएच ले गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस के अनुसार मृतक का अापराधिक इतिहास रहा है तथा उस पर कई संगीन अपराध के केस दर्ज हैं. सूत्रों के अनुसार तबरेज उर्फ तब्बू हम पार्टी से टिकट लेकर चुनाव भी लड़ने वाला था. आस पास के प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पुलिस थाने से दस कदम की दूरी पर एक सफारी गाड़ी खड़ी थी. सफेद कुर्ता पायजामा पहना एक युवक सड़क किनारे खड़ी सफारी गाड़ी में बैठने जा ही रहा था कि बाइक से जा रहे दो युवकों ने शख्स को बिल्कुल पास से पांच गोलियां मारीं और बाइक की स्पीड बढाकर फरार हो गए. मौके पर पहुंची पुलिस घायल युवक को लेकर पीएमसीएच पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. उसे पांच गोलियां मारी गई. पुलिस ने मृतक का मोबाइल लेकर उसकी जांच की और पूछताछ में पता चला कि उसका नाम तबरेज उर्फ तब्बू है. पुलिस मामले की तहकीकात में जुट गई है. पटना कोतवाली से सिर्फ 100 मीटर दूर हुई हत्या

Read more