भ्रष्ट नियोजन इकाइयों पर कार्रवाई की तैयारी

बिहार में जिन जिन नगर निकाय, प्रखंड और पंचायत इकाइयों में शिक्षक नियोजन के लिए काउंसलिंग हुई है उन सभी के कार्यपालक पदाधिकारी, ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर और पंचायत सचिव शिक्षा विभाग के राडार पर हैं . शिक्षा विभाग इंटरनल इंक्वायरी करा रहा है क्योंकि नियोजन के वक्त ही शिक्षा विभाग को कई नियोजन इकाईयों के फर्जीवाड़े की रिपोर्ट मिल चुकी है. अभ्यर्थियों ने बकायदा फोटो और अन्य सबूतों के साथ शिकायत दर्ज कराई है. अपर मुख्य सचिव की मानें, जहां-जहां गड़बड़ी हुई है वहां काउंसलिंग कैंसिल होना तय है. ना सिर्फ काउंसलिंग में शामिल पंचायत सचिव और और अधिकारी बल्कि फर्जीवाड़े में शामिल अभ्यर्थियों पर भी एफ आई आर होगी. इस बार शिक्षा विभाग ने काफी पारदर्शी तरीका अपनाया है जिसमें कुछ भी छिपाना संभव नहीं है और यही वजह है कि सभी नियोजन इकाइयों को 20 जुलाई तक काउंसलिंग में चयनित उम्मीदवारों की सूची सार्वजनिक करने की का निर्देश दिया गया है. यह सूची एनआईसी की वेबसाइट पर अवश्य तौर पर प्रकाशित करनी होगी. इस बारे में शिक्षा विभाग के मंत्री विजय कुमार चौधरी भी साफ तौर पर यह कह चुके हैं कि जिन लोगों ने भ्रष्टाचार किया है उनके खिलाफ कार्रवाई तय है. जिन प्रखंड या पंचायतों से ज्यादा शिकायतें मिली है उनमें दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सारण, भोजपुर और पटना भी शामिल है. शिक्षक नियोजन का मामला वर्ष 2019 में शुरू हुआ जब सरकार ने 90762 पदों पर प्राथमिक और मध्य विद्यालय शिक्षकों के नियोजन की घोषणा की थी. लंबी लड़ाई के बाद आखिरकार जुलाई महीने में काउंसलिंग

Read more

जहरीली शराब पीने से आठ की मौत, कई गंभीर

लालू यादव ने कहा हर साल हजारों लोगों की मौत हो चुकी है देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता रहा है बिहार में शराब बंदी के पांच साल तीन महीने बाद भी नहीं थम रहा है मौतों का सिलसिला दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप बिहार में शराब पर पूर्ण प्रतिबन्ध के बावजूद लोगों की मौत लगातार शराब के कारण हो रही है. राज्य के पश्चिम चंपारण के लौरिया प्रखंड में दो दिनों में संदिग्ध रूप से जहरीली शराब पीने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों का इलाज अभी भी जारी है. लोक इन मौतों के पीछे जहरीली शराब पीने के कारण रहे हैं. इस मामले की प्राथमिकी लौरिया थाना में दर्ज कर ली गई है. चंपारण के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) ललन मोहन प्रसाद ने बताया कि इस मामले में पीड़ित व्यक्ति के बयान पर लौरिया थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. प्राथमिकी में दो लोगों को आरोपी बनाया गया है. उन्होंने कहा कि दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप लगाया गया है. देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता है, जहां लोगों ने शराब पी थी और सभी की तबियत बिगड़ने लगी. ग्रामीणों के मुताबिक मरने वालों में देउरवा गांव के रहने वाले बिकाउ अंसारी, लतीफ मियां, रामवृक्ष चैधरी, बुलाई गांव के नईम हाजम, सीतापुर गांव के भगवान पांडा, जोगिया गांव के सुरेष साह, बगही के रातुल मियां और गौनही के झुन्ना मियां की मौत हुई है. विभिन्न अस्पतालों

Read more

नियमित फिजिकल कोर्ट शुरू करने के लिए हाईकोर्ट से गुहार, सुझाये उपाय भी

आरा ।। अदालतों में एक सुरक्षात्मक तंत्र के माध्यम से अधिवक्ताओं के प्रवेश को सुनिश्चित और नियमित करते हुए न्यायालय कार्य शुरू करवाने के लिए बिहार युवा अधिवक्ता कल्याण समिति पटना के अधिवक्ता नितीश कुमार सिंह ने मननीय उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को पत्र भेजा है. नीतिश कुमार सिंह सिवील कोर्ट,आरा सह शाहाबाद प्रमंडल के संगठन मंत्री भी हैं बिहार युवा अधिवक्ता कल्याण समिति के. उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि यह एक तथ्य है कि देश कोविड -19 के प्रसार के कारण बहुत भयावह दौर से गुजर रहा है. इन दिनों का अनुभव बहुत उत्साहजनक नहीं है, न्यायालय में अधिवक्ताओं के प्रवेश को रोक देने के बाद से, उच्च न्यायालय और जिला न्यायालयों में अधिसंख्य अधिवक्ताओं के बहुमत, जो कंप्यूटर के जानकार नहीं हैं जिसके कारण वीडियो कांफ्रेंसिंग की सुविधा का लाभ नहीं उठा सकते हैं, जिससे माननीय से संपर्क करने में विफल रहे हैं. अधिसंख्य हाइकोर्ट अपने यहाँ फिजिकल सुनवाई करने जा रही है. बिहार में कोरोना के केसेज बहुत ही कम आ रहे हैं इस कारण, कुछ व्यापक मापदंडों और पर्याप्त सुरक्षा उपायों को पेश किया जा सकता है, जो कि अदालतों में एक सुरक्षात्मक तंत्र के माध्यम से अधिवक्ताओं के प्रवेश को चालू और नियमित किया जा सकता है. उन्होंने न्यायालय से अपील किया है कि न्यूनतम संभव कार्य को सुचारू रूप से शुरु कराया जाय जिससे कोर्ट से सम्बंधित सभी लोगों का काम चल सके. इसमें कोई संदेह नहीं है, घर में बेकार बैठना एक मजबूरी है, लेकिन इससे भी अधिक, मुकदमों के

Read more

रिश्वत लेते पकड़े गए बीइओ

भोजपुर(आरा)।। पीरो के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को निगरानी की ने टीम ने सोमवार को 80 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. आरोप है कि वे एक शिक्षक से संचिका निष्पादन के नाम पर रिश्वत ले रहे थे. इसके लिए बीईओ द्वारा 80 हजार रुपये की मांग की गई थी. बताया जाता है स्थानीय प्रखंड के मध्य विद्यालय नारायणपुर के प्रधानाध्यपक अजय कुमार के विरूद्ध वित्तीय अनियमितता की जांच के नाम पर राशि की मांग की गई थी. इसी मामले में अजय को आरोप मुक्त करने के लिए पीरो के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अभय कुमार ने उनसे 80 हजार रुपये घूस मांगी थी.रिश्वत मांगने की शिकायत मध्य विद्यालय नारायणपुर के प्रधानाध्यपक अजय कुमार ने निगरानी विभाग से की थी. सोमवार को निगरानी विभाग की टीम पीरो प्रखंड पहुंच प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अभय कुमार को 80 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. आमोद

Read more

पुलिस पर भारी पड़े शराब माफिया,रायफल लूटकर हुए फरार

पुलिस रायफल बरामदगी को पहुंची रैपिड एक्शन फ़ोर्स , गांव को घेर कर हो रही छापेमारी फुलवारी शरीफ ।। राजधानी पटना में देशी शराब कारोबारियों को धड़ पकड़ करने परसा बाजार के टडवां मुसहरी पहुँची परसा बाजार थाना की पुलिस पर धंधेबाजों ने हमला कर पुलिस वालों को पीट पीट जख्मी करते हुए पुलिस की रायफल लूट ली. पुलिस वाहन पर पथराव कर तोड़फोड़ करते हुए पुलिस कर्मियों को जमकर पिटाई करने लगे. हमले में कई पुलिसकर्मियों ने भागकर अपनी जान बचाई. वहीं शराबियों और धंधेबाजों के हमले में एक दरोगा और दो सिपाही बुरी तरह जख्मी हो गए जिनका इलाज निजी हॉस्पिटल में चल रहा है. पुलिस पर हमला और रायफल लूट कर फरार हो जाने की घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मुख्यालय में हड़कम्प मच गया. रैपिड एक्शन फ़ोर्स के साथ सदर एएसपी ट्रेनी डीएसपी सह थानाध्यक्ष परसा बाजार पुनपुन थानाध्यक्ष रामकृष्णा नगर बेऊर सहित आसपास के कई थानों की पुलिस, बीएमपी सहित भारी पुलिस फोर्स टड़वा सलारपुर मुसहरी पहुंचा और पूरे गांव को घेरकर छापेमारी शुरू कर दी. इधर गांव में भारी पुलिस फ़ोर्स को आता देख सभी पुरूष भाग गये. पुलिस फोर्स की छापेमारी के दौरान कई महिलाओं समेत ग्रामीणों ने छापा के नाम पर लोगों की पिटाई का आरोप भी लगाया है. टडवां सलारपुर मुसहरी का पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया. पुलिस टीम पुलिस रायफल बरामद करने के लिये चप्पे चप्पे को खंगालने में जुटी है. परसा बाजार थाना पुलिस पर यह हमला सोमवार की रात्रि हुआ जब इलाके में भारी

Read more

ऑर्डर-ऑर्डर! डॉन समेत 10 शगिर्दों को फाँसी!

खुर्शीद समेत कानून के फंदे में भोजपुर के 10 डॉन ढाई साल बाद मिला न्याय, खुर्शीद समेत 10 को फांसी की सजाबैग व्यवसाई हत्याकांड में कुख्यात खुर्शीद कुरैशी सहित 10 लोगों को फांसी की सजा6 दिसंबर 2018 को दिनदहाड़े हुई थी बैग व्यवसायी इमरान की गोली मारकर हत्यानगर थाना क्षेत्र के चित्रटोली रोड में घटी थी घटना आरा,14. कहा जाता है भगवान के घर देर है लेकिन अंधेर नही. भगवान का दूसरा स्थान इंसाफ का मंदिर यानि कोर्ट को माना जाता है जहाँ इस धरती पर इंसानों के हक का सही फैसला होता है. कानून के इस मंदिर में भी देर होता है लेकिन अंधेर नही क्योंकि कानून का हाथ बहुत लंबा होता है. इस बात को साबित किया है सिविल कोर्ट आरा की अदालत ने शहर के खूँखार डॉन खुर्शीद कुरैशी समेत 10 को फांसी की सजा सुनाकर. जिनके नाम से लोगों के पसीने छूटते थे,जिनके एक मैसेज के बाद उसे पूरा करने के लिए व्यापारी जी हुजूरी किया करते थे वैसे दहशतजदा को कानून के मंदिर ने फांसी के फंदे तक पहुंचा दिया. यह सजा बहुचर्चित बैग व्यवसायी मो. इमरान हत्याकांड में सुनाई गई. बैग व्यापारी के हत्या के ढाई बर्ष बाद अदालत के फैसले से पीड़ित परिवार को न्याय मिला है. सिविल कोर्ट आरा की अदालत में एडीजे-9 मनोज कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से खूंखार डॉन खुर्शीद कुरैशी समेत 10 अभियुक्तों को मौत की सजा सुनाई है.  न्यायालय ने सभी अभियुक्तों पर विभिन्न धाराओ के अन्तर्गत 2 लाख 60 हजार का जूर्माना भी लगाया. इन्हें

Read more

वर्चुअल मीटिंग कर अधिवक्ताओं ने अपने साथी अधिवक्ता की सुरक्षा की मांग की

आरक्षी अधीक्षक से अपराधियों की गिरफ्तारी समेत अधिवक्ता को सुरक्षा देने की मांग आरा,29 मई. बिहार युवा अधिवक्ता कल्याण समिति,शाखा-आरा की वर्चुअल बैठक प्रातः बुधवार(27 मई) को 11.00 बजे हुई, जिसकी अध्यक्षता मनोरंजन कुमार सिंह तथा शाहाबाद प्रमंडलीय मंत्री नीतिश कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से की. इस बैठक में आरा बार के सदस्य अधिवक्ता विजय शंकर तिवारी पिता- अधिवक्ता स्व० श्री राम तिवारी, ग्राम-पिलीयाँ,थाना-जगदीशपुर की जान से मारने की धमकी की तीव्र भर्त्सना करते हुए भोजपुर आरक्षी अधीक्षक से अपराधियों की अविलम्ब गिरफ्तारी,अधिवक्ता को सुरक्षा देने की माँग तथा दोषी को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की गई. नीतिश कुमार सिंह ने अपने मित्र स्व० प्रीतम नारायण सिंह, अधिवक्ता की हत्या का जिक्र करते हुए कहा कि अगर प्रीतम नारायण सिंह को सुरक्षा मुहैया कराई जाती तो वे बच सकते थे. साथ ही समिति ने अधिवक्ताओं की व्यापक सुरक्षा हेतु अविलम्ब अधिवक्ता सुरक्षा अधिनियम लागू करने की भी मांग की. इसके साथ ही भारतीय विधिज्ञ परिषद,राज्य विधिक परिषद एवं राज्य सरकार से अविलंब आर्थिक पैकेज की माँग की गई. इस वैश्विक संकट के समय अपने हमें,अपना,अपने परिवार अपने कनिष्ठ अधिवक्ताओं व मुंशियों/टाइपिस्ट आदि का ख्याल रखने की अपील की गई. सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशो का पालन करने व समाज को जागरुक कर सही दिशा दिखाने की अपील भी की गई. बैठक में स्वागत भाषण व बैठक की शुरुआत अधिवक्ता रश्मिराज कौशिक विक्की ने किया. उन्होंने कहा कि सरकार को अधिवक्ताओं की सुरक्षा पर ध्यान देना होगा. जिला प्रशासन को अधिवक्ताओं की सुरक्षा के हित मेें कदम

Read more

कुत्तों ने मचाया कत्लेआम, 45 भेड़ों की मौत

फुलवारी शरीफ ।। पटना के फुलवारी शरीफ गोनपुरा गांव में भेड़ों के बाड़े में देर रात घुसकर कर कुत्तों ने आतंक मचाते हुए दर्जनों भेड़ों को काट खाया. इस हमले में कुत्तों के काटने से 45 भेड़ों की मौत हो गई. भेड़ों के चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर भेड़ों के मालिक दौड़े दौड़े पहुंचे और कुत्तों को खदेड़ दिया. भेड़ मालिक सुखु भगत ने बताया कि वे बेगमपुरा गांव के निवासी हैं और उनका मुख्य पेशा भेड़ का व्यापार है. उन्होंने बताया कि बीती रात लगभग 12:00 बजे आवारा कुत्तों का एक झुंड उनके भेड़ों के बाड़े में घुसकर भेड़ों पर हमला कर दिया और काटना शुरू कर दिया. इस हमले में 38 भेड़ मारे गए और कई भेड़ घायल भी हो गए हैं. उनके ही परिवार के 17 भेड़ों की मौत हुई है.  घटना की सूचना मिलते ही गांव में हड़कंप मच गया और लोग अपने-अपने घरों से डंडा लेकर आवारा कुत्तों की तलाश में निकल पड़े. इतनी बड़ी संख्या में भेड़ों को खून से लथपथ मृत पड़ा देख भेड़पालक  चित्कार मार कर रोने लगा. मौके पर जमा सैकड़ों ग्रामीणों ने प्रशासन से भेड़ पालक को मुआवजा दिलाने की मांग की. ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे स्थानीय माले विधायक गोपाल रविदास ने घटना को अफसोस जनक बताया. भेड़ पालक जगदीश पाल सुरेश पाल सुखु भगत घायल हालात में तड़प रहे भेड़ो का इलाज पशु चिकित्सक से कराने और मुआवजा दिलाने की गुहार लगाई है. विधायक ने प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत कर भेड़ पालकों को मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है. घटना की सूचना फुलवारीशरीफ थाने को दी गई. शनिवार की सुबह फुलवारीशरीफ थाने के पदाधिकारी दल

Read more

महंगी पड़ी शराब पार्टी, 6 पार्षदों समेत 18 धराये

7.5 लाख नगद, रायफल और गोलियाँ भी बरामदचल रही थी वार्ड पार्षद के घर शराब की पार्टीभोजपुर SP राकेश कुमार दूबे की बड़ी कार्रवाई आरा, 26 मई. बिहार में शराबबंदी लागू है और इसके लिए व्यापक रूप से लगातार छापेमारी और विशेष दल सरकार द्वारा लगाया गया है. शराब मुक्त बिहार को बनाने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं से लेकर, जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों तक को सरकार ने समय-समय पर शपथ दिलाया है. लेकिन मजेदार बात यह है कि सरकार को सपोर्ट करने वाले उनके अपने ही शराब कानून की धज्जी उड़ाने में मशगूल है. बस ये लोग पकड़े नही जाते हैं क्योंकि ये रसूख वाले लोग हैं. पुलिस और सरकार तक इनकी पहुँच है तो भला पकड़ेगा कौन? लेकिन बुधवार को भोजपुर मुख्यालय आरा में भोजपुर SP राकेश कुमार दूबे ने एक वार्ड पार्षद के घर छापेमारी कर उनके घर से आरा नगर निगम के 6 वार्ड पार्षदों व पार्षद पतियों के साथ 18 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन सभी को शराब का सेवन करते हुए भोजपुर पुलिस ने रंगे हाथों पकड़ा है. पुलिस द्वारा पहली बार रसूखदारों के ऊपर इस त्वरित कार्रवाई से जनता में खुशी की लहर है. शराब पीने वाले इन वार्ड पार्षदों पर इस कार्रवाई के बाद लोग पुलिस की बहादुरी की तारीफ कर रहे हैं. लोगों को विश्वास ही नही हो रहा है कि पुलिस ने ऐसा काम किया है. भोजपुर SP ने बताया कि गुप्त सूत्रों से पुलिस को सूचना मिली कि एक वार्ड पार्षद के घर मे शराब की पार्टी होने वाली है.

Read more

साबित करो, तुम औरत हो कि नहीं!

PNC Exclusive ये खबर है भोजपुर जिले के आरा शहर से, जहां सदर अस्पताल के पास एक नवविवाहित महिला पटना नाउ के रिपोर्टर से रोते गिड़गिड़ाते बोली, “मेरा पति मुझे छोड़कर भाग गया”. सदर अस्पताल के पास रोती बिलखती इस नवविवाहित लड़की के साथ उसके परिजन भी थे. आपको जानकार हैरानी होगी कि पति ने उससे औरत होने का प्रमाण मांगा है. लड़की ने बताया कि 4 दिन साथ रहने के बाद उसका पति उसके सारे गहने और रुपए तक छीन ले गया. दहेज में ₹5 लाख भी दिए गए हैं. इस पीड़ित लड़की के साथ उसके परिजन भी थे जिन्होंने कहा है कि अब हम क्या करें. जानकारी के मुताबिक महिला थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. देखिए ये वीडियो बताइये नीतीश जी कहाँ हैं आपके नियम कानून… पति ने यह कह कर छोड़ दिया कि तुम औरत नहीं हो. भोजपुर जिले के पैगा गांव की इस महिला की चार दिन पहले हुई थी शादी. दहेज में पांच लाख रुपये समेत गाड़ी Tv भी लिया. 8 मई को तिलक और 14 मई को हुई थी शादी. आशुतोष

Read more