क्या आपने देखा है जल मंदिर महोत्सव ?

त्रिदिवसीय भगवान महावीर स्वामी जल मन्दिर महोत्सव आज से शुरू आरा. 23 अगस्त. जल मंदिर का नाम सुनते ही उसकी सुंदरता की कल्पना दिमाग में घूमने लगती है और लगता है कि एक बार ऐसे रमणीय जगह पर घूमने जरूर जायें. लेकिन ऐसे मंदिरों पर जब महोत्सव हो तो इसकी खूबसूरती की कल्पना और लाज़मी हो जाती है. क्या आपने कभी ऐसे महोत्सव को देखा है? अगर नही तो इस बार जरूर देखिये भोजपुर जिला मुख्यालय में स्थित जल मंदिर महोत्सव को जिसमे भगवान महावीर कि मुर्ति स्थापित है. श्री 1008 दिगम्बर जैन पंचायती मंदिर के अधीनस्थ श्री 1008 भगवान महावीर स्वामी जल मंदिर जीणोद्धार महोत्सव त्रिदिवसीय कार्यक्रम बहुत ही उत्साह के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ. शुक्रवार की सुबह देव, शास्त्र, गुरु की आज्ञा प्राप्त कर, ध्वजारोहण का कार्यक्रम पं० नरेश कुमार जैन ‘शास्त्री’ हस्तिनापुर के मंत्रोच्चारण बीच शशि-शैलेन्द्र कुमार जैन व नम्रता-शशांक जैन के परिवार द्वारा किया गया. ध्वजारोहण के पश्चात मण्डप शुद्धि सौधर्म इंद्र-इंद्राणी छवि-अंशु जैन, ईशान इंद्र-इंद्राणी सीमा-मनोज जैन, महेंद्र इंद्र-इंद्राणी शालिनी-सर्वेश जैन, यज्ञनायक इंद्र-इंद्राणी मंजुला-आदेश जैन के द्वारा बड़े ही श्रद्धा एवं भक्तिपूर्वक सम्पन्न किया गया. जिनेन्द्र देव का भव्य पंचामृत अभिषेक एवं वृहद शांतिधारा करने का सौभाग्य शील जैन, छवि जैन आरा एवं हेमलता जैन बैंगलोर निवासी को प्राप्त हुआ. आज के विधान में संगीतकार सन्तोष जैन एण्ड पार्टी भरतपुर के संगीतमय धुन के बीच विशेष मंत्रोच्चार के साथ भावपूर्वक अर्ध्य इंद्र-इंद्राणियों के द्वारा विधान मंडल पर चढ़ाये गये. विधान के पश्चात साधर्मी वात्सल्य (भोजन) की व्यवस्था राजेश्वरी जैन जी के परिवार द्वारा किया

Read more

कैंडल मार्च निकाल शहीद को दिया सम्मान

शहीद मिथलेश की प्रतिमा लगाने की माँग  साथ ही दोषियों को सजा की मांग भी उठी आरा.  छपरा में 2 दिनों पहले हुए शहीद मिथिलेश के सम्मान में भोजपुर  में  कैंडल मार्च निकाला गया.  शहीद  भोजपुर जिले  के रहने वाले थे.  यह कैंडल मार्च गुरुवार को शाम में आरा शहर  में मझौवा से निकाला गया जो न्यू पुलिस लाइन पकड़ी होते हुए पूरे शहर में निकाला गया. कैंडल मार्च में मिथिलेश अमर रहे के नारे  से पूरा शहर गूंज उठा. इस दौरान जाप युवा के नेता रघुपति यादव ने कहा कि हमें गर्व है कि ऐसे सपूत ने भोजपुर की धरती पर जन्म लिया था.लेकिन गम है कि गद्दारों ने पीछे से धोखे से वार कर मार दिया. जनता उनकी ईमानदारी को कभी नहीं भूलेगी. उनकी बहादुरी की मिसाल हमेशा कायम रहेगी. मिथिलेश को हम लोगों ने खो दिया है. जिसकी भरपाई कभी नहीं हो सकती है. बताते चलें कि 2 दिनों पहले छपरा में अपराधियों से मुठभेड़ में मिथलेश एवं उसके कॉन्स्टेबल फारुख को गोली लग गई थी. दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी.अध्यक्षता अमित कुमार ने, संचालन जाप युवा जिला अध्यक्ष रघुपित यादव ने की.शहीद मिथलेश कुमार के भाई धर्मेन्द्र कुमार गप्पू का कहना है कि दोषियों को जल्द से जल्द पकड़ कर कानून द्वारा कड़ी से कड़ी सजा दिया जाए. वही जाप युवा जिलाध्यक्ष रघुपति यादव ने  सरकार व जिला प्रशासन से जांबाज शहीद मिथलेश कुमार शाह की छपरा और आरा सांस्कृतिक भवन के पास प्रतिमा बनाई बनाने की मांग की. कैंडल मार्च में

Read more

अपराधियों और पुलिस के मुठभेड़ में SI और सिपाही की मौत

शहीद SI भोजपुर जिले के पिरौटा पंचायत निवासी शहीद का शव पहुंचते ही गांव में पसरा मातम आरा. पुलिस और अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक SI एवं एक सिपाही की मौत हो गई. SI भोजपुर जिले के रहने वाले थे. यह मुठभेड़ छपरा के मढौरा मुख्य बाजार पर स्टेट बैंक के समीप हुई जिसमें SI मिथिलेश कुमार और सिपाही फारुख की मौत हो गई. घटना में शहीद मिथलेश साह 2009 बैच के थे. पुलिस के अनुसार जेल में बंद अपराधी के इशारे पर इस घटना को अंजाम दिया गया. फिलहाल इस मामले में तमाम वरीय अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस टीम कही से छापेमारी कर अपने गाड़ी बलेरो से लौट रहे थी, तभी मढौरा मुख्य बाजार में अपराधियों ने उनकी गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. इस दौरान गाड़ी में ही 2 लोगो की मौत हो गई,तीसरा अस्पताल पहुचाया गया. मिथलेश शाह भोजपुर जिले के पिरौटा पंचायत के नागोपुर गाँव के निवासी थे. इनके पिता दशरथ शाह रेलवे में सब इंस्पेक्टर थे जो रिटायर्ड हो चुके हैं. मिथलेश की शादी लगभग 3 साल पहले हुई थी. अपराधियो से मुठभेड़ में शहीद मिथलेश का जब शव गाँव पहुचा तो पूरे गाँव के आसपास के वातावरण में गम का माहौल छा गया. पिरौटा गाँव के सर्वोदय + 2 विद्यालय पिरौटा के सभी टीचर्स व सभी बच्चे शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए सड़क पर ही घण्टों खड़े हो इंतजार करते रहे. इस विद्यालय से जुड़े सभी लोग आखिरी झलक पाने और शोक व्यक्त शहीद

Read more

कृष्ण और राधा बन बच्चों ने मन मोहा

आरा,22 अगस्त. आरा में कृष्ण जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर आरा के विभिन्न स्कूलों में छोटे बच्चों द्वारा कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव का आयोजन किया गया जिसमें RVS स्कूल के छात्र छात्राओं ने मनमोहक ढंग से श्री कृष्ण और राधा का अभिनय प्रस्तुत किया. RVS स्कूल के यूकेजी के छात्र मारुति गौतम ने नटखट बाल कृष्ण का रूप धारण किया,वही दशम के छात्र शिव कुमार सिंह ने मधुर स्वर में बांसुरी वादन एवं वर्ग प्रथम की छात्रा वर्तिका में आकर्षक नृत्य प्रस्तुति कर सबका मन मोह लिया. कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय के निर्देशिका डॉ कांति सिंह, शिक्षक विक्रमा दिव्य सिंह,निखिल कुमार सिन्हा, शिक्षिका सुनीता कुमारी,चंचल एवं ज्योत्सना मोहन ने अहम योगदान रहा. पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट

Read more

अपराधियों पर कोर्ट की सख्ती, 1 को फांसी और 7 को उम्रकैद

जस्टिस : कोर्ट बम ब्लास्ट आरा फांसी, उम्रकैद के साथा किया फाइन भी आरा,21 अगस्त. आरा सिविल कोर्ट के अंदर बम ब्लास्ट मामले में साढ़े 4 साल बाद सिविल कोर्ट ने 8 दोषियों के खिलाफ सजा के बिंदु पर सुनवाई करते हुए बड़ी सजा का ऐलान किया. कोर्ट बम ब्लास्ट के मास्टर माइंड लंबू शर्मा को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है,जबकि इस कांड में संलिप्त कुख्यात चांद मियां नईम मियां प्रमोद सिंह समेत 7 दोषियों को आजीवन कारावास व अलग-अलग सेक्शन में आर्थिक दंड की भी सजा मुकर्रर की है. सजा का ऐलान आरा सिविल कोर्ट एडीजे-3 त्रिभुवन यादव की कोर्ट ने सुनाया है. इस दौरान फैसला सुनने के लिए सिविल कोर्ट कैंपस के अंदर लोगों की भारी भीड़ जुटी हुई थी, जिसको लेकर भोजपुर पुलिस प्रशासन ने कोर्ट कैंपस में सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया था. कोर्ट बम ब्लास्ट कांड के सभी 8 दोषियों की सजा के बाद अपर लोक अभियोजक प्रशांत रंजन ने बताया कि 23 जनवरी 2015 को आरा सिविल कोर्ट के अंदर बम ब्लास्ट मामले में कुल 8 दोषी करार दिए गए थे, जिन पर मंगलवार को एडीजे-3 त्रिभुवन यादव की कोर्ट ने सजा के बिंदु पर आज अपना फैसला सुनाया है. कोर्ट ने कोर्ट में हुए बम ब्लास्ट का मुख्य दोषी लंबू शर्मा को माना है जिसको फांसी की सजा सुनाई गई है. जबकि कुख्यात चांद मियां नईम मियां प्रमोद सिंह समेत 7 दोषियों को आजीवन कारावास व आर्थिक दंड की सजा सुनाई गई है. इस कांड में कुल 11 लोगों को आरोपी

Read more

“नंदिता” ने पाया BHU की प्रवेश परीक्षा में दसवां स्थान

आरा, 20अगस्त. प्रतिभा किसी उम्र का मोहताज नही होती और ना ही वह किसी बन्धन में बंध सकती है…. तभी तो दिनकर जी ने भी लिखा है – ” जलद-पटल में छुपा किंतु रवि कबतक रह सकता है, युग की अवहेलना शूरमा कबतक सह सकता है.” मतलब साफ़ है कि प्रतिभा का परिचय बीज के प्रस्फुटन से ही हो जाता है. ऐसे ही युवा शास्त्रीय गायिका नंदिता के रुप में एक प्रतिभा का प्रस्फुटन भोजपुर जिले में हुआ है. जिसने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में डिप्लोमा के प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होकर जिले का नाम रौशन किया है. प्रवेश परीक्षा में हिन्दुस्तानी वोकल विषय में करीब 900 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया था, जिसमें जेनरल कैटेगरी में 30 सीटों के अलावा कुल 70 सीटें थी. उसमे नंदिता को 10वां स्थान हासिल हुआ. नन्ही सी उम्र में स्व. दीपमाला देवी व विशेश्वर तिवारी की पुत्री नंदिता ने संगीत की प्रारम्भिक शिक्षा अपने नाना पंडित राधेश्याम तिवारी से ली. अपने ननिहाल ब्रह्मपुर प्रखंड के भदवर से ही उसने प्रारंभिक शिक्षा हासिल की. नन्दिता फिलहाल शहर के महाराणा प्रताप नगर में रहती हैं. प्रयाग संगीत समिति से जूनियर डिप्लोमा कर चुकी नंदिता ने संगीत की बारीकियों को शास्त्रीय संगीत की विदुषी बिमला देवी से सीखा. नंदिता की प्रतिभा को कथक गुरु बक्शी विकास ने निखारने के साथ-साथ शास्त्रीय संगीत के प्रतिष्ठित आयोजनों में उसका प्रदर्शन भी करवाया. नंदिता अबतक जिला युवा उत्सव, दशहरा उत्सव, श्रीकृष्ण जन्मोत्सव संगीत समारोह समेत कई आयोजनों में सफल प्रदर्शन कर चुकी है,जहां इन्हे शास्त्रीय गायन में प्रथम पुरस्कार के साथ-साथ

Read more

अपराध के खिलाफ छात्र संगठन हुए एकजुट, शिक्षण संस्थानों को बंद करने का किया एलान

‘दुलदुल’ पर हमले के बाद सभी छात्र संगठन हुए एकजुट,भोजपुर SP से भी की मुलाकात विरोध में सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का एलान आरा, 19 अगस्त.रविवार को दिनदहाड़े डीएम कोठी के नजदीक NSUI जिलाध्यक्ष मनीष सिंह उर्फ दुलदुल सिंह पर हुए कातिलाना हमले के 24 घण्टे बाद भी अपराधियो के नही पकड़े जाने पर सभी छात्र संगठन अटैकिंग मोड में आ गए हैं. सभी छात्र संगठनों ने इस मुद्दे को ले बैठ की और आज सर्वदलीय प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित किया. इस बैठक की अध्यक्षता NSUI के प्रदेश अध्यक्ष चुन्नू सिंह ने की. उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द से जल्द दोषियों को पुलिस गिरफ्तार कर सजा नहीं देती है तो संगठन पूरे प्रदेश स्तर पर आंदोलन करने को बाध्य होगी. वहीं संचालन करते हुए युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव ने कहा कि शहर के पॉश और VIP इलाके में दिनदहाड़े दर्जनभर गोलियों का चलना यह संकेत है कि प्रशासन के नाक के नीचे यह सबकुछ चल रहा है. बता दें कि घटना वाले जगह पर जिला पदाधिकारी, सीजीएम तथा मुख्य दंडाधिकारी जैसे लोगों का आवास है. उन्होंने कहा कि अपराधियों ने शहर की विधि व्यवस्था को खुली चुनौती दे पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी है. उन्होंने कहाँ की इस घटना से साबित होता है कि शहर में कोई भी सुरक्षित नहीं है. वही आम आदमी पार्टी की छात्र इकाई CYSS के नेता के एम ठाकुर ने कहा कि निरंतर सुशासन बाबू के सरकार में अपराधियों का मनोबल बढ़ता

Read more

नहीं रहे बिहार के पूर्व CM जगन्नाथ मिश्रा | मुख्यमंत्री ने जताया शोक

पटना, 19 अगस्त. लंबे समय से बीमार चल रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का आज दिल्ली में निधन हो गया. वे 82 वर्ष के थे. वे बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रहे. अपने राजनीतिक जीवन मे पहली बार 1975 में मुख्यमंत्री बने और अप्रैल 1977 तक रहे. उसके बाद 1980 में उन्होंने तीन साल के लिए मुख्यमंत्री पद की कमान संभाली. फिर 1989 में तीन महीने के लिए सीएम रहे. उनपर चारा घोटाले का भी दाग रहा जिसकी वजह से कई महीने उन्हें जेल में बितानी पड़ी. जगन्नाथ मिश्रा लंबे समय तक कांग्रेस में रहे. भाई एलएन मिश्रा की हत्या के बाद 80 के दशक में वह राजनीति के केंद्र में आए थे. उनका पुत्र नीतीश मिश्रा अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताया शोकडॉ मिश्रा के निधन पर नीतीश कुमार ने गहरा शोक व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री ने अपने शोक-संदेश में कहा है कि डाॅ जगन्नाथ मिश्रा एक प्रख्यात राजनेता एव शिक्षाविद् थे. बिहार के साथ-साथ देश की राजनीति में उनका बहुमूल्य योगदान रहा है. उनके निधन से न केवल बिहार बल्कि पूरे देश की राजनीतिक, सामाजिक एव शिक्षा के क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है. मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर-शान्ति तथा उनके परिजनों एव प्रशंसकों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है. डाॅ जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की गयी है. उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ

Read more

NSUI जिलाध्यक्ष गोलीकांड में नया खुलासा… पहले से थी जानकारी

दुलदुल को पहले से ही थी किसी अनहोनी का शक अपनी सुरक्षा के लिए पहले से किया था NSUI जिलाध्यक्ष ने पुलिस को आगाह, पर नही रुकी वारदात Patna now Exclusive आरा,18 अगस्त. भोजपुर में अपराधी बेलगाम हो गए हैं. निडर ऐसे जैसे ये जैसे जांबाज जवान हो. इन अपराधियों का कहर ऐसा बढ़ गया है जिसे जहाँ और जब मन करता है गोलियां बरसा चल देते हैं. पिछले कुछ दिनों में भोजपुर जिले में फिर से अपराधियों की हनक बढ़ी है. आज सुबह तड़के डीएम कोठी के समीप अपराधियों ने NSUI जिलाध्यक्ष समेत दो को गोली मार दी और फरार हो गए. डीएम कोठी जैसे VIP एरिया में अपराधियों का गोली मारकर भाग जाना पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान है. जब इतने VIP एरिया में ऐसी घटना पर लगाम नही लग सकता तो शहरवासियों की सुरक्षा क्या भोजपुर पुलिस कर सकती है? घटना के बारे मिली सूचना के अनुसार अपराधी बाइक पर सवार थे जिनकी संख्या तीन थी. अपराधियों ने बिना कुछ कहे सुने NSUI जिलाध्यक्ष मनीष सिंह उर्फ दुलदुल सिंह और उनके साथ उस वक्त गाड़ी पर सवार उनके मित्र अप्पू सिंह पर दनादन गोलियां बरसा दी और चलते बने. अपराधियों द्वारा दागी गयी गोलियों में दुलदुल सिंह को 3 गोली और अप्पू को 4 गोलियां लगी. गोली लगने के बावजूद दुलदुल सिंह ने बहादुरी दिखाई और घटना स्थल से दोनों बाइक पर सवार डॉक्टर के पास आये. उनका इलाज डॉ विकास सिंह के क्लीनिक में हुआ जहाँ दोनों की हालत क्रिटिकल थी लेकिन डॉ विकास ने

Read more

स्वतंत्रता दिवस पर हुआ झूलनोत्सव कार्यक्रम का समापन

आरा,16 अगस्त. सावन में शुरू हुए 3 अगस्त से प्रारंभ 13 दिवसीय झूलनोत्सव का स्वतंत्रता दिवस की संध्या के साथ ही समापन हो गया. 13 दिनों तक धूमधाम का का माहौल रहा जिसमे आसपास के गांवों के लोग भी सांस्कृतिक माहौल में झूमते रहे. 13 दिनों तक चने वाले इस आयोजन में प्रतिदिन रात्रि को आठ बजे से 12 बजे तक भगवान को झूला झुलाया गया. इस दरम्यान देश के अलग अलग राज्यों एवम जिलों से आये कलाकारों द्वारा धार्मिक गायन प्रस्तुत कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया.. सबसे पहले मशहूर गायक व नायक हरीओम ने गाया..हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ… दिल दिया है जान भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए..गाकर लोगो को झूमने पर मजबूर कर दिया, लोगो ने खूब सराहा. उसके बाद देवकुमार सिंह.. जितना दिया करतार ने मुझको उतनी मेरी औकात नहीं.. कन्हैया पाठक ने फाटल रहे धोतिया ए बभनु फाटल रहे बेवाय ,प्रभारक ने श्रीराम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में.. श्याम सिंह ने.. मैं हवा हूँ कहाँ वतन मेरा..गाकर लोगो को मंत्रमुग्ध कर दिया. इसके अलावा भारत में ख्याति प्राप्त तबला वादक देवेश दुबे, पवन बैंजो, रतन शर्मा ,अमित उपाध्याय, बिकाश पांडेय , प्रशांत चौबे,झकड़ तिवारी.. व अन्य ने भाग लिया. इस सांस्कृतिक कार्यक्रम का संकलन मशहूर नाल वादक वीरेंद्र पाठक द्वारा किया गया, इस13 दिवसीय झूलनोत्सव कार्यक्रम के आयोजन करने में रामनाथ ओझा का महत्वपूर्ण योगदान रहा. आयोजन में समस्त ग्रामीणों की भी सराहनीय भूमिका रही.

Read more