ढाई महीने बाद खुल रहे हैं मंदिर के द्वार, अरण्य देवी मंदिर में कुछ ऐसी होगी व्यवस्था

8 जून से धार्मिक स्थल, होटल और शॉपिंग मॉल खुलेंगे केन्द्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार, सोमवार आठ जून से सभी धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट और शॉपिंग मॉल खुल जाएंगे. आरा स्थित माँ आरण्य देवी मंदिर के महंत मनोज बाबा ने बताया किदेवी का दरबार आठ जून से सभी भक्तों के लिए खोलने का निर्णय हो गया है. आम व खास सभी भक्तों को कुछ दिशा निर्देश का पालन करना होगा.जैसे-भक्त के मंदिर प्रवेश के समय मास्क पहनना अनिवार्य होगा.मन्दिर परिसर में सेनेटाइजर से अपने आप को सेनेटाइज करना होगा.घण्टी बजाना और आरती दिखाना वर्जित रहेगा.सभी भक्त सिर्फ दर्शन और प्रसाद चढ़ा पाएंगे.मन्दिर परिसर में सुरक्षा घेरा बना दिया गया है, जिसमे बारी बारी से भक्त माँ का दर्शन करते हुवे प्रसाद चढ़ाते हुवे भैरव जी के रास्ते बाहर निकल जाएंगे. ऐसे तो हमारे शास्त्र में मूर्ति स्पर्श वर्जित है लेकिन इस महामारी को ध्यान में रखते हुवे जब तक इस महामारी से छुटकारा नहींं मिल जाता किसी भी मूर्ति को स्पर्श करना वर्जित रहेगा.राज्य सरकार एवं स्थानीय प्रशासन के सहयोग से भक्तों के दर्शन की व्यवस्था की गई है.मन्दिर महन्त – मनोज बाबा, संजय बाबा OP Pandey

Read more

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ घरों में हुई वट सावित्री पूजा

अखंड सौभाग्‍य की कामना के साथ विवाहित महिलाओं ने की वट सावित्री पूजा विभिन्न परंपराओं विविधताओं जाति धर्मों के रस्मो रिवाज वाले देश मे एक तरफ रहमतों बरकतों वाली माह रमजानुल मुबारक का अलविदा जुमा नमाज की तैयारी हो रही है ,इस बार लॉक डाउन में लोग घरों में ही नमाज अदा करेंगे वहीं ज्येष्ठ अमावस्या के दिन सुहागिन महिलाएं अपने सुहाग की लंबी उम्र के लिए व्रत रखकर वट सावित्री पूजा कर सदैव सुहागन का वरदान मांग रही हैं. पटना में लॉक डाउन में कई इलाके में सुहागन महिलाएं समूह में बरगद के पेड़ के पास जाकर पूजा नही कर पाई तो घरों में ही वट वृक्ष की डाल और पत्तोंं को प्रतीक मानकर पूजा की. मान्यता है कि वट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु व डालियों व पत्तियों में भगवान शिव का निवास स्थान होता है. व्रत रखने वालों को मां सावित्री और सत्यवान की इस पवित्र कथा को सुनना जरूरी माना गया है. वट सावित्री पूजा के मौके पर सोमवार को सुहागिन महिलाओं ने अपने पति की दीर्घायु होने की कामना के साथ पूरी निष्ठा के साथ वट सावित्री पूजा कर अखंड सौभाग्‍य की कामना की. सुबह से ही नवविवाहिता सहित महिलाएं नए-नए परिधानों में सजधज कर बांस की डलिया में मौसमी फल, पकवान प्रसाद के रुप में लेकर वट वृक्ष के पास पहुंचीं. वहीं घरों में भी व्रत का अनुष्‍ठान विधि विधान से पूरा किया गया. दुलहन की तरह सजी धजी महिलाओं ने प्रसाद चढ़ा कर वट वृक्ष की पूजा की, वट

Read more

सिविल कोर्ट कर्मियों के 46 दिनों के जज्बे को सलाम!

रियल लाइफ के नायक हैं ये सरकारी कर्मीगरीबों और जरूरतमन्दों को मुफ्त बाँटा डेढ़ महीने तक भोजन आरा,17 मई. आमतौर पर कोर्ट का नाम सुनते ही लोगों में खुशी से ज्यादा मायूसी छा जाती है. क्योंकि तारीख की हाजरी में सुख चुकी अधिकांश आँखे न्याय नही पाती हैं. बस इंसाफ की आशा लिए कोर्ट का चक्कर काटती हैं. ये एक आम तस्वीर है जिसे जनता मसहूस करती है लेकिन वैश्विक महामारी के दौरान आरा के सिविल कोर्ट कर्मियों ने मिलकर ऐसा काम किया जिसने न सिर्फ लोगों की अवधारणा बदल दी बल्कि वे लोगों के लिए रियल लाइफ के नायक बन गए. एक रिपोर्ट :- इंसान का बेसिक जरूरत है भोजन और वैश्विक महामारी चीनी वायरस कोरोना ने लोगों के भोजन पर ही आफत ला दिया. सबसे ज्यादा प्रभावित मेहनतकशों का वर्ग हुआ जो दिहाड़ी मजदूरी से दो वक्त का भोजन जुटाता था. लॉक डाउन के बाद सुनी सड़को पर न तो कोई दुकान खुला था और न ही कोई छोटी-बड़ी औद्योगिक इकाईयां जहाँ मजदूर वर्ग काम कर अपने भोजन की जुगाड़ कर सके. जी हाँ, ऐसे कठिन और मुश्किल दौर में सिविल कोर्ट कर्मियों के हाथ जो मदद के लिए उठे, परोपकार के लिए डेढ़ महीने तक निःस्वार्थ भाव से डटे रहे. लगभग 300 लोगों को रोज फ्री भोजन कराते रहे. इस बीच सोशल डिस्टेंस का पालन भी होता रहा ताकि किसी को महामारी का खतरा न रहे. सप्ताह में 3 दिन दुकानों के खुलने की घोषणा के बाद भी परोपकार का यह सिलसिला चलता रहा. जब बाजारों में

Read more

कोरोना काल में यहां हुई अनोखी शादी

बिना किसी तामझाम के कुछ यूं हुई शादी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए लागू लॉकडाउन के काल में हुई एक शादी सारण जिले में नजीर बन गयी. दूल्हे संग चार बाराती दुल्हन के घर पहुंचे. मंगलवार को हुई इस शादी में न बैंड बजा और न ही बराती आए. दुल्हा-दुल्हन ने लॉकडाउन के सभी नियमों का पालन करते हुए सात फेरे लेकर आजीवन साथ रहने का प्रण किया. सारण के कचहरी स्टेशन रोड निवासी उदय प्रकाश द्विवेदी और मंजू द्विवेदी की बेटी निधि की शादी सारण के ही हिमांशु दूबे के पुत्र शेखर के साथ तय हुई. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण पूरे देश लागू लॉकडाउन के कारण पहले से शादी के कार्यक्रम में फेरबदल कर दोनों पक्षों ने एक सप्ताह पहले सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत शादी करने का निर्णय लिया.लॉकडाउन का पालन करते हुए दूल्हा शेखर और उसके पिता हिमांशु दूबे तीन लोग के साथ बरात लेकर कचहरी स्टेशन रोड स्थित उदय प्रकाश द्विवेदी और मंजू द्विवेदी के घर पहुंचे. जहां बारातियों का स्वागत करने के बाद लड़की पक्ष के लोगो की तरफ से रिंकू पाण्डेय ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए वधू के पिता उदय प्रकाश द्विवेदी के साथ शादी की रस्‍में निभाईं. पुरोहित ने वैदिक मंत्रोच्चार और अग्नि को साक्षी मानते हुए वधु निधि और वर शेखर की शादी संपन्‍न कराई. पाणिग्रहण का रश्म श्वेता हीरेश के पुत्र और मंजू द्विवेदी के नाती आयुष ने निभाया तो लावा स्वाति रिंकू के पुत्र ओम् डूग्गू ने मिलाया.न भीड़, न हीं शोर,

Read more

मां के आंचल की छांव में सीखी सारी अदाकारी

मेरी प्यारी मां तू ही तो जन्नत है किसी ने बनाया कार्ड तो किसी ने लिख डाली कविता खबर पटना के फुलवारी शरीफ से जहां मदर्स डे को सेलिब्रेट करने के लिए किसी ने कविता लिख डाली तो किसी ने जन्नत कहा तो किसी ने बना डाला शानदार ग्रीटिंग्स कार्ड. प्रेमालोक मिशन स्कूल के बच्चों ने मदर्स डे सेलिब्रेट करने के लिए नन्हे हाथों से अपना हुनर दिखाया और मम्मा स्पेशल कार्ड बनाया. निदेशक प्रेमनाथ ने बताया की माँ का स्थान जगत में कोई नही ले सकता है. अपनी माँ को देने के लिये मर्मस्पर्शी ग्रीटिंग्स कार्ड बनाकर बच्चे बच्चियों ने विद्यालय के शैक्षणिक संस्कारों को दर्शाया है. अपनी अपनी माताओं को देने के लिए एक से बढ़कर एक कार्ड्स बनाएं हैैं. वहीं फुलवारी की वाल्मी कम्प्लेक्स में रहने वाली और आकाशवाणी में म्यूजिक की नवोदित कलाकार मोनिका ने अपनी माँ किरण देवी को दुनियां की सारी खुशियों से भरने वाली बताते हुए शानदार पंक्तियों से नवाजा है.ऐ मेरी मां! तू ही धरती पर जन्नत है. मां एक ऐसा खूबसूरत नाम है, जिसे सुनकर जन्नत की खुशियां भी फीकी पड़ जाए। मां एक ऐसी शक्ति है जिसकी बदौलत पत्थर को भी मोम बना देती है. मां आपकी आंचल में निकला बचपन, आपसे ही जुड़ी हर धड़कन मुझे याद है। कहने को तो मां सब कहते हैं पर मेरे लिए तो आप ही भगवान है. आज मैं अपनी मां के बदौलत ही म्यूजिक में आकाशवाणी, पटना एवं दूरदर्शन, पटना के नवोदित कलाकार बन पाई हूं.इस कोरोना वायरस महामारी से बचने के

Read more

सोशल डिस्टेंस बनाये रखकर रमजान में करें इबादत – मौलाना शिबली अल कासमी

रमजान में घरों में अदा करें तरावीह की नमाज फुलवारी शरीफ . बिहार झारखंड उड़ीसा के मुसलमानों की सबदे बड़ी एदारा इमारत शरिया के कार्यवाहक नाजिम मौलाना शिबली अल कासमी ने कहा है कि इस रमजानुल मुबारक महिना में सोशल डिस्टेंस बनाये रखकर तरावीह की नमाज अपने अपने घरो में ही अदा करेंगे. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते सरकार द्वारा लगाये गये लॉक डाउन का पालन करते हुए अल्लाह की इबादत करें. पाक महिना रमजान में पाकीजगी का बड़ा महत्त्व है. यह महिना दुआओं की स्वीकृति का है, इस महीने में ज़्यादा से ज़्यादा दुआ करें, अल्लाह तआला से सभी मानवता के लिए हर भलाई कि दुआ करें और हर बुराई से बचने की दुआ करें. साथ ही इस महामारी के खात्मे के लिए भी दुआ करें. लोगो को कोरोना बीमारी से बचने के लिए ही सरकार ने लॉक डाउन लगाया है. उन्होंने कहा कि रमज़ान मुबारक का पवित्र महीना मुसलमानों के लिए अल्लाह तआला के विशेष अनुग्रह आशीर्वाद और इबादात का महीना है. ईमान वाले इस महीने में रोज़ा, तरावीह, क़ूरआन की तिलावत, सदकात व दान, ज़िक्र व अज़्कार के इहतिमाम करने से लोग अपनी आखिरत सुधारते हैं. यदि घर में क़ुरआन के हाफ़िज़ नहीं है, तो सूरह तारावीह की पढ़ें, लेकिन रोज़ा, तरावीह एवं रमज़ान मुबारक कि दूसरी इबादत का ज़रूर इहतिमाम करें. उन्होंने कहा की रमजान का महीना पाक महीना है और अल्लाह से ज्यादा से ज्यादा दुआ करेंगे कि कोरोना महामारी से अपने देश के लोगों को बचाए. साथ ही कुरआन शरीफ की ज्यादा से

Read more

लॉकडाउन में घर में ही होगी रमजान की नमाज़

रमजान का महीना शनिवार से शुरू हो रहा है. कोरोना के कारण लागू लॉकडाउन का असर रमजान पर भी पडेगा. गृह मंत्रालय ने इसके लिए निर्देश जारी किए हैं. वक्फ बोर्ड ने भी लॉकडाउन के पालन और सामाजिक दूरी का पालन करने की अपील की है. लॉकडाउन के कारण इस बार रमजान में तराबी के लिए मस्जिदों में लंबी कतार नहीं होगी. बाजार में भी भीड़ नहीं होगी. दुआएं सामुहिक न हो कर अकेले ही मांगी जाएगीतराबी शाम के वक्त मस्जिदों में आयोजित किया जाता है. मस्जिदों में इमाम, मुअज्जिन, खादिम समेत चार लोग दूरी बनाकर पांचों वक्त की नमाज पढ़ सकेंगे. सरकार ने सामाजिक दूरी पालन करने का सख्त निर्देश दिया है. सरकार ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया है.प्रोफेसर ओबेदुल्लाह कहा कि कोरोना का संक्रमण बेहद खतरनाक है और इससे बचने के लिए सामाजिक दूरी का पालन करना होगा. उन्होंने रमजान की रातों में इधर उधर घूमने वाली तफरीह को बंद करने की अपील की है. प्रोफेसर ओबेदुल्लाह ने घर पर ही नमाज पढ़ने की अपील की है. सिवान से हीरेश

Read more

जो भारत में है वह और कहीं नहीं, प्रकृति की मदद से बढ़ाइए रोग प्रतिरोधक क्षमता

कोरोना वायरस से दुनिया त्राहिमाम है. कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कभी जिसके साम्राज्य का सूर्य अस्त नहीं होता था उस ब्रिटेन के राजकुमार को बर्मिंघम पैलेस में कैद होने पर मजबूर होना पड़ा है. विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका की स्थिति दयनीय है. मध्य काल में यूरोप पर शासन करने वाले आधुनिक इटली बर्बादी के मुहाने पर खड़ा है. ड्रैगन केनाम से जाना जाने वाला चीन कोरोना पर सफाई दे रहा है तो कभी विश्व के शक्ति की दूसरी धुरी रहे रूस के वॉर्डर सील हैं. कोरोना वायरस ने लोगों को घर में रहने को मजबूर कर दिया है. विश्व के विभिन्न देश भारत की तरफ निगाहें गडाए हुए हैं. औद्योगिक क्रांति और हावर्ड – कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के इकोनॉमिक्स आज धराशायी हो गए हैं. आज गांधी प्रासंगिक हो गए हैं, उनके हिंद स्वराज पर चर्चा होने लगी है. आयुर्वेद के नुक्से, पतंजलि के योग की ओर लोग लौटने लगे हैं.कोरोना वायरस के संक्रमण से निजात पाने के लिए कोई दवा अभी तक नहीं बनी है. इसके संक्रमण से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का उपाय ही विकल्प है.भारत में पूजे जाने वाले पीपल, नीम तुलसी की अहमियत का पता विश्व को चल रहा है. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भारत में सदियों से इस्तेमाल होने वाले हल्दी, जीरा, दालचीनी की कीमत विश्व को पता चल रहा है. संक्रमण से बचाने वाले धनिया, सोंठ, कालीमिर्च के गुणों को भूलने वाले, इसका उपभोग कर रहे हैं. पुदीना, लौंग, गुड़ के फायदों को लोग मानने लगे हैं.

Read more

तो जानिए कैसे होता है “एक होना”

एक को जानो,एक को मानो,एक हो जाओ : निरंकारी मिशन कोइलवर, 16 मार्च. पिछले दिनों शनिवार को विशेष सत्संग के उपलक्ष में प्रखंड के बिरमपुर के मैदान का साफ-सफाई के साथ-साथ जिलास्तरीय निरंकारी संत समागम का आयोजन किया गया. सत्संग की अध्यक्षता भकुरा के इंचार्ज प्रोफेसर शिवकुमार राय व संचालन गड़हनी शाखा के महात्मा मुरली मनोहर जोशी ने की. निरंकारी संत समागम में पीरो, चरपोखरी ,गड़हनी जितौरा,भकुरा,आरा,ख़्वासपुर,महुरहि सहित आसपास के जिला से विभिन्न संत महात्माओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. वीरमपुर में निरंकारी मिशन का एक अलग ही पहचान है. वीरमपुर के साथ-साथ पूरे विश्व में भी निरंकारी मिशन विख्यात है. अध्यक्षता कर रहे शिवकुमार ने बताया कि संत निरंकारी मिशन आपसी भाईचारा एवं शांति का संदेश देता है. मिशन का उद्देश्य है कि प्रत्येक मानव का कद्र दिल से करें ताकि भक्ति में विश्वास बन जाए साथ ही परमात्मा को सतगुरु के द्वारा जाना जा सके. परोपकार ही पुण्य का रास्ता हैं. यह शरीर नश्वर है और इसे मिट्टी में ही मिल जाना है. कहा भी गया है कि बैठा पंडित पढ़े पुराण, बिन देखे का करे बखान, तू कहे कागज़ की लेखी, मैं कहू आँखन की देखी ‘ मतलब जो ये पढ़ने-लिखने का ही सिलसिला है,जो वो सिर्फ वही तक सीमित है,एक जिसने ये ज्ञान की नज़र नही प्राप्त करी, उसके लिये तो सिर्फ वह अक्षर सिर्फ अक्षर तक ही रह जाते है. पर जिस तरह की वे कह रहे है, तू कहे कागज़ की लेखी- कि कागज़ में जो लिखा है तू तो वही बता रहा है, मै

Read more

प्राण प्रतिष्ठा के लिए हुई जलभरी

गायत्री मन्दिर में प्राण प्रतिष्ठा हेतु जलभरी, सैकड़ो श्रद्धालुओं ने लिया हिस्सा कोइलवर/भोजपुर,01मार्च. भोजपुर जिला अंतर्गत कोइलवर नगर पंचायत स्थित वार्ड 3 के मिश्रटोला में नव निर्मित गायत्री मंदिर में प्राणप्रतिष्ठा को लेकर एक भव्य कलश यात्रा कर जलभरी किया गया. इस यात्रा में सैकड़ो लोग शामिल हुए. यह कलश यात्रा नगर के वार्ड 3 स्थित नवनिर्मित गायत्री मन्दिर से शुरू होकर कोइलवर के पुल स्थित बाबा दिनेश्वर नाथ धाम के पास सोन नदी के गौरैया घाट पहुंची. जहां कलश में पवित्र जल भरने के बाद सभी लोग वापस मंदिर स्थल पहुंचे जहा निर्धारित स्थानों पर कलश स्थापित किये जाने के बाद यह यात्रा संम्पन्न हुई. सोमवार को इस नवनिर्मित गायत्री मंदिर में आचार्य धर्मेन्द्र जी व अमूल्य जी द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गायत्री मन्दिर में मां गायत्री का प्राणप्रतिष्ठा की जाएगी. इस यात्रा में मुख्य रूप से वार्ड पार्षद प्रभात कुमार सिंह, यादवेंद्र उर्फ विरमन्यु, राज कुमार, शिव कुमार सिंह के अलावा डॉ बिजेन्द्र प्रसाद गुप्ता, हिमांशु पाठक, राजदीप सिंह, पंकज सिंह, बिनोद कुमार सिन्हा, नीरज कुमार सहित कई लोग शामिल थे. पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट

Read more