12 सूर्य मंदिरों में से 11 मंदिर मिल गए, लेकिन एक मंदिर अब भी अज्ञात

जितेन्द्र कुमार सिन्हा, पटना, 11 नवम्बर ।। तमाम पाखंडों से दूर, प्रकृति से जुड़ने, सूर्य के साथ जीने, की हठ को ही छठ व्रत कहते है. यह व्रत लोगो को यह बताता है कि जो अस्त होता है उसका उदय भी होता है. इसलिए छठ पर्व में सबसे पहले अस्तगामी सूर्य को उसके बाद उदयगामी सूर्य को अर्ध (अरग) दिया जाता है. इसलिए तो कहा जाता है कि जो मरता है वो फिर से जन्म लेता है. छठ भी प्राकृतिक सिद्धांत का मूल है और भारतीय संस्कृति में इसी प्रकृति चक्र और जीवन चक्र को समझने का पर्व है. लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा सनातन सभ्यता के सबसे प्राचीन त्यौहारों में से एक है. इस पर्व का उल्लेख ऋग्वेद में भी है. लेकिन अब यह पर्व समय के साथ क्षेत्र विशेष में सिमट गया है. ऐसे भी देखा जाय तो कार्तिक महीना प्रकृति में वनस्पति, औषधि, कृषि और उसके उत्पाद के ज्ञान की धारा है. पटना के हर गली, मोहल्ला में स्वच्छता से यह महापर्व बहुत धूमधाम से मनाया गया. आस्था के महापर्व श्रद्धा-भाव से ओत-प्रोत, सद्भावना और सहभागिता, निराजली का कठिन पर्व है, जिसमें कोई पंडित-पुजारी नहीं होता है, देवता प्रत्यक्ष रूप से दिखते रहते है, अस्ताचल सूर्य को भी पूजते है, पर्व करने वाले व्रती किसी भी जाति समुदाय से परे रहते है और सिर्फ लोकगीत गाये जाते हैं, पकवान बनाने से लेकर, घाट पर भी कोई ऊंच-नीच, अमीर-गरीब का कोई भेदभाव नही रहता है और सभी श्रद्धा से स्वंय सहयोग करते हैं एवं परसादी ग्रहण करते

Read more

छठ अर्घ @फुलवारीशरीफ

फुलवारी में अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ देकर श्रद्धालुओं ने की सुख समृद्धि की कामना फुलवारी शरीफ, अजीत ।। फुलवारी शरीफ और संपतचक प्रखंड के विभिन्न इलाकों में आस्था के लोकपर्व छठ के तीसरे दिन विभिन्न नदी, तालाबों, नहरों पर बने घाटों पर जाकर तथा घर की छतों और आवासीय प्रांगण में बनाए गए कुंड में लाखों की संख्या में अस्ताचलगामी सूर्य को अर्ध देने सैलाब उमड़ पड़ा. फूलवारी शरीफ शहर के प्रखंड शिव मंदिर तालाब बहादुरपुर घाट करौल चक गणेश सिंह का तालाब गोनपुरा शिव मंदिर तालाब पुनपुन नदी घाट सकरैचा धराए चक , अनीसाबाद मानिकचंद तालाब ,जगदेव पथ फुलवारी रोड बीएमपी तालाब खगौल लख सोन नहर घाट , सिपारा ,बेउर, परसा बाजार इतवारपुर कुरथौल , जानीपुर, राजघाट नवादा पुनपुन नदी घाट ,गौरीचक पुनपुन नदी घाट,संपतचक भोगीपुर राम कृष्णा नगर रॉकी मुखिया का तालाब जगनपुरा ब्रह्मपुर तालाब समेत आसपास के तमाम शहरी व ग्रामीण इलाकों में श्रद्धालुओं ने बुधवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ देकर परिवार व समाज की खुशहाली और सुख समृद्धि की कामना की. इस दौरान नदी तालाब पोखर पर और तालाबों पर अर्ध देने श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा. वही अनेक जगहों पर लोगों ने अपने अपने घरों की छतों पर कृत्रिम तालाब बना कर भगवान भास्कर को अर्घ दिया. प्रधान शिव मंदिर तालाब फुलवारी शरीफ के पास नगर परिषद फुलवारी की तरफ से व्रतियों के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं. वहीं करोड़ी चक गणेश सिंह का निजी तालाब पर गणेश सिंह के परिवार की तरफ से और व्रतीयों के लिए हर तरह की सुविधाओं को

Read more

केदारनाथ में पीएम मोदी ने की पूजा अर्चना

21वीं शताब्दी का तीसरा दशक उत्तराखंड का दशक केदारनाथ में 400 करोड़ रुपये से अधिक के कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास ऋषिकेश और कर्णप्रयाग को रेल मार्ग से जोड़ा जा रहा है पीएम मोदी आज केदारनाथधाम में है. नरेन्द्र मोदी ने आज सुबह बाबा केदारनाथ धाम जाकर मंदिर में पूजा-अर्चना की. पूजा-अर्चना करने के बाद पीएम मोदी ने आदि शंकराचार्य की प्रतिमा का अनावरण भी किया। साथ ही पीएम मोदी ने आज बाबा केदारनाथ में 400 करोड़ रुपये से अधिक के कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया. केदार नाथ धाम में इस वक़्त प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूजा अर्चना को कैथल में कार्यक्रम को लाइव देखा जा रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 100 सालों में जितने यात्री यहां आए हैं, अगले 10 साल में उससे कई ज़्यादा लोग यहां आने वाले हैं. मेरे शब्द लिखकर रखिए 21वीं शताब्दी का तीसरा दशक उत्तराखंड का दशक है. चारों धाम हाईवे से जुड़ रहे हैं. भविष्य में श्रद्धालु केदारनाथ धाम में कार से आ सके इसकी प्रक्रिया भी शुरू हो गई है. ऋषिकेश और कर्णप्रयाग को रेल मार्ग से जोड़ा जा रहा है। इससे उत्तराखंड में पर्यटन को लाभ मिलने वाला है. भगवान राम से जुड़े जितने भी तीर्थ स्थान है उनको जोड़कर पूरा सर्किट बनाने का काम चल रहा है. उत्तर प्रदेश में काशी का भी कायाकल्प हो रहा है. विश्वनाथ धाम का कार्य भी तेजी से हो रहा है. अयोध्या में भगवान राम का मंदिर पूरे गौरव के साथ बन रहा है. अयोध्या को उसका गौरव सदियों के बाद वापस

Read more

दानापुर में दक्षिणेश्वरी मां काली बाड़ी मंदिर में भक्त जुटे

दानापुर पेठिया गली स्थित मां काली मंदिर में हुआ भंडारा भाजपा नेता सनोज यादव के साथ हजारों की संख्या में भक्तो ने प्रसाद ग्रहण किया दानापुर: दानापुर पेठिया बाजार स्थित बंगले के पास दक्षिणेश्वरी मां काली बाड़ी मंदिर के पुजारी शशांक मिश्रा एवं गोलू बाबा के नेतृत्व में आज मां काली मंदिर के परिसर में भव्य भंडारा का आयोजित किया गया था।बीजेपी नेता भाई सनोज यादव ने कहा कि माता काली के द्वारा पर आने वाले सभी भक्तजन खाली कभी नहीं जाते है जो यहां आने वाले सच्चे भक्त मन से मां काली से मुरादें मांगते है मां काली अपने भक्तगणों की मुरादें पूरी करती है। इसी वजह से देश के कोने कोने से भक्तों का मंदिर में आना जाना लगा रहता है और दानापुर में मां काली की आशिर्वाद लोगों को प्राप्त होती है।वहीं मंदिर परिसर में आयोजित भंडारा का प्रसाद ग्रहण करने आस पास से मां के भक्तगण हजारों हज़ारों की संख्या में पहुंचकर माता काली के दर्शन के बाद प्रसाद ग्रहण किया।इस अवसर पर पानापुर पंचायत के पूर्व पंचायत समिति सदस्य हरिद्वार राय, पूर्व जिला परिषद सदस्य ओमप्रकाश राय, सागर कुमार, रविशंकर प्रसाद मौजूद थे। गोलू बाबा के निमंत्रण पर मुख्य अतिथि के रूप में आज प्रदेश भाजपा नेता भाई सनोज यादव ने मंदिर परिसर में पहुंचकर माता काली की दर्शन के बाद पूजा अर्चना करने के बाद पुजारी बाबा से तिलक लगवाने के बाद चुड़ी देकर उन्होंने सम्मानित किए और देशवासियों एवं दानापुर के लिए ‌खुशहाली अमन और शांति के लिए दुआ मांगी।

Read more

15 दिनों की छुट्टी चाहिए तो ये काम करें

बिहार सरकार के कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए है योजना 15 दिनों के लिए दी जाएगी छुट्टी, वेतन भी नहीं कटेगा पटना: विधान सभा के शताब्दी वर्ष के मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बुद्ध स्‍मृति पार्क में विपश्यना केन्द्र में शामिल होने वाले इच्छुक अधिकारियों और कर्मचारियों को सरकार की तरफ से 15 दिन की छुट्टी दी जाएगी.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि मन की शान्ति बहुत जरुरी है इसके लिए बुद्ध स्‍मृति पार्क में विपश्यना केन्द्र में लोग जाएँ उन्हें लाभ ही होगा इसके लिए सरकार 15 दिनों का अवकाश राज्य सरकार देगी .

Read more

नम आंखों से मां दुर्गा को दी गई विदाई

कोइलवर/भोजपुर नवरात्र में अपने घर आई मां आदिशक्ति दुर्गा को शुक्रवार को नम आंखों से विदाई कर दी गई. भोजपुर के कोईलवर में दूर्गा पूजन अनूठा और अनुकरणीय होता है जहां वर्षों से हिन्दू और मुसलमान दोनो पूरे उत्साह से मां दुर्गा के पूजन का आयोजन करते हैं.यहां साम्प्रदायिक सौहार्द की गंगा ऐसी बहती है कि नौ दिन तक सभी भक्ति रस में पगे से मां की अराधना में लीन रहते हैं. देखिए, जब विदाई के वक्त रो पड़ीं मां दुर्गा… http://bit.ly/3BMrjo8 आज जब मां की विदाई हुई तो सबकी आंखे नम हो गई। अपनी समस्त बुराईयों से मुक्ति पाने की प्रार्थना और संकल्प के साथ मां से सुख, समृद्धि और एकता का आशिर्वाद मांगते हुये उन्हे सोन तट पर विदाई दे दी गई।आज जब देश में साम्प्रदायिक नफरत और भेद की आंधी चल रही है वहीं कोईलवर की जनता ने संदेश साफ दिया है। हमें कोई बांट नहीं सकता हम सबकी संस्कृतिक विरासत एक है और वह हम साझे में ही रखेंगे। आज इसी समझ की आवश्यकता है। कोइलवर/भोजपुर से आमोद देखिए, जब विदाई के वक्त रो पड़ीं मां दुर्गा… http://bit.ly/3BMrjo8

Read more

विश्व वैदिक धर्म संघ अयोध्या के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बने आचार्य डॉ राजनाथ झा

धर्मज्ञ ज्ञानी साधकों को संगठित करने का संकल्प विश्व वैदिक धर्म संघ अयोध्या द्वारा पटना के ज्योतिर्वेद विज्ञान संस्थान के निदेशक ज्योतिषी एवं शोधकर्ता धर्मशास्त्र ज्ञाता आचार्य डॉ राजनाथ झा को राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बनाया गया है. संघ की ओर से  राष्ट्रीय स्तर पर विद्वतजनों के द्वारा सनातन धर्म संस्कृति के हित साधन के लिए दायित्व मिला है.इसके लिए विश्ववैदिक धर्म संघ भारत के सभी पदाधिकारी जनों का आभार व्यक्त करते हुए राजनाथ झा ने कहा- वर्तमान में सनातन धर्म के सर्वकल्याणप्रद ज्ञान परम्परा से विश्व समुदाय को जोड़ने की जरूरत है. जिन लोगों में सनातन धर्म के प्रति भ्रांतियाँ है, उन्हें धर्म के वास्तविक स्वरूप के प्रति जागरूक करने की जरूरत है.उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि राष्ट्रस्तर पर विश्वसमुदाय के हित में सक्रिय चिंतनशील, साधक, ज्ञानी, गुणी जनों को संगठित करें और उनके ज्ञान का प्रकाश फैलाकर संघ द्वारा सुनिश्चित उद्देश्यों की पूर्ति सुनिश्चित करें. सत्य सनातन धर्म का सबसे प्रचीन उदघोष की अविरल धारा सम्पूर्ण देश मे प्रवाहित होती रहे, इसके लिए मैं अपने ज्ञान, बुद्धि और विवेक से समर्पित होकर अपनी भूमिका निभाउंगा. pncb

Read more

पैसे की तंगी है तो ये करें

आपको भी है पैसे की तंगी तोसिर्फ इतना करें और पैसे की कमी को पूरा करेंपटना; आभासी दुनिया में कई ऐसे एप्प हैं जो आपकी मदद करते है आप भी आसानी से कुछ एप्प का इस्तेमाल करते हुए आसानी से पैसे कमाएं।देश ही नहीं विदेश के लोग पैसे कमाने के लिए दिन रात मेहनत करते है शारीरिक श्रम ,बौद्धिक श्रम, सभी अपनी रोजमर्रा की जरुरतों को पूरा करने के लिए पैसा कमाने में लगे रहते हैं. इंटरनेट पर ऐसी अनेक वेबसाइट है जहां से आप घर बैठे पैसे कमा सकते है.इंटरनेट पर ऐसी अनेक वेबसाइट है जहां से आप घर बैठे पैसे कमा सकते है. मौजूदा वक्त में आज कल सबके हाथों में एक स्मार्टफोन है पर आपको मालूम नहीं होता है कि यह फ़ोन आपको हज़ारो रुपए कमाने में मदद कर सकता है. स्मार्टफोन में आप ऐसे बहुत से एप इनस्टॉल कर सकते है और और दैनिक जरूरतों को इन एप्प मदद से आप कुछ खर्च निकाल सकते हैं. आइए जानते है ऐसी ही कुछ एप के बारे में. SquadRunस्क्वाडरन एक ऐसा एप है जिससे आप अपनी ज़िन्दगी को थोड़ा रोमांच में बदल कर पैसे कमा सकते है। बना सकते है. इस एप में आपको रोज़ नए टास्क दिए जाएंगे जिसे पूरा करके आप पैसे कमा सकते है. आपके हर मिशन पूरा करने के बाद आपको नए टास्क दिए जाएंगे जो कि आपके इंटेलिजेंस पर आधारित होंगे. जैसे-जैसे आप कार्य पूरा करते रहेंगे आपको पॉइंट्स मिलते रहेंगे जिसे आप अपने Paytm में ट्रांसफर कर सकते हैं. पॉइंट्स जब 60

Read more

सृष्टि चक्र में छेड़छाड़ का परिणाम मानव उठा रहा है -के एन गोविंदाचार्य

प्रकृति केंद्रित विकास ही विकास का सही माॅडल है यूरोपीय देशों से ब्लैक कार्बन हवा के जरिए हिमालय में पहुंच रहा है। ऐसे में हिमालय में कार्बन की काली परत जमने के कारण ग्लेशियर के पिघलने की आशंका बढ़ गई है। किरणों की ऊर्जा को कार्बन द्वारा शोषित करने के कारण ग्लेशियरों की सेहत खराब हो रही है। जिस कारण ग्लेशियर में दरार पड़ने की आशंका बढ़ी हैविकासनगर: उत्तराखंड : – पहले गंगा उसके बाद नर्मदा और अब यमुना यात्रा पर निकले गोंविदाचार्य ने देहरादून में कहा प्रकृति केंद्रित विकास ही विकास का सही माॅडल है ।28 अगस्त से यमुना दर्शन यात्रा एवं प्रकृति केंद्रित विकास पर संवाद करते हुए केएन गोविंदाचार्य ने कहा कि कहा कि यूरोपीय देशों से ब्लैक कार्बन हवा के जरिए हिमालय में पहुंच रहा है। ऐसे में हिमालय में कार्बन की काली परत जमने के कारण ग्लेशियर के पिघलने की आशंका बढ़ गई है। उन्होंने मानव केंद्रित विकास की बजाए प्रकृति केंद्रित विकास की अवधारणा को आगे बढ़़ाने की वकालत की। उन्होंने कहा कि हम प्रकृति से छेड़छाड़ कर अपना ही समूल नष्ट करने पर तुले हैं। भारत की असली ताकत ही प्रकृति और पर्यावरण है। इनकी अनदेखी कर विकास किए जाने पर पर्यावरणीय चक्र असंतुलन और प्राकृतिक आपदाओं का प्रकोप बढ़ना स्वाभाविक है। आज के समय में प्रौद्योगिकी पर लोकपाल, लोकायुक्त जैसी नियंत्रणकारी व्यवस्था की ओर दुनिया को कदम बढ़ाना चाहिए। प्रकृति केंद्रित विकास की दिशा में कार्य करना वक्त की मांग है। प्रकृति केंद्रित विकास की अवधारणा पर संवाद यात्रा का सामाजिक आयाम

Read more

जेलों में बंद 60 फीसदी लोग बेकसूर -पूर्व डीजीपी

भगवान राम और कृष्ण को भी लोगों ने जातीय आधार पर बांट लिया मन ही दूषित हो गया है बिहार में आदमी देखकर देश का कानून काम करता है अब सिस्टम आम लोगों के लिए नहीं रह गया है बिहार में औरंगाबाद: बिहार के डीजीपी रहे कथावाचक गुप्तेश्वर पांडेय औरंगाबाद के देवकुंड मठ में कई सामाजिक-वैचारिक और पारिवारिक मुद्दों पर लोगों से बातें की । उन्होंने कहा कि सिस्टम आमलोगों के लिए अब नहीं रह गया है। आदमी देखकर देश का कानून काम करता है। जेलों में 60 फीसदी से अधिक निर्दोष लोग बंद हैं उनके मुकदमें आज भी चल रहे हैं। पूर्व डीजीपी ने कहा कि एक थानाक्षेत्र में 10 ईमानदार सामाजिक कार्यकर्ता पूरी हुकूमत को झुका सकता है। यह देश ना तो हिंदुओं का है और ना मुसलमानों समेत अन्य पंथों का। भारत की सनातन संस्कृति वसुधैव कुटुम्बकम की है। आश्चर्य है कि आज भगवान राम और कृष्ण को भी लोगों ने जातीय आधार पर बांट लिया है।अब कौन से देवता को कौन पूजेगा ये परम्परा जो शुरू हुई है उससे सामाजिक वैमनस्य पैदा हो रहा है और साथ ही लोगों में कटुता की भावना बढ़ गई है।उन्होंने कहा कि चेतना का स्तर लगातार गिरता जा रहा है। बीमार मन का इलाज अध्यात्म में ही संभव है। कोरोना काल में तड़प कर जो मौतें हो रही थी या जिस लेबल पर भ्रटाचार की जड़ें गहरी हो गई है उससे क्या लगता है कि किसका दोष है सारा दोष सिस्टम और सरकार का है। मन ही बीमार है तो

Read more