मकर संक्रांति पर बिहार झारखंड में नहीं होगी दही-दूध की कमी

फुलवारी शरीफ ।  मकर संक्रांति को लेकर बाजार में प्रचुर मात्रा में दही और दूध की व्यवस्था की गई है.बिहार स्टेट मिल्क को ऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड कम्फेड ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जानकारी दिया है कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार अधिक दही और दूध की उपलब्धता किया गया गया है । बिहार व झारखंड राज्य के बाजारों में 18287 सुधा के काउंटरों पर मकर संक्रांति को लेकर कम्फेड ने तगड़ा व्यवस्था किया है ।  राजधानी पटना में बोरिंग रोड चौराहा, राजवंशी नगर हनुमान मंदिर , जगदेव पथ बेली रोड , पीरबहोर थाना ,दिनकर गोलंबर और गायघाट समेत छह प्रमुख स्थानों पर विशेष काउंटरों से दही और दूध को उपलब्ध कराया जा रहा है । पटना में वर्ष 2018 में  कम्फेड ने  बिहार व झारखंड  में 6 लाख 49 हजार किलोग्राम दही व एक सौ चार लाख लीटर दूध की बिक्री किया था । इस बार उससे अधिक दूध व दही को बाजार में उपलब्ध कराया जाएगा । सुबह 6:00 बजे से रात के 9:00 बजे तक 6 उड़न दस्ता सभी काउंटरों की मॉनिटरिंग करेगी । इस बार 16 किलोग्राम के दही के जार 1440 रुपये , 5 किलोग्राम के जार 475 रुपये,2 किलोग्राम के जार 200 रुपये ,एक किलो के जार 105 रुपये,आधा किलोग्राम के पाउच 50 रुपये, 400 ग्राम के कप 45 रुपये 200 ग्राम के कप 25 रुपये 80 ग्राम प्लेन और मिस्टी दही के कप 10 रुपये में उपलब्ध रहेंगे।कम्फेड द्वारा टॉल फ्री नम्बर  18003456199 जारी किया गया है जिसपर सुबह 6 बजे से

Read more

महिला उद्यमिता का एक सुंदर उदाहरण है गौरैया क्रिएशन्स

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | बिहार में प्लास्टिक पॉलिथीन बन्द की घोषणा से प्रेरणा लेकर एक गृहिणी मोनिका प्रसाद ने पर्यावरण-संरक्षी यानि इको फ्रेंडली bags बनाने का उद्यम शुरू किया. गौरैया पक्षी भी आज खतरे में है जो भीषण पर्यावरण संकट का संकेत है. इस गौरैया को अपने प्रयास का प्रतीक चिह्न बनाकर उन्होंने अपने घर के खर्च से थोड़े थोड़े पैसे बचाकर यह उद्यम शुरू किया है. इसका इतना सुंदर response मिलेगा यह उन्होंने सोचा नहीं था. फिर जूट और सूती के तरह -तरह के झोलों का निर्माण शुरू हुआ. सिर्फ स्थानीय ही नहीं, बल्कि मुम्बई, दिल्ली और कोलकाता आदि शहरों से भी काफी डिमांड आयी. यहाँ तक कि कुछ ही महीनों में गौरैया इको फ्रेंडली बैग्स के खरीदार इजरायल और अमेरिका में भी हो गए हैं. मोनिका जी ने झोले सिलने का काम मोहल्ले और शहर की अन्य गृहिणियों को दिया जिससे उन्हें भी कुछ लाभ मिल सके. यह महिला उद्यमिता का एक सुंदर उदाहरण है कि एक एक गृहिणी भी घर की सारी जिम्मेवारी वहन करते हुए व्यवसायिक उद्यमिता के क्षेत्र में कदम रख सकती है. इससे पूरे समाज को कई तरह से लाभ मिलता है और जागरूकता फैलती है. मोनिका जी का दृढ़ निश्चय है कि प्लास्टिक के विरुद्ध इस जंग में पूरी ताकत लगानी जरूरी है क्योंकि यह मानव जाति के अस्तित्व पर खतरा है. स्वयं के बचत के पैसों से करने के कारण बढ़ते डिमांड को पूरा करने में उन्हें चुनौतियों का सामना भी करना पड़ रहा है. पर सुंदर आकर्षक डिजाइन और आवश्यकता के

Read more

डॉक्टर पूरी जवाबदेही, समर्पण और निष्ठा से कार्य करें – जिलाधिकारी, भोजपुर

आरा (सत्या की रिपोर्ट) | पीड़ित मानवता की सेवा ही सच्ची सेवा तथा पुण्य का कार्य है. इसलिए गरीब मरीजों के हित में सभी डॉक्टर पूरी जवाबदेही, समर्पण और निष्ठा से कार्य करें तथा स्वास्थ्य योजनाओं का जनहित में व्यापक प्रचार-प्रसार कर गरीब मरीजों को लाभान्वित करें – यह बातें जिलाधिकारी संजीव कुमार ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कोइलवर के औचक निरीक्षण के क्रम में कही. निरीक्षण के क्रम में रोस्टर के अनुसार डॉक्टर नीलम एवं डॉक्टर अंजू सिंहा अनुपस्थित पाई गई. उनसे कारण पृच्छा  करने का निर्देश दिया गया. जिलाधिकारी ने मरीजों से पूछताछ के क्रम में पाया कि मरीजों को अस्पताल की दवा नहीं दी जाती है तथा बाहर से दवा क्रय करना होता है. दवा वितरण कार्य में अनियमितता को देखते हुए जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को फोन कर डॉक्टरों की टीम के साथ कोइलवर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की जांच कर इस आशय का प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का निर्देश दिया. साथ ही कहा कि  स्टॉक में जो दवा नहीं रहता है उसकी आपूर्ति हेतु जिला स्वास्थ्य समिति को प्रति वेदित करें अथवा रोगी कल्याण समिति की राशि से क्रय  करना सुनिश्चित करें. यद्यपि सिविल सर्जन के नेतृत्व मे डाक्टरों की टीम ने स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया है. जिलाधिकारी ने डॉक्टरों का रोस्टर एवं मोबाइल नंबर फ्लेक्स के माध्यम से विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शित करने को कहा. जांच कक्ष के निरीक्षण में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाँ. उमेश कुमार द्वारा बतलाया  गया कि  हीमोग्लोबिन, एचआईवी, डायबिटीज एवं बलगम की जांच होती है. जिलाधिकारी ने ओपीडी मैं इलाज करानेवाले सभी मरीजों की

Read more

ललन सिंह के घर श्राद्धकर्म में शामिल हुये मुख्यमंत्री

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) |मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज नालंदा जिला के नगरनौसा प्रखण्ड, गोरायपुर पंचायत अन्तर्गत गिलानीचक गाॅव स्थित जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के आवास पर जाकर उनकी स्व0 माता कौशल्या देवी के श्राद्धकर्म में शामिल हुये. मुख्यमंत्री ने स्व0 कौशल्या देवी के चित्र पर श्रद्धा-सुमन अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी एवं अपनी संवेदना प्रकट की. मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर शोक संतप्त परिजनों को भी सांत्वना दी. इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, अध्यक्ष बिहार विधानसभा विजय कुमार चौधरी, बिहार राज्य योजना पर्षद के सदस्य संजय झा सहित बड़ी संख्या में अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे.

Read more

पुलिस मुख्यालय के नए भवन का उद्घाटन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | शुक्रवार 12 अक्टूबर को CM नीतीश कुमार ने जवाहर लाल नेहरु मार्ग, पटना स्थित नए पुलिस मुख्यालय का उद्घाटन किया. यह बिहार का प्रथम भूकंपरोधी तकनीक से निर्मित भवन है. इस नए भवन का नाम “सरदार पटेल भवन” रखा गया है. इस भवन के उद्घाटन के साथ ही पुराने सचिवालय में वर्ष 1917 से चल रहा पुलिस मुख्यालय बेली रोड के इस नए भवन में शिफ्ट हो गया. इस अवसर पर CM ने बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम द्वारा नवनिर्मित 26 थाना भवनों सहित कुल 109 पुलिस भवनों का उद्घाटन एवं 46 पुलिस भवनों का शिलान्यास भी रिमोट के द्वारा किया. बिहार पुलिस मुख्यालय का नया पता-ठिकाना कल यानि 12 अक्टूबर से  आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नए भवन में पुलिस मुख्यालय के साथ-साथ आपदा प्रबंधन का भी काम होगा. आकस्मिक परिस्थिति में चीजों को यहां से नियंत्रित किया जा सकेगा तथा कहा कि यह भवन बेस-आईसोलेशन तकनीक से निर्मित है जिसके कारण 8 रिक्टर पैमाने से ऊपर आए भूकंप की तीव्रता में भी यह भवन सुरक्षित रहेगा. भवन के सबसे ऊपर में हेलिपैड का निर्माण कराया गया है ताकि आकस्मिक परिस्थितियों में आपदा प्रबंधन के काम किए जा सकें. इस भवन के संबंध में लोगों के सामने एक प्रस्तुतीकरण भी दिया गया तथा इस भवन के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस मुख्यालय पुराना सचिवालय में रहा है, जहां काफी असुविधा हो रही थी. इस कारण सरकार ने निर्णय किया था कि पटना के इस मुख्य मार्ग

Read more

कतरनी चावल के उत्पादन के लिए प्रोत्साहन देगी सरकार

भागलपुर कतरनी चावल की विशिष्टता को  देखते हुए सरकार ने इसके और विकास करने का निर्णय लिया है. कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने कहा कि इस क्रम  में बिहार कृषि विश्वविद्यालय को राज्य सरकार द्वारा राशि उपलब्ध करा दी गई  है. इस राशि से कतरनी चावल के बीज के गुणवत्ता तथा उत्थान हेतु  अनुसंधान, कतरनी चावल का प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से किसानों के बीच  कतरनी धान के आधार बीज का मिनी किट वितरित किया जायेगा, जो कि कतरनी चावल के क्षेत्र विस्तार में सहायक होगा. कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को  इसके गुणवत्तापूर्ण बीज उत्पादन, प्रसंस्करण एवं इसके मार्केटिंग का  प्रशिक्षण दिया जायेगा. साथ ही, कतरनी चावल के प्रसंस्करण और मिलिंग से  संबंधित व्यावसायियों/ किसानों को राज्य से बाहर विशेष कर बासमती  उत्पादक समूहों तथा प्रसंस्करण इकाइयों का परिभ्रमण कराया जायेगा. File pic प्रेम कुमार ने कहा कि अभी हाल ही में बिहार के विशेष उत्पाद कतरनी धान, जर्दालु आम एवं  मगही पान को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिली है. राज्य के इन तीनों विशिष्ट  उत्पादों को बौद्धिक सम्पदा अधिकार के अंतर्गत भारतीय बौद्धिक सम्पदा के रूप  में पंजीकृत किया गया है तथा इसे भौगोलिक परिदर्शन में शामिल किया गया  है. यह राज्य के लिए बड़े गौरव की बात है. ऐसा राज्य के किसानों एवं  बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, भागलपुर के वैज्ञानिकों के अथक प्रयास से  संभव हो पाया है.

Read more

जानिये किन्हें मिला ‘बिहार पर्यावरण सुरक्षा सम्मान’

पटना. आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, पंत भवन, पटना में व्यासजी, उपाध्यक्ष, बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की अध्यक्षता में पर्यावरण सुरक्षा संगोष्ठी सह सम्मान समारोह का आयोजन किया गया. इसका आयोजन एसोसिएशन फॉर स्टडी एंड एक्शन (आसा) तथा बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के संयुक्त तत्वावधान में किया गया.  अजित कुमार समैयार के स्वागत संबोधन जे बाद “आसा” के सचिव डॉ. अनिल कुमार राय के द्वारा “आसा” के कार्यों का संक्षिप्त विवरण पेश किया गया. फिर ‘आसा – पर्यावरण सुरक्षा’ के राज्य संयोजक श्री विपिन कुमार के द्वारा प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया. विभिन्न जिलों से आए हुए ‘आसा – सुरक्षा’ के साथियों ने अपने कार्यों का विवरण प्रस्तुत किया. कार्यक्रम के दूसरे खंड में अजित कुमार सामैयार के द्वारा “पटना में वायु प्रदूषण, डॉ. जीवन कुमार के द्वारा “पारंपरिक जल निकायों का संरक्षण”, श्री अजित कुमार सामैयार के द्वारा “शहरी बाढ़ के कारण और निवारण”, डॉ. अविनाश मोहंती और मो. अजीम के द्वारा “प्लास्टिक के दुष्प्रभाव” और इस पर रोक, तथा डॉ. मेहता नगेन्द्र प्रसाद के द्वारा “घरेलू कचड़े का प्रबंधन” विषय पर प्रेजेंटेशन एवं व्याख्यान हुआ. कार्यक्रम के तीसरे चरण में ‘आसा – पर्यावरण सुरक्षा’ के 10 जमीनी योद्धाओं को शाल, मोमेंटो और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया. सम्मानित किए जाने वाले लोगों में बक्सर से विपिन कुमार एवं श्री विजय लाल आर्य, मधुबनी से रंजीत कुमार और डॉ. प्रमोद कुमार, अरवल से डॉ. गजेन्द्र कांत शर्मा, जहानाबाद से हरिलाल यादव, सीतामढ़ी से नागेन्द्र प्रसाद, समस्तीपुर से राजेश कुमार सुमन, पटना से नीरज कुमार और सीवान से अमित कुमार पाण्डेय

Read more

बिहार में शिक्षा के परिदृश्य पर होगी चर्चा : जुटेंगे देश भर के समाज विज्ञानी

पटना. ‘बिहार में शिक्षा : चुनौतियाँ एवं संभावनाएं’ विषय पर चर्चा के लिए  पटना में देश भर के कई चर्चित समाज विज्ञानी जुटेंगे. यह परिचर्चा बिहार समाज विज्ञान अकादमी के होने वाले वार्षिक अधिवेशन के दौरान आयोजित होगी. इस आशय का निर्णय अकादमी की ‘साइंस फॉर सोसाइटी’, साइंस कॉलेज, पटना यूनिवर्सिटी में हुई बैठक में लिया गया. बैठक की अध्यक्षता अकादमी के अध्यक्ष प्रो एस पी वर्मा ने की. शोधार्थी प्रस्तुत करेंगे अपना शोध-पत्र इस अधिवेशन में शोधार्थी अपना शोध-पत्र भी प्रस्तुत करेंगे, जिसके लिए अंतिम तिथि की घोषणा जल्द ही की जायेगी. शोध-पत्रों के चयन और अन्य अकादमिक कार्यों के लिए अकादमिक कमिटी का गठन किया गया.इस कमिटी के सदस्य हैं प्रो. एस पी वर्मा, प्रो. रघुनंदन शर्मा, डॉ. जी. शंकर, डॉ. हबीबुल्ला अंसारी और डॉ. विद्यार्थी विकास. इसके अलावा अधिवेशन  के सफल आयोजन के लिए सर्वसम्मति से कई निर्णय लिए गए और कई समितियों का भी गठन किया गया. सम्मेलन की विवरणिका डॉ जी शंकर और डॉ विद्यार्थी विकास तैयार करेंगे. आयोजन समिति का हुआ गठन इस सम्मेलन के लिए आयोजन समिति का गठन किया गया. सर्वसम्मति से तय किया गया कि सारे उपस्थित साथी इस समिति के सदस्य होंगे. बाद में अन्य संस्थाओं और उनके प्रतिनिधियों को मिलाकर इस समिति का विस्तार किया जाएगा. बजट तैयार करने की जिम्मेदारी डॉ विद्यार्थी विकास को दी गई वहीँ मीडिया संयोजन के लिए रवि प्रकाश सूरज को नामित किया गया. सम्मेलन में कार्यकारिणी का गठन करने और सदस्यता शुल्क के लिए अपील करने संबंधी भी निर्णय लिए गए. ओ पी पांडेय

Read more

नियोजित शिक्षकों को झटका!

नियोजित शिक्षकों को समान काम समान वेतन मामले की बहुचर्चित सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में चल रही है.  सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी साप्ताहिक केस लिस्ट में कोर्ट नंबर 11 में बिहार के नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले समान वेतन मामले पर चल रही सुनवाई 11 सितंबर (मंगलवार) को सूचीबद्ध नहीं की गई है जबकि इस मामले की सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति द्वय अभय मनोहर सप्रे एवं उदय उमेश ललित की खंडपीठ ने पिछली सुनवाई छह सितंबर को मौखिक व लिखित आदेश में सुनवाई की अगली तारीख 11 सितंबर को निर्धारित करते हुए निदेश दिया था कि अटॉर्नी जनरल अपनी बात पूरी करेंगे और शिक्षक संगठनों के शेष वकीलों को भी समय दिया जायेगा जिसके बाद ये सुनवाई समाप्त की जायेगी. लेकिन अगले सप्ताह (11, 12 व 13 सितंबर) में नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले समान वेतन मामले की सुनवाई कोर्ट नंबर-11 में लिस्टेड नहीं है तथा सुनवाई कर रहे दोनों न्यायमूर्ति को अलग-अलग बेंचों में दूसरे न्यायधीशों के साथ बिठा दिया गया है. इसके बाद नियोजित शिक्षकों में आशंका गहरा गई है कि कहीं उनकी सुनवाई ठंडे बस्ते में ना चली जाए. सुनवाई जारी रखने की अपील बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने मुख्य न्यायधीश से पूर्ववत सुनवाई जारी रखने की अपील की है. बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने कहा कि राज्य के करीब चार लाख नियोजित शिक्षक और उनपर आश्रित 20 लाख लोग आस और टकटकी लगाए हुए थे कि अब सुनवाई का पटाक्षेप होगा और उनको न्याय मिलेगा. उन्होंने कहा

Read more

युवा जदयू के नए मीडिया प्रभारी बने ‘सेतु’

युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक अभय कुशवाहा के द्वारा ओम प्रकाश सिंह ‘सेतु’ को बिहार प्रदेश युवा जदयू का प्रदेश मीडिया प्रभारी मनोनीत किया गया है. अभय कुशवाहा ने कहा कि हमें आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि सेतु के मीडिया प्रभारी के पद पर मनोनयन से युवा जदयू मजबूत होगा. पटना नाउ ब्यूरो

Read more