स्कूली बच्चों को स्वास्थ्य और पोषण की मिलेगी पूरी जानकारी

विद्यालय स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत 6-12 तक के सभी विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाओं को स्वास्थ्य एवं आरोग्य राजदूत के रूप में पांच दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन प्रखंड संसाधन केंद्र गायघाट में किया गया. इस अवसर पर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रखंड प्रमुख ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया इस अवसर पर प्रखंड के शिक्षकों ने इस कार्यक्रम में शिरकत की. इस अवसर पर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चों में एक सकारात्मक संसाधन का संचार होगा साथ ही स्वास्थ्य व्यवहारों को विकसित करने के लिए उनके ज्ञान को बढ़ाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि आज का युवा पीढ़ी को हम कैसे स्वस्थ रखें और उन्हें कैसे सुरक्षित रखें, ये जरूरी है. वहीं गायघाट के प्रखंड प्रमुख ने भी अपना विचार व्यक्त किया. कार्यक्रम का उद्देश्य:-1 स्कूलों में बच्चों को स्वास्थ्य और पोषण के बारे में उचित जानकारी प्रदान करें.2 बच्चों के जीवन में स्वस्थ व्यवहार को बढ़ावा देने के लिए प्रेरित करना.3 बच्चों और किशोरों में शुरुआत में ही बीमारियों का पता लगाना और उनका इलाज करना जिनमें कुपोषित और एनीमिक बच्चों की पहचान कर कार्मिक स्वास्थ्य केंद्रों और अस्पतालों ने रेफरल करना भी शामिल है.4 स्कूलों में सुरक्षित पेयजल के उपयोग को बढ़ावा देना .5 लड़कियों में सुरक्षित मासिक यह धर्म हेतु सुरक्षित प्रथाओं को बढ़ावा देना.6 बच्चों के लिए स्वास्थ्य कल्याण और पोषण पर अनुसंधान को प्रोत्साहित करना . pncb

Read more

356 को नियुक्ति पत्र सौंपेंगे मंत्री, 2 दिन में करना होगा ज्वायन

विभिन्न शिक्षण संस्थानों में खाली पड़े पदों को भरने की प्रक्रिया शिक्षा विभाग ने तेज कर दी है. जब से नए अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने शिक्षा विभाग का प्रभार ग्रहण किया है उसके बाद से खासतौर पर शिक्षा विभाग की तमाम खामियां दूर करने की कोशिश लगातार हो रही है. इसी दिशा में 28 जून को 356 लोगों को नियुक्ति पत्र मिलने वाला है जिन्हें 2 दिन के अंदर ज्वाइन भी करना होगा. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने बताया कि 28.06.2022 को पटना में जगजीवन राम संसदीय अध्ययन एवं राजनीतिक शोध संस्थान, मैंगल्स रोड, पटना के सभागार में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के द्वारा डायट के नवनियुक्त 356 व्याख्याताओं को प्रातः 11:00 बजे से नियुक्ति पत्र प्रदान किया जायेगा. उन्होंने बताया कि इन सभी व्याख्याताओं का चयन बिहार लोक सेवा आयोग की अनुशंसा के बाद किया गया है और इनके पदस्थापित हो जाने से शिक्षक प्रशिक्षण के कार्य में और सुदृढता आयेगी. दीपक कुमार सिंह ने कहा कि इन व्याख्याताओं को नियुक्ति पत्र प्राप्त कर तत्काल अपने-अपने पदस्थापित संस्थान में 30 जून, 2022 के पूर्व योगदान करने का निदेश दिया गया है. pncb

Read more

गंगा की डॉल्फिन पर बोले एक्सपर्ट- संरक्षण के लिए गंभीर प्रयास जरूरी

‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के तहत 20 जून 2022 से 26 जून 2022 तक एक सप्ताह के लिए ध्यान केंद्रित करने वाली प्रजातियों के रूप में गांगेय डॉल्फिन ‘भारत की राष्ट्रीय विरासत के गंगा डॉल्फिन-संरक्षण’ पर एक विशेषज्ञ वार्ता के साथ शुरू हुआ. पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार के अधीन कार्यरत संस्थाओं के द्वारा ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के तहत केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण, नई दिल्ली को संरक्षण और जागरूकता गतिविधियों कार्य सौपा गया है. इस अभियान में 75 वन्यजीवों की प्रजातियों के लिए संरक्षण के लिए जागरूकता पैदा करना है इस कार्यक्रम अंतर्गत पटना के संजय गांधी गांधी जैविक उद्यान पटना तथा भारतीय प्राणी सर्वेक्षण, पटना के संयुक्त तत्वाधान में “सह-अस्तित्व का संरक्षण एवं लोगों को जोड़ने” विषय पर वन्यजीवों के लिए कार्य करना है” जिसमें 75 चिड़ियाघरों में 75 सप्ताह तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है. संजय गांधी जैविक उद्यान, पटना के द्वारा 20 जून से 26 जून 2022 तक एक सप्ताह के लिए गंगा के डॉलफिन को ध्यान में रखकर इस प्रजाति के संरक्षण के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाने का संकल्प लिया गया है. आयोजन के पहला दिन 20 जून 2022 को ‘गंगा की डॉल्फिन-भारत की राष्ट्रीय विरासत का संरक्षण’ पर एक विशेषज्ञ संगोष्ठी का आयोजन किया गया है संगोष्ठी से बिहार भर के वन विभाग के अधिकारी और कर्मी ऑनलाइन भी जुड़े. डॉ. गोपाल शर्मा, वैज्ञानिक ई और प्रभारी अधिकारी, जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया, पटना ने गांगेय डॉल्फिन पर स्लाईड शो के माध्यम से सभी प्रतिभागियों को संरक्षण खतरे एवं बचाव के

Read more

‘रेलपथ’ पर भारी ‘अग्निपथ’, मुसीबत में रेलयात्री

धरना-प्रदर्शन के कारण ट्रेनों का परिचालन रहा बाधितयात्रियों को कठिनाइयों का करना पड़ा सामना पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों/रेलखंडों पर धरना-प्रदर्शन के कारण पूर्व मध्य रेल क्षेत्राधिकार से खुलने/पहुंचने वाली ट्रेनों का परिचालन आज भी अवरूद्ध रहा जिससे यात्रियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ वीरेंद्र कुमार ने बताया कि धरना-प्रदर्शन के दौरान 60 से अधिक कोच तथा 10 से अधिक इंजन को आग से क्षतिग्रस्त किया गया. इसके अलावा कई स्टेशनों पर अवस्थित रेल संपत्ति यथा – सिगनलिंग सिस्टम, परिचालन से जुड़े उपकरण, यात्री सुविधाओं से जुड़े सामान इत्यादि को भारी नुकसान पहुँचाया गया है. रेलवे इसका आकलन एवं मूल्यांकन कर रही है। रेल प्रशासन अब सुरक्षा, संरक्षा एवं कानून व्यवस्था के समीक्षा एवं सुनिश्चितता के उपरांत ही ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ करेगी . वीरेंद्र कुमार ने बताया कि विभिन्न जगहों पर फंसे यात्रियों की मदद के लिए पूर्व मध्य रेल द्वारा कई कदम उठाये गये हैं जो निम्नानुसार हैं सभी प्रमुख स्टेशनों पर हेल्पलाइन नंबर की स्थापना की गयी है स्टेशनों पर फंसे यात्रियों को निकालने हेतु वाणिज्य विभाग एवं रेलवे सुरक्षा बल के कर्मचारियों की नियुक्ति कर उन्हें हर संभव मदद पहुँचायी गयी. इच्छुक यात्रियों को प्राथमिकता के आधार पर टिकट की वापसी सुनिश्चित की जा रही है। इसके लिए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टिकट काउंटर भी खोले गए हैं . टिकट वापसी हेतु अतिरिक्त समय के साथ चालू काउंटर खोल दिया गया है ताकि देर रात की वापसी सुनिश्चित की जा सके . धनवापसी पर कैंसिलेशन चार्ज नहीं लिया जा रहा

Read more

पंकज कुमार पाल ने संभाला परिवहन विभाग का प्रभार

नये परिवहन सचिव ने संभाला कार्यभार भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी पंकज कुमार पाल ने मंगलवार को परिवहन सचिव का कार्यभार संभाला. वे 2002 बैच के अधिकारी हैं. निवर्तमान परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने पंकज पाल को कार्यभार सौंपा. इसके पूर्व विभाग के सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों ने नए परिवहन सचिव पंकज पाल एवं निवर्तमान परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया. परिवहन सचिव पंकज कुमार पाल विभाग के विभिन्न योजनाओं एवं कार्यों से अवगत हुए. निवर्तमान परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने विभाग के सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों से परिचय कराया और साथ ही विभाग द्वारा किये जा रहे विभिन्न योजनाओं एवं कार्यों से अवगत कराया. इस मौके पर राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी, अपर सचिव सन्नी सिन्हा, उपसचिव शैलेंद्रनाथ इत्यादि उपस्थित थे. pncb

Read more

Only One Earth: पौधे लगाइये पर्यावरण बचाइये

पर्यावरण दिवस के मौके पर आज पटना समेत पूरे बिहार में कई कार्यक्रमों का आयोजन हुआ. पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पर्यावरण दिवस के अवसर पर एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास परिसर में दुधिया मालदह आम के पौधे का रोपण किया. उन्होंने कहा कि पटना में दुधिया मालदह आम की प्रजाति घट रही है. इस प्रजाति को संरक्षित करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण को लेकर पौधारोपण आवश्यक है ताकि जलवायु परिवर्तन के खतरों को कम किया जा सके. इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त परामर्शी मनीष कुमार वर्मा एवं मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह उपस्थित थे. पर्यावरण मंत्री ने की लोगों से अपील इधर इस अवसर पर बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद् द्वारा आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मंत्री, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, बिहार नीरज कुमार सिंह ने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस तो हम पिछले 50 वर्षों से ही मना रहे हैं परन्तु हमारी तो संस्कृति रही है- नदियों, पहाड़ों, वनों को ईश्वर से जोड़कर इसे बचाने व संरक्षित रखने की. हम सदियों से पहाड़, नदी, वन आदि का पूजन करते आये हैं. उन्होंने कहा कि हम एक पहाड़ तो बना नहीं सकते पर कचरों का पहाड़ बना दे रहे हैं. यदि हम गंदगी फैलाना बंद कर दें तो गंगा सफाई की जरूरत ही नहीं पड़ेगी इस अवसर पर उन्होंने गंगा नदी के किनारे एक महिना तक बिताये अपने अनुभवों को साझा किया. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में नये लाल ईंट

Read more

नियोजित शिक्षकों को जोर का झटका, वजह भी जान लीजिए

पिछले 15 साल से अपने कंफर्ट जोन में तबादले की बाट जोह रहे नियोजित शिक्षकों को शिक्षा विभाग ने एक और बड़ा झटका दिया है. अब उन्हें सातवें चरण की बहाली खत्म होने का इंतजार करना होगा उसके बाद ही नई नियमावली के तहत उनका ऐच्छिक तबादला (एक नियोजन इकाई से दूसरी नियोजन इकाई) हो सकेगा. शिक्षा विभाग ने यह स्पष्ट कर दिया है कि सातवां चरण पूरा होगा उसके बाद ही ऐच्छिक तबादला होगा. यानी 2-4 साल का और इंतजार. शिक्षकों ने 2 साल पहले लगभग 70 दिनों की लंबी हड़ताल की थी जिसके बाद सरकार ने नियोजित शिक्षकों के लिए नियमावली बनाई थी. नियमावली के तहत अन्य बातों के अलावा शिक्षकों को एक बार ऐच्छिक स्थानांतरण की सुविधा देने की बात कही गई थी. वर्ष 2020 के अगस्त महीने में सरकार ने यह घोषणा की थी लेकिन दो साल बाद भी सरकार इस पर काम नहीं कर पाई है. एक सॉफ्टवेयर तक सरकार तैयार नहीं कर पाई है जिसके जरिए इच्छुक शिक्षक तबादले के लिए आवेदन कर सकेंगे. इसका खामियाजा बिहार के दूरदराज इलाकों में काम कर रहे शिक्षक, विशेष तौर पर महिला और दिव्यांग शिक्षक भुगत रहे हैं. लेकिन अब इसके पीछे की वजह भी समझ लीजिए. उन्हें असली खामियाजा भुगतना पड़ रहा है उन बड़े शिक्षक संघों की वजह से, जो इस बारे में उनकी परेशानी शिक्षा विभाग तक नहीं पहुंचा पा रहे. शिक्षक संघ से जुड़ी कई महिला शिक्षकों ने कहा है कि दरअसल बड़े-बड़े शिक्षक संघ के शिक्षक नेता पटना समेत अन्य जिला मुख्यालयों

Read more

फ्लाइ ऐश के अधिकतम इस्तेमाल पर सरकार का जोर, निर्बाध आपूर्ति अब भी बड़ा चैलेंज

थर्मल पावर प्लांट से निकलने वाले फ्लाई ऐश के अधिकतम इस्तेमाल को लेकर सरकार ने सभी संबंधित लोगों से अपील की है क्योंकि इसका सीधा संबंध कार्बन उत्सर्जन में कमी से भी है. पटना में फ्लाई ऐश के इस्तेमाल को लेकर बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्वारा एक महत्वपूर्ण वर्कशॉप का आयोजन हुआ जिसमें बिहार के पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री के अलावा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के तमाम अधिकारी और डेवलपमेंट अल्टरनेटिव्स के एक्सपर्ट भी शामिल थे. कार्यशाला के मुख्य अतिथि नीरज कुमार सिंह, मंत्री, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, बिहार सरकार ने अपने सम्बोधन में बताया कि राज्य के पर्यावरण संरक्षण हेतु उपजाऊ उपरी- मृदा (Fertile Top Soil) के संरक्षण एवं फ्लाई-ऐश ईंट के संबंध में फ्लाई-ऐश ईंट निर्मात्ता संघ के साथ उनकी कई बैठकें हो चुकी हैं. उन्होंने बताया कि राज्य में फ्लाई-ऐश ईंट निर्माण को प्रोत्साहित करने के इस संबंध में केन्द्रीय उर्जा मंत्री के साथ चर्चा भी की गयी है कि एन.टी.पी.सी. द्वारा फ्लाई-ऐश को भारत सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुरूप उपलब्ध कराये जाने के संबंध में कार्रवाई की जाय, जिससे फ्लाई-ऐश इकाईयों को यह सुगमता से उपलब्ध हो सके. उन्होंने बताया कि पर्यावरण संरक्षण हेतु जिस प्रकार राज्य में पेड़ों को बचाने के लिए नई आरा मिलों की स्थापना को पूरी तरह से बंद करा दिया गया है, उसी प्रकार उपजाऊ उपरी – मृदा के संरक्षण हेतु राज्य में नये ईंट-भट्ठों की स्थापना को सहमति प्रदान नहीं करने पर विचार किया जायेगा. इसके साथ ही उनकी संख्या को भी नियंत्रित किये जाने

Read more

दो दिन तक विश्वेश्वरैया भवन में नो एंट्री

विश्वेश्वरैया भवन में दो दिन प्रवेश निषिद्ध रहेगा आयुक्त, पटना प्रमंडल-सह- सचिव,भवन निर्माण विभाग कुमार रवि ने विश्वेश्वरैया भवन, पटना में दिनांक 12 मई एवं 13 मई, 2022 को प्रवेश निषिद्ध कर दिया है. इस भवन में आज आग लग जाने के कारण सुरक्षा के दृष्टिकोण से आयुक्त, पटना प्रमंडल-सह- सचिव,भवन निर्माण विभाग कुमार रवि ने यह आदेश दिया है. ऐसे में विश्वेश्वरैया भवन स्थित कार्यालयों के कर्मियों के साथ-साथ आम लोगों के लिए भी विश्वेश्वरैया भवन में प्रवेश वर्जित रहेगा. भीषण आग लगने की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौके पर पहुंचे और अधिकारियों से पूरी जानकारी ली उन्होंने कहा कि दुर्घटना से सीख लेते हुए आग बुझाने के उपायों पर और गंभीर प्रयास करना होगा. बता दें कि आज सवेरे विश्वेश्वरैया भवन के पांचवें एवं छठे तल पर आग लग गई. आपदा प्रबंधन विभाग तथा अग्निशमन के अधिकारियों एवं कर्मियों ने आग पर काबू पाने के लिए लगातार कोशिश की है. दावा किया जा रहा है कि आग पर लगभग नियंत्रण पा लिया गया है. pncb

Read more

विश्वेश्वरैया भवन की आग में फंसे कई लोग

पटना के सबसे बड़े सरकारी भवनों में से एक विश्वेश्वरैया भवन में आग लग गई है जिसमें कई लोग फंस गए हैं. इस भवन में निर्माण कार्य भी चल रहा है. फायर ब्रिगेड आग बुझाने और रेस्क्यू ऑपरेशन में लगा है. आपको बता दें कि इस बिल्डिंग में परिवहन विभाग और पथ निर्माण विभाग समेत कई विभागों के कार्यालय हैं. पटना एस एसपी ने बताया कि एसडीएमए समेत पूरा प्रशासन राहत और बचाव कार्य में लगा है. उन्होंने दावा किया कि सबको रेस्क्यू करा लिया गया है. pncb

Read more