सरकारी गाड़ियों के ड्राइवरों को दी जाएगी सड़क सुरक्षा की ट्रेनिंग

– विभागीय मंत्री से लेकर अधिकारियोें व पदाधिकारियों के ड्राइवरों को मिलेगी ट्रेनिंग – ड्राइवर यातायात नियमों को जानें इस बारे में विशेष तौर से किया जाएगा प्रशिक्षित – नियमों का उल्लंघन करने पर क्या-क्या हो सकती है कार्रवाई और किन किन कागजातों को साथ  रखना है अनिवार्य इस बारे में दी जाएगी जानकारी – परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि ट्रेनिंग के बाद नियमों का उल्लंघन करने वाले  ड्राइवरों पर की जाएगी कार्रवाई – मुख्य सचिवालय से लेकर सभी विभागीय मंत्री व पदाधिकारियों के ड्राइवरों को ट्रेनिंग किया गया है अनिवार्य सरकारी गाड़ियां चलाने वाले सभी ड्राइवरों को सड़क सुरक्षा नियमों से अवगत कराते हुए उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। गाड़ी चलाते समय किन किन नियमों का पालन करना है. गाड़ी चलाने के दौरान कौन-कौन से कागजात साथ में रखना अनिवार्य है तथा किस नियम के उल्लंघन करने पर क्या कार्रवाई की जा सकती है. इन तमाम बातों की जानकारी उन्हें ट्रेनिंग देकर बताई जाएगी. इसके लिए जागरुकता सह प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. परिवहन विभाग सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि सरकारी गाड़ियां चलाने वाले सरकारी व प्राइवेट सभी तरह के ड्राइवरों को नए मोटर व्हीकल (संशोधन) अधिनियम 2019 की जानकारी दी जाएगी साथ ही उन्हें सड़क सुरक्षा नियमों की जानकारी के लिए एक दिवसीय विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी. यह ट्रेनिंग हर ड्राइवर के लिए अनिवार्य होगा. ट्रेनिंग के बाद भी यातायात नियमों का उल्लंघन किये जाने पर वैसे ड्राइवरों से जुर्माना वसूला जाएगा. प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत सोमवार से की जा रही है.

Read more

एनआइओएस डीएलएड से जुड़ी बड़ी खबर आई सिक्किम से

NIOS से D EL ED करने वाले शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आ रही है सिक्किम से. जहां राज्य सरकार ने 31 अगस्त तक सिक्किम शिक्षक पात्रता परीक्षा में आवदेन की तारीख तय की थी. लेकिन बाद में इसे 15 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया. सिक्किम सरकार ने इसे एनआइओएस शिक्षकों के लिए बढ़ा दिया ताकि वे भी इसमें आवदेन कर सकें. बता दें कि सिक्किम में भी दो वर्षीय डीएलएड करने वाले को ही शिक्षक पात्रता परीक्षा में बैठने की छूट मिलती है. ऐसे में ये साफ है कि सिक्किम सरकार एनआइओएस से डीएलएड करने वाले शिक्षकों के कोर्स को दो साल का मानती है. जबकि बिहार सरकार ने अपने राज्य में इस डिग्री की मान्यता को ही नये बहाली में अमान्य कर दिया है. आप इस लिंक को क्लिक कर सिक्किम के शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर देख सकते हैं- http://sikkimhrdd.org/GeneralSection/NewsEventDetails.aspx?ID=40169

Read more

जहां विघ्नहर्ता हरते हैं विघ्न

जहाँ सिर्फ फूलों से सजा है गणपति का मंदिर फूलों से पटा सिद्धिविनायक मंदिर, विघ्नहर्ता के द्वार पहुँचे लाखो लोग मुंबई, 2 सितंबर. देश मे आज से गणेश चतुर्थी की पूजा प्रारम्भ हो गयी है जिसे पूरे धूमधाम से मनाया जा रहा है. देवताओं में विघ्नहर्ता के नाम से जाने जाने वाले भगवान गणेश की पूजा सभी देवाताओं की पूजा से पहले की जाती है और इसकी भव्यता महाराष्ट्र में अलग ही दिखती है. हर घर मे भगवान गणपति की पूजा अर्चना की जाती है. लेकिन सिद्धिविनायक मंदिर में गणपति का दर्शन अलग ही महत्व रखता है. मुंबई के प्रभादेवी इलाके में स्थित इस मंदिर की स्थापना 1801 में हुई थी. इस मंदिर को एक मशहूर बिल्डर ने बनवाया था. इस मंदिर में ऐसी मान्यता है कि भक्तों की मनोकामना पूरी होती है. मंगलवार के दिन खास भीड़ होती है. लोग अपने घरों से खाली पैर मनोकामना पूर्ण होने के बाद यहाँ आते अक्सर दिखते हैं. गणेश चतुर्थी के अवसर पर मंदिर को बड़े ही भव्य रूप में सजाया गया है. सूर्यमुखी,डहेलिया,ट्यूलिप, गुलाब और गेंदा के फूलों से मंदिर का हर कोना अपने अनोखे रउआ से आनेवाले लोगों को आकर्षित कर रहा है. मंदिर के भीतरी मंडप का एरिया हो या पिलर या दिवाल सभी फूलों से सजकर तैयार हैं. दर्शन के लिए भले सुबह से भरी भीड़ सुबह की आरती के लिए इक्कठी दिखी. वैसे तो आम दिनों में भी यहाँ देश विदेश से श्रद्धालुओ का तांता लगा रहता है लेकिन गणेश चतुर्थी के वक्त दस दिनों तक भीड़

Read more

दुनिया के सबसे बड़े अध्‍यापक शिक्षा कार्यक्रम की होगी शुरुआत

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ने शनिवार को नई दिल्‍ली में अंतरराष्‍ट्रीय सम्‍मेलन, ‘जर्नी ऑफ टीचर एजुकेशन: लोकल टू ग्‍लोबल’का उद्घाटन किया. इस दो दिवसीय सम्‍मेलन का आयोजन राष्‍ट्रीय अध्‍यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के रजत जयंती समारोह के अंतर्गत किया गया है. भारत और अन्‍य देशों के 40 से अधिक विशेषज्ञ, अध्‍यापक शिक्षा की वर्तमाान स्थिति, शिक्षण में नवाचार, शिक्षण में सूचना और संचार प्रौ़द्योगिकी का समावेश, अध्‍यापक शिक्षा का अंतरराष्‍ट्रीयकरण जैसे विषयों पर विचार-विमर्श करेंगे. स्‍कूली शिक्षा और साक्षरता के विभाग की सचिव सुश्री रीना रे, उच्‍च शिक्षा विभाग के सचिव आर. सुब्रह्मण्‍यम, नीति आयोग के विशेष सचिव यदुवेन्‍द्र माथुर, एनसीटीई के चेयरपर्सन डॉ. सतबीर बेदी, एनसीटीई के सदस्‍य सचिव संजय अवस्‍थी जैसे नीति निर्माताओं ने प्रतिभागियों को संबोधित किया. इस अवसर पर मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि भारत पारंपरिक रूप से शिक्षा और अध्‍यापन के क्षेत्र में नेतृत्‍व की भूमिका निभाता रहा है. हजारों साल से भारत के शिक्षक को विश्‍व गुरू का दर्जा दिया गया है. प्राचीन भारतीय शिक्षा पद्धति की उपलब्धियां असाधारण रही हैं. किसी भी प्रगतिशील राष्‍ट्र के लिए स्‍कूली शिक्षा नींव होती है. शिक्षक छात्रों के भविष्‍य का निर्माण करते हैं और उनमें सकारात्‍मक सोच की प्रेरणा देते हैं, ताकि वे समाज के विकास में महत्‍वपूर्ण योगदान दे सकें. स्‍कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग की सचिव सुश्री रीना रे ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय 22 अगस्‍त, 2019 को दुनिया के सबसे बड़े अध्‍यापक शिक्षा कार्यक्रम की शुरुआत करेगा. इस कार्यक्रम का नाम निष्‍ठा (नेशनल इनिशिएटिव ऑन स्‍कूल टीचर्स हेड

Read more

सीतामढ़ी के स्कूलों के लिए डीएम ने जारी किया निर्देश

सीतामढ़ी डीएम ने जिले में बाढ़ के कारण स्कूलों के लिए नया निर्देश जारी किया है. सीतामढ़ी डीएम रंजीत कुमार सिंह के मुताबिक भारी बारिश और बाढ़ के कारण जिस स्कूल में जलजमाव है और जहां पठन-पाठन का कार्य नहीं किया जा सकता है, वैसे स्कूल किसी उच्च जगह पर कोई सरकारी भवन या अन्य नजदीक के स्कूल में स्कूल शिक्षा समिति की स्वीकृति से स्कूल का शिक्षण कार्य संचालन करेंगे. सीतामढ़ी डीएम ने यह आदेश शनिवार 27 जुलाई को जारी किया है.

Read more

राजमार्गों के आसपास लगाइये पेड़ और करिए उनका रखरखाव

नितिन गडकरी ने एमएसएमई तथा उद्योगों से राजमार्गों के आसपास पेड़ लगाने और उनके रखरखाव का आग्रह किया केन्‍द्रीय सूक्ष्‍म, लघु, मध्‍यम उद्यम और सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने सभी उद्योग संघों तथा पंजीकृत सूक्ष्‍म, लघु, मध्‍यम उद्योगों से मानसून खत्‍म होने से पहले जितनी संख्‍या में पेड़ लगा सकते हैं, उतनी संख्‍या में पेड़ लगाने का आग्रह किया है। उनके सामूहिक संकल्‍प का आह्वान करते हुए श्री गडकरी ने अपने पत्र में सुझाव दिया है कि प्रत्‍येक छोटे उद्यम कम से कम पांच पेड़ लगा सकते हैं और उनकी देखभाल कर सकते हैं, प्रत्‍येक मध्‍यम उद्यम कम से 50 पेड़ तथा सूक्ष्‍म उद्यम संभव संख्‍या में पेड़ लगा सकते हैं और उनकी देखभाल कर सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि पेड़ स्‍थानीय किस्‍म के होने चाहिए, जैसे फल के पेड़, नीम, पीपल वृक्ष आदि। ऐसे पेड़ राष्‍ट्रीय तथा राज्‍य के राजमार्गों और जिला सड़कों के आसपास लगाए जा सकते हैं। प्रत्‍येक उद्यम को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पेड़ जीवित रहें और बढ़ें।

Read more

पत्रकारिता में उत्कृष्टता के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए भेजें प्रविष्टी

भारतीय प्रेस परिषद ने पत्रकारिता में उत्कृष्टता के राष्ट्रीय पुरस्कार-2019 के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की है। आठ विभिन्न श्रेणियों में दिए जाने वाले इस पुरस्कार के तहत नगद राशि और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है. पुरस्‍कारों की श्रेणियां : क्र. संख्‍या श्रेणी नगद पुरस्‍कार 1 पत्रकारिता में उत्‍कृष्‍टता के लिए राजा राममोहन राय राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार Rs. 100000/- 2 ग्रामीण पत्रकारिता Rs. 50000/- 3 विकास संबंधी रिपोर्टिंग Rs. 50000/- 4 फोटो पत्रकारिता :i) सिंगल न्‍यूज पिक्‍चरii)फोटो फीचर  Rs. 50000/-Rs. 50000/- 5 सर्वोत्‍तम समाचार पत्र कला : जिसमें कार्टून ,व्‍यंग चित्र और चित्र शामिल Rs. 50000/- 6 खेल रिपोर्टिंग/खेलों से जुड़े फोटो और फीचर Rs. 50000/- 7 आर्थिक रिपोर्टिंग Rs. 50000/- 8 लैंगिक मुद्दों से जुड़ी रिपोर्टिंग Rs. 50000/- पत्रकारिता में उत्‍कृष्‍टता के लिए राजा राममेाहन राय राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार के मामले में जूरी कमेटी खुद ही नामितों के नाम का फैसला लेगी इसके लिए प्रविष्टियां आमंत्रित नहीं की जाएंगी। प्रविष्‍टि दाखिल करने के लिए आवश्‍यक अर्हताओं और प्रक्रियाओं का विस्‍तृत ब्‍यौरा तथा आवेदन फार्म प्रेस परिषद् की वेबसाइट www.presscouncil.nic.in. से प्राप्‍त किया जा सकती है।  सभी प्रविष्टियां, सचिव, भारतीय प्रेस परिष्‍द्, सूचना भवन, 8 – सीजीओ काम्‍पलेक्‍स ,लोधी रोड , नई दिल्‍ली – 110003 के पते पर 30 अगस्‍त, 2019 के शाम पांच बजे तक पहुंच जानी चाहिएं। आवेदन की अग्रिम प्रतियां  [email protected] के पते पर ई-मेल की जा सकती हैं। पृष्‍ठभूमि भारतीय नागरिक द्वारा प्रिंट मीडिया में पत्रकारिता/फोटो पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए यह पुरस्‍कार प्रति वर्ष 16 नवंबर को राष्‍ट्रीय प्रेस दिवस के दिन प्रदान किया जाता है

Read more

भारतीय संगीत में किसका है अमिट योगदान?

chandan tiwari

‘बिहार का अमिट योगदान रहा है भारतीय संगीत में’ : भिखारी ठाकुर पुण्यतिथि स्पेशल पटना. लोककलाकार और भोजपुरी रंगमंच के सशक्त हस्ताक्षर भिखारी ठाकुर की पुण्यतिथि के अवसर पर एक बेहद ख़ास आयोजन ‘बिहारनामा’ पटना के बिहार म्यूजियम में हुआ, जिसके सह-आयोजक ‘आखर’ और ‘लोकराग’ थे. कार्यक्रम की शुरुआत में अतिथियों का स्वागत विनोद अनुपम ने किया. ‘भिखारी की रचनाओं में स्त्रियाँ’ पर हुई चर्चा आयोजन के पहले भाग में एक बतकही हुई जिसका विषय था– ‘भिखारी की रचनाओं में स्त्रियाँ’ और इस पर चर्चा कर रहे थे चर्चित भोजपुरी साहित्यकार तैयब हुसैन पीड़ित और कथाकार हृषिकेश सुलभ. हृषिकेश सुलभ ने कहा कि भिखारी ठाकुर ने अपनी रचनाओं में स्त्रियों को जो आवाज़ दी है वो सिर्फ तात्कालिक नहीं, बल्कि आज भी उतनी ही प्रासंगिक और आगे भी रहेगी, शायद इसीलिए ‘गबरघिचोर’ का मंचन अब ‘बिदेसिया’ से ज्यादा हो रहा है. तैयब हुसैन पीड़ित ने कहा कि अक्सर हम भिखारी ठाकुर के व्यक्तित्व का समग्र मूल्यांकन नहीं कर पाते. आगे उन्होंने कहा कि नाई समाज में जनम होने की वजह से भिखारी ठाकुर को स्त्रियों की व्यक्तिगत समस्याओं का पता लगाने की सहूलियत थी और इसी की वजह से शायद उनके नाटकों में स्त्रियों का दर्द झलकता है. बतकही के सूत्रधार ‘आखर’ के संजय सिंह थे. दोनों रचनाकारों ने दर्शकों के सवालों का जवाब भी दिया. ‘गायन-वादन-नृत्य की परम्परा की जन्मस्थली है बिहार’ : डॉ झा ‘बिहारनामा’ के अगले भाग में एक व्याख्यान का आयोजन हुआ जिसका विषय था– ‘बिहार की संगीत परंपरा और भारतीय संगीत में उसका योगदान’ और

Read more

DDC ने लिया चुनाव की तैयारियों का जायजा

आरा, 23 अप्रैल. लोकसभा 2019 के चुनाव तैयारियों को लेकर उप विकास आयुक्त शशांक शुभंकर ने अधिकारियों की टीम के साथ बाजार समिति अवस्थित बज्रगृह तथा ईवीएम के डीस्पैच, एवं संग्रहण कार्य ,सीसीटीवी, वाहन पार्किंग, मीडिया सेल की स्थापना, सुरक्षा व्यवस्था, खानपान स्थल, बैरिकेडिंग , ड्राप गेट आदि का जायजा लिया तथा आवश्यक निर्देश दिया. इन सब कार्यों के लिए स्थल चिह्नित करते हुए निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया. उन्होंने निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देश के अनुरूप सभी प्रकार की सुचारु व्यवस्था ससमय पूरा करने का आदेश दिया. उप विकास आयुक्त के साथ अधिकारियों की टीम में अपर समाहर्ता कुमार मंगलम, जिला आपूर्ति पदाधिकारी संजीव कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी सदर अरुण प्रकाश,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर पंकज कुमार, जिला पंचायत राज पदाधिकारी गिरिजेश कुमार सहित कई अन्य अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे. आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more

बिहार: किस डेट पर किन किन सीटों पर होंगे चुनाव

बिहार इस बार उन तीन विशेष राज्यों में से है जिनमें सभी सात चरणों में वोट डाले जाएंगे. बिहार के अलावा यूपी और पश्चिम बंगाल में भी सभी सात चरणों में मतदान होगा. पहला चरण 11 अप्रैल को होगा जिसमें बिहार की 4 सीटों पर वोटिंग होगी – औरंगाबाद, गया, नवादा, जमुई दूसरा चरण 18 अप्रैल को होगा जिसमें बिहार की 5 सीटों पर वोटिंग होगी – किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर, बांका तीसरा चरण 23 अप्रैल को होगा जिसमें बिहार की 5 सीटों पर वोटिंग होगी – सुपौल, झंझारपुर, मधेपुरा, खगड़िया, अररिया चौथा चरण 29 अप्रैल को होगा जिसमें बिहार की 5 सीटों पर मतदान होगा – दरभंगा, समस्तीपुर, बेगूसराय, उजियारपुर, मुंगेर पांचवां चरण 6 मई को होगा जिसमें बिहार की 5 सीटों पर वोटिंग होगी – सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, मधुबनी, सारण छठा चरण 12 मई को होगा जिसमें बिहार की 8 सीटों पर मतदान होगा – शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, बाल्मीकिनगर, सिवान, महाराजगंज सातवां चरण 19 मई को होगा जिसमें बिहार की 8 सीटों पर वोटिंग होगी – पटनासाहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, जहानाबाद, काराकाट, नालंदा, सासाराम 23 मई को 17वीं लोकसभा के चुनाव के नतीजे आएंगे.

Read more