1 जून से कुछ ऐसी होगी बिहार की परिवहन व्यवस्था

बस, टैक्सी, कार, ऑटो के परिचालन पर आदेश जारी 1 जून से राज्य के अंदर चलेंंगी सार्वजनिक परिवहन की गाड़ियां बसों एवं सभी पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का परिचालन एक सीट एक व्यक्ति के सिद्धांत के अनुसार किया जा सकेगा. राज्य में ई – रिक्शा, ऑटो रिक्शा का परिचालन कंटोनमेंट क्षेत्र को छोड़कर अनुमान्य होगा. टैक्सी ओला उबर का परिचालन भी कंटेनमेंट क्षेत्र को छोड़कर अनुमान्य होगा. भाड़े में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं होगी. Lock down से पूर्व का भाड़ा ही मान्य होगा. 1 जून से राज्य के अंदर बस एवं सभी पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का परिचालन शुरू हो जाएगा। 31 मई को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को सुचारू रूप से लागू कराने के लिए सभी डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश दिया है. परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि बसों एवं सभी पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का परिचालन एक सीट एक व्यक्ति के सिद्धांत के अनुसार किया जा सकेगा. भाड़े में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं होगी. लॉक डाउन से पूर्व का भाड़ा ही मान्य होगा. राज्य में ई – रिक्शा, ऑटो रिक्शा, टैक्सी, ओला, उबर का परिचालन कंटोनमेंट क्षेत्र को छोड़कर अनुमान्य होगा. बसों के परिचालन के क्रम में परिवहन सचिव ने निम्नलिखित व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने का निर्देश जारी किया है :- (क) वाहन मालिक द्वारा वाहन को प्रतिदिन धुलवाने, साफ-सुथरा रखने एवं समय-समय पर हरेक ट्रिप के पश्चात सेनिटाइज कराना सुनिश्चित करवाएँगे. ड्राइवर एवं कण्डक्टर को साफ कपड़े एवं मास्क, ग्लब्स पहनने

Read more

एयरपोर्ट जा रहे हैं तो जान लीजिए ये गाइडलाइंंस

पटना एयरपोर्ट पर 25 से शुरु होगा विमानों का परिचालन पटना एयरपोर्ट पर 25 मई से सामान्य यात्री विमानों का परिचालन शुरु होने जा रहा है. विमान से सफर के दौरान यात्रियों को एयरपोर्ट टर्मिनल में कोरोना वायरस से संभावित संक्रमण से बचाव हेतु सभी तरह की व्यवस्था एवं सतर्कता बरतने का निर्देश प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने पटना एयरपोर्ट निदेशक को दिया है. विमानों के परिचालन शुरु होने के पूर्व प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने शनिवार को टेलीकांफ्रेंसिंग के जरिये पटना एयरपोर्ट निदेशक से एयरपोर्ट पर उपलब्ध कराई जा रही सभी व्यवस्थाओं की समीक्षा की. प्रमंडलीय आयुक्त ने बताया कि एयर टिकट पास का काम करेगा। वाहन से एयरपोर्ट तक जाने-आने के लिए संबंधित यात्रियों को पास की आवश्यकता नहीं होगी. उनका एयर टिकट ही पास का काम करेगा. प्रमंडलीय आयुक्त ने निर्देश दिया है कि विमान से उतरने और एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग में प्रवेश करने से पूर्व यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाए.एयरपोर्ट टर्मिनल में इंट्री करते या बाहर निकलते समय यात्रियों की भीड़ की स्थिति नहीं बने. एयरपोर्ट परिसर, स्टैंड, एयरपोर्ट लाउंज, चेक इन एरिया, काउंटर आदि सभी जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना सुनिश्चित करेंगे. एयरपोर्ट पर कार्यरत पदाधिकारी एवं सभी कर्मियों के साथ एयरपोर्ट पर आने-जाने वाले सभी यात्रियों को मास्क लगाना अनिवार्य होगा. पैंसेजर को सोशल डिस्टेंस मेंटेन करने एवं उन्हें सेनिटाइज करने की व्यवस्था की माॅनिटरिंग करने का निर्देश दिया गया है. विमान यात्रियों को अपने गंतव्य तक जाने में किसी तरह की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े इसके

Read more

नहीं रहे आइपीआरडी के पूर्व संयुक्त निदेशक

पूर्व लोकसेवक का निधन सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पूर्व संयुक्त निदेशक द्विजेंद्र पति शर्मा का निधन हो गया. वे 84 वर्ष के थे. वे पिछले कुछ समय से लगातार अस्वस्थ चल रहे थे. वे अपने पीछे दो पुत्र.और एक पुत्री छोड़ गए हैं. द्विजेंद्र पति शर्मा का निधन शिवपुरी स्थित उनके आवास ‘अन्नपूर्णा आनंद निलयन’ में हो गया. इस बारे में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पूर्व अधिकारी जितेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि उनका दाह संस्कार राजधानी के बांस घाट पर हुआ. स्वर्गीय शर्मा का द्वादश कर्म 29 मई को होगा. सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों एवं कई गणमान्य लोगों ने उनकी मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है. डी पी शर्मा के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने शोक एवम दुख व्यक्त कियासूचना एवम जनसम्पर्क विभाग के सेवा निवर्त संयुक्त निदेशक डी पी शर्मा,(द्विजेन्द्र पति शर्मा)के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ,नेता प्रतिपक्ष तेजस्वीप्रसाद यादव ने गहरी शोक संवेदना वयक्त करते हुए कहा कि स्वर्गीय डी पी शर्मा जी योग्य, कर्मठ ,जानकार जनसम्पर्क अधिकारी के रूप में जाने जाते थे. वे लंबे समय तक मुख्यमंत्री सचिवालय से भी जुड़े रहे. उनके निधन से जनसम्पर्क क्षेत्र को अपुर्णीय छती हुई है. ईस्वर उनकी आत्मा को चिर शांति दे. ईश्वर उनके परिजनों को इस शोक के समय धैर्य एवम सहन-शक्ति दे. PNC

Read more

बिहार में ऑड-इवन सिस्टम इन गाड़ियों पर होगा लागू

दिल्ली की तर्ज पर ऑड इवन सिस्टम से चलेंगे कुछ वाहन लाॅक डाउन के दौरान आम लोगों को आवश्यक कारणों से कहीं आने-जाने में परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े इसके लिए सार्वजनिक परिवहन की गाड़ियों का परिचालन बिहार में ऑड एवं ईवन के तर्ज पर होगा. क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक से मंगलवार को यह निर्णय लिया गया. इस निर्णय के आलोक में परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने सभी जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक को अनुपालन का निर्देश दिया है. परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि ऑटो रिक्शा एवं ई रिक्शा का परिचालन जिला के अंदर ऑड (विषम अंक) एवं ईवन (सम अंक) रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर किया जायेगा. सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को ऑड नंबर के वाहन चलेंगे तथा मंगलवार, गुरुवार, शनिवार एवं रविवार को ईवन नंबर के वाहन चलेंगे. ऑटो रिक्शा एवं ई रिक्शा में ड्राइवर के अतिरिक्त मात्र दो व्यक्तियों के बैठने की अनुमति होगी. परिवहन सचिव ने बताया कि टैक्सी, कैब, ओला, उबर आदि का परिचालन जिला के अंदर किया जायेगा एवं उसमें ड्राइवर के अतिरिक्त दो व्यक्तियों को बैठाने की अनुमति होगी. जिला के बाहर अंतरजिला परिचालन के लिए जिलाधिकारी द्वारा निर्गत पास या स्पेशल ट्रेन के रेलवे टिकट के आधार पर किया जायेगा. जिले के अंदर विभिन्न मार्गों पर ई रिक्शा, ऑटो रिक्शा, टैक्सी आदि के किराये का निर्धारण संबंधित जिलाधिकारी द्वारा की जायेगी. इसका निर्धारण जिलाधिकारी सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार पैसेंजर की संख्या के रिस्ट्रिक्शन को ध्यान में रखकर समुचित भाड़ा निर्धारित करेंगे. क्या है ऑड-ईवनजिस रजिस्ट्रेशन

Read more

कोरोना ने अब होम डिपार्टमेंट को भी कर दिया परेशान

पटना में फिर 9 नये कोरोना मरीज मिले कोविड-19 महामारी की जद में राजधानी पटना घिरता दिख रहा है. पटना में कोरोना वाइरस संक्रमित की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. कोरोना संक्रमण का असर बेली रोड के सरदार पटेल भवन स्थित गृह विभाग पर भी पड़ा है. कोरोना वायरस के चेन को तोड़ने के लिए सरदार पटेल भवन को सेनेटाइज किया जा रहा है. यहां स्थित गृह विभाग के सभी कार्यालयों को तीन दिन 13 से 15 मई तक बंद रखने का आदेश दिया गया है. इसका आदेश गृह विभाग के विशेष सचिव अनिरुद्ध कुमार ने जारी किया है. अपडेट्स के लिए लॉग इन करें patnanow.comमुख्यालय में एक अफसर के बॉडीगार्ड की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी. बॉडीगार्ड बीएमपी का जवान है. फिलहाल बीएमपी के 20 जवान कोरोना संक्रमण से ग्रसित हैं. वहीं एक अफसर का सैंपल भी जांच के लिए भेजा गया है. पटना में कोरोना वायरस संक्रमित की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है. बुधवार को हीं पटना में 9 नए मरीज मिले हैं. राज्य में कोविड – 19 के वायरस से ग्रसित लोगों की संख्या 953 तक पहुंच गई है. वहीं सरकार और पुलिस प्रशासन के अधिकारी लगातार कोविड 19 के वायरस के चेन को तोड़ने की कोशिश में लगे हैं. पटना में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 99 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग की ताजा अपडेट के अनुसार बिहार में 9 नए मरीज मिले हैं. इसके साथ ही बिहार में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 953 हो गया है. मंगलवार को सबसे ज्यादा 130 मरीज

Read more

सरकार का आदेश जारी, देखिए कौन-कौन सी दुकान है खुलने वाली

लॉक डाउन के बीच बिहार सरकार ने 6 मई को बड़ा आदेश जारी किया है. गृह विभाग ने सभी डीएम और एसपी को पत्र लिखकर जानकारी दी है कि अब बाजार खुलेंगे. विशेष रूप से हर तरह के निर्माण कार्य, मरम्मत और रिपेयरिंग वर्क आदि दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है. बिहार सरकार ने इलेक्ट्रिक गुड्स, पंखा, कूलर, एयर कंडीशनर दुकान खोलने एवं मरम्मत करने वाली दुकान शुरू करने के आदेश दिए हैं. इसके अलावा मोबाइल दुकान, कंप्यूटर दुकान, लैपटॉप, यूपीएस और बैटरी विक्रय और मरम्मत दुकान चालू होगी. निर्माण सामग्री के भंडारण एवं बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान जैसे सीमेंट,स्टील,बालू-गिट्टी, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंटिंग सामान खोलने की इजाजत भी दी गई है. इनके अलावा ऑटोमोबाइल्स, टायर, ट्यूब, मोटर वाहन, मोटरसाइकिल, स्कूटर मरम्मत गैरेज सहित ऑटोमोबाइल स्पेयर पार्ट्स की दुकान प्रत्येक एक दिन के अंतराल पर खोली जा सकती हैं. गैराज एवं वर्कशॉप प्रतिदिन खोले जाएंगे. हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट की दुकान प्रमंडलीय मुख्यालय स्तर पर दो तथा जिला स्तर पर एक दुकान खोली जा सकती है. इसके अलावा प्रदूषण जांच केंद्र खोलने का भी आदेश दिया गया है. हालांकि इन सभी के लिए परिस्थितियां देखकर निर्णय लेने का अधिकार जिलाधिकारी के पास होगा. राजेश तिवारी

Read more

कोरोना से पूर्व जज की मौत

छतीसगढ़ हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश और लोकपाल सदस्य न्यायमूर्ति अजय कुमार त्रिपाठी के निधन पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरा दुख व्यक्त किया है. जानकारी के अनुसार उन्हें कोरोना संक्रमित होने के कारण 2 अप्रैल से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 62 वर्षीय पटना हाईकोर्ट के पूर्व जज को संक्रमण के दरमियान जब दिल्ली एम्स लाया गया तब उनकी हालत काफी नाजुक थी और उन्हें डॉक्टरों ने एम्स में वेंटिलेटर पर रखा था. डॉक्टरों की कोशिश के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका. रिटायर जस्टिस की बेटी और रसोइया को भी कोरोना संक्रमण था हालांकि फिलहाल वे दोनों स्वस्थ हैं.

Read more

कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने में जुटे हैं ये धुरंधर

बिहार में कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है. 21 जिले अबतक इसकी चपेट में आ चुके हैं. ऐसी विपदा की घड़ी में काम आ रहे हैं एनडीआरएफ के जवान. अबतक बाढ़, भूकम्प, चक्रवात, रेल दुर्घटना, रासायनिक आपदा, नौका दुर्घटना आदि आपदा में एनडीआरएफ के बचावकर्मियों को राहत व बचाव ऑपेरशन के माध्यम से मुसीबत में फँसे पीड़ितों को मदद करते हुए हुए देखा गया है. लेकिन अब कोरोना वायरस संक्रमण महामारी से निपटने में बिहटा (पटना) में स्थित 9 बटालियन एनडीआरएफ के कार्मिक बिहार के मुंगेर, पटना, सिवान, नालन्दा, बक्सर और गया जिलों में प्रशासन और मेडिकल टीमों के साथ मिलकर मुस्तैदी से जुटे हुए हैं. कमान्डेंट विजय सिन्हा ने बताया कि शनिवार को 9 बटालियन एनडीआरएफ के कार्मिक विभिन्न इलाकों में फैल रहे कोरोना वायरस संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के उद्देश्य से सदर बाजार, जमालपुर (मुंगेर) तथा बक्सर जिला के डुमराँव प्रखंडतर्गत नया भोजपुर में मेडिकल टीमों के साथ कोरोना वायरस संदिग्ध लोगों के स्क्रीनिंग और सैपलिंग की कार्यवाही में मदद में जुटे रहे. साथ ही, सिवान जिला के रघुनाथपुर तथा गोरियाकोठी प्रखण्ड में संवेदनशील इलाकों में तथा पटना शहर में बनाये गए कोरंटीन सेन्टर में सोडियम हाइपोक्लोराइट केमिकल घोल से सेनिटाइजेशन का काम किया. नालन्दा जिला के बिहारशरीफ तथा नवादा जिला के संवेदनशील इलाकों में भी एनडीआरएफ के कार्मिक हाई प्रेशर स्प्रे मशीन और केमिकल घोल की मदद से सेनिटाइजेशन का कार्य सावधानीपूर्वक किया. पुलिस लाइन बक्सर में टीम कमान्डर सुरेश बिलुंग के नेतृत्व में 9 बटालियन एनडीआरएफ के कार्मिकों ने स्थानीय पुलिसकर्मियों के लिए कोरोना

Read more

बिहार में दुकानें खोलने को लेकर अभी नहीं हुआ है फैसला

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शर्तों के साथ दी अनुमतिआज से देशभर में सभी दुकानों को खोलने की छूटबड़े मॉल, सिंगल ब्रांड स्टोर खोलने की अनुमति नहींरेड जोन और हॉटस्पॉट्स में नहीं खुलेगी कोई दुकानसिर्फ रजिस्टर्ड दुकानें ही खुलेंगी बिहार के लोगों के लिए बड़ी बात यह कि अभी तक इस राज्य में दुकान को खोलने की इजाजत सरकार ने नहीं दी है यह पूरी तरह लॉक डाउन है शाम 5:00 बजे के बाद सरकार इस बारे में फैसला ले सकती है कि दुकान खुलवाना है या नहीं इस बारे में बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने बताया कि सभी दुकानोंं को खोलने के केंद्र सरकार के गाइड लाइन पर शाम 5 बजे बैठक होग. मुख्य सचिव के साथ अन्य विभागोंं के अधिकारियों की बैठक होगी जिसमें दुकानें खोलने को लेकर फैसला हो सकता है. अगर बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दुकानें खोलने की अनुमति देते हैं तो बिहार शॉप्स एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत रजिस्टर दुकानें खोलने मिल सकती है इजाजत.

Read more

बिना ऑनलाइन अपॉइंटमेंट के नहीं जा सकते रजिस्ट्री ऑफिस

20 अप्रैल से निबंधन कार्यालयों में दस्तावेज निबंधन की प्रक्रिया प्रारंभ करने हेतु सरकार द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं जिसका अनुपालन किया जाना है-सरकारी कार्य के सुचारू संपादन हेतु निबंधन पदाधिकारी नियमित तौर पर प्रतिदिन कार्यालय आएंगे. समूह ग एवं उससे निम्न समूह के कर्मियों एवं संविदा कर्मियों में से अधिकतम 33% कर्मचारी प्रतिदिन कार्यालय आएंगे.कार्यालय में पदस्थापित कार्यपालक सहायक/ डाटा एंट्री ऑपरेटर/ संविदा नियोजित कर्मियों /कार्यालय परिचारी के संबंध में संबंधित कार्यालय प्रधान द्वारा आंतरिक व्यवस्था के तहत रोस्टर का निर्माण किया जाएगा. किसी भी दस्तावेज के निबंधन कराने हेतु पक्षकार को निबंधन विभाग के वेबसाइट www.biharregd.gov.in या www.bhumijankari.gov.in पर जाकर ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लेना आवश्यक है.अपॉइंटमेंट की तिथि को पूर्ण रूप से तैयार द kiस्तावेज मुद्रांक निबंधन एवं अन्य शुल्क चुकाए जाने का प्रमाण सहित निश्चित समय पर कार्यालय में उपर स्थापित किया जाना आवश्यक है. “दस्तावेजों में सभी पक्षकारों द्वारा हस्ताक्षरित घोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य किया जा सकता है कि दस्तावेज में कोई ऐसा तथ्य छुपाया नहीं गया है जिससे सरकारी राजस्व की हानि हुई है और बाद में जांच उपरांत राजस्व चोरी पाए जाने पर पक्षकार पर कानूनी कार्रवाई के लिए सरकार स्वतंत्र होगी.वर्तमान परिस्थिति में दस्तावेजों के निबंधन हेतु देय राशि ई चालान एवं ईस्टांप के माध्यम से ही स्वीकार किया जाएगा.प्रत्येक कार्य दिवस में निबंधन कार्यालय के मुख्य द्वार के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए संबंधित तिथि के लिए आवंटित दस्तावेजों से संबंधित पक्षकार एवं अन्य व्यक्तियों के प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. किसी दस्तावेज से संबंधित क्रेता, विक्रेता, पहचान

Read more