CAA के समर्थन में 300 फीट तिरंगे के साथ उमड़ा जनसैलाब

गड़हनी. देश मे CAA कानून के विरोध को लेकर जहाँ कई शहर शाहीन बाग बना हुआ है वही भोजपुर जिला के गड़हनी में CAA के समर्थन में हजारों लोगों के जनसैलाब ने सबको चौंका दिया है. यह जनसैलाब 300 फीट के तिरंगे को अपने हाथों में लेकर गड़हनी का भ्रमण किया. CAA,NRP व NPR के समर्थन में सोमवार को राष्ट्रवादी सेना के सौजन्य से गड़हनी शिवमंदिर के प्रांगण से हजारों की संख्या में हिन्दूओं ने 300 फीट लम्बे तिरंगे के साथ भब्य समर्थन जुलुस निकाला. जुलूस के पहले उपस्थित समर्थकों ने मंच पर सभा की. सभा को संबोधित करते हुए समर्थकों ने कहा कि नागरिकता कानून किसी का कानून छीनने व भगाने का कानून नही है. यह सब राजनीति के तहत भाजपा विरोधी पार्टियों ने यहाँ के मुस्लिम व दलित को भड़का रही है जबकि ऐसा कुछ नही है. एक बार नही दर्जनों बार प्रधानमंत्री मोदी ने देश को संबोधित करते कहा कि देश मे रह रहे किसी भी हिंदुस्तानियों को इस कानून से कोई लेना देना नही है. लेकिन यहाँ के मुस्लिम इस कानून के आड़ में शाहीन बाग बनाकर ताकत का प्रदर्शन कर रहे है और देश की जनता को उथल-पुथल कर चुके है. वही ओबैसी के पार्टी का सांसद कहता है कि 100 करोड़ हिन्दुओ पर हम 15 करोड़ मुस्लिम काफी है,15 मिनट प्रशासन हटाकर देख लो. समर्थकों ने ऐसे बयान पर चेतावनी देते हुए कहा कि ओवैसी कान खोलकर सुन लो यहाँ की जनता तुम्हारे बहकावें में नही आने वाली है. देश की जनता को उकसाना

Read more

10th के छात्र-छात्राओं को स्कूल ने दिया फेयरवेल

आरा. परीक्षा ऐसा शब्द है जिसका नाम सुनते ही दिमाग तनाव से घिर जाता है. लाख तैयारियों के बाद भी एकाग्रता चंचलता में बदल जाती है और ऐसा लगता है जैसे जल्दी से बस यह परीक्षा खत्म हो जाये. अंदर की घबराहट और इस डर को खत्म करने के साथ विद्यार्थियों को बुस्ट-अप करने के उद्देश्य से एक फेयरवेल का आयोजन सम्भावना स्कूल ने किया. संभावना आवासीय उच्च विद्यालय ने इसमें केन्द्रीय माध्यमिक परीक्षा-2020 में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को आमंत्रित किया और फेयरवेल के साथ-साथ उनकी काउंसिलिंग भी की. यह कार्यक्रम मझौवाँ स्थित विद्यालय प्रांगण में किया गया. काउंसिलिंग सह फेयरवेल कार्यक्रम में बोर्ड परीक्षा 2020 के परीक्षार्थियों को सम्बोधित करते हुए विद्यालय की प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि यह परीक्षा विद्यार्थियों को अपने भविष्य को सफल बनाने का पहला एवं अहम पड़ाव है. यहीं से तय होता है कि भविष्य में हमें क्या बनना है या क्या करना है. उन्होंने कहा कि हमारे विद्यार्थी विद्यालय की परम्पराओं का निर्वहन करते हुए अपने लक्ष्य के प्रति गंभीर होकर उस पड़ाव को सफलतापूर्वक पार करेंगें. डॉ. अर्चना ने परीक्षार्थियों को इस परीक्षा को लेकर अनेको सुझाव दिये तथा परीक्षार्थियों को उनके भावी जीवन के लिए अनेको शुभकामनायें भी दी. इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विद्यालय के प्रबंध निदेशक डॉ. द्विजेन्द्र ने बोर्ड परीक्षा 2020 में शामिल होने वाले सभी छात्र – छात्राओं को परीक्षा की तैयारी के लिए तथा परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए. उन्होंने छात्र-छात्राओं को समय

Read more

ये लीजिये अब जुड़ेंगे एक दूसरे से हर गाँव के ब्राह्मण

हर गाँव के ब्राह्मणों को जोड़ने की तैयारी में जुटा ब्राह्मण महासभा 1 मार्च को चंदवा में होगा संस्थान के कार्यालय का भव्य उद्घाटन आरा, 18 फरवरी. वर्तमान राजनीति में दरकिनार करते सामान्य वर्गों और ब्राह्मणों की हर राजनीतिक दलों द्वारा उपेक्षा के बाद ब्राह्मण सभा से जुड़े लोगों ने भी अपनी जाति के लोगों को गोलबंद कर अपनी ताकत को दिखाने का फैसला किया है. हर बात में ब्राह्मणो को कोसने वाले नेताओं और फिर ब्राह्मणों के ही तलवे चाटने वाले राजनीतिक चरित्रों को महासभा सबक सिखाएगी. इन्ही बातों को ले बीते दिनों ब्राह्मण महासभा व परशुराम सेवा संस्थान की एक बैठक सम्पन्न हुई. यह बैठक चंदवा पेट्रोल पंप के पास स्थित परशुराम सेवा संस्थान के नव निर्मित कार्यालय मे की गई. इस बैठक में संस्थान से जुड़े वरिष्ठ और युवा सदस्यों के साथ नए लोगो ने भी भाग लिया. सभा को संस्थान के अध्यक्ष अंजनी तिवारी ने सम्बोधित किया. कार्यक्रम का संचालन गुड्डु ओझा ने किया. सभा की बैठक मे सभी के सहमति पर प्रखर समाज सेवी, ब्राह्मण नेता व ब्राह्मणों के प्रेरणास्रोत ईं संजय शुक्ला को परशुराम सेवा संस्थान का मुख्य संरक्षक घोषित किया गया. बैठक मे तय किया गया कि आगामी 1 मार्च को परशुराम सेवा संस्थान के कार्यालय का विधिवत उद्घाटन किया जाएगा और उसी दिन भव्य होली मिलन का कार्यक्रम भी किया जाएगा. बैठक में परशुराम सेवा संस्थान की सदस्यता अभियान को लेकर भी ब्लू प्रिंट तैयार किया गया जिसमें यह तय किया गया कि पुरे शाहाबाद के समस्त जनपद एवं हर गाँव के

Read more

कहाँ खुला भोजपुर नाट्य महोत्सव के आयोजन का कार्यालय ?

19 राज्यों की 25 नाट्य दलों ने दी महोत्सव में आने की स्वीकृति आरा,16 फरवरी. स्थानीय जैन स्कूल परिसर में आगामी 1 से 5 मार्च को आयोजित हो रहे भोजपुर नाट्य महोत्सव 2020 सह जैन स्कूल शताब्दी समारोह के सफल आयोजन हेतु आरा रंगमंच कार्यालय का विधिवत उद्घाटन उप विकास आयुक्त भोजपुर अंशुल अग्रवाल व पर्यावरणविद – समाजसेवी ई. संजय शुक्ला के हाथों संयुक्त रूप से हुआ. कार्यालय जैन स्कूल परिसर में ही खोला गया. यह आयोजन आरा रंगमंच, श्री आदिनाथ ट्रस्ट व जैन स्कूल के संयुक्त तत्वाधान में किया जा रहा है. कार्यालय उद्घाटन के बाद अपने संबोधन में अंशुल अग्रवाल ने कहा कि यह जिले के लिए गर्व की बात है कि किसी संस्थान का 100 वां वर्ष मनाया जा रहा है. इस शताब्दी वर्ष के समारोह में आरा रंगमंच द्वारा पुरे भारत की संस्कृति को एक मंच पर लाने का यह प्रयास सराहनीय है. ऐसे आयोजन शताब्दी वर्ष पर ही नही बल्कि प्रत्येक वर्ष होने चाहिए. पर्यावरणविद व समाजसेवी ई. संजय शुक्ला ने श्री आदिनाथ ट्रस्ट, जैन स्कूल व आरा रंगमंच के इस संयुक्त समारोह को त्रिवेणी संगम का नाम दिया. उन्होंने कहा कि यह आयोजन आने वाले वर्षों के लिए मील का पत्थर साबित होगा. कार्यक्रम में श्री आदिनाथ ट्रस्ट के सचिव कमल किशोर जैन ने अपने संबोधन में कहा कि शताब्दी वर्ष सिर्फ जैन स्कूल का ही नही बल्कि बल्कि श्री आदिनाथ ट्रस्ट व दानवीर पुज्य बाबूजी श्री हर प्रसाद दास जैन की पुण्यतिथि का भी यह शताब्दी वर्ष है. कार्यक्रम को ज्योति प्रकाश जैन

Read more

‘एकलव्य-खेल’ के लिए एक ही विद्यालय के तीन ‘एकलव्य’ चयनित

सम्भावना स्कूल के तीन छात्रों का चयन एकलव्य खेल 2020 के लिए, विशेष प्रशिक्षण के लिए आज हुए रवाना आरा, 16 फरवरी. प्रतिभा कभी भी जाति,उम्र या स्कूल की मोहताज नही रहती है. तभी तो सीखने वालों की ललक ने बिना गुरुकुल और स्कूलों के भी किसी न किसी को अपना गुरु बना दिया. जिनके पास देने को कुछ न हुआ तो छुप के ही ज्ञान को अर्जित कर अपनी हुनर का परिचय दिया. ये हुनर ये प्रतिभा आदिकाल से आजतक बद्दस्तूर जारी हैं और इसीक्रम में एक ही विद्यालय के तीन प्रतिभावों ने एकलव्य-खेल 2020 के लिए सलेक्ट होकर साबित कर दिया कि विद्यालय ही नही जिले के एकलव्य वे ही हैं. स्थानीय मझौवाँ के शुभ नारायण नगर स्थित सम्भावना आवासीय विद्यालय के तीन छात्रों का चयन एकलव्य खेल 2020 के लिए किया गया है. बिहार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग तथा बिहार राज्य खेल प्राधिकरण द्वारा आयोजित होने वाला यह आयोजन 25-27 फरवरी तक पटना में आयोजित किया जाएगा. इसमे बिहार हैंडबॉल के टीम के लिए विद्यालय के कक्षा नवम के सुमित कुमार सिंह, रौशन कुमार सिंह और उत्सव राज का चयन किया गया है. विद्यालय के तीनों खिलाड़ी जहानाबाद में होने वाले 16 से 23 फरवरी तक विशेष प्रशिक्षण शिविर के लिए आज (रविवार) रवाना हुए. बताते चलें इन तीनो खिलाड़ियों में से दो रौशन और सुमित पूर्व में भी हैंडबॉल के नेशनल टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके है. विद्यालय के छात्रों के इस चयन पर स्कूल की प्राचार्या डॉ अर्चना सिंह काफी प्रसन्न है और

Read more

मैट्रिक की परीक्षा 17 फरवरी से, जूता पहने तो नही दे पाएंगे परीक्षा

जूता-मोजा और मीडिया कर्मियों के साथ मोबाइल,ब्लूटूथ, व्हाट्सएप आदि टेक्नोलॉजी के उपकरण पर बैन 36 परीक्षा केन्द्रों पर 49561परीक्षार्थियों के लिए 103 दंडाधिकारी तथा 80 पुलिस पदाधिकारी नियुक्त जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना भी की गई है जिसका दूरभाष संख्या 06182-248701 है. आरा, 16 फरवरी. 17 फरवरी यानि सोमवार से प्रारम्भ होने वाले वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 2020 का स्वच्छ, शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा के संचालन हेतु जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा एवं पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार द्वारा विधि व्यवस्था संधारण के निमित्त 103 दंडाधिकारी तथा 80 पुलिस पदाधिकारी सहित भारी संख्या में पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है. जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा है कि परीक्षा हर हाल में शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त होगी तथा कदाचार में संलिप्त किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा. परीक्षा के सफल आयोजन हेतु उन्होंने सभी दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों के साथ कृषि भवन सभागार में शनिवार को ब्रीफिंग की तथा परीक्षा के सफल ,शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त संचालन हेतु प्राप्त निर्देश का सख्ती से अनुपालन करने को कहा. वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 17 फरवरी से प्रारंभ होकर 24 फरवरी तक 2 पालियों में संपन्न होगा. प्रथम पाली 9:30 बजे पूर्वाह्न से 12:45 बजे अपराहन तक एवं द्वितीय पाली 1:45 बजे अपराहन से 4:30 अपराहन तक संचालित होगी. इसके लिए भोजपुर जिला में 36 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिसमें कुल 49561 परीक्षार्थी शामिल होंगे. प्रथम पाली में 23647 परीक्षार्थी तथा द्वितीय पाली में 25914 परीक्षार्थी शामिल होंगे. आरा अनुमंडल क्षेत्र में 25 परीक्षा केंद्र, जगदीशपुर अनुमंडल क्षेत्र में तीन, बिहिया में 3 परीक्षा केंद्र एवं

Read more

हार्ट अटैक, लकवा और ब्रेन हेमरेज से बचने का उपाय बता रहे हैं डॉक्टर, मुफ्त में बांट रहे ‘जिंदगी’

जानकारी के अभाव में बढ़ रहे हर्ट अटैक के मरीज बचाव के लिए उपाय सुझाये, मरीजों ने कहा यहीं असली भगवान आरा,10 फरवरी. डॉक्टर को धरती का भगवान कहा जाता है. लेकिन, जिस तरह आकाश के भगवान का बाजारीकरण हुआ है. धर्मांधता के अंधदौड में जहां भगवान को छोड़ व्यक्ति पूजा की प्रधानता हो गयी है. ठीक वैसे ही धरती के भगवान ‘डॉक्टर’ भी बाजार से प्रभावित होकर मरीजों की सेवा नहीं बिजनेस करने लगे हैं. फिर भी यह बात गौर करने योग्य है कि जैसे हम कभी मरने से बच जाएं या अचानक हमारे साथ कोई चमत्कार हो जाय तो भगवान बर्बस याद आ जाते हैं. वैसे ही जब गंभीर बीमारी से बचा लें तो डॉक्टर में भी कई बार भगवान दिखते हैं. वैसे तो इस पेशे में आने से पहले डॉक्टर शपथ लेते हैं कि वे सबसे पहले मरीज की जान बचाने, उन्हें सेहतमंद करने के लिए प्रयास करेंगे. लेकिन आज के इस अर्थयुग में डॉक्टर के यहां मरीजों से पहले रुपये की बात की जाती है. रोग के लिहाज से एडवांस में रुपये जमा कराए जाते हैं. कई बार तो ऐसा भी सुनने में आता है कि मरीज को पैसे के अभाव में बंधक बना लिया जाता है. कई मरीज इलाज के बगैर दम तोड़ देते हैं. लेकिन, आज भी कुछ ऐसे डॉक्टर हैं जो पैसे के लिए नहीं बल्कि सेवा के लिए जी रहे हैं. उन्ही में से एक हैं डॉ रणजीत कुमार सिंह. न्यूरो रोग विशेषज्ञ डॉ रणजीत कुमार देश के सबसे बड़े अस्पतालों दिल्ली

Read more

रेलवे ने “भोजपुरी पेंटिंग” को नही दिया जगह तो क्या होगा आंदोलन ?

भोजपुरी पेंटिंग के साथ भोजपुर की पहचान अरण्य देवी, भगवान महावीर और कुंवर सिंह को प्रतीक के रूप में स्थापित करने की मांग आरा,3 फरवरी. रेलवे द्वारा भोजपुरी को भोजपुर के मुख्यालय में नजरअंदाज करने के कारनामे के बाद जिलावासी आंदोलन के मूड मे दिख रहे हैं. यह नजरअंदाज किसी बड़े आंदोलन का रूप ले सकता है. जंक्शन पर चल रहे सौंदर्यीकरण के दौरान भोजपुरी कला के बदले मिथिला पेंटिंग लगाए जाने की घोषणा का विरोध अब जोर पकड़ने लगा है. ट्वीटर और सोशल मीडिया पर इसके विरोध के बाद लगता है यह मामला तूल पकड़ने वाला है. भोजपुर में भोजपुरी पेंटिंग को रेलवे द्वारा जगह नही देकर मिथिला पेंटिंग की घोषणा कहीं जनांदोलन का माहौल न बना दे. क्योंकि पूर्व में भी भोजपुरी की जब पढ़ाई बन्द हुई तो ब्यापक जनांदोलन हुआ था जिसके बाद पुनः सरकार को भोजपुरी की पढ़ाई शुरू करनी पड़ी. एक बार फिर से जनता में इस बात को लेकर सुगबुगाहट है और हर तबके के लोग इसे भोजपुरी स्वाभिमान का हनन मान रहे हैं. सोशल मीडिया पर विरोध के बाद रविवार को एक निजी अस्पताल के उद्घाटन में आरा पहुँचे केंद्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री और स्थानीय सांसद आर के सिंह को इस सम्बंध में एक ज्ञापन भोजपुरी को समर्पित संस्था आखर, सर्जना ट्रस्ट, अभिनव एंड एक्ट, जैन समिति भोजपुर के सदस्यों और अन्य भोजपुरी कलाकारों ने संयुक्त रूप से दिया. ज्ञापन के साथ आखर द्वारा जारी भोजपुरिया स्वाभिमान कैलेंडर, भोजपुरी भित्तिकला और लोकपरंपराओं पर आधारित पुस्तिकाओं और चित्रकार संजीव सिन्हा की बनाई पीड़िया की पेंटिंग

Read more

3 फरवरी से शुरू होगा जिले के कोर्ट में ई-टिकट

आरा, 2 फरवरी. बिहार अधिवक्ता विधि कल्याण संशोधन अधिनियम के तहत वेलफेयर स्टाम्प शुल्क 15 से बढ़ाकर 25 किया गया है. इसे देखते हुए फ्रैंकीन मशीन से पच्चीस रूपये का ई-टिकट प्रिंट कराने की व्यवस्था सिविल कोर्ट में कर दी गई है. इस संबंध में जिला बार एसोसिएशन आरा के सचिव विद्या निवास सिंह ने बताया कि पिछले वर्ष फरवरी माह से अधिवक्ता बढ़े हुए शुल्क के अनुसार शपथ पत्र एवं अधिवक्ता अधिकार पत्र पर तीस रूपये का टिकट लगाने को विवश थे. पच्चीस का टिकट प्रिंट नहीं होने की वजह से पांच रूपये का अतिरिक्त खर्च होता था सचिव ने बताया कि ई-टिकट तीन फरवरी दिन सोमवार से जिले के व्यवहार एवं अनुमंडल न्यायालयों में मिलनी शुरू हो जाएगी. आरा से ओ पी पाण्डेय की रिपोर्ट

Read more

भोजपुर में भोजपुरी को सम्मान नहीं, रेलवे ने किया ऐसा कारनामा

‌आरा. पिछले कुछ समय से स्थानीय सांसद-सह-मंत्री आर के सिंह के प्रयास से भोजपुर के मुख्यालय आरा जंक्शन पर विकास के कार्य चल रहे हैं. पर हाल ही में रेलवे ने इस विकास के नाम पर जो खेल खेला है उसके विरोध में भोजपुर जिले की जनता ही नहीं बल्कि देश-विदेश में बसे समूचे भोजपुरी जनता ने प्रतिरोध की आवाज़ बुलंद कर दी है. भोजपुरी लोकसंस्कृति और कला की जगह मिथिला पेंटिंग लगाये जाने का विरोधपिछले कुछ समय से इस बात की चर्चा थी कि साज-सज्जा के क्रम में स्टेशन भवन पर भोजपुरी कला-संस्कृति और स्थानीय परम्पराओं को दिखाया जाएगा. सांसद के पिछले कार्यक्रम में स्टेशन भवन के मॉडल लुक का बैनर भी लगा और बताया गया कि स्टेशन पर वीर कुँवर सिंह, नगर की अधिष्ठात्री माँ आरण्य देवी और अन्य ऐतिहासिक,धार्मिक स्थलों और उनसे जुड़ी कहानियों का डिस्प्ले लगेगा. हाल ही में नए डी आर एम ने कमान संभाली और 29 जनवरी को आरा स्टेशन पर विजिट के बाद यह घोषणा हुई कि अब स्टेशन पर भोजपुरी कला के बजाय मिथिला पेंटिंग लगाई जाएगी और सिर्फ एक महीने में काम को पूरा कर दिया जाएगा. इस खबर के मीडिया में आते ही भोजपुर की जनता आक्रोशित हो गई है. आज पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक आरा स्टेशन के इंस्पेक्शन पर भी आये. ट्वीट कर जताया विरोध आज महाप्रबंधक के आगमन को देखते हुए ट्विटर पर देश-विदेश के कई भोजपुरी प्रेमियों ने पूर्व मध्य रेल, रेल मंत्रालय तथा सांसद के ट्विटर हैंडल को टैग करते हुए सैकड़ों की संख्या में

Read more