बड़ी खबर: कोरोना ने ले ली आईजी विनोद कुमार की जान

IPS विनोद कुमार पूर्णिया के पहले आईजी बने थे एक तरफ बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारी जोर शोर से चल रही है चुनाव प्रचार चल रहा है और इन सब के बीच कोरोना लोगों के लिए काल बना हुआ है. बिहार सरकार के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी और एक साल पहले ही पूर्णिया के पहले आईजी के पद पर पदस्थापित विनोद कुमार की जान कोरोना ने ले ली. आईजी पूर्णिया विनोद कुमार की एम्म्स पटना में कोरोना से मौत की खबर से पुलिस मुख्यालय में शोक की लहर दौड़ गयी. पटना एम्स के कोरोना नोडल ऑफिसर डॉ संजीव कुमार ने आईजी विनोद कुमार की मौत की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि दो दिन पहले शुक्रवार की रात ही आईजी विनोद कुमार को अत्यंत नाजुक हालत में एम्स लाया गया था. कोरोना पॉजिटिव आई जी विनोद कुमार को एम्स में वेंटिलेटर पर रखा गया और इलाज के दौरान उनकी हालत लगातार बिगड़ती चली गयी. शनिवार की आधी रात बाद एम्स पटना में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विनोद कुमार कोरोना से हार गये. जानकारी के मुताबिक कुछ दिनों पूर्व ही पूर्णिया आईजी विनोद कुमार की हालत खराब होने पर पूर्णिया में अस्प्ताल में भर्ती किया गया था लेकिन हालत नही संभलने पर उन्हें दो दिन पहले ही एम्स लाया गया था. जानकारी के मुताबिक अगस्त 2019 में ही इस वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी को आईजी पूर्णिया के पद पर सरकार ने पदस्थापित किया था. पटना से अजीत

Read more

फुलवारी की बेटी ने किया कमाल

पटना के फुलवारीशरीफ की तुबा अफशां को नीट परीक्षा में 720 में 641 नंबर मिले हैं. तुबा  ने अपनी प्रारंभिक स्कुल की शिक्षा कैंब्रिज पब्लिक स्कूल फुलवारी शरीफ से की जबकि मैट्रिक में 10सीजीपीए और इंटर में 92 प्रतिशत नंबर लाकर स्कुल का नाम रौशन किया था. नीट में बिहार से 83,038 अभ्यर्थी शामिल हुए थे, इसमें 46,327 सफल हुए. घर के सभी लोगों के चेहरे पर खुशिया ही खुशियां हैं. वहीं उसकी मां ईशरत प्रवीण ने बताया कि मेरी बच्ची रोजना 20-22 घंटे पढ़ाई करती थी जिसका परिणाम आज उसे देखने को मिला आगे कहा कि मेहनत करने से ही फल मिलता है और मेहनत का फल बहुत मीठा होता है. वहीं पिता अमरीरूद्दीन अंसारी जो कि पीएचईडी इस्लामपुर में जुनियर इंजिनियर के पद पर कार्यरत हैंं. यह खबर जब ईसापुर के फेडरल कालोनी के लोगों को पता चला तो लोगों द्वारा बधाई देने का सिलसिला जारी है वहीं वार्ड नंबर 26 के वार्ड पार्षद मो नईम ने कहा कि सभी बच्चे एवं बच्चियां इसी तरह से मेहनत करें और कामयाबी हासिल करें जिससे कि उनहें समाज में इज्जत कि नजर से देखा जा सके. तुबा अफशां ने कहा कि वह  कार्डियोलॉजी में विशेषज्ञता हासिल कर दिल से जुड़ी बीमारियों का इलाज करेगी साथ ही साथ गरीबों के लिए निःशुल्क ईलाज करने कि बात कही.मां को दिया सफलता का श्रेयमां ईशरत प्रवीण ने बताया कि वह शुरुआत से ही  पढ़ाई में काफी अच्छी रही. अपनी सफलता का श्रेय अपनी मां को देते हुए तुबा ने कहा कि आज उनकी

Read more

कोरोना बना जानलेवा, बिहार के मंत्री का निधन

फुलवारी।। बिहार के सरकार के एक और मंत्री का निधन हो गया है. पिछले दिनों बिनोद कुमार सिंह की मौत ब्रेन हैमरेज से हो गई थी. गुरुवार देर रात बिहार के पंचायत राज मंत्री कपिल देव कामत का निधन हो गया. मधुबनी के बाबूबरही से विधायक कपिल देव कामत को कोरोना संक्रमण के बाद पटना एम्स में भर्ती कराया गया था. उनके निधन पर सीएम नीतीश कुमार ने शोक जताया है. बिहार सरकार के मंत्री कपिलदेव कामत की स्थिति नाजुक बनी हुई थी. कोरोना संक्रमित होने के बाद उनको पटना एम्स में भर्ती कराया गया था. उन्हें पहले से ही किडनी की परेशानी थी. फिलहाल उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. ब्लड प्रेशर भी कम था. कामत की हालत पर डॉक्टर लगातार नजर बनाये हुए थे. लेकिन देर रात उनका निधन हो गया. पटना से अजीत

Read more

पूर्व मुख्यमंत्री के पौत्र को भी मिला टिकट

पटना।। गोपालगंज से महागठबंधन समर्थित कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मुख्यमंत्री स्व अब्दुल गफूर के पौत्र आसिफ गफूर को सिम्बल मिला है. गोपालगंज सदर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस नेता आसिफ गफूर को प्रत्याशी बनाने का फैसला आला कमान ने लिया और देर रात सिम्बल भी कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा ने थमा दिया. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्व अब्दुल गफूर के पोते आसिफ गफूर गोपालगंज में शुक्रवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. पहले गोपालगंज के ही बरौली से आसिफ गफूर विधानसभा चुनाव कांग्रेस के सिम्बल पर लड़ चुके हैं. इस बार चुनाव में बरौली सीट राजद के खाते में चला गया है जहाँ से एजाजुल हक राजू को प्रत्याशी बनाया गया है. गोपालगंज से कांग्रेस प्रत्याशी बनाये जाने पर कांग्रेस और महागठबंधन समर्थकों में खुशी की लहर है. इनके अलावा कांग्रेस ने मुजफ्फरपुर से विजेंद्र चौधरी, बांकीपुर से शत्रुघ्न सिन्हा के पुत्र लव सिन्हा, बिहारीगंज से शरद यादव की पुत्री सुभाषिनी और पटना साहिब से प्रवीण कुशवाहा को टिकट दिया है . वहींं लालगंज से निखिल कुमार के भतीजे पप्पू सिंह और वैशाली में इंजीनियर संजीव सिंह का टिकट फाइनल किया है. सूत्रों के अनुसार राजगीर से रवि ज्योति पासवान और हरनौत से रवि गोल्डन के अलावा बेलदौर से चंदन यादव, नालंदा से गुंजन पटेल और बेनीपुर से मिथिलेश चौधरी को कांग्रेस का सिंबल मिला है. सोनबरसा में तारिणी देवी, चनपटिया में अभिषेक रंजन, रोसड़ा से नरेंद्र कुमार विकल और पूर्णिया सीट पर इंदु सिन्हा को कांग्रेस से टिकट दिया है. कांग्रेस ने कुचायकोट विधानसभा सीट से बाहुबली काली पांडे को

Read more

बिहार के एक और मंत्री की हालत गंभीर

2 दिन पहले बिहार सरकार के मंत्री विनोद कुमार सिंह की मौत हुई थी. अब बिहार के एक और मंत्री की हालत नाजुक बनी हुई है. पटना एम्म्स में भर्ती बिहार सरकार के मंत्री कपिल देव कामत की हालत अत्यंत नाजुक बनी हुई है. उनका इलाज एम्स में वेंटिलेटर पर चल रहा है. मंत्री कपिल देव कामत के इलाज पर एम्स के विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम निगरानी रख रही है. इसके अलावा पटना एम्स में बुधवार को 4 मरीजो की मौत कोरोना से हो गयी, जिसमेंं पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता और टाइम्स ऑफ इंडिया के अवकाश प्राप्त वरीय पत्रकार रवि दयाल का आज सुबह पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में कोरोना के कारण निधन हो गया. वहीं नए मरीजो में 12 मरीजो की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव निकली है .एम्स कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार के मुताबिक पटना एम्स में  रामकृष्ण सेवा आश्रम अररिया  के 75 वर्षीय अमरनाथ ठाकुर ,भोजपुर नरही चंडी निवासी 65 वर्षीय मोहन सिंह,दानापुर झखडी महादेव निवासी 52 साल के विनोद ठाकुर एवम पटना के एएन कॉलेज आर डी पैलेस निवासी 66 वर्षीय रविनेश्वर दयाल कि मौत हो गयी है. रविनेश्वर दयाल  पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता और टाइम्स ऑफ इंडिया के अवकाश प्राप्त वरीय पत्रकार थे .. उनके निधन से अधिवक्ता जगत और पत्रकारिता जगत में शोक की लहड़ दौड़ गयी . वहीं बुधवार को एम्स के आइसोलेशन वार्ड में 12 नये मरीजो की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है.  इसके आलावा  एम्स में 15 लोगों ने कोरोना को मात दे दिया जिन्हें अस्पताल

Read more

दानापुर,मोकामा और फतुहा में फिर मैदान में बाहुबली

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में एक बार फिर बाहुबलियों का जलवा देखने को मिलेगा. विशेष रुप से राजधानी पटना की 3 विधानसभा सीटों पर लोगों की खास नजर है. पटना की फतुहा, दानापुर और मोकामा विधानसभा सीटों पर तीन बाहुबली फिर से ताल ठोक रहे हैं. इधर मोकामा विधानसभा सीट पर पिछले तीन टर्म से जीत रहे दबंग अनंत सिंह फिर मैैैदान में हैं जिन पर करीब 40 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. इस बार राष्ट्रीय जनता दल ने अनंत सिंह को मोकामा से अपना उम्मीदवार बनाया है. इधर दानापुर विधानसभा सीट पर भी दिलचस्प मुकाबला होने वाला है. सोमवार देर रात रीतलाल राय को राजद ने टिकट देकर यहाँ के चुनाव को दिलचस्प बना दिया है. राजद से सिम्बल मिलने के बाद रीतलाल मंगलवार को अपना नामांकन भी करेंगे. मालूम हो कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद दानापुर से दो बार विधायक रह चुके हैं. वहीं राजद के डॉक्टर रामानन्द यादव फतुहा से नामांकन दाखिल करने निकल पड़े हैं . कभी पटना पश्चिम और दानापुर से विधायक रहे डॉ रामानन्द यादव अपने गृह क्षेत्र फतुहा से लगातार विजयीश्री का ताज पहनते आ रहे हैं. अब पटना से सटे दानापुर विधान सभा सीट काफी महत्वपूर्ण और हॉट सीट के रूप में सामने आयेगा. लगातार चार बार यहाँ से भाजपा की आशा सिन्हा विधायक हैंं, जो भाजपा का गढ़ बन चुका है. अब इस किले को तोड़ने में राजद उम्मीदवार रीतलाल कितना सफल होते हैं ,यह तो आने वाला समय ही बताएगा. लेकिन रीतलाल जेल से निकलने के बाद लगातार जन सम्पर्क चला

Read more

बिहार के मंत्री का दिल्ली में निधन

बिहार सरकार के मंत्री विनोद कुमार सिंह का निधन हो गया है. वह कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे. जिसके बाद उनको दिल्ली के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. पहले कोरोना हुआ और स्वस्थ होने के करीब एक महीने बाद नीतीश कैबिनेट के मंत्री विनोद कुमार सिंह को 16 अगस्त को ब्रेन हेमरेज हुआ. ब्रेन हेमरेज के बाद मंत्री विनोद सिंह को तत्काल पटना के रुबन अस्पताल में एडमिट कराया गया. फिर यहां से उनको एयर एंबुलेंस से दिल्ली भेज गया. बता दें कि पिछड़ा-अति पिछड़ा कल्याण मंत्री विनोद सिंह 28 जून को कोरोना संक्रमित पाए गए थे. जिसके बाद उन्हें कटिहार जिला स्थित विनायक होटल में आइसोलेट किया गया था. कुछ दिनों तक आइसोलेशन में रहने और इलाज के बाद मिनिस्टर की रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव आ गई थी. लेकिन कुछ दिन बाद ब्रेन हैमरेज हो गया. राजेश तिवारी

Read more

सासाराम से राजेश गुप्ता ने किया नामांकन

बिहार चुनाव के पहले चरण के नामांकन के अंतिम दिन सासाराम विधानसभा सीट से राष्ट्रीय जनता दल के प्रत्याशी राजेश गुप्ता ने अपना नामांकन का पर्चा दाखिल कर दिया. राजेश गुप्ता के नामांकन के दौरान भारी संख्या में समर्थक जुटे लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना के कारण समर्थक नामांकन स्थल से दूर ही रहे. राजद ने राजेश गुप्ता को सासाराम विधानसभा सीट से अपना प्रत्याशी बनाया है. नामांकन के बाद राजेश गुप्ता ने बताया कि उनका लक्ष्य है कि सासाराम का चहुमुखी विकास हो. शहरी क्षेत्र से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में जो मूलभूत समस्याएं हैं, उनका निराकरण हो. उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने उन पर भरोसा किया है और वे जनता के विश्वास पर खरे उतर कर तेजस्वी प्रसाद यादव को मुख्यमंत्री बनाने का काम करेंगे. इधर स्थानीय नीतीश कुमार ने कहा कि राजेश गुप्ता के नामांकन से हम सबकी उम्मीदें बढ़ गई हैं नीतीश ने बताया कि राजेश गुप्ता सामाजिक कार्यों में हमेशा बढ़-चढ़कर भाग लेते रहे हैं इसलिए उनकी जीत निश्चित है. सासाराम ब्यूरो रिपोर्ट

Read more

केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन

बिहार की राजनीति में पिछले तीन दशक से काबिज केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का गुरुवार की शाम निधन हो गया. वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे और अस्पताल में भर्ती थे. 74 साल की रामविलास पासवान राजनीति के मौसम विज्ञानिक के तौर पर विख्यात थे. बिहार की सियासत में लालू यादव और नीतीश कुमार के साथ रामविलास पासवान की तिकड़ी काफी मशहूर रही. रामविलास पासवान के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि ‘देश ने अपना नेता खोया है पर मैंने अपना बड़ा भाई खो दिया. मेरे लिए यह पीड़ा असहनीय. उनकी कमी मेरे जीवन में हमेशा खलेगी’ बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह ने भी रामविलास पासवान के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है. pncb

Read more

अमनौर वाले बाबा की भी सुन लीजिए

चोकर नहीं अमनौर का नौकर हूं मैं. जी हां, आपने सही सुना. दरअसल अमनौर विधानसभा क्षेत्र भारतीय जनता पार्टी और जेडीयू के लिए नाक की लड़ाई हो गई है. सीट शेयरिंग के हिसाब से अमनौर विधानसभा क्षेत्र एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी के हवाले हुआ है. नीतीश कुमार अपने चहेते उम्मीदवार को यहां से टिकट देना चाह रहे थे. लेकिन भारतीय जनता पार्टी की जिद के आगे वह सीट एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी के हवाले हुई लेकिन पार्टी की अंदरूनी कलह एक बार फिर सतह कर आ गई है. दरअसल वहां से भारतीय जनता पार्टी के तत्कालीन विधायक चोकर बाबा वहां से 2015 में विधायक चुनकर आए थे. लेकिन इस बार उनके लिए नाक की लड़ाई बन गई है. चोकर बाबा ने अमनौर की जनता को एक भावनात्मक पत्र के माध्यम से अपील की है कि मैं चोकर बाबा अमनौर का नौकर हूं. अमनौर की जनता उन्हें एक बार फिर इस क्षेत्र के विकास के लिए वोट देना चाह रही है चोकर बाबा का भावनात्मक पत्र नीचे दिया गया है. पूर्व विधायक मंटू सिंह ने भी बीजेपी का दामन थाम लिया है. दरअसल अमनौर विधानसभा क्षेत्र 2010 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू के हवाले था वह उस समय वहां से मंटू सिंह उम्मीदवार थे. राजेश तिवारी

Read more