बिहार में कोरोना पॉजिटिव केस बढ़े

बिहार में मंगलवार को 6 और लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए सरकार की परिस्थितियों पर पैनी नजर, लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है:- मुख्यमंत्री राज्य में जरूरी सामानों की कोई कमी नहीं है, लोगों को खाद्य सामग्री एवं जरूरी चीजें उपलब्ध होती रहेंगी। लाॅकडाउन के कारण बिहार के बाहर फंसे लोगों की हर सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है बिहार में आज कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 38 तक पहुंच गई है. 6 अप्रैल तक बिहार में कुल 32 कोरोना पॉजिटिव थे. स्वास्थ्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि मंगलवार को सीवान से चार और दो लोग बेगूसराय में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. हालांकि 38 में से अब तक 15 मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं. इन सबके बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को 1, अणे मार्ग में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों की अद्यतन स्थिति की मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ गहन समीक्षा की. समीक्षा के क्रम में राज्य में दवाओं, मास्क और अन्य जरूरी इक्यूपमेंट्स की उपलब्धता के संबंध में जानकारी दी गयी. संक्रमित लोगों के इलाज के लिये जरूरी कदम उठाये गये हैं, उनकी उचित देखभाल की जा रही है. कोरोना संदिग्धों की अधिक से अधिक टेस्टिंग करायी जा रही है.संदिग्ध लोगों की स्क्रीनिंग तेजी से करायी जा रही है.समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देेेश देते हुये कहा कि दवाओं, मास्क और अन्य जरूरी इक्यूपमेंट्स की उपलब्धता सुनिष्चित करायी जाय और यह ध्यान रखा जाय कि इसकी कमी न हो.

Read more

हथियार के साथ 5 गिरफ्तार, लूट की बना रहे थे योजना

आरा,7 अप्रैल. अपराधियों का मनोबल लॉकडाउन में भी कम नही हुआ है. लेकिन इस तरह के अपराधियों पर भोजपुर प्रशासन की कड़ी निगाह है. ऐसे ही लूट की योजना बनाते पांच अपराधियों को हथियार के साथ भोजपुर पुलिस ने धर दबोचा. घटना भोजपुर जिले के नवादा थाना की है जहाँ पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए लुटेरों के पास से एक देशी कट्टा और जिंदा कारतूस बरामद किया. ये सभी जिस कार में सवार थे उसे भी पुलिस ने जब्त कर लिया है. सदर SDPO अजय कुमार के अनुसार ये अपराधी बड़े वारदात को अंजाम देने की मंशा से लॉकडाउन में निकले थे. पुलिस अपराधियों से पूछताछ कर रही है पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट

Read more

सावधान! सोशल डिस्टेन्स पर भोजपुर प्रशासन सख्त, सिर्फ 5 घण्टे ही खुलेंगी दुकाने

आरा,7 अप्रैल. कोरोना संक्रमण के मद्देनजर 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामानों की खरीद के लिए जिला प्रशासन ने किराना, दूध,सब्जी और दवा जैसी जरूरी चीजों की दुकानों को सुबह 6 बझे से शाम 6 बझे तक खुला रखने का आदेश दिया था. जिला प्रशासन ने दुकानों से खरीदारी करते वक्त सोशल डिस्टेनसिंग का पालन करने को कहा था, जिससे किसी भी व्यक्ति को यह संक्रमण नही पकड़े. लेकिन सब्जी दुकान हो या किराना या फिर दवा दुकान, हर जगह सोशल डिस्टेनसिंग का लोग मजाक उड़ाते देखे गए. बार-बार पुलिस माइकिंग से अपील के बाद भी जब नही हुआ सोशल डिस्टेनसिंग का पालन तो इसे सख्ती से लागू करने के लिए सदर अनुमंडलाधिकारी ने पुनः एक कड़ा आदेश जारी किया है. इस आदेश के तहत अब जरूरी समानों की खरीदारी के लिए सुबह 6 से 9 बजे तक और शाम में 3 बजे से 5 बजे तक ही दुकाने खुली रहेंगी. साथ ही दुकानों पर सोशल डिस्टेनसिंग मेंटेन नही करने वालों पर पुलिस सख्ती से पेश आएगी. अतः अगर आप दुकानों पर जरुरी समानो की खरीदारी कर रहे हैं तो उक्त बातों का जरूर ध्यान रखें वरना यह चूक आपको भारी पड़ सकती है. आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more

बड़ा फैसला: 1 साल तक 30%वेतन दान करेंगे सांसद

कोरोनावायरस ने ना सिर्फ इंसानी शरीर बल्कि विश्व अर्थव्यवस्था को भी करारी चोट दी है. भारत भी ऐसे देशों में से एक है जहां 21 दिनों के लॉक डाउन के कारण अर्थव्यवस्था पर बड़ा असर पड़ा है. इन सब को देखते हुए केंद्रीय कैबिनेट ने आज एक बड़ा फैसला लिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत सभी कैबिनेट मंत्रियों और सांसदों की वेतन में 30 फीसदी की कटौती की गई है और यह कटौती एक साल तक की जाएगी. देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और कई राज्यों के राज्यपाल ने स्वेच्छा से सामाजिक जिम्मेदारी के रूप में वेतन कटौती का फैसला किया है. यह धनराशि भारत के समेकित कोष में जाएगी. फैसले की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कैबिनेट ने भारत में कोरोना वायरस के प्रतिकूल प्रभाव के प्रबंधन के लिए 2020-21 और 2021-22 के लिए सांसदों को मिलने वाली निधि यानी MPLAD फंड को अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया है. दो साल के लिए MPLAD फंड के 7900 करोड़ रुपये का उपयोग भारत की संचित निधि में किया जाएगा.

Read more

तो…9 का मतलब उम्मीदों की आशा !

कोरोना के खिलाफ देशवासियों का दीप वाण आरा/बक्सर, 6 अप्रैल. कोरोना के संकट के बीच लॉक डाउन के दौरान PM मोदी के आह्वान पर देशवासियों ने 9 बजे रात्रि में 9 मिनट तक दीप जलाकर एकता का परिचय दिया.

Read more

धनुपरा में जयप्रकाश चौधरी तो कोइलवर में थाना प्रभारी ने की मदद

भोजपुर (आमोद कुमार) | कोरोना वायरस को लेकर किये लॉक डाउन के कारण मजदूर वर्ग के लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. मजदूर वर्ग भुखमरी के कगार पर आ गए हैं. ऐसे में आज वैश्विक महामारी ,राष्ट्रीय आपदा करोना की दौड़ मे प्रभारी जदयू विधानसभा ब्रह्मपुर सह जिलाध्यक्ष श्रमिक प्रकोष्ठ जदयू भोजपुर के जयप्रकाश चौधरी द्वारा अपने पैत्रिक गाँव धनुपरा (आरा) में मजदूरों की बस्तियों मे लगभग दो सौ परिवार के बीच अपनी खेती का हरी सब्जियां एवं दो क्विंटल चावल वितरित किया गया.इनके इस पुनीत कार्य में जदयू के मुकेश कुमार एवं जीतेंद्र चंद्रवंशी भरपूर साथ दिया. गौरतलब हो कि पूरे देश एवं प्रदेश की सभी गतिविधियां लॉक डाउन के कारण बंद है. ऐसे मे गरीब मजदूरों के घर भोजन एवं आवश्यक वस्तुओं की समस्या है. हम सभी राजनैतिक समाजिक कार्यकर्ताओं की कर्तव्य होता है कि इस संकट की घडी मे गरीब मजदूर एवं जरुरतमंदों को साथ दें. कोइलवर थाना प्रभारी ने की जरूरतमंदों की मददजहां एक ओर पूरे देश के लोग देश के समर्थन में एकजुट होकर खड़ा है. कोरोना से निपटने के लिये देशवासियों का यह अटूट संकल्प सरहनीय है. वही दूसरी ओर लॉकडाऊन से भूख की एक बड़ी समास्या आ खड़ी हुई है. जिले के कोइलवर थाना क्षेत्र के लगभग 80 प्रतिशत लोगों के घर का खर्चा मजदूरी से चलता है. सभी लोग दैनिक मजदूरी कर अपना जीवनयापन करते हैं. किन्तु सभी प्रकार के काम स्थगित हो जाने के कारण इनका जीना बेहाल हो गया है. इस विपदा को देखते हुए

Read more

बिहार के मैप के साथ देखिए कोरोना अपडेट

कोरोना केसेज के मामले में बिहार अब तक भाग्यशाली रहा है. यहां 4 अप्रैल तक सिर्फ 32 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. पटना समेत कुछ जिलों में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों की मौत को कोरोना से जोड़कर देखा जा रहा है. इसे लेकर बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि हर मौत को कोरोना से जोड़कर देखना उचित नहीं. उन्होंने बताया कि बिहार के मेडिकल कॉलेजों में अलग-अलग वजह से कई लोगों की मौत हुई है, इसलिए इन सभी को कोरोना से जोड़ना कहीं से भी सही नहीं है. आपको बता दें कि 4 अप्रैल 2020 तक बिहार में 32 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 3 लोग ठीक हो कर घर जा चुके हैं जबकि मुंगेर के एक मरीज की मौत हुई है.

Read more

कोरोना से जीती जंग: स्वस्थ होकर लौटी घर

शरणम की महिला नर्स ने कोरोना को हरायासंपत चक के मानपुर बैरिया निवासी पिंकी ठीक होकर लौटी घर कोरोना से डरने की नही सावधानी बरतने की जरूरत है – पिंकी पटना ( अजीत ): पटना के खेमनीचक स्थित शरणम अस्पताल की 19 वर्षीय नर्स पिंकी कुमारी जानलेवा कोरोना को हराकर अब बिलकुल स्वस्थ होकर अपने घर लौट आई है. पिछले 9 दिनों से एनएमसीएच में भर्ती पिंकी का फाइनल टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने की खबर उसके परिवार और गाँव मानपुर बैरिया सहित आस पास के इलाके के लोगों के लिए बड़ी राहत और सुकून देने वाली है . पिंकी ने 20 मार्च को मुंगेर के युवक का बीपी नापा था जो एम्स जाने से पहले यहां 20 मार्च को शरणम हॉस्पिटल में इलाज के लिए पहुंचा था. 19 साल की बैरिया की रहने वाली पिंकी एनएमसीएच में भर्ती थी. बता दें कि मुंगेर निवासी कतर से लौटे युवक से जुड़े कोरोना चेन की यह पहली मरीज है, जिसने जानलेवा वायरस से जंग जीत ली है. खतरनाक वायरस कोरोना को हराने वाली पिंकी की माँ आशमा देवी और भाई रोहित व रितेश को उसके घर लौटने पर बड़ी राहत मिली है . पिंकी ने बताया कि उसे जब पता चला कि उसने जिसका बीपी नापा था, उसकी कोरोना से एम्स में मौत हो गई तो उसे विश्वास नहींं हुआ. जब प्रशासन अस्पताल को सील करते हुए उसे और अन्य दो स्टाफ को कोरोना के संदेह में एनएमसीएच ले गयी तो वह डर गयी थी. उसे कोरोना के मरीजोंं के इलाज के

Read more

पटना एम्स से भी अब घर बैठे ले सकते हैं डॉक्टरी सलाह

पटना AIIMS ने जारी किया नंबर रविवार , सोमवार और मंगलवार को 12 से 2 बजे तक बुधवार को 10 से 4 बजे तक लोग फोन करके डॉक्टरों से सलाह ले सकते हैं. बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर है. IGIMS के बाद अब पटना AIIMS ने भी मरीजों के लिए टेली मेडिसिन की सुविधा शुरू की है. मरीज अस्पताल में कॉल कर विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह ले सकेंगे. मरीज अस्पताल में कॉल कर विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह ले सकेंगे. पटना एम्स में टेलीमेडिसीन के प्रभारी सह इमजेंसी एंड ट्रामा के हेड डॉ अनिल कुमार ने बताया कि ये सेवा दो दिन पूर्व से ही शुरू हो गई थी. पिछले दो दिन में करीब 22 लोगों ने परामर्श लिया है. बक्सर , बेतिया , दानापुर ,फतुहा ,पटनासिटी से फोन पर लोगों ने परामर्श लिया है. अधिकतर लोगों ने कोरोना के संबध में जानकारी. किसी ने गले में खरास तो किसी ने सूखी खांसी के बारे में भी पूछा. उन्होंने बताया कि रविवार और सोमवार को छुट्टी है मगर बारह से दो बजे तक वह खुद रहेंगे. इधर एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने अधीक्षक डॉ सीएम सिंह को जल्द डाक्टरों का रोस्टर बनाने का आदेश देते हुये बताया कि पिछले दो दिनों में मिला अच्छा रेस्पॅान्स देखते हुये बुधवार से तीन शिफ्ट में दस से चार बजे तक विशेषज्ञ डॉक्टरों से जारी किए गए इस नंबर 6122451923 पर फोन करके परामर्श ले सकते हैं.

Read more

सावधान! घर लौट रहे परदेसी, बिगड़ेगा पारिवारिक स्वास्थ्य

अपने गाँव के लिए दिल्ली से ठेला से ही निकल पड़े आरा, 4 मार्च. कोरोना के संकट के बीच लोगो में डर और खौफ का माहौल व्याप्त हो गया है. दो वक्त की रोटी की जुगाड़ में अपने घरों से दूर मेहनत-मजदूरी करने वाले अब अपने घरों जल्द से जल्द लौटने की बेकरारी में हैं. सबसे ज्यादा दिक्कत वैसे लोगों को है जो दिनभर की दिहाड़ी कर कंस्ट्रक्शन साइट जैसे जगहों पर ही अपना गुजर बसर करते हैं. कुछ ऐसे भी हैं जो अपने ठेले से फल, सब्जियां या अन्य सामग्री विभिन्न जगहों पर पहुँचा अपना भरण पोषण करते हैं. कोरोना संकट के बीच देश मे चल रहे लॉक डाउन के बीच पटना नाउ ने की लाइव रिपोर्टिंग जिले की वर्तमान हालात जानने के लिए. आरा से जब NH 30 की ओर हमने रुख किया तो कौरा गाँव के पास एक माल से भरे ट्रक के ऊपर लगभग 3 दर्जन लोग मिलें जो दिल्ली से आ रहे थे और इन्हें कटिहार जाना था. कुछ दूर आगे बढ़ने पर इसाढ़ी के पास कुछ ठेलेवाले नजर आए जो अपना समान ठेले पर लाद दिल्ली व गुड़गांव से चल दिये थे. लगभग 1 दर्जन ठेले वाले 8 दिन पहले दिल्ली से निकले थे जो आज यहाँ पहुँचे. ठेले पर सब्जी और फलों से अपनी रोजी रोटी चलाने वाले विजेंद्र प्रसाद ने कहा कि बीच-बीच मे बहुत से भले लोग खाना खिला रहे थे अन्यथा यहाँ तक पहुँचना मुश्किल था. सभी ठेलेवाले बिहार के ही रहने वाले हैं. ये खगड़िया और सहरसा जिले के

Read more