महागठबंधन के नेता चुने गए नीतीश कुमार, राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का किया दावा

बिहार में बड़े सियासी उठापटक में आखिरकार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया. मीडिया को जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने एनडीए छोड़ दिया है. इसके बाद वे सीधे राबड़ी देवी के सरकारी आवास पहुंचे और वहां राबड़ी देवी और महा गठबंधन के नेताओं के साथ मिलने के बाद महागठबंधन की बैठक में शामिल हुए जिसमें नीतीश कुमार को सर्वसम्मति से महागठबंधन का नेता चुन लिया गया. इसके बाद नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव महागठबंधन के नेताओं के साथ राज्यपाल से मिलने पहुंचे और उन्हें सरकार बनाने का दावा पेश किया है जानकारी के मुताबिक बहुत जल्द शपथ ग्रहण हो सकता है. जानकारी के मुताबिक नीतीश कुमार आठवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे जबकि दूसरी बार तेजस्वी यादव उप मुख्यमंत्री बनेंगे. pncb

Read more

बिहार में एनडीए गठबंधन खत्म, नई सरकार बनाने की तैयारी

नीतीश 4 बजे मिलेंगे राज्यपाल से भाजपा जदयू का गठबंधन टूटा राज्यपाल से मिल कर दे सकते हैं इस्तीफ़ा नई सरकार बनाने की तैयारी पटना।। सांसदों की बैठक के बाद राज्यपाल से मिल कर नीतीश कुमार अपना इस्तीफ़ा सौंप सकते हैं. शाम चार बजे राज्यपाल से मिलने का समय नीतीश कुमार ने मांगा है. बैठक में शामिल एक नेता ने इस बात की पुष्टि की है कि जदयू एनडीए गठबंधन से बाहर निकल रहा है. इधर राजद और कांग्रेस ने नीतीश कुमार को भाजपा का साथ छोड़ने पर बिना शर्त समर्थन देने का ऐलान किया है, वहीँ नीतीश कुमार के इस्तीफ़ा के पहले सभी मंत्री भी इस्तीफ़ा दे सकते हैं . इतिहास दोहराएंगे नीतीश कुमार आपको याद दिला दें कि ठीक 5 साल पहले वर्ष 2017 में जुलाई महीने के आखिरी हफ्ते में भी कुछ ऐसा ही उथल-पुथल बिहार की राजनीति में हुआ था. उस वक्त नीतीश कुमार ने राजद से पल्ला झाड़ते हुए एनडीए का दामन थामा था. एक बार फिर सीएम नीतीश पलटी मार रहे हैं और इस बार भाजपा से पल्ला झाड़ते हुए महागठबंधन का दामन थामने की तैयारी हो रही है. pncdesk

Read more

ये कैसी सजा बच्चे को दे दी टीचर ने

शिक्षिका ने बच्चे को कराई 300 बार उठक-बैठक बेहोश होकर पहुंचा अस्पताल छठी क्लास के बच्चा तीन दिन तक रहा अस्पताल में भर्ती एक दिन स्कूल नहीं जाने के कारण मिली सजा शेखपुरा जिले में बच्चे के साथ हुई हैवानियत शेखपुरा की एक शिक्षिका ने एक स्कूली बच्चे के साथ हैवानियत की ऐसी हद पार की जिससे मासूम को तीन दिनों तक अस्पताल में भर्ती होना पड़ा. इस जिले को जहां एक तरफ नीति आयोग ने आकांक्षी जिला के तहत बेहतर शिक्षा देने में पूरे भारत में प्रथम रैंक दिया है तो वहीं दूसरी तरफ बरबीघा प्रखंड अंतर्गत एक स्कूल में हुई घटना ने शर्मसार कर दिया है.घटना के बाद स्कूल प्रबंधन पर सवाल खड़े हो रहे हैं. दरअसल बरबीघा प्रखंड के मिडिल स्कूल खलीलचक में कक्षा 6 के छात्र रौशन के साथ ये हैवानियत हुई. रौशन किन्हीं कारणों से एक दिन स्कूल नहीं आया तो विद्यालय की शिक्षिका सीता देवी इस कदर गुस्से में आ गई कि उन्होंने रौशन को 3 सौ बार उठक बैठक करने की सजा सुना दी. इस दौरान 200 के करीब उठक-बैठक करते ही वो बेहोश होकर गिर गया. उसके बेहोश होते ही हड़कंप मच गया. विद्यालय के शिक्षक और परिजन उसे बरबीघा अस्पताल ले गए जहां भर्ती होने के तीन दिन बाद तक उसका इलाज चलता रहा. इस घटना के बाद से आरोपी शिक्षिका स्कूल नहीं आ रही है. स्थानीय पंचायत प्रतिनिधि ने भी बच्चे के साथ इस कदर की घटना पर एतराज जताया है. नई शिक्षा नीति में ड्रापआउट बच्चों को स्कूल लाने

Read more

शर्त मान लें हम गले लगाने के लिए तैयार: शिवानंद

नीतीश कुमार के सामने बड़ी शर्त बिहार में एनडीए के घटक दलों, जनता दल-यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी में ‘मनमुटाव’ की अटकलों के बीच प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने बड़ी शर्त रख दी है. राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने सोमवार को कहा कि अगर नीतीश कुमार भाजपा के साथ संबंध तोड़ देते हैं तो वह उन्हें और उनकी पार्टी को गले लगाने के लिए तैयार हैं. शिवानंद तिवारी ने कहा कि मंगलवार को दोनों दलों द्वारा विधायकों की बैठक बुलाना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि स्थिति असाधारण है. उन्होंने कहा कि मुझे मौजूदा घटनाक्रम के बारे में व्यक्तिगत रूप से कुछ पता नहीं है.लेकिन, हम इस तथ्य को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं कि दोनों दलों ने उस समय ऐसी बैठकें बुलाई हैं, जब विधानसभा का सत्र संचालन में नहीं है. PNCDESK

Read more

भारत को मिले अब तक 22 गोल्ड,हॉकी मेंस टीम को सिल्वर मेडल

कॉमनवेल्थ गेम 2022बैडमिंटन में भारत ने जीते 3 गोल्ड मेडल, शरत कमल ने भी किया कमालक्लोजिंग सेरेमनी में भारत के ध्वज वाहक होंगे शरत कमल और निकहत जरीन भारतीय टीम ने अब तक कॉमनवेल्थ गेम्स में शानदार प्रदर्शन किया है. आज गेम के आखिरी टीम भारत की नजर कई गोल्ड पदकों पर थी. पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन, सात्विकसाइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी बैडमिंटन में गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है. टेबल टेनिस में शरथ कमल ने भी गोल्ड मेडल जीता. वहीं हॉकी में इंडिया मेंस टीम ने सिल्वर मेडल जीता. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के क्लोजिंग सेरेमनी में भारत के ध्वज वाहक टेबल टेनिस के सुपर स्टार शरत कमल और बॉक्सिंग में गोल्ड जीतने वाली विश्व चैंपियन निकहत जरीन होंगी. 11वें दिन की हाईलाइटवीमेंस सिंगल्स मुकाबले में पीवी सिंधु ने जीता गोल्ड मेडलमेंस सिंगल्स मुकाबले में लक्ष्य सेन ने जीता गोल्ड मेडलसात्विकसैराज रंकीरेड्डी / चिराग शेट्टी ने जीता गोल्ड मेडलटेबल टेनिस में शरत कमल ने जीता गोल्ड मेडलहॅाकी फाइनल- ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 7-0 से हराया भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु अपने गोल्ड मेडल मुकाबले 21-15 और 21-13 से मैच को सिंधु ने अपने नाम करते हुए पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडल हासिल किया.मेंस सिंगल्स फाइनल गेम में अचंता शरथ कमल ने इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड को हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया. लियाम पिचफोर्ड के खिलाफ खेलते हुए कमल ने पहला गेम 11-13 से जीता लिया फिर कमल ने लगातार दूसरे गेम में लियाम पिचफोर्ड को 11-7, 11-2 से हराकर गेम में 2-1 की बढ़त बना ली थी.

Read more

जनता दरबार में खुलती है नीतीश के सुशासन की पोल

अधिकारियों को मिलते हैं कार्रवाई के निर्देश कोरोना से पिता की हुई मौत पर मुआवजे की राशि नहीं मिली जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में शामिल हुए मुख्यमंत्री  50 लोगों की सुनी समस्यायें तीरंदाजी खेल के लिए आधुनिक प्रशिक्षण दिलाने की सुविधा मिले मुख्यमंत्री नीतीश मुख्यमंत्री सचिवालय परिसर में आयोजित जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में शामिल हुए. ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने राज्य के विभिन्न जिलों से आये 50 लोगों की समस्याओं को सुना और संबंधित विभागों के अधिकारियों को समुचित कार्रवाई के निर्देश दिए.’जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में सामान्य प्रशासन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग, पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, वित्त विभाग, संसदीय कार्य विभाग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग, सूचना प्रावैधिकी विभाग, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग, श्रम संसाधन विभाग तथा आपदा प्रबंधन विभाग से संबंधित मामलों की सुनवाई हुई. ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में बेगूसराय से आए एक युवक ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि विकास मित्र के चयन प्रक्रिया में अनियमितता हुई है. मेघा सूची में प्रथम आने के बाद भी बिना आवेदन किए हुए व्यक्ति को नियुक्ति पत्र दे दिया गया. रोहतास से आए एक व्यक्ति ने मुख्यमंत्री से पंचायत शिक्षा मित्र की बहाली में अनियमितता की शिकायत की तो वहीं कटिहार से आयी एक दिव्यांग महिला ने आंगनबाड़ी सेविका के चयन में अनियमितता की शिकायत की. मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

Read more

भाजपा का साथ छोड़े नीतीश तो बिना शर्त समर्थन: कांग्रेस

कांग्रेस के सभी विधायक एकमत ,सभी राजधानी पटना में मौजूद रहे भाजपा का साथ छोड़े तो सरकार बनाने में करेंगे मदद कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा के सरकारी आवास पर जुटे और नीतीश कुमार को भाजपा छोड़ने के बाद बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा की है. कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास अजीत शर्मा के यहां बैठक में शामिल हुए.एनडीए के अंदर उठे राजनीतिक उठा- पटक के बाद कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को पटना में रहने का निर्देश दिया है. विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा ने बताया कि बिहार में तेजी से राजनीतिक घटनाक्रम बदल रहा है. ऐसे में कांग्रेस की नजर सभी प्रकार की बदलती परिस्थितियों पर है. उन्होंने बताया कि पार्टी के सभी विधायकों से आग्रह किया गया है कि वे राजधानी पटना में मौजूद रहे .उनका कहना है कि बिहार की ताजा राजनीतिक घटना क्रम को देखते हुए पार्टी अपनी रणनीति तैयार कर रही है. कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा बिहार में नीतीश कुमार बीजेपी का साथ छोड़ते हैं तो कांग्रेस बिना शर्त नीतीश कुमार को अपना समर्थन देगी. फिलहाल बिहार में बदलती राजनीतिक घटनाक्रम पर अपनी नजर बनाए हुए है. इधर, कांग्रेस नेता ने अपने प्रभारी को भी नीतीश को समर्थन करने पर अपनी सहमति दे दी है. इधर सोमवार को राजद विधायक दल की बैठक में भी पार्टी के सभी विधायकों को पटना में रहने को कहा गया है. नौ अगस्त को जदयू विधायक, विधान पार्षद और सांसदों की बैठक होगी जिसमें महत्वपूर्ण निर्णय हो सकता है. PNCDESK

Read more

जदयू डूबता जहाज, कहते हुए आरसीपी ने छोड़ दी पार्टी

आरसीपी सिंह ने जदयू  की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया ‘डूबते जहाज में कुछ भी नहीं बचा’ ‘नीतीश कुमार सात जन्मों तक प्रधानमंत्री नहीं बन सकते’ पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने जदयू  की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. नालंदा के अपने पैतृक गांव मुस्तफापुर में उन्होंने मीडिया से बात करते हुए यह ऐलान किया है. इससे पहले उन्होंने एक सादे कागज पर अपनी बात लिखकर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा को अपना इस्तीफा भेजा. उनसे खरीदी गई संपत्तियों को लेकर जदयू  ने जवाब मांगा था. वो पहले से ही पार्टी से नाराज चल रहे थे और शनिवार को मीडिया में आई खबर से वे तिलमिला गए और अपना इस्तीफ़ा भेज दिया.उन्होंने कहा कि जदयू एक डूबता जहाज है और डूबते जहाज में कुछ भी नहीं बचा है. नीतीश कुमार सात जन्मों तक प्रधानमंत्री नहीं बन सकते. हालांकि उन्होंने अपने अगले कदम का खुलासा नहीं किया है लेकिन चर्चा है कि वह किसी अन्य पार्टी में जल्द ही ज्वाइन कर सकते हैं. हालांकि उनके लिए भारतीय जनता पार्टी में एंट्री आसान नहीं है क्योंकि जदयू छोड़ने के बाद और नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी की वजह से भाजपा फिलहाल उन्हें पार्टी में शामिल करने से बचना चाहेगी. PNCDESK

Read more

आरसीपी सिंह और परिवार ने कैसे खरीदे करोड़ों के 58 प्लॉट ?

जदयू नेताओं ने उठाया सवाल कई जगह पत्नी के नाम भी अलग लिखा जदयू नेताओं ने ही जुटाएं हैं सुबूत जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने आरसीपी को पत्र लिखकर खरीदे गए भूखंडो को लेकर जवाब मांगा है. इस पत्र में बताया गया है कि नालंदा जिले में जदयू के दो साथियों की सबूत के साथ शिकायत मिली है. इसमें आपके और आपके परिवार के नाम से वर्ष 2013 से 2022 तक अकूत संपत्ति निबंधित कराया गया है जिसमें कई प्रकार की अनियमितता दिखाई दे रही है. आप लंबे समय तक दल के सर्वमान्य नेता नीतीश कुमार के साथ अधिकारी और राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे हैं. आपको, हमारे माननीय नेता ने दो बार राज्यसभा का सदस्य, पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव (संगठन), राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा केंद्र में मंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर, पूर्ण विश्वास एवं भरोसे के साथ दिया. आप इस तथ्य से भी अवगत हैं कि माननीय नेता, भ्रष्टाचार के जीरो टॉलरेंस पर काम करते रहे हैं और इतने लंबे सार्वजनिक जीवन के बावजूद उन पर कभी दाग नहीं लगा और न उन्होंने कोई संपत्ति बनाई.पार्टी आपसे अपेक्षा करती है कि इस परिवाद के बिंदुओं पर बिंदुवार अपनी स्पष्ट राय से पार्टी को तत्काल अवगत कराएंगे. जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली नीतीश सरकार अपनी इस नीति के तहत अपनी ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्र में मंत्री रहे आरसीपी सिंह पर जांच बिठा दी है. चुनावी हलफनामा 2010 एवं 2016 में आरसीपी सिंह ने अपनी पत्नी का नाम गिरिजा

Read more

अनर्थ: गर्भवती महिला को अस्पताल से बाहर निकाला, सड़क पर दिया बच्चे को जन्म

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय का है जिला सिविल सर्जन ने कहा जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के जिले सीवान में अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण एक महिला को सड़क पर ही बच्चे को जन्म देना पड़ा. परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर गैर जिम्मेदाराना व्यव्हार करने का आरोप लगाया है. परिजनों का आरोप है कि महिला प्रसव पीड़ा से कराहती हुई सरकारी अस्पताल पहुंची थी. लेकिन अस्पताल प्रशासन ने उसे भर्ती नहीं किया. यह घटना जिले के गोरेयाकोठी प्रखंड स्थित जामो बाजार के सरकारी अस्पताल की है महिला ने आरोप लगाया है कि अस्पताल के कर्मियों ने उसे को धक्का देकर बाहर निकाल दिया. महिला पीड़ा से कराहती हुई वापस लौट रही थी, इसी दौरान जामो बाजार के दलित बस्ती के पास सड़क पर ही महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया. पीड़ित महिला गोपालगंज जिले के माझा प्रखंड के पथरा गांव की रहने वाली है. महिला से सरकारी अस्पताल में हुए इस तरह के व्यवहार से ग्रामीणों ने अस्पताल के मुख्य गेट में ताला जड़ दिया और हंगामा करने लगे. मामले को तूल पकड़ने पर सिविल सर्जन ने सफाई देते हुए कहा कि जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ जरूर कार्रवाई की जाएगी. महिला ने बताया कि वह जामो बाजार एलआईसी ऑफिस में किसी काम के सिलसिले में आई थी, तभी उसे प्रसव पीड़ा होने लगा. वह जामो अस्पताल पहुंची. तब अस्पताल की एक महिला आशा ने एक हजार रुपये भी लिए और दर्द कम करने के लिए दो

Read more