यूके हर साल तीन हजार भारतीयों को देगा वीजा

भारतीय छात्रों की वीजा को लेकर अहम फैसला मोदी से मुलाकात के बाद सुनक का फैसला ब्रिटेन के प्रधामंत्री ऋषि सुनक ने भारतीय छात्रों की वीजा को लेकर अहम फैसला लिया है. सुनक ने भारतीय युवाओं को यूके में काम करने के लिए हर साल तीन हजार वीजा देने का एलान किया है. ब्रिटिश सरकार का कहना है कि इस तरह की योजना से लाभान्वित होने वाला भारत पहला देश है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कहा कि आज यूके-भारत प्रोफेशनल्स स्कीम की पुष्टि की गई है. 18-30 साल तक के भारतीय डिग्री धारक युवाओं को यूके में आने और दो साल तक काम करने के लिए तीन हजार वीजा की पेशकश की गई.सुनक सरकार ने ये फैसला बाली में पीएम मोदी से मुलाकात के बाद लिया है. गौरतलब है कि पीएम मोदी जी20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए इंडोनेशिया के बाली में हैं. ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक ने पीएम मोदी से मुलाकात की थी. भारतीय मूल के सुनक की पीएम बनने के बाद ये मोदी से पहली मुलाकात थी. डाउनिंग स्ट्रीट ने एक बयान में कहा कि भारत के साथ इस योजना का शुभारंभ हुआ है. ये हमारे द्विपक्षीय संबंधों और हमारी दोनों अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत करने के लिए, भारत-प्रशांत क्षेत्र के साथ मजबूत संबंध बनाने के लिए यूके की व्यापक प्रतिबद्धता दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है. भारत-प्रशांत क्षेत्र में किसी अन्य देश के मुकाबले यूके का भारत से ज्यादा संबंध है. यूके में सभी अंतरराष्ट्रीय छात्रों में से लगभग एक चौथाई भारत से हैं. यूके

Read more

नारी समाज की पवित्र प्रतीक है ‘योगिनी’ : अनीता कुमारी

योगिनी चित्र शिल्प एक कहानी कहता है : पद्मश्री श्याम शर्मा सामाजिक संस्कृति की बहुस्तरीय भावना को दर्शाती एकल चित्र प्रदर्शनी का आयोजन नारी समाज की पवित्र प्रतीक है पूरा समाज नारी के इर्द-गिर्द है घूमती दुनिया को अपने कैनवस पर समेटना चाहती हूं मैं एकल प्रदर्शनी -15 नवम्बर से 20 नवम्बर 2022  का आयोजन पटना में आये दिन कोई न कोई चित्र प्रदर्शनी का आयोजन होता ही रहता है कभी समूह में तो कभी एकल. देश में अपना स्थान ख़ास बनाने वाली अनीता कुमारी की एकल चित्र प्रदर्शनी में योगिनी को प्रस्तुत किया है.ललित कला अकादमी में आयोजित इस एकल चित्रकला प्रदर्शनी का उद्घाटन देश दुनिया के प्रख्यात चित्रकार श्याम शर्मा किया.उन्होंने कहा कि अनीता कुमारी के चित्र ने सृजन से लेकर कई अवस्थाओं का चित्रण किया है जिसमें कला के प्रति उनका नजरिया स्पष्ट दिखता है.  उन्होंने कहा कि अनीता कुमारी के चित्र ने सृजन से लेकर कई अवस्थाओं का चित्रण किया है जिसमें कला के प्रति उनका नजरिया स्पष्ट दिखता है। योगिनी एक योग है मतलब जोड़ना मतलब योगी। षोडशमातृकाएं या 64 योगिनियों की कल्पना है। ये सभी भारतीय चित्र परंपरा के अनुसार है। इनके चित्रों में कथात्मक का गुण है जो अपनी कहानी कहती है। योगिनी को आज के संदर्भ में प्रस्तुत करना ही कलात्मकता है। अनीता ने बताया कि योगिनी एक प्रतीकात्मक चिन्ह है जिस पर काम करते हुए मैं अपने कामों में आन्नद की प्राप्ति करती हूँ. नारी समाज की पवित्र प्रतीक है क्योंकि पूरा समाज नारी के इर्द-गिर्द घूमती है. मेरी कला 21वीं

Read more

सांस लेने लायक नहीं है बिहार के 13 शहरों की हवा

बिहार के नेताओं का नहीं है कोई ध्यान लोगों को करना पड़ रहा है भारी मुसीबतों का सामना 4 जिलों में एक्यूआई 400 के पारदमा के मरीजों की निकल रही है जान बिहार में प्रदूषण की स्थिति बहुत खतरनाक हो गई है. 12 नवंबर को बेतिया, मोतिहारी, बक्सर और सीवान जिलों की हवा में सांस लेना गंभीर बीमारियों को दावत देने के समान है. इन जिलों में एयर क्वालिटी इंडेक्स एक्यूआई 400 के पार है. इन जिलों में सांस लेने वाले स्वस्थ आदमी पर भी बुरा असर पड़ेगा. जो पहले से बीमार हैं उन्हें ज्यादा खतरा है. नेशनल एयर क्वालिटी इंडेक्स के ताजा आंकड़ों के मुताबिक शनिवार की सुबह में सीवान की स्थिति सबसे नाजुक है. यहां एक्यूआई  432 मापा गया. मानकों के अनुसार यह खतरनाक रेंज में है जिसके प्रभाव से स्वस्थ आदमी भी बीमार हो जाएगा. पेड़ पौधों पर इतनी जहरीली हवा का बुरा असर पड़ता है. इसके साथ-साथ मोतिहारी में एक्यूआई  429, बेतिया में 415 और बक्सर में 407 है. राज्य के 13 स्थानों पर एक्यूआई की रीडिंग 300 से 400 के बीच पाई गई है तो 11 इलाकों में यह रीडिंग 200 से 300 के बीच है. शनिवार को एक दो स्थानों को छोड़कर  राज्य के सभी इलाकों में हवा मानव स्वास्थ्य के लायक नहीं है. हर आदमी को सावधान रहने की जरूरत है. जहां तक संभव हो सके, मास्क का उपयोग किया जाना चाहिए. प्रदूषण से 8 साल कम हो रही बिहार के लोगों की उम्रवायु प्रदूषण के कारण बिहार के लोगों की उम्र करीब

Read more

बेटी रोहिणी पापा लालू यादव को करेंगी किडनी डोनेट

नवंबर के आखिरी हफ्ते में सिंगापुर जा सकते हैं राजद सुप्रीमो 20-24 नवंबर के बीच सिंगापुर जा सकते हैं लालू राजद सुप्रीमो और बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव बीते कई सालों से किडनी समेत कई बीमारियों से पीड़ित हैं. सिंगापुर में रहने वाली उनकी बेटी रोहिणी आचार्य ने उन्हें किडनी दान करने का फैसला किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीते महीने सिंगापुर गए  लालू यादव को डॉक्टर्स ने किडनी ट्रांसप्लांट कराने की सलाह दी थी, जिसके बाद रोहिणी ने अपने पिता को अपनी किडनी दान करने की पेशकश की थी. पता चला है कि लालू यादव पहले रोहिणी के किडनी डोनेट करने के पक्ष में नहीं थे, लेकिन बाद में रोहिणी और परिवार के अन्य लोगों के दबाव के बाद लालू मान गए.  लालू यादव अपनी किडनी ट्रांसप्लांट के लिए 20-24 नवंबर के बीच फिर सिंगापुर जा सकते हैं. इसी दौरान उनका ऑपरेशन होने की संभावना है. लालू की दूसरी बेटी रोहिणी जो सिंगापुर में रहती है. वह अपने पिता की किडनी की बीमारियों के लिए बेहद चिंतित हैं. उन्होंने ही लालू यादव को सिंगापुर में डॉक्टर्स से सलाह लेने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. जिन्होंने उन्हें किडनी ट्रांसप्लांट कराने की सलाह दी थी. PNCDESK

Read more

बिहार में कर्ज में डूबे परिवार ने की आत्महत्या,5 की मौत

नवादा में एक ही परिवार के छह लोगों ने खाया जहर कर्ज चुकाने को लेकर बना रहे थे दबाव दो लोगों की मौके पर ही मौत जबकि तीन ने अस्पताल में दम तोड़ा मृतकों में केदारनाथ गुप्ता, उसकी पत्नी अनिता देवी, दो बेटी शबनम कुमारी- गुड़िया कुमारी और एक बेटा प्रिंस कुमार शामिल बिहार में कर्ज के बोझ तले दबे एक परिवार ने अपने पूरे परिवार के साथ जहर खा कर अपनी जिन्दगी समाप्त कर ली . यह घटना नवादा जिले की बताई जारही है. जहर खाने से मौत पांच लोगों की मौत हो गई. वहीं एक युवती गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती है. रिश्तेदार और स्थानीय लोग बता रहे हैं कि परिवार कर्ज में डूबा हुआ था. आशंका जताई जा रही है कि कर्ज वसूली की प्रताड़ना से तंग आकर पूरे परिवार ने ऐसा कदम उठाया है. यह घटना शहर के आदर्शनगर मोहल्ले की है. नवादा जिले के आदर्श सोसाइटी के पास जाकर किराए के मकान में रहने वाले एक परिवार के 6 सदस्यों ने जहर खा लिया है. इससे 5 लोगों की मौत हो गई और एक का जिला सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है. पुलिस की जांच में सामने आया है कि केदारलाल विजय बार में फल की दुकान चलाते थे. स्थानीय लोगों के मुताबिक रजौली के केदारनाथ गुप्ता नवादा शहर के न्यू एरिया में किराए के मकान में रहता था और यहीं पर कारोबार करता था. उसने किसी से कर्ज लिया था, जिसको चुकाने का उस पर दबाव था. शायद इसी वजह से परिवार

Read more

कार्तिक पूर्णिमा पर सूर्योदय की बीच लाखों लोगों ने किया स्नान

मन में आस्था, चेहरे पर भक्ति भाव और जुबान पर हर हर गंगा का उल्लास गंगा में डुबकी लगाकर मोक्ष की कामना की गंगा घाटों पर देर शाम से ही जुटे रहे श्रद्धालु गंगा किनारे लग गया मेला कार्तिक पूर्णिमा पर पटना में मंगलवार को लाखों लोगों ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई और भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया इस दौरान राजधानी पटना में मेले सा माहौल रहा. इस दौरान लगभग गंगा नदी में करीब दो लाख श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई. बाहर से आने वाले श्रद्धालु तो रात से ही गंगा घाटों पर पूरे परिवार के साथ पहुंच गए थे। जहां कार्तिक पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण होने की वजह से कई लोगों ने सोमवार को ही गंगा स्नान कर लिया, मगर अधिकतर श्रद्धालु मंगलवार सुबह डुबकी लगाई. प्रशासन की ओर से पटना में 55 गंगा घाटों पर स्नान करने की व्यवस्था की गई थी. इसके अलावे 183 जगहों पर मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारी की तैनाती की गई. गंगा नदी में गश्ती के लिए दो पालियों में 16 दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया गया है. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 9 टीमें गंगा नदी में पेट्रोलिंग के लिए लगाई गई है . दीघा के मीनार घाट, पाटी पुल घाट, पोस्ट ऑफिस घाट, 92 नंबर घाट, कलेक्ट्रेट घाट, दरभंगा हाउस काली घाट, महेंद्रू घाट, गांधी घाट, गाय घाट, भद्र घाट, महावीर घाट, कृष्णा घाट, पटना कॉलेज घाट, रानी घाट सहित सभी घाटों पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जुटी है. बच्चे बूढों और महिलाओं में स्नान को लेकर काफी उत्साह

Read more

आचार्य शिवपूजन सहाय ने स्त्री विमर्श की आधारशिला रखी : गीताश्री

प्रेमचंद की रचना में भी भोजपुरी समाहित है : प्रकाश उदय किताबों और कृतित्व पर हो रही गुफ्तगू राजकमल प्रकाशन समूह का आयोजन ‘किताब उत्सव‘ राजकमल प्रकाशन समूह द्वारा आयोजित ‘किताब उत्सव’ के तीसरे दिन अचार्य शिवपूजन सहाय: कृतित्व स्मरण, रेणु के गांव, अरज- निहोरा: भोजपुरी कविता का नया प्रस्थान विषय पर अलग-अलग सत्रों में बातचीत हुई. इसके अलावा रविन्द्र भारती का कविता संग्रह ‛जगन्नाथ का घोड़ा’ का लोकार्पण हुआ. जिसमें बड़ी संख्या में साहित्यकार, लेखक, पत्रकार, बुद्धिजीवी, रंगकर्मी, छात्र आदि शामिल हुए. कार्यक्रम के प्रथम सत्र में ‘हमारा शहर हमारी गौरव’ के तहत प्रख्यात साहित्यकार शिवपूजन सहाय को समर्पित चर्चा हुई. चर्चा में अपनी बात रखते हुए कथाकार गीताश्री ने कहा कि “आचार्य शिवपूजन सहाय संपादक की भूमिका में वे खुद को साहित्यकार के रूप में भुला दिया. उन्होंने प्रेमचंद के किताब का भी संपादन किया. उनकी ‘भगजोगनी’ उपन्यास समाज की सच्चाइयों को सामने रखता है. वर्ष 1928 में ही ‘भगजोगनी आज भी जीवित है’ लिखकर उन्होंने स्त्री विमर्श और स्त्री लेखन की आधारशिला रखा था. उनके इस लेखन से ही स्त्री विमर्श का आधार तैयार होता है. विद्युत दूरदर्शी लेखक थे. गीताश्री ने आगे कहा उन्होंने अपने लेखन के माध्यम से बताया कि जिस तरह बाल विवाह एक सामाजिक बुराई है उसी तरह वृद्ध विवाह भी सामाजिक बुराई है.  उन्होंने समाज और सरकारी तंत्र दोनों पर प्रहार किया.” आचार्य शिवपूजन सहाय को याद करते हुए लेखक व पत्रकार विकास कुमार झा ने कहा ” हमें इस बात पर विचार करना चाहिए कि आज वह हमारे लिए कितना प्रासंगिक

Read more

यहाँ बहुत एनर्जी है, फिर आउंगी- वर्तिका झा

डुमराँव महाराज भी डांस वर्कशॉप में पहुँचे वर्तिका के डांस वर्कशॉप में पहुंचे कई राज्यों के डांसर डुमराँव,8 नवंबर. रॉयल डांस अकादमी द्वारा आयोजित डांस वर्कशॉप में रविवार को डांसर, कोरियोग्राफर और अभिनेत्री वर्तिका झा का आगमन डुमराँव में हुआ, जहां उन्होंने बच्चे-बच्चियों को डांस के कई टिप्स दिए. वर्तिका झा इस डांस वर्कशॉप के लिए वैसे तो शनिवार के शाम में ही डुमराँव आ चुकी थीं,जहाँ वे एक स्थानीय होटल में ठहरी थीं. रविवार के कार्यक्रम के लिए वे राजगढ पहुँची जहाँ डांस वर्कशॉप के लिए उनका इंतजार कर रहे प्रशंसको ने उनका जोरदार स्वागत किया. उनके साथ उनकी मां कांति झा, मैनेजर और उनकी भाभी रक्षा झा, भाई मुदित झा और उनका भतीजा मिहिर झा की भी उपस्थिति देखी गयी. आयोजन समिति की ओर से जोरदार आतिथ्य सत्कार किया गया. श्वेता सिंह और ममता ने सभी अतिथियों को तिलक लगाया, जिसके बाद अनुराग मिश्रा, हनी हसनैन और वेद सागर ने पुष्प गुच्छ देकर अतिथियों का स्वागत किया. कैप्मस से लेकर मार्बल हाउस तक अनुराग संगीत कला केंद्र के बच्चियों ने अतिथियों के ऊपर पुष्प वर्षा कर उनका जोरदार स्वागत किया. वर्तिका के इस डांस वर्कशॉप के लिए बिहार और यूपी के अलावा एमपी से भी डांसर आये हुए थे. राजगढ़ स्थित मार्बल हाउस में दो शिफ्ट में बक्सर और बक्सर के बाहर से आये डांसरों को डांस की सुपर स्टार वर्तिका झा ने डांस सिखाया. डांस सीखने वालों में छोटे बच्चे से लेकर बड़े उम्र के लोग शामिल थे. डांस को आसान तरीके से कैसे किया जाए उस

Read more

बड़ी खबर: सामान्य वर्ग के गरीबों को जारी रहेगा 10% आरक्षण

सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला देश में जारी रहेगा इ डब्ल्यू एस आरक्षण 4 -1 से आया फैसला सामान्य वर्ग के लोगों को आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण देने के मामले में सुप्रीम कोर्ट आज फैसला सुना दिया . चीफ जस्टिस यूयू ललित की बेंच आज इस मामले में फैसला दे दिया है . जनवरी 2019 में संविधान में 103वां संशोधन कर आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों के लिए 10 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की गई थी. 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने सामान्य वर्ग के लोगों को आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण देने के लिए संविधान में 103वां संशोधन किया था. इसे लेकिन सुप्रीम कोर्ट में 40 से ज्यादा याचिकाएं दायर हुई थीं. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने 27 सितंबर को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. जनवरी 2019 में मोदी सरकार संविधान में 103वां संशोधन लेकर आई थी. इसके तहत आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य वर्ग के लोगों को नौकरियों और शिक्षा में 10 फीसदी आरक्षण देने का प्रावधान किया गया, जिसे आज सुप्रीम कोर्ट ने इसे मान्य करार दिया है. PNCDESK

Read more

तिरुपति मंदिर के पास 2.26 लाख करोड़ की संपत्ति

ट्रस्ट ने कहा- 10.3 टन सोना और 16 हजार करोड़ रुपए बैंकों में जमा 2019 के बाद से सोना और नकद में हुई वृद्धि तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम ने पहली बार मंदिर की कुल संपत्ति की घोषणा की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार को श्वेत पत्र जारी किया गया है, जिसमें बताया गया कि मंदिर का करीब 5,300 करोड़ का 10.3 टन सोना और 15,938 करोड़ नकद राष्ट्रीयकृत बैंकों में जमा है. मंदिर की कुल संपत्ति 2.26 लाख करोड़ की है. ट्रस्ट के कार्यकारी अधिकारी एवी धर्म रेड्डी ने बताया है कि वर्तमान ट्रस्ट बोर्ड ने 2019 से अपने इन्वेस्टमेंट गाइडलाइंस को मजबूत किया है. 2019 में कई बैंकों में 13,025 करोड़ नकद था, जो बढ़कर 15,938 करोड़ हो गया है. पिछले तीन सालों की इन्वेस्टमेंट में 2,900 करोड़ की वृद्धि हुई है. वहीं ट्रस्ट के शेयर किए गए बैंक-वाइस इन्वेस्टमेंट में 2019 में मंदिर के पास 7339.74 टन सोना जमा था, जो पिछले तीन सालों में 2.9 टन जोड़ा बड़ गया.  कुछ सोशल मीडिया रिपोर्ट्स को गलत बताया, जिसमें दावे किए जा रहे थे कि ट्रस्ट के चेयरमैन और बोर्ड ने फंड आंध्र प्रदेश सरकार की सिक्योरिटीज पर इन्वेस्ट किया है. मंदिर प्रशासन  ने कहा कि ऐसा नहीं किया गया, बल्कि बचे हुए फंड को शेड्युल्ड बैंकों में इन्वेस्ट किया जाता है. PNCDESK

Read more