अब हर साल सजेगी गीत -संगीत की महफ़िल- नीतीश कुमार

मुख्यमंत्री ने किया दस दिनों तक चलने वाले कार्यक्रम का उद्घाटन 

कभी पूरी रात चलता था सांकृतिक कार्यक्रम 




शास्त्रीय संगीत और नृत्य की सजती थी महफ़िल 

2006 से बंद हो गया था सरकारी आयोजन 

anup jalota

गांधी मैदान में आयोजित दस दिवसीय दशहरा महोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया उन्होंने घोषणा किया कि अब  दशहरा के मौके पर अब हर साल पटना में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे. पटना में सांस्कृतिक आयोजन की समृद्ध परंपरा रही हैलेकिन  यह कुछ वर्षो से बंद है इसमें सरकार और पूजा समितियों को मिलजुल कर इसे पुनर्जीवित करना होगा.
महोत्सव के पहले दिनकार्यक्रम का आगाज  भजन सम्राट अनूप जलोटा भजनों से हुआ .इसके बाद  उन्होंने अपनी कई लोकप्रिय भजन और  गजलें भी सुनाई.नीतीश कुमार ने कहा कि  पटना में दशहरा में  सांस्कृतिक आयोजनों की बंद हो चुकी परंपरा को  सरकार ने वर्ष 2006 में  शुरू करने का प्रयास किया था लेकिन इसका आयोजन नहीं हो सका. लेकिन अब हर साल दशहरा के मौके पर गांधी मैदान में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.  छात्र जीवन से मैं पटना में दशहरा के मौके पर इस तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लुत्फ लेता रहा हूं. इस मौके का इंतजार केवल पटना के लोगों को ही नहीं होता है  बल्कि देश-विदेश के नामचीन कलाकारों को भी दशहरा में पटना आने का बेसब्री से इंतजार रहता है. कार्यक्रम का आयोजन श्री कृष्ण स्मारक विकास समिति और कला एवम संस्कृति विभाग के संयुक्त प्रयास से किया जा रहा है .दस दिनों तक चलने वाले  दशहरा महोत्सव के उद्घाटन के मौके पर कला, संस्कृति एवं युवा कार्य मंत्री शिवचंद्र राम, शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी, कला,संस्कृति व युवा कार्य विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद और पटना के प्रमंडल आयुक्त आनंद किशोर भी उपस्थित थे .