सावधान! खत्म नही हुआ है कोरोना

वैक्सीनेशन के साथ कोविड-19 के नियमों का सख्ती से करना होगा पालन कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने जारी किए हैं निर्देश लोगों की जरा सी लापरवाही से बढ़ सकती है संक्रमण प्रसार की सम्भवनाआरा, 25 फरवरी | कोरोना वायरस के संक्रमण को समाप्त करने के उद्देश्य से जिले में वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। लेकिन, अभी भी जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की संभावना समाप्त नहीं हुई है। देश के कई राज्यों में संक्रमण का प्रसार एक बार फिर शुरू हो चुका है। जिसको लेकर राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन संक्रमण के प्रसार को रोकने की तैयारी में जुट गया है। साथ ही, स्वास्थ्य विभाग जिलेवासियों से पूर्व की भांति कोविड-19 के सामान्य नियमों का पालन करने की अपील कर रहा है। ताकि, संक्रमण के प्रसार की संभावना न उत्पन्न हो सके।इस संबंध में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) डॉ. संजय कुमार सिन्हा ने बताया राज्य में फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार शुरू नहीं हुआ है। लेकिन, जिस प्रकार से लोग विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के जारी गाइडलाइन्स को लेकर उदासीन दिख रहे हैं, उसे देखकर संक्रमण के प्रसार को नकारा नहीं जा सकता। बाजारों व अन्य स्थानों में अब पहले की भांति नियमों का पालन कम देखा जा रहा है। जो बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में लोगों को विवेक से काम लेते हुए कोरोना संक्रमण प्रसार की संभावना को देखते हुए और भी ज्यादा सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है।वैक्सीन लेने के बावजूद भी नियमों का पालन

Read more

कोरोना के टीका के लिए ऐसे हो रहे हैं लोग जागरूक !

भोजपुर जिला मुख्यालय में तीन स्थानों पर हुई नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुतिलोगों को टीका लेने और सामान्य नियमों का पालन करने के लिए किया गया प्रेरित आरा. टीकाकरण के प्रति जिले के लोगों में संशय को दूर करने के उद्देश्य से जिला स्वास्थ समिति के द्वारा सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च के सहयोग से नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया. जिसके माध्यम से लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया. बुधवार को जिला मुख्यालय में तीन स्थानों पर नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन किया गया, जिसमें कलाकारों के द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति की गयी. नुक्कड़ नाटक की शुरुआत सदर प्रखंड परिसर से की गई, जहां पर नाटक के माध्यम से ओपीडी व इमरजेंसी में आए मरीजों और उनके परिजनों को कोरोना से बचाव, उपचार तथा कोविड-19 टीका के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई. वहीं, दूसरी नुक्कड़ प्रस्तुति कृषि भवन परिसर में की गयी. जहां काफी संख्या में सरकारी कर्मचारी व लोगों को कोविड-19 टीकाकरण के बारे में जागरूक किया गया. अंत में कलाकारों ने सदर अस्पताल परिसर में आए मरीजों और उनके परिजनों को टीके की अहमियत बताई. नुक्कड़ नाटक की टीम में निर्देशक डॉ अनिल सिंह, कलाकार अंबुज कुमार, भरत आर्य, कुमार नरेंद्र, सुमन कुमार, राम नाथ प्रसाद, भोला सिंह, राजीव रंजन त्रिपाठी, पल्लवी प्रियदर्शिनी और सारिका पाठक शामिल थे. इस दौरान सीफार के डिविजनल कोऑर्डिनेटर प्रोग्राम नवनीत सिन्हा व डिविजनल कोऑर्डिनेटर मीडिया अमित सिंह मौजूद रहे. टीकाकरण से घबराने और डरने की जरूरत नहींनुक्कड़ नाटक के माध्यम से कलाकारों ने आम जनों को यह जानकारी

Read more

पटना एम्स में कई डॉक्टरों ने लिया टीका

एम्स निदेशक सहित कई डॉक्टरों ने लगवाया टीका फुलवारी शरीफ ।। पटना एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह सहित कई चिकित्सको ने पहले दिन कोरोना टिका का पहला डोज लिया. जानकारी देते हुए एम्स मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ सीएम सिंह ने बताया कि एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह , डॉ सुदीप , डॉक्टर क्रांति भावना ने भी कोरोना वैक्सीन लिया है. इस मौके पर डीन उमेश भदानी,उप निदेशक परिमल सिन्हा ,कोरोना वैक्सीन टीकाकरण नोडल पदाधिकारी डॉ संजय पांडेय सहित अन्य उपस्थित थे. हॉस्पिटल अटेंडेंट अभिषेक कुमार को लगा एम्स में कोरोना का पहला टिका दूसरे सर्जरी विभाग के डॉ अभिषेक कुमार ने ली कोविड 19 वैक्सीन की पहली खुराक एम्स निदेशक ने कोरोना वैक्सीन टीकाकरण का किया शुभारंभ 50 से अधिक हेल्थ वर्करों को लगाया गया कोरोना वैक्सीन पटना एम्स में शनिवार को चिर प्रतिक्षित कोरोना टीकाकरण का शुभारंभ हो गया. इसका विधिवत उद्घाटन के निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने किया. एम्स में फ्रंट लाइन पर कोविड-19 की लड़ाई में आगे रहे हेल्थ वर्करों में सबसे पहला टीका हॉस्पिटल अटेंडेंट सफाई कर्मी अभिषेक कुमार को लगाया गया वहीं दूसरा टिका सर्जरी विभाग के डॉक्टर अभिषेक कुमार को दिया गया. इस मौके पर निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने कहा कि आज कोरोना की जंग जीतने जैसा अनुभव हो रहा है. पटना एम्स में कोविड 19 से मानव जगत की लड़ाई में सबसे आगे बढ़ चढ़कर हम लोगों ने मरीजों की सेवा की है. हर मुश्किल घड़ी में एम्स पटना में सबसे बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराकर लोगों का इलाज

Read more

कोरोना से जंग हार गए वैशाली के रघुवंश

आखिरकार कोरोनावायरस के संक्रमण ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह की जान ले ली. जून महीने में वे कोरोनावायरस से संक्रमित हुए थे. करीब 14 दिनों तक पटना एम्स में भर्ती रहे थे. रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी लेकिन उनकी खांसी की शिकायत दूर नहीं हो रही थी. अगस्त महीने में रघुवंश प्रसाद दिल्ली पहुंचे और उसके बाद एम्स से उनका इलाज चल रहा था. करीब एक हफ्ता पहले वे एम्स में एडमिट हुए और पिछले 4 दिनों से वेंटिलेटर पर थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर शोक जताते हुए कहा है कि आखिरी समय में भी वे अपने क्षेत्र के बारे में सोच रहे थे, जिसको लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्ठी भी लिखी थी और वैशाली को इसका पुराना गौरव लौटाने की मांग की थी. कुछ दिन पहले उन्होंने राजद से इस्तीफा दे दिया था. इसके लिए उन्होंने हाथ से ही एक पत्र लालू के नाम लिखा था लालू के परिवार और राष्ट्रीय जनता दल संगठन को लेकर उन्होंने कई गंभीर सवाल खड़े किए थे. राजेश तिवारी

Read more

कोरोना को हराकर घर पहुंचींं बिहार की ये विभूति

बिहार की जिस विभूति की चर्चा हम कर रहे हैं वे सचमुच सबसे खास हैं अगर उन्हें बिहार की आवाज कहें तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी. हम बात कर रहे हैं बिहार की मशहूर लोक गायिका पद्मश्री शारदा सिन्हा की. कोरोना संक्रमण के कारण शारदा सिन्हा पिछले कुछ दिनों से पटना के एक निजी अस्पताल में इलाज करा रही थी. इस दौरान उनके बारे में एक गलत खबर भी फैलाई गई थी जिसका खुद उन्होंने फेसबुक पर लाइव आकर खंडन किया था. आज आखिरकार कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद पूरी तरह स्वस्थ होकर शारदा सिन्हा अस्पताल से डिस्चार्ज हो गई हैं. इस बात की जानकारी उन्होंने खुद फेसबुक पर लाइव आ कर दी है. उन्होंने अपने शुभचिंतकों और अस्पताल के डॉक्टर और सभी कर्मियों का शुक्रिया अदा किया है. पटना नाउ की टीम की तरफ से शारदा सिन्हा को शुभकामनाएं. pncb

Read more

DM और जदयू के कई नेताओं को हुआ संक्रमण

जदयू से राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह पत्नी समेत कोरोना पॉजिटिव,सांसद दम्पति के साथ एक घरेलू स्टाफ भी पटना एम्स में भर्ती बिहार ने 1 दिन में कोरोना केसेज के मामले में नया रिकॉर्ड बना दिया है. 1 अगस्त को 3521 नए मरीज मिले हैं. वही पटना में संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है. पटना में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 10 हजार के करीब पहुंच रही है. पटना में शनिवार को 594 मरीज बढ़ गए. पटना में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी काफी बढ़ गई है. कंकड़बाग अशोक नगर रोड नंबर 11 में कई मरीज मिलने के बाद प्रशासन ने इसे एक कंटेनमेंट जोन बना दिया. कोरोना ने हाई फ्रोफाइल लोगो को अपनी चपेट में लेकर राजनितिक गलियारे में हडकंप मचा दिया. पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि के कोरोना पॉजिटिव होते ही घर में ही आइसोलेट कर लिए जाने की खबर के कुछ ही देर बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी और जदयू के राज्यसभा सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी गिरिजा देवी को भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आने की खबर मिलते ही राजनीतिकक हस्तियों को सन्न कर दिया. जदयू सांसद आर सी पी सिंह के साथ ही उनके आवास का एक स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव निकला है. सूत्रों के मुताबिक जदयू के राज्य सभा सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी गिरिजा देवी समेत आवास के स्टाफ को पटना एम्स में भर्ती कराया गया है. जहाँ इनका इलाज आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है. हालाँकि एम्स से कोई भी अधिकारी इन

Read more

कोरोना संक्रमित बिहार के राजनेता की मौत

कोरोना संक्रमित थे विधान पार्षद सुनील कुमार सिंह 13 जुलाई से एम्स मेंं चल रहा था कोरोना का इलाज पटना एम्स में एक बड़े राजनेता की मौत कोरोना से होने की जानकारी मिलते ही सियासी गलियारे में शोक की लहर दौड़ गयी. दरभंगा के रहने वाले विधान पार्षद सुनील कुमार सिंह की मौत कोरोना से एम्स के आइसोलेशन वार्ड में हो गयी है. एम्स में उनका पिछले नौ दिनों से इलाज चल रहा था. बताया जाता है कि BJP एमएलसी सुनील कुमार सिंह कोरोना पॉजिटिव थे और मंगलवार की रात पौने नौ बजे उन्हें हार्ट अटैक आया जिससे उनकी मौत हो गयी. पटना एम्स के कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि 66 वर्षीय एमएलसी सुनील कुमार सिंह को एम्स में 13 जुलाई को भर्ती कराया गया था. उन्हें पहले से हाइपरटेंशन और डायबीटीज था. एमएलसी सुनील कुमार सिंह की मौत होने की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके बेटे को कॉल कर सांत्वना दी और गहरा शोक जताया. अपने शोक संवेदना में सीएम नीतीश ने कहा कि एक बेहतर राजनेता को हमने खो दिया. विभिन्न दलों के राजनेताओंं ने भी BJP एमएलसी के निधन पर शोक जताया है. बता देंं कि बिहार में अब तक 28564 कोरोना पॉजिटिव केस आ चुके हैं. इनमें से 18741 लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 198 लोगों की मौत हुई है. पटना से अजीत

Read more

बिहार में 62.91 तक पहुंच गया रिकवरी रेट

बढ़ रहे हैं पॉजीटिव केस, घट रही है रिकवरी रेट बिहार में रविवार को 1412 नये मामले सामने आए हैं. आंकड़ों की बात करें तो अब बिहार में कोरोना पॉजीटिव मामलों की संख्या बढ़कर 26379 हो गई है. इनमें से स्वस्थ होने वाले लोग 16597 हैं. कुल 180 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से जान गवां चुके हैं. बिहार में कुल 9602 एक्टिव कोरोना पेशेंट्स हैं. जिनमें से सबसे ज्यादा मामले राजधानी पटना में हैं. पटना में 148 नये मामले सामने आए हैं पिछले 24 घंटे में और यहां अब 3696 कोरोना केसेज हैं. इनमें से 1951 स्वस्थ हो चुके हैं. दूसरे नंबर पर भागलपुर हैं जहां 1601 मरीज हैं. इनके बाद मुजफ्फरपुर में 1151, सिवान में 1102, बेगूसराय में 1076 और नालंदा में 1047 मरीज हैं. बिहार में जैसे-जैसे मामले बढ़ रहे हैं, रिकवरी रेट कम हो रही है. सरकार के आंकड़ों के मुताबिक आज अगर मरीज 26397 हैं तो फिलहाल मरीजों के ठीक होने की दर 62.91 है. जो 1 जुलाई को 10075 मरीजों पर 77.52 थी. 10 जुलाई को 14330 मरीजों पर रिकवरी रेट 71.54 थी. क्या कहते हैं मंत्री मंगल पांडे स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग कोरोना मरीजों को बेहतर इलाज देने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहा है. कोरोना मरीजों के बेहतर इलाज के लिए केंद्र सरकार द्वारा पूर्व में भेजे गए एक सौ वेंटिलेटर के अतिरिक्त और 264 वेंटिलेटर भेजा गया है. इसमें से 25 वेंटिलेटर एम्स, पटना एवं शेष वेंटिलेटर राज्य के विभिन्न मेडिकल काॅजेल सह अस्पताल में लगेंगे. पिछले

Read more

बिहार में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, पटना में 700 तक पहुंचा आंकड़ा

पटना में एक दिन में 86 नए मरीज मिले कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब बेलगाम होती नजर आ रही है. बिहार में तो इसने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. सोमवार को एक ही दिन में 394 नए केस सामने आए हैं. पटना में अकेले 86 नए मामले सामने आए हैं. राजधानी में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 699 तक पहुंच गया है. इनमें से 322 लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं जबकि 372 लोग संक्रमित हैं. अब तक पटना में पांच लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है. संक्रमण को देखते हुए बिहार की सबसे बड़ी दवा मंडी पटना के गोविंद मित्रा रोड को जिला प्रशासन ने 30 जून से 2 जुलाई तक के लिए पूरी तरह बंद कर दिया है. सोमवार के दिन पटना में कोरोना के 86 नए मरीजों में सेपीएमसीएच में 14 मरीज मिले. गायनी विभाग की 6 जूनियर डॉक्टर, एक नर्स, 6 एडमिट पेशेंट और एक मृतक की रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है. पीएनसी

Read more

2700 से ज्यादा हो गई है बिहार में संक्रमितों की संख्या

कोविड-19 वायरस का कहर बिहार में विकराल रूप धारण कर रहा है. 2737 लोग इस विषैले वायरस की चपेट में आ गए हैं. इस महामारी ने सूबे में 13 लोगों के जीवन को लील लिया है. सुखद है कि 729 लोग कोरोना वायरस को पटकनी देते हुए स्वस्थ्य हो गए हैं. बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में मई में एकाएक काफी वृद्धि हुई है. इस वायरस के संक्रमण की चपेट में सूबे के सभी जिले आ गए हैं.सरकार और पुलिस प्रशासन के तमाम उपाय और बंदिशों के बाद भी इस वायरस के संक्रमण के चेन को तोड़ने में सफलता नहीं मिल रहा है. हीरेश

Read more