सावधान! खत्म नही हुआ है कोरोना

वैक्सीनेशन के साथ कोविड-19 के नियमों का सख्ती से करना होगा पालन

  • कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने जारी किए हैं निर्देश
  • लोगों की जरा सी लापरवाही से बढ़ सकती है संक्रमण प्रसार की सम्भवना
    आरा, 25 फरवरी | कोरोना वायरस के संक्रमण को समाप्त करने के उद्देश्य से जिले में वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। लेकिन, अभी भी जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की संभावना समाप्त नहीं हुई है। देश के कई राज्यों में संक्रमण का प्रसार एक बार फिर शुरू हो चुका है। जिसको लेकर राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन संक्रमण के प्रसार को रोकने की तैयारी में जुट गया है। साथ ही, स्वास्थ्य विभाग जिलेवासियों से पूर्व की भांति कोविड-19 के सामान्य नियमों का पालन करने की अपील कर रहा है। ताकि, संक्रमण के प्रसार की संभावना न उत्पन्न हो सके।
    इस संबंध में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) डॉ. संजय कुमार सिन्हा ने बताया राज्य में फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार शुरू नहीं हुआ है। लेकिन, जिस प्रकार से लोग विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के जारी गाइडलाइन्स को लेकर उदासीन दिख रहे हैं, उसे देखकर संक्रमण के प्रसार को नकारा नहीं जा सकता। बाजारों व अन्य स्थानों में अब पहले की भांति नियमों का पालन कम देखा जा रहा है। जो बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में लोगों को विवेक से काम लेते हुए कोरोना संक्रमण प्रसार की संभावना को देखते हुए और भी ज्यादा सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है।
    वैक्सीन लेने के बावजूद भी नियमों का पालन जरूरी :
    डीआईओ डॉ. सिन्हा के अनुसार जिले में फिलहाल कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीनेशन तो चल ही रहा है। लेकिन, अभी भी लोगों को सचेत रहना होगा। यहां तक कि जिन लोगों ने वैक्सीन का पहला डोज ले लिया है, उन्हें भी नियमों का पालन करना होगा। उन्होंने बताया जो लोग वैक्सीन का पहला डोज ले चुके हैं, उन्हें दूसरा डोज 28 दिनों के बाद ही दिया गया है या दिया जाएगा। लेकिन, उसके दो से तीन हफ़्तों में उनके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता के अनुसार ही कोविड-19 के वायरस के खिलाफ एन्टी बॉडीज विकसित हो सकेगी। इस दौरान उनको भी कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। जिससे कि वह खुद को संक्रमण की संभावना से बचा सकें।
    लोगों को सावधान रहना चाहिए :
    डीआईओ डॉ. सिन्हा ने बताया जल्द ही तीसरा चरण शुरू होगा, जिसमें आमलोगों को भी टीका पड़ने लगेगा। तब तक लोगों को सावधान रहना चाहिए। टीकाकरण की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। तीनों चरण समाप्त हो जाएंगे और नए मरीज भी नहीं मिलने लगेंगे। तभी, हम मानेंगे कि कोरोना पूरी तरह से समाप्त हो गया है। अगर मरीज कम भी मिलने लगे, ऐसा नहीं समझना चाहिए कि कोरोना अब खत्म हो गया है। इसलिए अभी लापरवाही नहीं बरतें और सावधान रहें।
    इन मानकों का सख्ती से करें पालन :
  • मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • अनावश्यक यात्रा से बचें।
  • साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से हाथ धोएं।

PNC