कोरोना से जंग जीतना है तो वैक्सीन जरूर लें

कोइलवर/भोजपुरकोरोना टीकाकरण अभियान के तहत कोइलवर के काजी वहीद अशरफ मध्य विद्यालय टीकाकरण केंद्र पर शनिवार को भी टीकाकरण किया गया. इस दौरान सुबह से ही महिलाओं व परुषों की भीड़ इकट्ठी हो गई. टीकाकरण के तहत पटना जिला युवा भाजपा जिलाध्यक्ष अर्पित कुमार दिवाकर ने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया. कोविड-19 का टीका लगवाने के बाद जिलाध्यक्ष दिवाकर ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है इसलिए यह आवश्यक है कि सावधानी बरती जाए. उन्होंने कहा कि शासन की गाइडलाइन के अनुसार प्रदेश में टीकाकरण लगातार कराया जा रहा है. कोरोनारोधी टीका पूरी तरह सुरक्षित है. किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं है. यह टीका बाकी टीकों की तरह ही जनरल वैक्सीन है. हमने खुद वैक्सीन लगवाया है जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखा. अतः सभी लोग सरकार के गाइड लाइन के अनुसार कोरोना का टीका लें ताकि हम सभी कोरोना से जंग जीत सकें. साथ ही कहा कि टीका लेने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, साबुन से बार-बार हाथ धोते रहें व मास्क का हमेशा प्रयोग करें. आमोद

Read more

सचिवालयकर्मियों एवं उनके परिवारवालों का हुआ टीकाकरण

• स्वास्थ्य, पशुपालन एवं मत्सयपालन, गन्ना उद्योग एवं नगर विकास एवं आवास विभाग के कर्मी हुए शामिल• राज्य सरकार द्वारा सभी को टीकाकृत करने की मुहीम का हिस्सा• लोगों में दिखा टीकाकरण को लेकर उत्साह पटना,13 जून(ओ पी पाण्डेय). राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी नागरिकों को टीकाकृत करने की मुहीम पूरे राज्य में जारी है. राज्य भर में 18 वर्ष एवं 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीकाकृत करने के लिए विभिन्न स्तरों पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है. इसी क्रम में शनिवार को सचिवालय में सचिवालयकर्मियों एवं उनके परिवारजनों के लिए विशेष टीकाकरण सत्र का आयोजन किया गया. इस टीकाकरण सत्र में सरकार के चार विभाग स्वास्थ्य, पशुपालन एवं मत्सयपालन, गन्ना उद्योग एवं नगर विकास एवं आवास विभाग के कर्मी तथा उनके परिवारजनों को टीकाकृत किया गया. राज्य सरकार द्वारा सभी को टीकाकृत करने की मुहीम का हिस्सा:स्वास्थ्य विभाग में अंडर सेक्रेटरी अंजनी कुमार सिन्हा ने बताया राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग राज्य के ज्यादा से ज्यादा योग्य नागरिकों को टीकाकृत करने के लिए संकल्पित है. इसी क्रम में शनिवार को राज्य सचिवालय में टीकाकरण सत्र का आयोजन किया गया. स्वास्थ्य, पशुपालन एवं मत्सयपालन, गन्ना उद्योग एवं नगर विकास एवं आवास विभाग के कर्मी तथा उनके परिवारजनों को टीका लगाया गया. आगे अन्य विभाग के कर्मी एवं उनके परिवारजनों को भी टीकाकृत किया जायेगा. सत्र में शामिल लोगों को पहला और दूसरा दोनों डोज देने की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है.दोनों डोज है जरुरी:अंडर सेक्रेटरी ने बताया कोरोना के खिलाफ सुरक्षा चक्र मजबूत करने के

Read more

जिम्मेदारी ही दिलाएगा कोरोना से मुक्ति

कोरोना व उसके संक्रमण के खिलाफ सभी को निभानी होगी अपनी जिम्मेदारी : डीआईओ संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या में गिरावट के साथ ठीक होने वाले मरीजों की तादात बढ़ने लगी कोविड-19 का टीका संक्रमण से बचाव के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य अधिकारियों ने की पहली डोज ले चुके लाभार्थियों से अनिवार्य रूप से दूसरी डोज लेने की अपील आरा, 12 मई. जिले में अब कोरोना से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या में गिरावट के साथ ठीक होने वाले मरीजों की तादात बढ़ने लगी है. जिसका श्रेय जिला प्रशासन व स्वास्थ्य अधिकारियों को जाता है. एक ओर जहां प्रशासनिक अधिकारी सरकार के द्वारा घोषित लॉकडाउन के नियमों का पालन कराने में लगे रहे, वहीं स्वास्थ्य समिति के चिकित्सक व कर्मियों ने संक्रमित लोगों के इलाज करने में दिन रात एक कर रखा है. इसी क्रम में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) डॉ. संजय कुमार सिन्हा ने 18 से 44 वर्ष तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों से टीके का लाभ लेने की अपील की है. उन्होंने कहा कोरोना का टीका संक्रमण से बचाव का एक मात्र जरिया है. स्वास्थ्य परीक्षणों में यह पूरी तरह साबित हो चुका है. टीका का संपूर्ण डोज लेने के बाद संक्रमण की संभावना 90 फीसदी तक कम होती है. टीका का दोनों डोज लेने के बाद अगर कोई व्यक्ति संक्रमित होते हैं, तो उन पर रोग का प्रभाव व इससे जुड़ी जटिलता काफी कम होगी. साथ ही, वह बीमारी के लक्षणों से जल्द निजात पा जाएंगे. 18+ के लाभार्थियों के लिए पीएचसी

Read more

सब तक वैक्सीन की पहुँच बनाने में लगा गेट्स फ़ाउंडेशन

भारत में भी अधिक से अधिक वैक्सीन पहुंचाने की कोशिश में बीएमजीएफ• सीईओ ने कहा, फाउंडेशन ने दिया कई कंपनियों को लोन ताकि जल्द से जल्द अधिक से अधिक वैक्सीन बन सकें• वैक्सीन बनाने में उपयोग होने वाले मटेरियल का भी भंडारण किया, कंपनियों के बीच तकनीक का आदान-प्रदान भी किया• किसी भी बाधा को वैक्सीन के पहुंच के रास्ते में नहीं खड़ा होना चाहिए – सीईओ मार्क सूज़मैन पटना, 12 मई(ओ पी पांडेय). भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रकोप को देखते हुए बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन (बीएमजीएफ) प्रयासरत है कि ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन जल्द से जल्द पहुंचे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके. फाउंडेशन के CEO मार्क सूजमैन ने शनिवार को बताया कि बीएमजीएफ की विभिन्न वैक्सीन निर्माता कंपनियों से बातचीत चल रही है. फाउंडेशन ने वैक्सीन के निर्माण व सुचारू वितरण के लिए 3000 लाख डालर से ज्यादा का निवेश किया है. इसके अलावा 3000 लाख डालर का लोन कंपनियों को दिया है ताकि जल्द से जल्द भारत में वैक्सीन पहुंच सके. इसमें भारतीय कंपनियां भी शामिल हैं. उन्होंने बताया कि फाउंडेशन का लक्ष्य 2000 लाख वैक्सीन तैयार कराने का है जिस पर तेजी से काम चल रहा है.सीईओ ने बताया कि वैक्सीन का उत्पादन बढ़वाने के लिए फाउंडेशन ने कई देशों की कंपनियों के बीच तकनीक का आदान-प्रदान कराया है. इसके अलावा वैक्सीन बनाने में उपयोग होने वाले मटेरियल का भंडारण भी कर रखा है ताकि किसी प्रकार का अवरोध उत्पन्न न हो. उन्होंने आश्वस्त किया है कि फाउंडेशन

Read more

अब स्कूल एवं कॉलेजों में बनाया जायेगा कोविड टीकाकरण केंद्र

• संक्रमण बढ़ते देखकर लिया गया निर्णय• तीन कमरों का बनेगा टीकाकरण केंद्र• राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने जारी किया निर्देशआरा, 12 मई(ओ पी पांडेय). जिले में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड टीकाकरण अभियान को तेज किया गया है. अब 18 से 44 वर्ष तक के लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है. इस कड़ी में स्वास्थ्य विभाग ने स्कूल व कॉलेजों में टीकाकरण केंद्र बनाने का निर्णय लिया है. इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया है. जारी पत्र में कहा गया है कि कोविड 19 वैश्विक महामारी से सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग के सभी लाभार्थियों का सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में निःशुल्क टीकाकरण कराया जा रहा है. इस आयुवर्ग के लाभार्थियों की अत्यधिक संख्या को देखते हुए टीकाकरण सत्र स्थल को कोविड 19 की जांच एवं उपचार किये जा रहे स्वास्थ्य संस्थान परिसर से अलग रखे जाने का निर्णय लिया गया है. टीकाकरण पूर्व से संचालित स्वास्थ्य संस्थानों से अलग सरकारी स्कूल, कॉलेज आदि में आयोजित किया जाना है. संक्रमण बढ़ते देखकर लिया गया निर्णय:पत्र के आलोक में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. संजय कुमार सिन्हा ने बताया संक्रमण लगातार बढ़ रहा है और इससे सुरक्षित रहने का सबसे सशक्त माध्यम टीकाकरण ही है. सरकार और स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत है कि 18 वर्ष के ऊपर के सभी युवाओं और अन्य लोगों को टीका लगाया जाए. लेकिन, केंद्रों पर बढ़ रही भीड़ व संक्रमण की संभावना

Read more

सावधान! खत्म नही हुआ है कोरोना

वैक्सीनेशन के साथ कोविड-19 के नियमों का सख्ती से करना होगा पालन कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने जारी किए हैं निर्देश लोगों की जरा सी लापरवाही से बढ़ सकती है संक्रमण प्रसार की सम्भवनाआरा, 25 फरवरी | कोरोना वायरस के संक्रमण को समाप्त करने के उद्देश्य से जिले में वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। लेकिन, अभी भी जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की संभावना समाप्त नहीं हुई है। देश के कई राज्यों में संक्रमण का प्रसार एक बार फिर शुरू हो चुका है। जिसको लेकर राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन संक्रमण के प्रसार को रोकने की तैयारी में जुट गया है। साथ ही, स्वास्थ्य विभाग जिलेवासियों से पूर्व की भांति कोविड-19 के सामान्य नियमों का पालन करने की अपील कर रहा है। ताकि, संक्रमण के प्रसार की संभावना न उत्पन्न हो सके।इस संबंध में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) डॉ. संजय कुमार सिन्हा ने बताया राज्य में फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार शुरू नहीं हुआ है। लेकिन, जिस प्रकार से लोग विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के जारी गाइडलाइन्स को लेकर उदासीन दिख रहे हैं, उसे देखकर संक्रमण के प्रसार को नकारा नहीं जा सकता। बाजारों व अन्य स्थानों में अब पहले की भांति नियमों का पालन कम देखा जा रहा है। जो बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में लोगों को विवेक से काम लेते हुए कोरोना संक्रमण प्रसार की संभावना को देखते हुए और भी ज्यादा सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है।वैक्सीन लेने के बावजूद भी नियमों का पालन

Read more