पटना जू के शौचालयों की हालत खराब

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | संजय गांधी जैविक उद्यान यानि पटना जू बिहार की राजधानी के हृदय में बसा एक सुन्दर और लोगों के मनोरंजन का एक महत्वपूर्ण केंद्र है. यहां पेड़-पौधे, तमाम जड़ी बूटियां और झाड़ियों की तीन सौ से ज्यादा प्रजातियां हैं. बच्चें, बूढ़े, जवान, सभी इस हरियाली से युक्त जंगली जानवरों के उद्यान का भरपूर फायदा उठाते हैं. उद्यान में जहां एक तरफ झील है तो दूसरी तरफ बैटरी से चलने वाला टॉय ट्रेन है.इस उद्यान में लोग मनोरंजन के अलावा मौर्निंग वॉक के लिए भी आते हैं. दूषित हो रहे इस पर्यावरण में पटना जू सेहत बनाने में भी लोगों के लिए काफी महत्वपूर्ण और अच्छा स्थान माना जाता है. ज़ू में घूमने आने वालों के साथ साथ मौर्निंग वॉक पर आने वालों से ज़ू प्रशासन एंट्री शुल्क लेता है. इन शुल्कों से उद्यान का मेंटेनेंस किया जाता है.इस ज़ू में कई शौचालय बने हैं जिनका उपयोग यहां घूमने आने वाले करते हैं. पिछले कुछ महीनों से इन शौचालयों की देखभाल ठीक ढंग से नहीं हो पा रही है. इस कारण लोगों में, खासकर मौर्निंग वॉक में आने वाले लोगों में आक्रोश व्याप्त है. उनका कहना है कि शुरुआत में उद्यान के शौचालयों की देखभाल काफी ढंग से होती थी, लेकिन अब इसकी हालत खराब हो रही है.

Read more

पकड़े गए पटना जू में चेन लूटने वाले अपराधी

पटना पुलिस ने दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है. इन पर कई मामले पहले से दर्ज हैं. हाल ही में पटना जू में एक महिला से चेन लूटकर भागे ये दोनो अपराधी पहले से दानापुर, हवाई अड्डा थाना, सचिवालय थाना और शास्त्रीनगर के मामले में आरोपित हैं. पटना के एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि पकड़े गए अपराधी का नाम बिरजू उर्फ बिल्लू पासवान है जबकि दूसरे अपराधी का नाम जितेन्द्र राय है. ये दोनो पटना के शेखपुरा के रहने वाले हैं. इनके पास से एक चेन भी बरामद की गई है.

Read more

मिट्टी घोटाले पर हाईकोर्ट सख्त

बिहार के बहुचर्चित मि्टटी और जमीन घोटाले को लेकर पटना हाईकोर्ट ने सरकार को नोटिस जारी किया है. हाईकोर्ट ने सरकार से 6 हफ्ते में जवाब देने को कहा है कि इस मामले में अबतक क्या कार्रवाई हुई है. हाईकोर्ट ने एडवोक्ट मणिभूषण सेंगर की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सरकार को नोटिस जारी किया है. लगातार मुसीबत में फंसे लालू एंड फैमिली के लिए परेशानियां कम होती नहीं दिख रही हैं. जिस जमीन की मिट्टी बेचने का ये मामला है, उसे लेकर भी लालू और उनके बेटे लगातार जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं. बता दें कि इस मामले का खुलासा बीजेपी नेता सुशील मोदी ने इसी साल अप्रैल महीने में किया था. सुशील मोदी ने आरोप लगाया था कि 5 लाख घनफुट मिट्टी को तीन महीने में हाइवा ट्रक की 1 हजार ट्रिप लगाकर पटना जू पहुंचाया गया. इतनी मिट्टी लालू प्रसाद के निर्माणाधीन मॉल के दो अंडर ग्राउंड फ्लोर के अलावा कहां से मिल सकती थी. सगुना मोड़ स्थित इसी निर्माणाधीन मॉल से जुड़ा है मामला सुशील मोदी ने तत्कालीन बिहार सरकार से सवाल किया था कि मिट्टी भराई से प्राणी संरक्षण का क्या वास्ता है? क्या इसके लिए उनसे अनुमति ली गई थी? सुशील मोदी ने आगे कहा कि केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने पटना जू के लिए जिस मास्टर प्लान और मास्टर ले-आउट को स्वीकृति दी, उसमें भी मिट्टी भराई के काम का कोई उल्लेख नहीं है. राज्य सरकार बताये कि बिना प्लान और बिना स्वीकृति के 90 लाख की मिट्टी भराई का काम कैसे हुआ.   पूरी

Read more