भारतीय राजनीतिक ‘कलाकार’ करुणानिधि का निधन; मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताई शोक संवेदना

चेन्नई / पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) |  डीएमके चीफ और पूर्व सीएम करूणानिधि का मंगलवार शाम निधन हो गया. लंबे समय से बीमार चल रहे करूणानिधि चेन्नई के कावेरी अस्पताल में शाम 6 बजकर 10 मिनट पर आखिरी सांस ली. इसके बाद पूरे तमिलनाडु सहित पूरे देश में शोक की लहर छा गई है.
अस्पताल के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर अरविन्दन सेल्वाराज की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, ‘हमें बड़े दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि हमारे प्रिय कलैंग्नर एम. करुणानिधि का सात अगस्त, 2018 को शाम छह बजकर दस मिनट पर निधन हो गया. डॉक्टरों और नर्सों की हमारी टीम के सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका.’  विज्ञप्ति के अनुसार, ‘हम भारत के कद्दावर नेताओं में से एक के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हैं और परिवार के सदस्यों तथा दुनिया भर में बसे तमिलवासियों का दुख साझा करते हैं.
करूणानिधि के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने शोक जताया है. एम करूणानिधि के निधन पर साउथ फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत शोक व्यक्त करते हुए कहा कि यह मेरे जीवन का स्याह दिन है,क्योंकि मैं यह कभी नहीं भूलूंगा कि मैंने आज अपने कलईनार(कला का विद्वान) को खो दिया. मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए कामना करता हूं.




नीतीश कुमार ने एम० करूणानिधि के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रख्यात राजनीतिज्ञ, डीएमके प्रमुख एवं तमिलनाडू के पूर्व मुख्यमंत्री एम० करूणानिधि के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है. अपने शोक-संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि आज देश ने एक बड़ी राजनीतिक शख्सियत को खो दिया है, जिन्होंने देश के लोकतांत्रिक मूल्यों को हमेशा सबसे ऊपर समझा. वे तमिलनाडू में सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान के प्रणेता रहे. राष्ट्रीय स्तर पर विशेष कर तमिलनाडू में सामाजिक समरसता एवं वंचित तबकों के उत्थान के लिये उनके योगदान एवं उपलब्धियों को सदैव याद किया जाता रहेगा. मेरा उनसे सदैव आत्मीय संबंध रहा. उनके निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्रों में भी अपूरणीय क्षति हुयी है. मुख्यमंत्री ने आज सुबह ही एम० करूणानिधि की पुत्री कनीमोझी से दूरभाष पर वार्ता की थी.
मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों, अनुयायियों एवं प्रशंसकों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है