23वें वार्षिक अधिवेशन में हुई समान नागरिक संहिता पर बहस

जनहित परिवार भोजपुर ने मनाया अपना 23वां अधिवेशन

समान नागरिक संहिता के पक्ष और विपक्ष में हुई परिचर्चा, वोट भी डाले गए




आरा, 23 जनवरी. जनहित परिवार भोजपुर का 23 वां वार्षिक अधिवेशन स्थानीय बाल हिंदी पुस्तकालय में रविवार को संपन्न हुआ,जिसकी अध्यक्षता डॉ रेणु मिश्रा ने की. अधिवेशन का उद्घाटन बक्सर जिले ले प्रसिद्ध साहित्यकार और नाटककार डॉ. ओम प्रकाश केसरी पवननंदन ने किया.

कार्यक्रम के प्रथम सत्र में जनहित परिवार भोजपुर का सत्र 2023- 24 के कार्यकारिणी का गठन किया गया, जिसमें सर्वसम्मति से डॉ. किरण कुमारी को अध्यक्ष, मधु मिश्रा को उपाध्यक्ष, सारिका को सचिव, नंदकिशोर सिंह कमल को कोषाध्यक्ष, कार्यकारिणी के सदस्यों में डॉ. ममता मिश्र, अरविंद सिंह, सुरेंद्र सिंह अंशु, जगतनंदन सहाय को चयनित किया गया.

दूसरे सत्र में समान नागरिक संहिता के पक्ष और विपक्ष में परिचर्चा का आयोजन किया गया. मुख्य वक्ता अधिवक्ता दाऊजी पांडे ने समान नागरिक संहिता के संबंध में कहा कि समान नागरिक संहिता बहुत जरूरी है लेकिन इसको समाज में सामंजस्य स्थापित कर लागू करना चाहिए और इसके लिए विधि में स्पष्टता एवं निश्चितता का होना बहुत जरूरी है. पर्सनल लॉ व्यक्तिगत होता है परंतु उसका दुष्परिणाम सभी नागरिकों को भोगना होता है. इसलिए चर्चा और परिचर्चा करा कर ही समान नागरिक संहिता लागू होना चाहिए.

आपत्तियों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कि जब गोवा में समान नागरिक संहिता सफल हो सकता है तो पूरे भारत में भी सफल होगा. प्रकाश ओझा ने आपत्ति उठाई की भाषा के प्रश्न पर समान नागरिक संहिता मौन है. आपत्ति का उत्तर देते हुए डॉक्टर श्रीराम पांडे ने कहा कि समान नागरिक संहिता का संवैधानिक पहलू भारत के नागरिकों के लिए समान अधिकार देना है इसमें कानून की भाषा जरूरी पक्ष नहीं है. सभा में समान नागरिक संहिता के पक्ष और विपक्ष में वोटिंग भी कराई गई जिसमें समान नागरिक संहिता के पक्ष में 34 मत तथा विपक्ष में एक मत शिवदास सिंह का पड़ा. परिचर्चा को संबोधित करने वालों में डॉ. श्रीराम पांडे, प्रोफेसर डॉ. कमल सिंह, प्रमोद सिंह, डॉ. शीलभद्र, प्रो. अनुराधा सिन्हा, आदि प्रमुख थे.

तीसरे सत्र में कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें उपस्थित कवियों ने अपनी अपनी कविताओं का पाठ किया. कविताओं का पाठ करने वालों में डॉ जनार्दन मिश्र, रमेश सिंह अजय कुमार गुप्ता अज्ञानी, अलख अनाड़ी, कृष्ण गोपाल मिश्रा, डॉ. सत्य नारायण पांडे आदि प्रमुख थे. समापन सत्र में जनहित परिवार पत्रिका के 42 वे अंक का लोकार्पण डॉ. ममता मिश्र ने किया. सभी चयनित सदस्यों के अभिनंदन के साथ सभा संपन्न हुई. मंच का संचालन अतुल प्रकाश ने और धन्यवाद ज्ञापन अरविंद सिंह ने किया वही आगत अतिथियों का स्वागत इंद्रजीत कुमार सिंह एवं मुक्तेश्वर उपाध्याय ने किया.

PNCB