भोजपुर स्थापना दिवस मना

आरा (सावन कुमार) | भोजपुर स्थापना दिवस धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. यह कार्यक्रम ऐतिहासिक रमना मैदान के वीर कुंवर सिंह स्टेडियम में हुआ. समारोह का विधिवत उद्घाटन जिलाधिकारी रौशन कुशवाहा, पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार, क्षेत्र के विधायक व विधान परिषद सदस्य राधा चरण सेठ द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया. सर्वप्रथम समारोह में उपस्थित अतिथियों के द्वारा सामूहिक रूप से स्टेडियम में गुब्बारे छोड़कर कार्यक्रम का आगाज किया गया. जिलाधिकारी रौशन कुशवाहा ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए जिलावासियों को जिला स्थापना दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी तथा भोजपुर जिला के गठन , नवनिर्माण एवं विकास में अग्रणी भूमिका निभाने वाले महान सपूतों को स्मरण कर नमन किया. वक्ताओं में पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार, विधायक नवाज आलम, रामविशुन सिंह लोहिया, प्रभुनाथ प्रसाद, विधान पार्षद राधा चरण सेठ,जिला परिषद अध्यक्ष आरती देवी, मेयर रूबी कुमारी थे. सभी वक्ताओं ने स्थापना दिवस पर जिला वासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी तथा सभी लोगों से आपसी प्रेम एवं भाईचारे के साथ जिला के विकास के लिए एकजुट होकर कार्य करने का आह्वान किया. अवसर पर गणेश वंदना, स्वागत गीत तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए. सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत सरकार की महत्वाकांक्षी जल जीवन हरियाली योजना, दहेज प्रथा, बाल विवाह एवं मद्य निषेध पर आधारित नुक्कड़ नाटक तथा गीत संगीत पेश किए गए. डॉक्टर नेमीचंद बालिका उच्च विद्यालय की छात्राओं के द्वारा भारतीयम की प्रस्तुति की गई. इन कार्यक्रमों के द्वारा स्टेडियम में सुर के साधकों के द्वारा दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया गया

Read more

पैक्स का निर्वाचन पांच चरणों| जानिए कब

आरा/ भोजपुर (ब्यूरो रिपोर्ट)|पैक्स का निर्वाचन पांच चरणों में 9 दिसंबर से 17 दिसंबर तक होंगे. इस आशय की अधिसूचना बिहार राज्य निर्वाचन प्राधिकार द्वारा निर्गत किया गया है. प्रथम चरण 9 दिसंबर, द्वितीय चरण 11 दिसंबर, तृतीय चरण 13 दिसंबर, चतुर्थ चरण 15 दिसंबर तथा पांचवा चरण 17 दिसंबर मतदान हेतु निर्धारित है. मतदाता सूची के अंतिम प्रकाशन की तिथि एक 11 नवंबर निर्धारित है. बिहार राज्य निर्वाचन प्राधिकार द्वारा पैक्स निर्वाचन 2019 हेतु निर्वाचन का कार्यक्रम निम्नवत है –सूचना का प्रकाशन –प्रथम चरण 11 नवंबर, द्वितीय चरण 13 नवंबर, तृतीय चरण 15 नवंबर, चतुर्थ चरण 17 नवंबर तथा पांचवा चरण 19 नवंबर है.नामांकन देने की अवधि –प्रथम चरण 26 नवंबर से 28 नवंबर, द्वितीय चरण 28 नवंबर से 30 नवंबर, तृतीय चरण 30 नवंबर से 2 दिसंबर, चौथा चरण 2 दिसंबर से 4 दिसंबर और पांचवा चरण 4 दिसंबर से 6 दिसंबर तक.सवीक्षा की तिथि –प्रथम चरण 29 नवंबर से 30 नवंबर, द्वितीय चरण 1 दिसंबर से 2 दिसंबर, तृतीय चरण 3 दिसंबर से 4 दिसंबर, चौथा चरण 5 दिसंबर से 6 दिसंबर, तथा पांचवा चरण 7 दिसंबर से 8 दिसंबर.अभ्यर्थिता वापसी तथा प्रतीक आवंटन की तिथिप्रथम चरण 2 दिसंबर, द्वितीय चरण 4 दिसंबर, तृतीय चरण 6 दिसंबर, चौथा चरण 8 दिसंबर, पांचवा चरण 10 दिसंबर है.मतदान की तिथि –प्रथम चरण 9 दिसंबर,द्वितीय चरण 11 दिसंबर,तृतीय चरण 13 दिसंबर,चौथा चरण 15 दिसंबर,पांचवा और अंतिम चरण 17 दिसंबर है.मतगणना की तिथि –प्रथम चरण – 9 दिसम्बर, मतदान के तुरंत पश्चात अथवा 10 दिसंबर.द्वितीय चरण – 11 दिसंबर को मतदान

Read more

Exclusive – बाढ़ में दुरौंधा गाँव भगवान भरोसे, नहीं है किसी अधिकारी का ध्यान

आरा सदर के महुली पंचायत के दुरौंधा गाँव के ग्रामीणों का कहना है जिलाध्यक्ष ,जिला प्रशासन का ख्याल इस गाँव के लिए सबसे पीछे आता है, कॉल करने पर भी कोई कॉल नहीं उठाते, पिछले साल दो बच्चियां बाढ़ की चपेट में आई थी, उस समय भी कोई नहीं आया. घटना के पांच दिनों के बाद बाढ़ निरीक्षण वाले आये तब तक एक बच्ची को बाढ़ ने निगल लिया था . आरा सदर के महुली पंचायत के दुरौंधा गाँव में बाढ़ का कहर रातों -रात बढ़ गया है और इस पंचायत को जिलाअध्यक्ष ने अभी तक बाढ़ वाले इलाके से दूर रखा हुआ है . यहां के ग्रामीणों का कहना है कि जिलाध्यक्ष, जिला प्रशासन का ध्यान महुली पंचायत की तरफ कभी आता ही नहीं है और यहां के ग्रामीणों को किसी भी प्रकार की सरकारी सुविधा नहीं प्राप्त होती है. जिलाध्यक्ष से दुरौंधा गाँव के ग्रमीणों और वहां के वार्ड पार्षद की शिकायत है कि उनका ध्यान हमारी गाँव की तरफ सब से पीछे आता है, जब तक हम सभी बाढ़ की मार खा चुके होते है और वहां के ग्रामीणों का रोना है कि यह कोई डॉक्टर नहीं है, हम लोग तो इस बाढ़ में अपना जीवन-यापन किसी तरह कर लेते है पर गाय-गोरु का क्या होगा ? यहां गाय-गोरु के लिए भूसा नहीं प्राप्त हो पाता है और न ही कोई यहां मवेशी डॉक्टर है . बाढ़ में न जाने कितने घर पानी में बह गए, उजड़ गए, न जाने कितने घरों में बाढ़ का पानी बिन

Read more

आईरा पत्रकार के हिम्मत को तोड़ने का नही जोड़ने का कार्य करती है

कोइलवर/भोजपुर (आमोद कुमार) | ऑल इंडियन रिपोर्टर एसोसिएशन (भोजपुर) की बैठक आर एन एस दिल्ली पब्लिक स्कूल आरा के प्रांगण में रविवार को की गई. कार्यक्रम की अध्यक्षता पत्रकार बिजय कुमार व संचालन जिला अध्यक्ष राकेश कुमार सिंह बंटी ने किया. मुख्य अतिथि प्रदेश संगठन मंत्री कमलेश कुमार थे. बैठक में प्रखंड व अनुमंडल स्तर पर विस्तार करने की चर्चा की गई. पत्रकारों की समस्या के समाधान एवं आपातकालीन कोष गठन पर भी विचार किया गया. बैठक में वक्ताओ ने कहा की पत्रकार पर बहुत सी घटनाएं तेजी से घट रही है. इससे निपटने के लिए हम पत्रकारों को जागरूक व संगठित होना होगा. साथ ही कहा कि जब हम दूसरे के समस्याओ को खबर के माध्यम से प्रेषित कर न्याय दिलाने में मदद करते है वैसे में हमारे किसी साथी के साथ कोई समस्या होती है तो हम भला चुप क्यूं रहे. आज किसी और के साथ हो रहा है, कल हमारे साथ भी हो सकता है. पत्रकार हित के लिए संघटन जरूरी है. संघटन वैसी होनी चाहिए जो पत्रकारों के हितों को सोचे ना कि अहित पर, जो इस संगठन (आईरा) में कूट-कूट कर है. हमें गर्व है कि ऐसे संगठन के साथ हम जुड़े हैं. बहरहाल पत्रकारों को भी अपनी कुछ मर्यादा होती है. जिसे पत्रकार साथी को भली भांति ख्याल रख पत्रकारिता करनी चाहिए ताकी कोई समस्याए आए तो संघटन डट कर उनके पक्ष में मजबूती के साथ विरोधी से लड़ाई लड़ सके. आईरा पत्रकार के हिम्मत को तोड़ने का नही जोड़ने का कार्य करती है.

Read more

समर डिलाइट में नन्हे बच्चों ने सबको किया डिलाइट

आर्ट एंड मोशन के समर कैंप का हुआ समापन आरा. आर्ट एंड मोशन डांस इंस्टिट्यूट द्वारा आयोजित समर तिलाइट समर कैंप 2019 का समापन समारोह स्थानीय नागरी प्रचारिणी में संपन्न हुआ संपन्न हुआ. कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन कर वन स्टेप के निर्देशक प्रेम सिंह, पत्रकार व वरिष्ठ रंगकर्मी शमशाद प्रेम एवं यज्ञ नारायण तिवारी ने संयुक्त रूप से किया. आगत अतिथियों का स्वागत वरिष्ठ रंगकर्मी निर्देशक ओ पी कश्यप औरओ नीरज सोनी ने माल्यार्पण और स्मृति चिन्ह प्रदान कर किया. कार्यक्रम का आगाज स्वागत नृत्य से बच्चों ने किया. उसके बाद एक के बाद एक कई प्रस्तुतियो ने उपस्थित दर्शको का समा बांध दिया. 1 महीने के इस समर कैंप में प्रशिक्षण के उपरांत जो प्रस्तुतियां बच्चों ने प्रस्तुत की उसे देखकर लोग अवाक थे कि इतने कम समय मे बच्चों ने कैसे इतनी अच्छी प्रस्तुतियां दी? समर कैंप में बच्चों द्वारा तैयार फैशन शो की भी प्रस्तुति हुई जिसमें अलग-अलग वेश-भूषा में उन्होंने अपनी अदाओं से सबका मन मोह लिया. समर कैंप बच्चों ने पेंटिंग का भी प्रशिक्षण दिया गया था जिसके विजेताओं को पुरस्कार एस बी गर्ल्स स्कूल की प्राचार्या शीला पांडेय और रंगकर्मी, निर्देशक ओ पी पांडेय ने दिया. पेंटिग में प्रथम आकृति द्वितीय प्रिया और भूमि तृतीय स्थान प्राप्त किया. समर डिलाइट, समर कैंप 2019 में महीने दिन चलने वाले डांस का प्रशिक्षण रौनक शाह,अविनाश कुमार और ध्रुव सिंह ने दिया, वही अमन श्रीवास्तव पेंटिंग तथा मनीष वर्मा ने स्मार्ट लुक(मॉडलिंग) के लिए प्रशिक्षण दिया,जिन्होंने फैशन शो में अपना जलवा बिखेरा. कार्यक्रम का संचालन शहर

Read more

हाई टेंशन तार गिरने से खेतो में ही हुए राख लाखों के गेहूँ

आरा, 22 अप्रैल. उदवंतनगर क्षेत्र के कसाप गांव के बधार में 11000 वोल्ट के बिजली के तार के गिर जाने से सैकड़ो बिगहे खेत मे लगी गेहूं की फसल बर्बाद हो गयी. यह घटना दोपहर लगभग 2.30 बजे की है. तार गिरने की वजह ग्रमीणों की माने तो खेत मे फसल की कटाई कर रहा हार्वेस्टर था. हार्वेस्टर के ऊपरी हिस्से से फसल कटाई के दौरान बिजली का तार टूटकर गिर पड़ा. फिर क्या था तार के खेत मे गिरने के साथ ही गेहूं की तैयार फसलों में आग की लपटें उठने लगी. खेत मे काम कर रहे हार्वेस्टर को उसके चालक ने चालाकी से रोड पर ला कर उसे जलने से तो बचा लिया लेकिन देखते ही देखते आग की लपटों ने दानावल का रूप धारण कर लिया और सैकड़ो बिगहे में फैल गया. आग की खबर आस-पास के गॉंवों तक फैल गयी. लोग खेतो की ओर दौड़ पड़े. खेत मे अपना फसल कटवाने के लिए जुटे किसानों और नौजवानों ने डंडे की मदद से आग बुझाने में लग गए. फिर फायर ब्रिगेड को भी फोन किया गया. ग्रामीणों के साथ फायर ब्रिगेड ने काफी जद्दोजहत के बाद आग पर काबू तो पाया लेकिन तबतक कई किसानों के अनाज खेतो में राख हो चुके थे. कई किसान अपने खेतों की यह हालत देखकर फूट-फूटकर बिलाप कर रहे थे. इसी बीच हार्वेस्टर मालिक और ग्रामीणों के बीच हाथापाई भी हो गई. ग्रामीणों का कहना था कि हार्वेस्टर वाले की वजह से तार गिरा है, जबकि विपक्षी इस बात को बार-2

Read more

शतरंज के ये हैं मास्टरमाइंड खिलाड़ी

शतरंज ने बढ़ायी एकाग्रता, 300 में 29 बने मात देने वाले खिलाड़ी भोजपुर जिला शतरंज संघ द्वारा आयोजित और शांति स्मृति शैक्षणिक न्यास द्वारा प्रायोजित चार दिवसीय स्व. शारदा प्रसाद सिंह मेमोरियल जिला स्तरीय शतरंज टूर्नामेंट का समापन खिलाड़ियों को पुरस्कृत करने के साथ ही हो गया. 26-29 दिसंबर तक चलने वाले प्रतियोगिता में विभिन्न स्कूल और कॉलेजो से लगभग 300 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था. 300 प्रतिभागियों ने इन चार दिनों में शतरंज की बिसात पर अपने मोहरों के साथ लगभग 750 बाजियां खेलीं. चौथे और अंतिम दिन भी खिलाड़ियों ने एक दूसरे को मात देने के लिए सुबह से ही प्यादों की चाल एक दूसरे को मात देने के लिए चलते रहे, जिसका फैसला 2 बजे दोपहर तक हुआ. शतरंज टूर्नामेंट के समापन सह पुरस्कार वितरण समारोह में विद्यालय की प्राचार्या और आयोजन समिति अध्यक्ष डॉ अर्चना सिंह ने कहा कि यह आयोजन हर साल स्व. शारदा प्रसाद सिंह की स्मृति में किया जाता है ताकि इस माध्यम से छुपी हुई प्रतिभायें बाहर निकलें. मुख्य अतिथि के रूप में संजीव श्याम सिंह(सदस्य बिहार विधान परिषद) ने कहा शिक्षा का यही महत्व है कि बच्चों में छुपी सम्भनाओं को उजागर कर उसे बढ़ाया जाय.उन्होंने रूसी क्रांति और चम्पारण सत्याग्रह के माध्यम से समानता ढूंढने की संभावनाओ की चर्चा की. समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में बिहार राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव भाई ब्रह्मेश्वर ने कहा कि कर्मठ व्यक्ति किसी चुनौती को स्वीकार कर उसपर विजय पा सकता है. उन्होंने विद्यालय के बारे में कहा कि सम्भावना में

Read more

CRPF की 47वें बटालियन ने पूरे किए 50 साल

धूम-धाम से मनाया स्थापना दिवस CRPF के 47वीं बटालियन के भोजपुर स्थित कोइलवर मुख्यालय में बटालियन का स्थापना दिवस समारोह बड़े धूमधाम व भव्य तरीके से मनाया गया. इस मौके पर 47वीं बटालियन के कमांडेंट भूपेश यादव ने बल के ध्वज को सलामी दी. कर्मियों को दिए अपने सम्बोधन में कमांडेंट भूपेश यादव ने कहा कि 1 दिसंबर के दिन वर्ष 1968 में इस वाहिनी की स्थापना पंजाब राज्य के संगरूर में हुई थी. तब से लेकर आज तक यह बटालियन देश सेवा में समर्पित है. बल ने समय समय पर देश के अंदरूनी समस्याओं से निपटने में बखूबी अपना योगदान दिया है. इधर स्थापना वर्षगांठ के मौके पर ही रविवार को इसी परिसर में आयोजित मेगा हेल्थ कैंप के आयोजन की तैयारियों पर भी चर्चा हुई जिसमें पटना के पारस हॉस्पिटल, मेडिका रिसर्च सेंटर,एम्स पटना समेत कई प्रख्यात अस्पतालों के नामचीन चिकित्सको के भाग लेने की बात कमांडेंट ने बताई. मेगा हेल्थ कैम्प में सभी तरीकों के रोगों की जांच की जायेगी और उचित चिकित्सकीय परामर्श दिया जायेगा.साथ ही इस अवसर पर रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया जायेगा जहाँ इच्छुक रक्तदाता मानवता की सेवा में रक्तदान कर सकते हैं. इस मौके पर वाहिनी के कमांडेंट श्री भूपेश यादव की अध्यक्षता में समारोह का उदघाटन किया गया. उक्त समारोह में खेलकूद प्रतियोगिता, मेला व अन्य प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. देर शाम सांस्कृतिक प्रोग्राम का आयोजन किया गया,जहाँ कई विद्यालयों के छात्र छात्राओं ने हिस्सा लिया. जिसमें कई कलाकारों ने बहुत ही उम्दा स्तर का प्रदर्शन किया. मौके पर

Read more

… तो इस वजह से VKSU VC ने दिया इस्तीफा

VKSU के वीसी ने भ्रष्टाचारियों से क्षुब्ध हो दिया इस्तीफा राजभवन ने किया नामंजूर वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति ने क्षुब्ध होकर अपने पद से आज इस्तीफा दे दिया जिसके बाद दिनभर गहमा गहमी की स्थिति बनी रही. पूरे दिन कुलपति से लोक संपर्क करते रहे लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया. विश्वविद्यालय पर संकट का बादल कब खत्म होगा जब शाम होते ही यह खबर आई आई यह खबर आई की उनके इस्तीफे को राजभवन ने नामंजूर कर दिया है. हालांकि कुछ छात्र संगठन और छात्र नेता दिन में ही इस बात के कयास लगा रहे थे कि वर्तमान वीसी का इस्तीफा मंजूर नहीं हो पायेगा. NSUI के वर्तमान जिलाध्यक्ष दुलदुल सिंह उर्फ मनीष सिंह ने पटना नाउ को बताया कि इस्तीफा जबतक मंजूर न हो जाये तबतक नामंजूर ही समझा जाता है और उन्हें विश्वास है कि कुलपति के कार्यों की रूपरेखा देखकर राजभवन ऐसा निर्णय कभी नहीं लेगा.   वही कुलपति से संपर्क नहीं होने के बाद रजिस्ट्रार और परीक्षा नियंत्रक से भी पटना नाउ ने कई बार संपर्क करना चाहा लेकिन किसी ने इस दरमियान फोन उठा कर जवाब देना मुनासिब नहीं समझा. इस दरमियान जब NSUI के पूर्व जिलाध्यक्ष के पूर्व जिलाध्यक्ष अभिषेक द्विवेदी से मामले के बारे में पटना नाउ ने जानने की कोशिश की तो उन्होंने बताया कि VC विश्वविद्यालय में कार्यरत भ्रष्ट कर्मियों और शिक्षकों से त्रस्त हैं. कुलपति सैयद मुमताजुद्दीन की छवि स्वच्छ और पारदर्शिता वाली है लेकिन उनकी छवि को भ्रष्ट कर्मी नहीं रखना चाह रहे हैं. ऐसे कर्मियों से तरसकर

Read more

NCC स्थापना दिवस पर कैडेटों ने किया रक्तदान

स्थापना दिवस पर NCC कैडेटों ने किया रक्तदान   NCC के 5 बिहार बटालियन के कैडेटों ने NCC दिवस के मौके पर आरा रेडक्रॉस में रक्तदान किया. रक्त में मौजूद प्लेटलेस कई लोगों की जिंदगी बचा सकती है. कमान्डिंग ऑफिसर कर्नल विनोद जोशी ने बताया कि लोगों में रक्तदान को लेकर बहुत गलत धारणाएं हैं. रक्त देने से व्यक्ति कमजोर नही होता है. 21 दिनों में दिए हुए रक्त की पूर्ति शरीर मे पुनः हो जाती है. 3 महीने बाद व्यक्ति पुनः रक्तदान कर सकता है. रक्तदान करने में NCC कैडेटों में विभन्न कॉलेजो के छात्र थे. रक्तदाता के रूप में आये कैडेटों में जोश, और उमंग देखने को मिला. इस अवसर पर कैडेटों के अलावा भूतपूर्व सैनिक असोसिएशन के प्रेसिडेंट मेजर आर पी सिंह, NCC के 12 प्रशिक्षक, रेडक्रॉस के सचिव दिनेश सिन्हा समेत कई लोग मौजूद थे.   आरा से ओपी पांडे

Read more