9.21 लाख करोड़ रुपये गायब, कहीं आपके घर में तो नहीं पड़ा

500 और 2000 के 1680 करोड़ नोटों का आरबीआई के पास हिसाब नहीं नए 500 और 2000 के नोटों में अब 9.21 लाख करोड़ गायब 2016 की नोटबंदी के समय केंद्र सरकार को उम्मीद थी कि भ्रष्टाचारियों के घरों के गद्दों-तकियों में भरकर रखा कम से कम 3-4 लाख करोड़ रुपए का काला धन बाहर आ जाएगा. पूरी कवायद में काला धन तो 1.3 लाख करोड़ ही बाहर आया…मगर नोटबंदी के समय जारी नए 500 और 2000 के नोटों में अब 9.21 लाख करोड़ गायब जरूर हो गए हैं. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की 2016-17 से लेकर ताजा 2021-22 तक की एनुअल रिपोर्ट्स बताती हैं कि आरबीआई  ने 2016 से लेकर अब तक 500 और 2000 के कुल 6849 करोड़ करंसी नोट छापे थे उनमें से 1680 करोड़ से ज्यादा करंसी नोट सर्कुलेशन से गायब हैं. इन गायब नोटों की वैल्यू 9.21 लाख करोड़ रुपए है. इन गायब नोटों में वो नोट शामिल नहीं हैं जिन्हें खराब हो जाने के बाद आरबीआई ने नष्ट कर दिया. आरबीआई  2019-20 से 2000 के नए नोट नहीं छाप रहा है. जबकि 500 के नोटों की छपाई 2016 के मुकाबले 76% बढ़ गई है. आरबीआई  ने कभी भी आधिकारिक तौर पर यह स्वीकार नहीं किया है कि सर्कुलेशन से नोटों के गायब होने की वजह क्या है. मगर जानकार मानते हैं कि इसका सबसे बड़ा कारण लोगों का करंसी जमा करके रखना है. जरूरी नहीं कि यह पूरी रकम ही काला धन हो, लेकिन यह बैंकिंग सिस्टम से बाहर जरूर है. PNCDESK

Read more

जस्टिस यूयू ललित हो सकते हैं देश के अगले चीफ जस्टिस

सीजेआई रमणा ने की नाम की सिफारिश सिफारिशी पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंपा भारत के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एन वी रमणा ने अगले सीजेआई के लिए जस्टिस उदय उमेश ललित के नाम की सिफारिश की है. चीफ जस्टिस रमणा ने सिफारिशी पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंप दिया है. अगर जस्टिस यूयू ललित के नाम की सिफारिश मान ली जाती है तो वे देश के 49वें चीफ जस्टिस बन जाएंगे. बता दें कि जस्टिस एनवी रमणा इस महीने ही सेवानिवृत्त हो रहे हैं. भारत के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एन वी रमणा ने अगले सीजेआई के लिए जस्टिस उदय उमेश ललित के नाम की सिफारिश की है. सीजेआईरमणा ने सिफारिशी पत्र कानून और न्याय मंत्री को सौंप दिया है. अगर जस्टिस यूयू ललित के नाम की सिफारिश मान ली जाती है तो वे देश के 49वें सीजेआइ बन जाएंगे. पारंपरिक रूप से सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश अपनी वरिष्ठता के आधार पर सीजेआई के रूप में कार्यभार संभालते हैं. चीफ जस्टिस के तौर पर कोई कार्यकाल निर्धारित नहीं है. सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की सेवानिवृत्ति की आयु संविधान के तहत 65 वर्ष निर्धारित की गई है. सुप्रीम कोर्ट में दशकों बाद ऐसा मौका आने वाला है, जब देश चार महीनों में तीन चीफ जस्टिस देखेगा. इसी साल जुलाई से नवंबर के दौरान सीजेआई एनवी रमण के अलावा जस्टिस उदय उमेश ललित और जस्टिस धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ भी मुख्य न्यायाधीश बनेंगे. इस दिलचस्प संयोग के पांच साल बाद 2027 में भी देश ऐसे ही संयोग का साक्षी होगा.

Read more

रेलवे ने अब RRB अभ्यर्थियों से की ये अपील

आरआरबी एनटीपीसी एग्जाम को लेकर भारतीय रेलवे ने अभ्यर्थियों से एक बार फिर अपील की है. पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने आरआरबी अभ्यर्थियों से क्या अपील की है उसे देखने के लिए नीचे का वीडियो क्लिक करें. https://youtu.be/U0zxKoyEOx4 रेलवे ने एनटीपीसी सीबीटी-1 परिणाम को लेकर उम्मीदवारों की चिंताओं पर विचार करने के लिए उच्च अधिकार समिति का गठन किया उम्मीदवार 16 फरवरी,2022 तक अपनी शिकायत समिति के सामने रख सकते हैं रेलवे भर्तीबोर्ड (आरआरबी) द्वारा 14-15 जनवरी 2022 को जारी गैरतकनीकी लोकप्रिय श्रेणियों (एनटीपीसी) की केंद्रीकृत रोजगार अधिसूचना सीईएन 01/2019 के प्रथम चरण कंप्यूटर आधारित टेस्ट (सीबीटी) के परिणामों के संबंध में उम्मीदवारों द्वारा उठाई गई चिंताओं और शंकाओं पर गौर करने के लिए एक उच्च अधिकार समिति का गठन किया गया है। यह समिति उम्मीदवारों द्वारा उठाए गए निम्नलिखित मुद्दों पर विचार करेगी और अपनी सिफारिशें देगी: सीईएन 01/2019 (एनटीपीसी) के प्रथम चरण सीबीटी के परिणाम और शॉर्टलिस्ट किए गए मौजूदा उम्मीदवारों को प्रभावित किए बिना दूसरे चरण की सीबीटी के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए उपयोग की जाने वाली कार्यप्रणाली सीईएन आरआरसी 01/2019में दूसरे चरण के सीबीटी का समावेशन उम्मीदवार अपनी चिंताओं और सुझावों को निम्नलिखित ईमेल आईडी पर समिति को भेज सकते हैं: ​[email protected] विभिन्न आरआरबी के सभी अध्यक्षों को भी अपने मौजूदा चैनलों के माध्यम से उम्मीदवारों की शिकायतों को प्राप्त करने,इन शिकायतों को संकलित करने और उच्च अधिकार समिति को भेजने का निर्देश दिया गया है। उम्मीदवारों को अपनी शिकायतों को प्रस्तुत करने के लिए 16.02.2022 तक तीन

Read more

रेलवे अभ्यर्थियों के विरोध प्रदर्शन से रेल परिचालन बुरी तरह प्रभावित

पटना में सोमवार को अचानक राजेंद्र नगर टर्मिनल पर जुटे हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों ने ट्रेनों का परिचालन बाधित कर दिया. ये सभी रेलवे एनटीपीसी परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थी हैं जो रिजल्ट का विरोध कर रहे हैं. इसके अलावा ग्रुप डी की बहाली प्रक्रिया में हुए बदलाव का भी अभ्यर्थी जमकर विरोध कर रहे हैं. देर शाम पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे रेलवे अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस छोड़कर उन्हें रेलवे ट्रैक से हटाया. इस दौरान शाम से ही पटना के आसपास और कई अन्य जगहों पर कई ट्रेनें जहां-तहां फंसी रही और इन में सवार यात्री खासे परेशान दिखे. रेलवे को राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर प्रदर्शन के कारण ट्रेनों के परिचालन में बदलाव करना पड़ा है. पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने पटना नव को बताया की राजेंद्र नगर टर्मिनल पर हो रहे प्रदर्शन की वजह से कुछ ट्रेनें रद्द की गई हैं जबकि कुछ ट्रेनों के परिचालन में बदलाव किया गया है. 24.01.2022 को राजेंद्रनगर टर्मिनल/पटना से प्रस्थान करने वाली ट्रेन जिनका परिचालन रद्द किया गया है: 12309 राजेंद्र नगर टर्मिनल-नई दिल्ली तेजस राजधानी एक्सप्रेस। 12393 राजेंद्र नगर टर्मिनल-नई दिल्ली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस । 13288 राजेंद्र नगर टर्मिनल-दुर्ग साउथ बिहार एक्सप्रेस । 12352 राजेंद्र नगर टर्मिनल-हावड़ा एक्सप्रेस । 13201 पटना-लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस । 🔸 परिवर्तित मार्ग से चलायी जाने वाली ट्रेन:- 24.01.2022 को भागलपुर से प्रस्थान करने वाली 12367 भागलपुर-आनंद विहार टर्मिनस विक्रमशिला एक्सप्रेस का परिचालन परिवर्तित मार्ग वाया किउल-गया-पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन के रास्ते । 24.01.2022

Read more

जारी होगा 125 रुपया का सिक्का

पटना: “इस्कॉन (ISKCON) की स्थापना करने वाले और हरे कृष्ण भक्ति आंदोलन के प्रवर्तक माने जाने वाले श्री भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद जी की 125वीं जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 125 रुपये का विशेष स्मृति सिक्का जारी करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मौके पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ये सिक्का जारी करेंगे। इसके पहले भी नेता जी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती पर भी 125 रुपये का विशेष स्मृति सिक्का जारी किया गया था ।

Read more

25000 से ज्यादा पदों के लिए करें आवेदन

केंद्रीय कर्मचारी चयन आयोग ने प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को बढ़िया मौका दिया है. इस बार कर्मचारी चयन आयोग ने 25271 पदों पर बहाली के लिए वैकेंसी निकाली है. यह पूरे पद जीडी कांस्टेबल के लिए हैं. इनमें पुरुष कांस्टेबल के 22424 और महिला कांस्टेबल के 2847 पद हैं आवेदन की अंतिम तिथि 31 अगस्त 2021 से आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं . ssc.nic.in जानिए क्या कुछ है इस बहाली से संबंधित खास ऑनलाइन आवेदन फीस जमा करने की अंतिम तारीख 2 सितंबर है और चालान से फीस जमा करने की अंतिम तारीख 7 सितंबर है. इस प्रतियोगिता परीक्षा में जनरल इंटेलिजेंस ,रिजनिंग जनरल नॉलेज, जनरल अवेयरनेस, एलिमेंट्री मैथ और इंग्लिश हिंदी से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे जिसमें 4 पार्ट में 25 प्रश्न पूछे जाएंगे. परीक्षा की अवधि 90 मिनट होगी. प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक चौथाई अंक काटे जाएंगे. इस परीक्षा में क्वालीफाई करने वाले पुरुष उम्मीदवारों को 24:00 मिनट में 5 किलोमीटर की दौड़ लगानी होगी इसके अलावा 6:30 मिनट में 1 पॉइंट 60 मीटर की दौड़ भी लगानी होगी महिला उम्मीदवारों को 4 मिनट में 800 मीटर की दौड़ लगानी होगी और 8:30 मिनट में 1 पॉइंट 6 किलोमीटर की दौड़ भी महिलाओं को लगानी होगी.

Read more

प्रो. अच्युता सामंता को वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया का अध्यक्ष चुना गया

कंधमाल संसदीय क्षेत्र के सांसद और के.आई.आई.टी. के संस्थापक प्रो. अच्युता सामंता, भारतीय वॉलीबॉल संघ {वॉलीबॉल फैडेरेशन ऑफ़ इण्डिया (वी.एफ.आई.)} के अध्यक्ष के रूप में निर्विरोध चुने गए. वह वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के इस सर्वोच्च प्रतिष्ठित पद के लिए चुने जाने वाले ओडिशा के पहले व्यक्ति हैं. अब प्रो. सामंता को ओलंपिक एसोसिएशन ऑफ इंडिया का सदस्य होने का अधिकार मिला है. यह न केवल ओडिशा वॉलीबॉल एसोसिएशन के लिए एक महान सम्मान है, अपितु ओडिशा के लिए भी गौरव की बात है. ओडिशा वॉलीबॉल एसोसिएशन ने प्रो. सामंता को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है और भविष्य में किये जाने वाले प्रयासों के लिए शुभकामनाएं व्यक्त की है. प्रो. सामंता के अतिरिक्त, पंजाब के राज कुमार को कार्यकारी उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया है, जबकि 9 अन्य को वी.एफ.आई. (वॉलीबॉल फैडेरेशन ऑफ़ इण्डिया) के उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया है. राजस्थान के अनिल चौधरी वी.एफ.आई. के महासचिव के रूप में निर्विरोध चुने गए हैं. नवनिर्वाचित निकाय का कार्यकाल 2020 से 2024 तक है. प्रो. सामंता ने उन्हें अध्यक्ष चुने जाने के लिए वी.एफ.आई. (वॉलीबॉल फैडेरेशन ऑफ़ इण्डिया) को धन्यवाद दिया. प्रो समांता ने कहा कि वह महासंघ को एक नई बुलंदियों तक पहुंचाने की पूरी कोशिश करेंगे. pncb

Read more

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी से दूर होगी परीक्षा आयोजन की समस्याएं :कुलपति

आरा, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के रीजनल आउटरीच ब्यूरो, पटना द्वारा आज “एक देश-एक भर्ती परीक्षा: राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी” विषय पर वेब गोष्ठी का आयोजन किया गया।  मुख्य अतिथि वक्ता के रूप में वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा के कुलपति डॉक्टर देवी प्रसाद तिवारी ने कहा कि भिन्न-भिन्न परीक्षाओं के आयोजन में होने वाली परेशानियों को कम करने के लिए ही राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की व्यवस्था की गई है। इस नई व्यवस्था से जहां एक ओर गरीब उम्मीदवारों को भरपूर लाभ मिलेगा वहीं दूसरी ओर लड़कियों को बहुत दूर जाकर परीक्षा देने के तनाव से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा की नई व्यवस्था से देश में नई संकल्पना, नई चेतना एवं नई ऊर्जा का संचार होगा और देश आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि यह एजेंसी वर्ष 2021 से काम करना शुरू करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि मध्य प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसने अपने राज्य में एनआरए को लागू करने का फैसला लिया है। अतिथि वक्ता के तौर पर शामिल जाने-माने गणितज्ञ एवं सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार ने कहा कि एक देश-एक भर्ती परीक्षा भिन्न-भिन्न परीक्षाओं में शामिल होने वाले लाखों विद्यार्थियों की समस्याओं, अलग-अलग परीक्षाओं के लिए बहुत सारी किताबों को पढ़ने की परेशानियों, तरह तरह के कोचिंग संस्थानों की झंझटों से मुक्ति का साधन बनेगा। यह नई व्यवस्था गांव व गरीब वर्ग के छात्रों को राहत देगा। अब देश के दूरदराज गांवों के गरीब के बच्चे अपनी मातृभाषा में और अपने जिले में परीक्षा दे सकेंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय भर्ती

Read more

फर्जी विज्ञापन पर रेलवे की सख्ती

8 जून को कुछ अखबारों में रेलवे के कई पदों पर बहाली को लेकर एक विज्ञापन प्रकाशित हुआ जिसे लेकर अच्छा खासा हंगामा खड़ा हो गया है. भारतीय रेलवे ने इसे पूरी तरह फर्जी विज्ञापन करार दिया है और यह दावा किया है कि भारतीय रेलवे ने किसी भी एजेंसी को बहाली के लिए ऐसा कोई अधिकार नहीं दिया है. 08 अगस्त को रिक्तियों से संबंधित झूठे विज्ञापन का प्रकाशन इस बारे में पूर्व मध्य रेल की तरफ से यह स्पष्ट किया गया है कि इस विज्ञापन से रेलवे का कोई लेना-देना नहीं है. पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि एक हिन्दी समाचार पत्र के विभिन्न संस्करणों में दिनांक 08.08.2020 को एक एजेंसी द्वारा आउटसोर्सिंग के माध्यम से 11 वर्ष के अनुबंध पर नियुक्ति से संबंधित विज्ञापन (संख्या AVSTN/DL/07/NR/2019-20) का प्रकाशन हुआ है, जो बिल्कुल भ्रामक (FAKE) है. उन्होंने कहा कि इस समाचार पत्र में प्रकाशित उक्त विज्ञापन से भारतीय रेल अथवा पूर्व मध्य रेल का कोई लेना-देना नहीं है. रेलवे में रिक्तियों से संबंधित सूचनाएं रेल भर्ती बोर्ड अथवा रेल भर्ती प्रकोष्ठ के आधिकारिक वेबसाइट पर ही उपलब्ध करायी जाती हैंं तथा विभिन्न माध्यमों द्वारा इसका प्रचार प्रसार भी किया जाता है. CPRO ने लोगोंं से अपील की है कि भारतीय रेल के नाम पर रोजगार देने का दावा करने वाले किसी विज्ञापन के धोखे में आने से बचें . रेलवे ने इस मामले में एक जांच शुरू की है और संबंधित एजेंसी पर सख्त कार्रवाई की बात भी कही है. PNCB

Read more

ग्राहकों की सुलझेगी समस्या…आजादी की वर्षगाँठ पर ये लिया शपथ

SBI मेन ब्रांच ने मनाया आजादी का जश्न चीफ मैनेजर ने खाताधारियों की समस्या को खत्म करने के लिए ली शपथ आरा, 16 अगस्त. आजादी की 73वी वर्षगाँठ पर देशभर में जहाँ धूमधाम से लोगों ने सेलिब्रेट किया वही भोजपुर में भी कई जगह झंडोतोलन किया गया. भोजपुर आरा के एसबीआई बैंक पकड़ी में चीफ मैनेजर राजेश कुमार गुप्ता ने झंडोतोलन किया. इस मौके पर बैंक के सीनियर के सियार प्रियतम, प्रमोद सिंह, पूजा कुमारी, राखी कुमारी, अजय कुमार तिवारी एवं तमाम पकड़ी बैंक के कर्मचारी मौजूद थे. चीफ मैनेजर ने अपने अभिभाषण में कहा कि हमारा कर्तव्य बनता है कि हमारे बैंक के जितने भी खाता धारी हो उनको जितनी भी सुविधा बनेगी वह उपलब्ध कराया जाएगा. आजादी के इस मौके पर उन्होंने धारियों की समस्या को खत्म करने की शपथ ली. उन्होंने यहाँ तक कहा कि खातेधारियो की समस्या बैंक की अपनी निजी समस्या होती है. हालांकि देखा जाए तो पकड़ी ब्रांच भोजपुर शहर का न्यू ब्रांच के साथ सभी मामले में उत्तम स्थान रखता है. बैंक अगर ग्राहकों की समस्या को अपनी समस्या समझने लगे तो फिर कोई समस्या ही नही रहे. बहरहाल हम तो यही शुभकामनाएं देंगे कि ऐसी सोच वाले मैनेजर के ख्वाबों में पर लग जाये… आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more