आधा दर्जन हत्या व रंगदारी के कई मामलों का फरार कुख्यात जटा सिंह गिरफ्तार, एसटीएफ ने दो पिस्टल के साथ पकड़ा

फुलवारी शरीफ / नौबतपुर (अजीत की रिपोर्ट)। पटना पुलिस की एसटीएफ टीम ने नौबतपुर समेत पटना के ग्रामीण इलाकों का आतंक कुख्यात अपराधी जटा सिंह एवं उसके बड़े भाई भरत सिंह को गिरफ्तार कर लिया. पटना से औरंगाबाद तक बहने वाली पुनपुन नदी सुरक्षा बांध स्थित नौबतपुर के डीहरा शेखपुरा गांव निवासी जटा सिंह के खिलाफ आधा दर्जन से अधिक हत्या समेत उत्तर बिहार के एक ठीकेदार से 5 लाख की रंगदारी मांगने समेत कई संगीन मामले दर्ज हैं. हाल ही में नौबतपुर लख पर एक कोचिंग संस्थान के पास गोलीबारी करके दहशत फैलाने में भी जटा सिंह का नाम सामने आया था. कोचिंग संचालक से जटा ने रंगदारी की मांग की थी. जटा सिंह और उसके भाई के पास से पुलिस को दो पिस्टल भी मिला है. पुलिस अधिकारी अभी यह साफ नही बता पा रहे हैं कि कुख्यात जटा सिंह कों उसके भाई भरत सिंह के साथ कहाँ से पकड़ा गया है. कुछ लोग उसे पटना के खगौल से तो कुछ लोग उसे आरा से उठाए जाने की चर्चा कर रहें हैं. गिरफ्तारी कहीं से भी हुई हो इतना तो तय हो गया कि जटा के आतंक से नौबतपुर समेत पटना के ग्रामीण इलाके के लोगों को थोड़ी राहत जरूर मिली है. गिरफ्तारी के बाद जटा और उसके बड़े भाई भरत से पटना पुलिस के आला अधिकारियों की टीम पूछताछ करने में जुटी है. कुख्यात जटा सिंह की गिरफ्तारी से कई हत्या के मामले सुलझने की उम्मीद की जा रही है.

Read more

अपराधियों से मुठभेड़ में पटना पुलिस का एक सिपाही शहीद

पुलिस और अपराधियों के बीच हुई क्रॉस फायरिंग में एक सिपाही की मौत पटना में छापेमारी करने गयी पुलिस टीम पर अपराधियों ने चलाई, एक अपराधी को दबोचा एसएसपी समेत कई आला पुलिस अधिकारी पहुंचे न्यू बाईपास स्थित पटना सेंट्रल स्कूल के सामने में हुई वारदात पटना (अजीत की रिपोर्ट) । पटना के न्यू बाईपास पर सोमवार देर शाम अपराधियों ने छापेमार कर रही एसएसपी की विशेष पुलिस टीम के एक कांस्‍टेबल को गोली मार दिया. घायल सिपाही की मौत बाईपास स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में हो गई. इस घटना की पुष्टि आईजी, पटना ने की है. बताया जा रहा है कि पुलिस नौबतपुर के कुख्यात उज्ज्वल को पकड़ने गई थी. इससे पहले पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र के जगनपुरा स्थित बाइपास इलाके में पटना सेंट्रल स्कूल के नजदीक अपराधियों के होने की सूचना पुलिस को मिली. पुलिस की एक विशेष टीम इन अपराधियों को पकड़ने गई जिसमें एसएसपी के रंगदारी सेल के कांस्‍टेबल मुकेश कुमार सिंह भी शामिल थे. पटना पुलिस की यह विशेष टीम बाइपास इलाके में छापेमारी कर रही थी. इसी दौरान पटना सेंट्रल स्कूल के सामने अपराधियों से पुलिस टीम की भिड़ंत हो गई. इस पर अचानक अपराधियों ने पुलिस टीम पर गोली चला दी. आमने-सामने की मुठभेड़ में कांस्‍टेबल मुकेश कुमार को बदमाशों ने कमर और कंधे पर दो गोली मार दी, जिससे कॉन्स्टेबल वहीं गिर पड़े. आनन-फानन में टीम के अन्य सदस्यों ने घायल सिपाही मुकेश को नजदीक में स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल ले गए जहाँ मुकेश की मौत हो गई. उधर अपराधियो को

Read more

महंगा पड़ा वर्दी का रौब, दो थानेदारों के साथ पूरी पुलिस टीम सस्पेंड

मुख्यमंत्री के आदेश पर हुई आईजी की जांच में आखिरकार पुलिसवाले ही दोषी पाए गए हैं. फ्री में सब्जी नहीं देने पर सब्जीवाले के नाबालिग बेटे को जेल भेजे जाने के मामले में जोनल आईजी नैयर हसनैन खान ने सोमवार को जांच रिपोर्ट सौंप दी. जांच रिपोर्ट के मुताबिक नाबालिग को झूठे मामले में फंसा कर जेल भेजा गया था. इस मामले में आईजी ने पटना के अगमकुआं थाना और बाइपास थाना के थानेदारों को सस्पेंड करने की अनुशंसा की थी. जिसके बाद दोनों को सस्पेंड कर दिया गया है. इसके साथ ही मामले में छापेमारी करने वाली पुलिस टीम के सभी सदस्यों को सस्पेंड करने का निर्देश दिया गया है. यही नहीं, रिपोर्ट में अगमकुआं और बाइपास थाना प्रभारी की पटना जिले में पोस्टिंग नहीं करने की भी अनुसंशा की गई है. बता दें कि राजधानी के पत्रकार नगर के सब्जी विक्रेता ने पुलिसवालों के मुफ्त में सब्जी देने से इनकार कर दिया था. इस वजह से उसे बाइक लुटेरा गिरोह का सदस्य बताते हुए पुलिस घर से उठाकर ले गई थी. पुलिस ने आधार कार्ड में दर्ज उसकी उम्र को 14 से बढ़ाकर 18 बना दिया और रिमांड होम की जगह जेल भेज दिया था. पीड़ित परिवार इस मामले को लेकर थाना से लेकर आलाधिकारियों तक चक्कर लगा चुका था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी. बाद में  मीडिया में खबर आने पर मुख्यमंत्री ने इस पर संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए थे. पटना से अरुण

Read more

साइकिल के सहारे अपराध रोकने की कवायद

फुलवारी शरीफ ( पटना ) । चोरी  और छिनतई की घटनाओं से परेशान पटना पुलिस को गलियों में गश्त करने के लिए एक संस्था ने शनिवार को 36 साइकिलें दान में दी हैं। हालांकि पटना पुलिस पहले से ही साइकिल से गलियों व सड़कों पर गश्त कर रही है। लोदीपुर स्थित न्यू पुलिस लाइन में शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में एसएसपी मनु महाराज ने दान में मिली साइकिलों को सिपाहियों को वितरित किया। एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि अपराध रोकने के लिए रात के समय शहर के गलियोंवाले इलाके में पुलिस साइकिल पर सवार होकर गश्त लगायेगी. जिन इलाकों में पुलिस की बड़ी गाड़ी नहीं घुस पाती है, वहां साइकिल से गश्त लगाने में आसानी होगी. जिला पुलिस को उम्मीद है कि इससे अपराध पर लगाम लगेगी. शहर में चोरी की घटना पर लगाम लगाने के लिए नगर थाना पुलिस के द्वारा साईकिल गश्ती शुरु की गई है। शाम होते ही साइकिल पर सवार होमगार्ड जवान शहर के विभिन्न मुहल्लों में निकल जाते हैं। पूरी रात साइकिल से गश्त करते हैं। हर घरों तक दस्तक देते हैं। खासकर जिन घरों का ताला बंद होता है उस घर को विशेष रुप से देखते हैं। रात्रि में अंजान लोगों से मुलाकात होने पर उनकी पूरी हुलिया लेते हैं। SSP ने हरी झंडी दिखाकर साइकिलों को रवाना किया. इससे पहले भी साइकिल से पुलिस गश्त की व्यवस्था थी. अब इसे और बेहतर करने का प्रयास किया गया है.  अगर इसके नतीजे बेहतर रहे तो साइकिलों की संख्या और बढ़ायी जायेगी. एक इलाके

Read more

पकड़े गए पटना जू में चेन लूटने वाले अपराधी

पटना पुलिस ने दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है. इन पर कई मामले पहले से दर्ज हैं. हाल ही में पटना जू में एक महिला से चेन लूटकर भागे ये दोनो अपराधी पहले से दानापुर, हवाई अड्डा थाना, सचिवालय थाना और शास्त्रीनगर के मामले में आरोपित हैं. पटना के एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि पकड़े गए अपराधी का नाम बिरजू उर्फ बिल्लू पासवान है जबकि दूसरे अपराधी का नाम जितेन्द्र राय है. ये दोनो पटना के शेखपुरा के रहने वाले हैं. इनके पास से एक चेन भी बरामद की गई है.

Read more

12 घंटे में पटना पुुलिस ने सुलझाया मामला, तीन गिरफ्तार

12 घंटे में हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने का दावा लूटपाट के दौरान ही की गयी हत्या – एसएसपी  पटना के अनिसाबाद रघुनाथ टोला में गुरुवार की रात कारोबारी बंटी गुप्ता हत्याकांड की गुत्थी को पटना पुलिस ने महज 12 घंटे ही सुलझा लिया है |इस हत्त्याकाण्ड में शामिल तीन अपराधियों को फुलवारी शरीफ के एक कब्रिस्तान के पास से गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकी चार अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा |निशांत फुलवारी शरीफ का ही रहने वाला है | सभी अपराधी नकाब लगाये थे | इस वारदात में कूल चार से पांच राउंड गोली चली थी जिसमे चार गोली बंटी गुप्ता को लगी और एक गोली बंटी के पिता दिनानाथ को लगी | कूल सात अपराधि  इस वारदात में शामिल थे |गिरफ्तार अपराधियों में निशांत के आलावा सन्नी और खाजेकला का तारिक नामक अपराधी शामिल है | पुलिस ने गिरफ्तार अपराधियों के पास से लूट के पचास हजार रूपये भी बरामद किये है साथ ही एक देसी कट्टा सहित एक पिस्टल और चार गोलियां भी बरामद की गई है | एसएसपी ने बताया की बंटी गुप्ता को गोली मारने में निशांत शामिल था इसके अलावा तीन अन्य अपराधीयों ने भी गोली मारी थी | अपराधियो ने पुलिस को बताया की उसने डेढ़ लाख रूपये ही लुटे थे | ऐसा दावा करते हुए एसएसपी मनु महाराज ने कहा की लूटपाट के दौरान ही अपराधियों ने कारोबारी पर गोलियां चलाई थी जिसमे बंटी गुप्ता की मौत हो गयी और उनके पिता दीनानाथ गुप्ता को पैर में गोली

Read more

24 घंटे में नहीं पकड़े गए हत्यारे तो सड़क पर उतरेंगे व्यापारी

राजा बाजार में दुकानें बंद कर जताया विरोध  फुलवारी में व्यापारियों में मातम पसरा, परिजनों में दहशत  मंगलवार रात हुई थी खादिम शो रुम के मालिक की हत्या पटना के राजा बाजार खादिम शो रूम के मालिक जितेंद्र गांधी की हत्त्या के बाद पूरे परिवार में दहशत है. गमजदा परिवार वालों को सांत्वना देने का साहस लोगों को नहीॆ हो रहा. व्यापारियों में गुस्सा और गम का माहौल है. अब तक क्लियर नहीं हो पाया है कि आखिर व्यापारी की हत्या की वजह क्या है. फुलवारी शरीफ से लेकर राजा बाजार तक के व्यापारियों में आक्रोश व्याप्त है . व्यापारियों का कहना है कि शहर में कोई सुरक्षित नही रह गया है. मृतक के परिजनों ने पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है कि अगर हत्यारे को कल तक नहीं पकड़ा गया तो सड़क पर उतरकर धरना प्रदर्शन करेंगे. पटना के वेटनरी ग्राउंड के पास एयर पोर्ट थाना क्षेत्र में मंगलवार रात खादिम शो रूम के मालिक जितेन्द्र गांधी की हत्या के बाद उनके फुलवारी शरीफ पेठिया बाज़ार स्थित घर पर लोगों की भारी भीड़ जमा थी. मृतक व्यापारी जितेन्द्र गांधी तीन भाइयों में दूसरे नम्बर पर थे. पिता विनय कुमार सिंह , बड़े भाई ललन सिंह और छोटे भी रवि शंकर सिंह उर्फ़ डेविड का भी बड़ा व्यापार है. रविशंकर उर्फ़ डेविड ने कहा कि 24 घंटे में प्रशासन अगर उनके भाई की हत्यारों को गिरफ्तार नही  कर पाती है तो परिवार के सदस्यों के साथ ही व्यापारी सड़क पर उतर कर धरना प्रदर्शन करने पर मजबूर हो

Read more

तीन और आरोपितों पर शिकंजा

शौचालय घोटाले में पटना पुलिस को बड़ी कमयाबी हाथ लगी है. बक्सर से SBI के पटना मुख्य ब्रांच के तत्कालीन ब्रांच मैनेजर एस के झा की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने 24 घंटे में इस मामले से जुड़े तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है. पटना के SSP मनु महाराज ने बताया कि मामले के एक मुख्य आरोपी राज्य जल पर्षद-2 के अधीक्षण अभियंता विनय कुमार सिन्हा के ऑफिस में डाटा ऑपरेटर के पोस्ट पर काम करने वाली प्रीति भारती को दरभंगा से गिरफ्तार किया गया है. प्रीति के खाते में 2 लाख 979 हजार रुपए ट्रांसफर किए गए थे. प्रीति भारती इसके अलावा मामले की एक अन्य अभियुक्त मां सर्वेश्वरी सेवा संस्थान की बॉबी कुमारी को झारखंड की राजधानी रांची से गिरफ्तार किया गया है. बॉबी के घर छापेमारी में कई चेक, बैंक ड्राफ्ट और मामले से जुड़े महत्वपूर्ण कागजात बरामद हुए हैं. और मामले में सहभागिता के कारण बॉबी के पति प्रवीण कुमार शर्मा को भी गिरफ्तार किया गया है. प्रवीण कुमार शर्मा SSP मनु महाराज ने इस मामले की तेज जांच के लिए पटना मध्य एसपी डी अमरकेश के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया है जिसने इन तीनों को गिरफ्तार किया है. एसएसपी ने बताया कि इस मामले के अन्य अभियुक्तों की तलाश जारी है.

Read more

अवैध शराब के धंधेबाज अरेस्ट

कई पियक्कड़ भी धराये पटना की गौरीचक पुलिस ने अवैध देशी शराब के 4 कारोबारियों को धर दबोचा है. पुलिस ने इनके पास से 15 लीटर महुआ शराब भी बरामद किया है. थानेदार सुनील कुमार ने बताया कि रंजन मांझी, मनीष कुमार , अशोक कुमार , रंजन मांझी को विभिन्न इलाकों से पकड़ा गया. पूछताछ के बाद सभी धंधेबाजों को जेल भेज दिया गया. वहीं रामकृष्ण नगर थाना पुलिस ने नया चक से तीन पियक्कड़ों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. थानेदार रंजन ने बताया कि बीरबल गोलू और सिकंदर को पुलिस ने शराब के नशे में पकड़ा था. सभी पियक्कड़ों का मेडिकल टेस्ट पॉजिटिव पाए जाने के बाद जेल भेजा गया.   पटना से अजीत

Read more

5 लाख देकर कराई गई थी केदार राय की हत्या

पटना पुलिस ने दानापुर के बहुचर्चित राजद नेता और वार्ड पार्षद केदार राय हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. पुलिस का दावा है कि जमीन विवाद में 5 लाख की सुपारी देकर केदार राय की हत्या कराई गई थी. पुलिस ने हत्याकांड में शामिल तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया है.  पुलिस का दावा है कि हरिचरण और मनीष ने मिलकर केदार की हत्या की साजिश रची थी. बता दें कि केदार राय की हत्या इसी साल 10 अगस्त को हुई थी. पुलिस ने हरिचरण और मनीष के साथ एक और अपराधी को गिरफ्तार किया है और इनके पास से एक पिस्टल और दो कारतूस भी बरामद किया है. पुलिस ने इनकी निशानदेही पर मर्डर में प्रयुक्त टी-शर्ट को मो आशिफ के घर से बरामद किया है . हालांकि अभी मो आशिफ पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है. गिरफ्तार अपराधियों ने पूछताछ में बताया कि हरिचरण राय और छोटू नामक व्यक्ति ने केदार राय की हत्या करने के लिए 5 लाख सुपारी पर मनीष कुमार को तय किया था. इसके बाद मनीष ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया. गिरफ्तार अपराधियों के नाम- 1. मनीष कुमार उर्फ मिसी पिता बालेश्वर महतो,  गरीबपुर थाना दीपनगर जिला नालंदा . 2. अशोक कुमार सिन्हा पिता स्व जगंबहादुर सिंह, न्यू पाटलीपुत्रा कॉलोनी थाना पाटलीपुत्रा, पटना 3. हरिचरण राय उर्फ भगत पिता स्व देवदत राय, नया टोला दानापुर थाना दानापुर पटना

Read more