निजी स्कूलों ने सरकार से कर दी है बड़ी मांग

राज्य सरकार लॉकडाउन अवधि के दौरान शिक्षकों एवं कर्मचारियों को दस हज़ार रूपये प्रति माह एवं 50 किलोग्राम अनाज की व्यवस्था करवाए : सैयद शमायल अहमद

पटना।। बिहार सरकार ने कोविड19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए सभी शैक्षणिक संस्थानों को 18 अप्रैल तक बंद कर दिया है. राज्य सरकार के गृह विभाग के विशेष शाखा के पत्रांक संख्या जी / आपदा – 06 – 02 – 2020 – 2633 दिनांक 09 अप्रैल 2021 के कंडिका संख्या 01 के माध्यम से प्राप्त सुचना के आधार पर बिहार राज्य के सभी स्कूल / कॉलेज / कोचिंग 18 अप्रैल 2021 तक बंद रखने का दिशा निर्देश दिया गया है .




PSACWA अध्यक्ष शमायल अहमद

इस पत्र के निर्गत होने पर प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद शमायल अहमद ने कहा कि जब सभी विद्यालय / कॉलेज एवं कोचिंग को बंद किया जा रहा है तब बिहार सरकार से यह भी अपेक्षा है कि इन विद्यालयों में पढाने वाले शिक्षकों एवं कर्मचारियों को प्रति माह दस हज़ार रुपये एवं 50 किलोग्राम अनाज भी अविलम्ब देने की व्यवस्था करे क्योंकि पिछले एक साल से अधिक अवधि से विद्यालय बंद पड़े हैंं और सभी विद्यालय संचालक दिवालिया हो चुके हैंं। शमायल अहमद ने कहा कि अब कोई भी संचालक किसी भी शिक्षक अथवा कर्मचारियों को वेतन देने की स्थिति में नहीं है. ऐसे में विद्यालय के कर्मचारीगण एवं शिक्षकगण के परिवारों का गुज़ारा कैसे होगा? राज्य सरकार को अविलम्ब इस विषय में संज्ञान लेते हुए प्रति शिक्षक एवं प्रति कर्मचारी दस हज़ार रुपये प्रति माह एवं 50 किलोग्राम अनाज प्रतिमाह मुहैया करने की घोषणा करनी चाहिए.

pncb