टॉप इंडियन यूनिवर्सिटीज में के.आई.आई.टी. का स्थान बरकरार

टाइम्स हायर एजुकेशन एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स 2021 जारी टाइम्स हायर एजुकेशन: एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग, देश के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में कीट का जलवा बरकरार भुवनेश्वर : कीट विश्वविद्यालय ने द टाइम्स हायर एजुकेशन एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में इस साल भी बेहतरीन प्रदर्शन किया है. हर साल की तरह इस साल भी टाइम्स हायर एजुकेशन की ओर से वर्ल्ड एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग का परिणाम जारी किया गया है. इसमें उल्लेखनीय प्रदर्शन के साथ एशिया के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों की सूची में 251+ श्रेणी में KIIT देश के सर्वश्रेष्ठ सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों के बीच 30वें स्थान पर है. इसी तरह, जनरल इंजीनियरिंग की ओवरल श्रेणी में, देश के पूर्वांचल में श्रेष्ठ सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों में कीट 15वें स्थान पर है. टाइम्स हायर एजुकेशन की ओर से शिक्षण, अनुसंधान, ज्ञान का आदान प्रदान, अंतर्राष्ट्रीय दृष्टिकोण आदि विभिन्न मानदंडों पर विश्वविद्यालयों की रैंकिंग की गई है. कीट के व्यापक कार्यक्रमों सहित 200 से अधिक पाठ्यक्रम हैं. इनपर विचार करने पर देशभर के सभी सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों के बीच कीट ने अच्छा प्रदर्शन किया है. टाइम्स हायर एजुकेशन की ओर से पिछले 50 वर्षों में एशिया सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों को इस चयन प्रक्रिया में शामिल किया जा रहा है.गौरतलब है कि कीट 24 साल पुराना संस्थान है, लेकिन सिर्फ 17 साल में विश्वविद्यालय के रूप में कीट ने उपरोक्त सभी मानदंडों को पूरा कर 251+ रैंक, देश में 30वें और जनरल इंजीनियरिंग की ओवरल श्रेणी में 15वें स्थान पर रहकर ओडिशा का गौरव बढ़ाया है. टाइम्स हायर एजुकेशन की ओर से इस साल

Read more

BPSC 64वीं का पूरा रिजल्ट देखिए

बिहार लोक सेवा आयोग ने रविवार को 64 वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है. 1454 अभ्यर्थी सफल हुए हैं जबकि 11 पद दिव्यांग उम्मीदवारों के नहीं मिलने की वजह से खाली रह गए. करीब 3 साल के लंबे इंतजार के बाद 64वीं प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट आया है. बिहार लोक सेवा आयोग ने कोरोना की वजह से रिजल्ट में देरी की बात स्वीकार की है. टॉपर लिस्ट टॉप टेन लिस्ट पर गौर करें तो इसमें एक भी महिला अभ्यर्थी नहीं है जबकि इसमें आठ अनारक्षित कैटेगरी के अभ्यर्थियों ने जगह बनाई है. ओमप्रकाश गुप्ता टॉपर जबकि विद्यासागर सेकेंड टॉपर और अनुराग आनंद तीसरे नंबर पर हैं. अब गौर करिए कट ऑफ मार्क्स पर राजेश तिवारी

Read more

बड़ी खबर: शिक्षक बहाली पर लगी रोक हटी

इस वक्त की बड़ी खबर पटना हाई कोर्ट से आ रही है. पटना हाई कोर्ट में ब्लाइंड एसोसिएशन के केस का निपटारा हो गया है. पटना हाईकोर्ट ने इस मामले मैं फैसला सुनाते हुए दिव्यांग अभ्यर्थियों को 15 दिन के लिए आवेदन करने का मौका दिया है. बिहार सरकार दिव्यांग अभ्यर्थियों को 4% आरक्षण देने के लिए राजी है. इसके साथ-साथ पटना हाईकोर्ट ने बिहार सरकार को यह भी निर्देश दिया है कि इस बहाली प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा किया जाए. आपको बता दें कि पिछले करीब 6 महीने से बिहार में शिक्षक नियोजन प्रक्रिया पर पटना हाईकोर्ट ने रोक लगाई हुई थी. बिहार में करीब 1,21,000 प्राथमिक, मध्य और माध्यमिक शिक्षकों के छठे चरण का नियोजन अब जल्द से जल्द पूरा होने की संभावना बढ़ गई है. pncb

Read more

शिक्षक नियोजन: ब्लाइंड केस की सुनवाई टली

बिहार में छठे चरण के शिक्षक नियोजन से संबंधित एक अहम मामले की सुनवाई आज पटना हाईकोर्ट में होनी थी. लेकिन यह मामला अब 3 जून तक टल गया है. जानकारी के मुताबिक 3 जून को बिहार सरकार के एडवोकेट जनरल इस महत्वपूर्ण मामले में सरकार का पक्ष रखने के लिए मौजूद रहेंगे. यह मामला नेत्रहीन दिव्यांगों को शिक्षक नियोजन में आरक्षण देने से जुड़ा है. नेशनल ब्लाइंड फेडरेशन ने पटना हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी कि उन्हें शिक्षक नियोजन में सरकार की तरफ से तय आरक्षण का लाभ नहीं दिया गया है जिसके कारण वे आवेदन नहीं कर पाए हैं. पिछली सुनवाई में ब्लाइंड फेडरेशन ने सरकार से नियुक्तियों की जानकारी और आवेदन के लिए समय देने की मांग की थी. pncb

Read more

28 मई को शिक्षक नियोजन पर होगा फैसला

करीब 2 साल से छठे चरण के नियोजन को पूरा होने का इंतजार कर रहे बिहार के लाखों शिक्षक अभ्यर्थियों के लिए बड़ी खबर आ रही है. बिहार सरकार द्वारा चीफ जस्टिस से ब्लाइंड केस की मेंशनिंग का अनुरोध किए जाने के बाद पटना हाईकोर्ट ने नेशनल ब्लाइंड फेडरेशन के मामले की सुनवाई के लिए 28 मई की डेट निर्धारित की है. 28 मई को सबसे पहले नंबर पर इसी मामले को रखा गया है. बिहार सरकार ने पहले ही यह स्पष्ट कर दिया है कि वह ब्लाइंड फेडरेशन की मांग मानने को तैयार है. ब्लाइंड फेडरेशन ने शिक्षक नियोजन में नेत्रहीन दिव्यांगों के लिए 4% आरक्षण को लागू करने की मांग की थी. बिहार सरकार इस मामले में अपनी स्थिति स्पष्ट करने के बाद हाईकोर्ट से यह गुजारिश करेगी कि शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया पूरी करने की अनुमति दी जाए. संभावना जताई जा रही है कि पटना हाई कोर्ट बिहार सरकार से इस मामले में स्थिति स्पष्ट होने के बाद शिक्षक नियोजन प्रक्रिया पर लगा रोक हटा ले. इसके बाद प्राथमिक और मध्य विद्यालयों के करीब 90762 पदों और माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालयों के करीब 30020 पदों पर छठे चरण के नियोजन की प्रक्रिया पूरी की जा सकेगी. pncb

Read more

शिक्षक अभ्यर्थी कृपया ध्यान दें

बिहार के लाखों शिक्षक अभ्यर्थियों के लिए बड़ी खबर है. पटना नाउ आपको सबसे पहले यह खबर दे रहा है. पटना हाईकोर्ट में बिहार सरकार की ओर से आज केस की मेंसनिंग हो गई है. सरकार ने पटना हाईकोर्ट से करीब एक लाख 21 हजार माध्यमिक और प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति पर लगी रोक हटाने के लिए अनुरोध किया है. एडवोकेट जनरल ललित किशोर ने एक बार फिर इस मामले में चीफ जस्टिस से शीघ्र विचार करने का अनुरोध किया. उन्होंने चीफ जस्टिस से कहा कि राज्य सरकार ने हलफनामा दायर कर आश्वासन दिया है कि नेत्र दिव्यांग उम्मीदवारों को 4 प्रतिशत आरक्षण का लाभ दिया जाएगा. ब्लाइंड एसोसिएशन ने रिट याचिका दायर की थी कि बहाली में दिव्यांग के लिए निर्धारित 4 प्रतिशत आरक्षण का लाभ सुनिश्चित कराया जाए. इसी याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने पूर्व में शिक्षकों की नियुक्ति पर रोक लगा दिया था. इस कारण बहाली की पूरी प्रक्रिया स्थगित हो गई थी.उन्होंने चीफ जस्टिस से कहा कि इस वर्ष मार्च में ही मामले की सुनवाई निर्धारित थी,लेकिन होली की छुट्टी व कोरोना के कारण सुनवाई नहीं हो सकी. महाधिवक्ता ने इस मुद्दे पर शीघ्र सुनवाई का अनुरोध किया. उन्होंने चीफ जस्टिस से कहा कि याचिकाकर्ता ब्लाइंड एसोसिएशन की मांग सरकार ने मांग ली है, इसलिए पूरी बहाली को रोके रखने का कोई औचित्य नहीं रह गया है. इस पर चीफ जस्टिस ने कोर्ट मास्टर को सम्बंधित फाइल पेश करने का निर्देश दिया. उम्मीद है कि जल्दी सुनवाई के बाद शिक्षक नियुक्ति का रास्ता साफ

Read more

UPSC ने स्थगित की PT परीक्षा

UPSC ने कोविड की वजह से PT परीक्षा स्थगित कर दी है सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 27 जून को होने वाली थी लेकिन कोविड-19 महामारी के प्रभाव को देखते हुए संघ लोक सेवा आयोग ने इस परीक्षा को फिलहाल टाल दिया है. सिविल सेवा पीटी में समय का सदुपयोग करें- एम रहमानआज संघ लोक सेवा आयोग द्वारा द्वारा एक विज्ञप्ति जारी कर ये जानकारी दी गई है कि 27 जून 2021 को प्रस्तावित सिविल सेवा परीक्षा कोरोना महामारी की वजह से अब 10 अक्टूबर 2021 को आयोजित की जाएगी. परीक्षा विशेषज्ञ अदम्य अदिति गुरुकुल के संस्थापक गुरु रहमान ने बताया कि पूरे देश के छात्र छात्राओं के लिए कोरोना महामारी की वजह से काफी समय मिल गया है जिसके कारण इस समय का सदुपयोग करते हुए रोजाना प्रैक्टिस सेट तथा अध्ययनरत रहेंं. उन्हें निश्चित ही इस लॉकडाउन का फायदा मिलेगा तथा परीक्षा में सफलता के मार्ग प्रशस्त होंगे. pncb

Read more

क्या आपने पढ़ी है ये जंगल गाथा!

जंगल गाथा की विषय वस्तु यह किताब झारखण्ड/बिहार के जंगलों और उनसे जुड़े मुद्दों पर केन्द्रित है, यही स्थिति पूरे देश के जंगलों की है. मंडल और सारंडा जैसे जंगलों का नाश, जानवर, अविकास, अंधविश्वास, आदिवासी, नक्सल, पर्यावरण, प्रदूषण, भ्रष्टाचार, विस्थापन, डायन-हत्या, प्राकृतिक सम्पदा का निर्मम दोहन – देश के कई इलाकों में आम मुद्दे हैं. झारखण्ड एक परखनली है. इसमें पूरे देश के जंगलों, जंगली जीवों और वनवासियों के विनाश की प्रक्रिया देखी जा सकती है. इसकेे लेखक गुंंजन सिन्हा कहते हैं- “इस गंभीर विषय में मेरा दखल बस इतना है कि मेरे पिता एक वन अधिकारी थे, सो बचपन से मुझे जंगलों में जाने, जीने, उन्हें देखने-जानने के मौके मिले. मेरे पास बस कुछ अनुभव हैं जंगल से इसी भावात्मक सम्बन्ध के. प्रकृति हमारे निजी जीवन, उसके सुख दुःख को स्पर्श करती है. प्रकृति की सबसे आकर्षक अभिव्यक्ति है जंगल. यह तन और मन दोनों को चंगा करता है. नदियों, पहाड़ों, जंगलों में रहने वाले इंसानों और जीव-जंतुओं को लगातार नष्ट कर प्रकृति की अमूल्य देन को खत्म किया जा रहा है. लेकिन आम लोग ऐसे व्यवहार कर रहे हैं, मानो उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. कहीं कोई प्रभावकारी विरोध नहीं है.दुनिया भर के लोगों ने ग्रेटा थनबर्ग के रुंधे हुए गले से उनकी बातें सुनीं, आंसू देखे, कुछ देर सोचा और फिर रोजमर्रे की ओर बढ़ लिए.आप रुकें और देखें अपने आस पास – आपका रुकना, देखना, बोलना और गलत का विरोध करना ज़रूरी है. किसी इलाके में उग्रवाद तभी बढ़ता है, जब व्यवस्था का भ्रष्टाचार और

Read more

2 लाख से ज्यादा शिक्षकों को अब तक नहीं मिला वेतन

लॉकडाउन में शिक्षकों को वेतन नहीं मिलने से मचा हाहाकार SSA मद का आवंटन नहीं आने के कारण कहीं 3 तो कहीं 4 महीने से नहीं हुआ है शिक्षकों का वेतन भुगतान पटना।। 6 मई 2021एक तरफ कोरोना वायरस के फैलने से अब तक सैकड़ों शिक्षकों ने जान गवांं दी तो दूसरी तरफ 3-4 महीने से वेतन ना मिलने के कारण पाई पाई को तरस रहे हैं बिहार के विभिन्न पंचायत, प्रखंड एवं नगर निगम क्षेत्र में कार्यरत 323000 नियोजित शिक्षक. बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रवक्ता प्रेमचंद्र ने कहा कि विभिन्न स्तर पर लगातार जद्दोजहद किए जाने एवं विभिन्न संघों द्वारा लगातार मांग किए जाने के उपरांत राज्य भर में पदस्थापित कुल 323000 नियोजित शिक्षकों में से महज 66104 नगर पंचायत प्रखंड शिक्षकों के वेतन भुगतान हेतु राज्य सरकार द्वारा मिलने वाली (जी ओ बी) मद के राशि का ही आज आवंटन का पत्र निर्गत हुआ है जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. पूरे राज्य के विभिन्न प्रखंडों पंचायतों एवं नगर निगम में पदस्थापित शेष 2 लाख 56 हजार 896 नियोजित शिक्षकों एवं 15000 उत्क्रमित मध्य विद्यालयों में पदस्थापित शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए जिनका समग्र शिक्षा अभियान (SSA) मद से वेतन का भुगतान होता है, का आवंटन अब तक नहीं आने से शिक्षकों में काफी निराशा का माहौल है क्योंकि उपर्युक्त शिक्षकों को 3 से 4 महीने का वेतन बकाया है जिसका भुगतान अब तक नहीं किया गया है. बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुमार एवं राज्य प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी प्रेमचंद्र ने संयुक्त

Read more

लॉकडाउन में वेतन को तरसे शिक्षक

ईद से पहले नियोजित शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को लंबित वेतन एवं मूल्यांकन पारिश्रमिक भुगतान करने की मांग आल इंडिया फेडरेशन ऑफ एजुकेशन एसोसिएशन ने शिक्षा मंत्री एवं अपर मुख्य सचिव से हस्तक्षेप करने का किया आग्रह आंवटन रहने के बावजूद लॉक डाउन के कारण हो रही है समस्या लॉक डाउन के कारण शिक्षा विभाग से वेतन भुगतान हेतु विशेष आदेश जारी करने की मांग पटना।। ऑल इंडिया फेडरेशन ऑफ एजुकेशन एसोसिएशन (एआईएफईए) के राष्ट्रीय सचिव शैलेन्द्र कुमार शर्मा “शैलू” एवं राज्य पार्षद सह पूर्व सदस्य शैक्षिक परिषद जयनंदन यादव ने शिक्षा मंत्री, शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव से विशेष निर्देश जारी कर ईद से पहले वेतन भुगतान कराने एवं इंटर और मैट्रिक परीक्षा के उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य में लगे शिक्षकों, पुस्तकालयाध्यक्षों,शिक्षकेत्तर कर्मियों आदि को अविलंब पारिश्रमिक सहित अन्य भत्ते की राशि भुगतान कराने की मांग की है . शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्ष के साथ साथ उनके परिजन भी हो रहे हैं संक्रमित उन्होंने कहा है कि राज्य में वैश्विक महामारी कोरोना लागातार घातक एवं भयावह होता जा रहा है,जो किसी से छुपा नहीं है. बिहार में भी अब तक एक लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और कईयों ने अपनी जान गंवा दी है तो वहीं शिक्षक, पुस्तकालयाध्यक्ष एवं शिक्षकेत्तर कर्मी भी इससे अछूते नहीं हैं. वे एवं उनके परिजन भी लागतार संक्रमित हो रहें और उनमें से अबतक लगभग 250 अधिक ने अपनी जान गंवा दी है. खुद और अपने परिजनों के भरण-पोषण,ईलाज कराना हो रहा मुश्किल एआईएफईए के राष्ट्रीय सचिव शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने

Read more