क्या हुआ शपथ का, क्यों पी थानेदार ने शराब ?

पुलिस की ये कैसी ड्यूटी, शराब पी कर मारी ग्रामीण को टक्कर 

वैशाली के  देसरी थाना प्रभारी की करतूत 




बिहार में शराबबंदी को मुंह चिढ़ा कर शराब के काले कारोबार में लगे लोग शराब की मांग को पूरा करने में हर रोज नए नए हथकंडे अपना रहे हैं .वहीं सुशासन सरकार के रखवाले भी शराब के नशे में धुत्त होकर लोगों पर अपना रौब झाड़ते नजर आरहे हैं. बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है. सूबे में शराबबंदी लागू कराने की जिम्मेदारी पुलिस पर है लेकिन पुलिसवाले ही इस कानून और लिए गए शपथ को ठेंगा दिखा कर अपनी मनमाने कर रहे हैं .ऐसा ही एक मामलापटना के सटे वैशाली जिले का है जहाँ एक थाना प्रभारी ने नशे में धुत्त होकर अपनी गाड़ी  से एक ग्रामीण को टक्कर मार दी, उसके बाद अपना सर्विस रिवाल्वर निकाल कर लहराते हुए जान से मारने की धमकी देने लगे.

इस घटना के बाद सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण जुट गए उसके बाद लोगों ने थाना प्रभारी को  बंधक बना लिया और वरीय पुलिस पदाधिकारी को सूचना दी. सूचना मिलने के बाद मौके पर महनार एएसपी उपेन्द्र वर्मा पहुंचे और थाना प्रभारी को देसरी थाना परिसर घेरे लोगों को कार्रवाई करने की बात की.स्थानीय लोगों ने कहा कि  संजय गौड़ नशे में धुत होकर उत्पात की है, ऐसे में उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाये.वैशाली एसपी राकेश कुमार ने मनहार एएसपी को पूरे मामले की जांच की जिम्मा सौंपी दिया और रात में संजय गौड़ को सदर अस्पताल में मेडिकल कराने का आदेश दिया. अब लोगों को इन्तजार है कि थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की .