अब इस जिले में मिले 4 कोरोना मरीज

बिहार में आज का पहला कोरोना अपडेट आ गया है. कल तक बिहार में कुल कोरोना पॉजिटिव केस 251 थे. आज चार नये मामले सामने आये हैं जिसके बाद ये संख्या बढ़कर 255 हो गई है. ये चारों मरीज गोपालगंज में मिले हैं. गोपालगंज में लंबे वक्त के बाद कोरोना मरीज मिला है. यहां शुरुआती वक्त में तीन मरीज मिले थे जो सभी ठीक होकर घर जा चुके हैं. स्वास्थ्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि इनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है. संजय कुमार ने बताया कि ये चारों मरीज गोपालगंज के सदर, फुलवरिया, पंचदेवरी और भोरे के रहने वाले हैं. इनमें 2 पुरूष 19 और 60 वर्ष के जबकि 2 महिलाएं 50 और 60 वर्ष की हैं. उन्होंने कहा कि होम स्क्रीनिंग के दौरान इन मरीजों की जानकारी मिली. इनकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है. गोपालगंज से मिली जानकारी के अनुसार जिले के चार अलग-अलग प्रखंडों से में ये चार मरीज मिले हैं. इन सभी संबंधित गांवों के तीन किलोमीटर के एरिया को सील कर दिया गया है. सिविल सर्जन के हवाले से कहा गया कि 25 दिन की लंबी अवधि के बाद इस जिले में कोई कोरोना मरीज मिला है. राजेश तिवारी

Read more

देखिए मुख्यमंत्री जी, ढाई साल में भी नहीं बना यहां राशन कार्ड

ढाई साल से तीन सौ लाभुकों का राशन कार्ड पेंडिंग बार बार ध्यान दिलाने के बाद भी नहीं सुन रहे अधिकारी कोरोना वायरस के चलते आई आपदा में राशन कार्ड बनवाने और बगैर राशन कार्ड के ही सरकार द्वारा लोगों की मदद की योजना पर पानी फिरता नजर आ रहा है. पटना के फुलवारी शरीफ के सकरैचा पंचायत में ढाई साल से करीब तीन सौ लोगों का राशन कार्ड हेतु फार्म भरकर दिया जा चुका है लेकिन इतने साल बाद भी किसी का राशन कार्ड बनकर लाभुकों तक नहीं पहुँच पाया. जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत सकरैचा के ग्रामीण दारा राशन कार्ड बनवाने हेतु करीब ढाई साल पहले आवेदन पत्र अनुमंडल कर्यालय पटना सदर में जमा किया गया था लेकिन अभी तक राशन कार्ड ग्रामीणों को उपलब्ध नही हुआ है.  मगध प्रमंडल प्रभारी सेवादल जनता दल युनाइटेड सह मुखिया सकरैचा पंचायत संतोष कुमार ने बताया कि ढाई साल से करीब तीन सौ लाभुकों का राशन कार्ड बनवाने के लिए फार्म भरकर भेजा हुआ है, इस बारे में कई बार अधिकारियों से गुहार लगाई गयी लेकिन अभी तक मामला सिफ़र ही रहा. इस मामले में संज्ञान लेने के लिए मुख्यमंत्री से भी ई मेल के जरिये गुहार लगाई गयी है. मुख्यमंत्री जी से आग्रह किया गया है कि कोरोना महामारी आपदा को देखते हुए दिए गये सूची पर स्वयं संज्ञान ले हुए अबिलम्ब कार्यवाई करने की कृपा करें ताकि ग्रामीणों को राशन मिल सके. पटना से अजीत

Read more

बक्सर में बढ़ी कोरोना मरीजों की संख्या

इस वक्त की बड़ी खबर बक्सर से आ रही है. कोरोना पॉजिटिव के मामले में अब बक्सर तेजी से हॉटस्पॉट बनता दिख रहा है. आज बक्सर के 2 और लोग पॉजीटिव पाए गए हैं. बक्सर से मिली जानकारी के मुताबिक जिले के नया भोजपुर निवासी एक महिला और एक पुरुष कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं. इसके साथ ही बक्सर से अब 4 लोग कोरोना पीड़ित हो गए हैं. वहीं बिहार में अब कोरोना मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 89 हो गई है. आज बक्सर से पहले नालंदा के एक डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा है. कल पटना के खाजपुरा की एक युवती कोरोना पॉजिटिव मिली थी जिसके बाद राजा बाजार इलाके में खाजपुरा की बिचली गली को सील कर दिया गया है. बक्सर से करुणेश

Read more

कोरोना प्रभावित ग्रामीण कलाकारों को मिलेगी आर्थिक मदद

कला, संस्कृति एवं युवा विभाग देगा बिहार के ग्रामीण कलाकारों को प्रोत्‍साहन कोरोना संकट के बीच बिहार के कला, संस्‍कृति एवं युवा विभाग ने ग्रामीण कलाकारों की मदद की पहल की है. कला संस्कृति एवं युवा विभाग बिहार सरकार के मंत्री प्रमोद कुमार ने बताया कि यह बिहार के उन कलाकारों के लिए है जो ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करते हैं और अपनी आजीविका हेतु पूर्ण रूप से कला लोक कला के प्रदर्शन पर निर्भर हैं. इसे लेकर कला, संस्कृति एवं युवा विभाग युवा विभाग ने एक पत्र जारी किया है. इस बारे में मंत्री ने बताया कि आधार कार्ड में दर्ज पता ग्रामीण क्षेत्र तय करने का आधार होगा. इसके तहत बिहार की कोई भी प्रदर्शनकारी लोक कला, लोक वाद्य यंत्र, वादन, एकल नृत्य, एकल लोकगायन आदि सम्मिलित किया जा सकता है. पत्रता के संबंध में तथा प्राथमिकताएं तय करने के संबंध में निर्णय लेने का पूर्ण अधिकार बिहार सरकार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग का होगा. किसी भी तरह के फिल्मी गीतों अथवा फिल्मी गीतों पर आधारित नृत्य का वीडियो इस योजना के लिए वैध नहीं होगा. प्रमोद कुमार ने कलाकारों से अपील की है कि वह कोरोना महामारी की रोकथाम हेतु सरकार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम जागरूकता तथा इस महामारी के संबंध में संबंधित बचाओ उपायों से संबंधित अपनी कला प्रस्तुति का 15 से 20 मिनट का वीडियो अपने स्थान पर रहकर तैयार कर विभाग द्वारा जारी ईमेल आईडी culturebihar@gmail.com पर अटैच या अपलोड कर भेजें. कला संस्कृति एवं खेल मंत्री ने विभागीय पत्र के हवाले से कहा कि प्रस्तुति की रिकॉर्डिंग के समय

Read more

इन दो शहरों से आए कोरोना के नये मामले

बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या में आज फिर इजाफा हुआ है. गुरुवार को यह संख्या 83 तक पहुंच गई थी. इनमें आज जिन दो शहरों से फिर मरीज मिले हैं वह हैं नालंदा और बेगूसराय. इन दोनों शहरों से एक-एक मरीज कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं. इसके साथ ही बिहार में 17 अप्रैल तक कोरोना मरीजों की संख्या 85 हो गई है.

Read more

लॉकडाउन में ही बिहार में खुल जाएंगे सभी सरकारी दफ्तर

बिहार में सभी सरकारी कार्यालय 20 अप्रैल से खुल जाएंगे. हालांकि 3 मई तक देशव्यापी लॉक डाउन लागू है लेकिन बिहार में नीतीश सरकार ने अपने सभी सरकारी कार्यालयों को 20 अप्रैल से खोलने का फैसला किया है. यही नहीं बिहार के ग्रामीण इलाकों में निर्माण कार्य शुरू करने को लेकर भी सरकार ने हरी झंडी दे दी है. इसे लेकर बिहार शिक्षा परियोजना ने एक अधिसूचना जारी करते हुए कुछ शर्तों के साथ निर्माण कार्य शुरू करने निर्माण सामग्री की दुकानें खोलने और उनके वितरण को भी कुछ शर्तों के साथ मंजूरी दे दी है. यानी 20 अप्रैल से ग्रामीण इलाकों में काम शुरू हो जाएगा. PNC

Read more

बिहार के मैप के साथ देखिए कोरोना अपडेट

कोरोना केसेज के मामले में बिहार अब तक भाग्यशाली रहा है. यहां 4 अप्रैल तक सिर्फ 32 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. पटना समेत कुछ जिलों में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों की मौत को कोरोना से जोड़कर देखा जा रहा है. इसे लेकर बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि हर मौत को कोरोना से जोड़कर देखना उचित नहीं. उन्होंने बताया कि बिहार के मेडिकल कॉलेजों में अलग-अलग वजह से कई लोगों की मौत हुई है, इसलिए इन सभी को कोरोना से जोड़ना कहीं से भी सही नहीं है. आपको बता दें कि 4 अप्रैल 2020 तक बिहार में 32 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 3 लोग ठीक हो कर घर जा चुके हैं जबकि मुंगेर के एक मरीज की मौत हुई है.

Read more

कोरोना से जीती जंग: स्वस्थ होकर लौटी घर

शरणम की महिला नर्स ने कोरोना को हरायासंपत चक के मानपुर बैरिया निवासी पिंकी ठीक होकर लौटी घर कोरोना से डरने की नही सावधानी बरतने की जरूरत है – पिंकी पटना ( अजीत ): पटना के खेमनीचक स्थित शरणम अस्पताल की 19 वर्षीय नर्स पिंकी कुमारी जानलेवा कोरोना को हराकर अब बिलकुल स्वस्थ होकर अपने घर लौट आई है. पिछले 9 दिनों से एनएमसीएच में भर्ती पिंकी का फाइनल टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने की खबर उसके परिवार और गाँव मानपुर बैरिया सहित आस पास के इलाके के लोगों के लिए बड़ी राहत और सुकून देने वाली है . पिंकी ने 20 मार्च को मुंगेर के युवक का बीपी नापा था जो एम्स जाने से पहले यहां 20 मार्च को शरणम हॉस्पिटल में इलाज के लिए पहुंचा था. 19 साल की बैरिया की रहने वाली पिंकी एनएमसीएच में भर्ती थी. बता दें कि मुंगेर निवासी कतर से लौटे युवक से जुड़े कोरोना चेन की यह पहली मरीज है, जिसने जानलेवा वायरस से जंग जीत ली है. खतरनाक वायरस कोरोना को हराने वाली पिंकी की माँ आशमा देवी और भाई रोहित व रितेश को उसके घर लौटने पर बड़ी राहत मिली है . पिंकी ने बताया कि उसे जब पता चला कि उसने जिसका बीपी नापा था, उसकी कोरोना से एम्स में मौत हो गई तो उसे विश्वास नहींं हुआ. जब प्रशासन अस्पताल को सील करते हुए उसे और अन्य दो स्टाफ को कोरोना के संदेह में एनएमसीएच ले गयी तो वह डर गयी थी. उसे कोरोना के मरीजोंं के इलाज के

Read more

पटना एम्स से भी अब घर बैठे ले सकते हैं डॉक्टरी सलाह

पटना AIIMS ने जारी किया नंबर रविवार , सोमवार और मंगलवार को 12 से 2 बजे तक बुधवार को 10 से 4 बजे तक लोग फोन करके डॉक्टरों से सलाह ले सकते हैं. बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर है. IGIMS के बाद अब पटना AIIMS ने भी मरीजों के लिए टेली मेडिसिन की सुविधा शुरू की है. मरीज अस्पताल में कॉल कर विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह ले सकेंगे. मरीज अस्पताल में कॉल कर विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह ले सकेंगे. पटना एम्स में टेलीमेडिसीन के प्रभारी सह इमजेंसी एंड ट्रामा के हेड डॉ अनिल कुमार ने बताया कि ये सेवा दो दिन पूर्व से ही शुरू हो गई थी. पिछले दो दिन में करीब 22 लोगों ने परामर्श लिया है. बक्सर , बेतिया , दानापुर ,फतुहा ,पटनासिटी से फोन पर लोगों ने परामर्श लिया है. अधिकतर लोगों ने कोरोना के संबध में जानकारी. किसी ने गले में खरास तो किसी ने सूखी खांसी के बारे में भी पूछा. उन्होंने बताया कि रविवार और सोमवार को छुट्टी है मगर बारह से दो बजे तक वह खुद रहेंगे. इधर एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने अधीक्षक डॉ सीएम सिंह को जल्द डाक्टरों का रोस्टर बनाने का आदेश देते हुये बताया कि पिछले दो दिनों में मिला अच्छा रेस्पॅान्स देखते हुये बुधवार से तीन शिफ्ट में दस से चार बजे तक विशेषज्ञ डॉक्टरों से जारी किए गए इस नंबर 6122451923 पर फोन करके परामर्श ले सकते हैं.

Read more

बिहार में रोबोट की सहायता से होगा कूल्हा और घुटने का प्रत्यारोपण

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | पटना में बहुत जल्द रोबोट की मदद से कूल्हा, घुटना व ज्वाइंट रिप्लेसमेंट की सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी. राज्य में पहली बार 12 मई को ऑर्थोपेडिक चिकित्सक इस रोबोटिक-आर्म असिस्टेड सर्जरी सिस्टम को देख सकेंगे. 12 मई को पटना के होटल लेमन ट्री में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया है. इस संगोष्ठी में इस रोबोटिक मशीन का विमोचन किया जायेगा. इस संगोष्ठी में करीब सौ से अधिक हड्डी रोग विशेषज्ञ शिरकत करेंगे. यह संगोष्ठी अनूप इंस्टीट्यूट ऑफ़ आर्थोपेडिक्स एंड रिहैबिलिटेशन द्वारा कराया जायेगा. यह जानकारी पद्मश्री डॉ. आर एन सिंह और डॉ. आशीष सिंह ने बृहस्पतिवार को प्रेस काॅन्फ्रेंस में दी. डॉ. आशीष सिंह ने बताया कि इस रोबोट मशीन की मदद से घुटना, जोड़ और कूल्हे का प्रत्यारोपण में रिजल्ट काफी बेहतर मिलता है. सारा काम रोबोटिक मशीन करता है, जबकि डाॅक्टर सिर्फ गाइड करते हैं. अभी तक कंप्यूटर गाइडेड प्रत्यारोपण होता है. अब रोबोट गाइडेड प्रत्यारोपण हाेगा. यह मशीन अनूप इंस्टीट्यूट ऑफ़ आर्थोपेडिक्स एंड रिहैबिलिटेशन इंस्टाल करने जा रहा है. उन्होने बताया की करोड़ो की लागत से नॉर्थ इंडिया में पहली बार रोबोट की मदद से ऐसी सर्जरी की जाएगी.डॉ. आशीष ने आगे बताया कि प्रत्यारोपण के दौरान हड्डी को कितना काटना है, कैसे काटना है, यह सब रोबोट तय करता है. इस कारण इसका रिजल्ट काफी बेहतर मिलता हैं. प्रत्यारोपण के बाद हड्डी कितनी मुड़ेगी, इसकी भी जानकारी मशीन से प्राप्त हो जाती है. इस प्रक्रिया में कुल खर्च सामान्य सर्जरी की तुलना में सिर्फ 10% अधिक लगता है. हालांकि इस

Read more