चढ़ते सियासी तापमान के साथ बिगड़ी लालू की सेहत

बिहार में एक तरफ जहां सियासी तापमान चढ़ा हुआ है वहीं राजद सुप्रीमो लालू यादव की तबीयत आज सुबह अचानक बिगड़ गई. सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद उन्हें तुरंत पटना के आईजीआईएमएस ले जाया गया. राजद नेताओं की मानें को लालू को किडनी के साथ हार्ट डिजीज भी है. शनिवार सुबह उन्हें अचानक चक्कर आने लगे और सांस लेने में तकलीफ होने लगी तो उन्हें IGIMS ले जाया गया. डॉक्टरों की टीम ने वहां उनकी जांच की. इसके बाद वे परेशानी दूर होने पर वे वापस घर लौट आए. जानकारी के मुताबिक रविवार को लालू यादव इलाज के लिए मुंबई जाएंगे. आपको बता दें कि चारा घोटाला मामले में लालू यादव फिलहाल जमानत पर हैं. रांची हाईकोर्ट से उन्हें इलाज के नाम पर सशर्त जमानत मिली है. 42 दिनों की जमानत पर बाहर आए लालू इस दौरान अपना इलाज करा सकेंगे.   पटना से राजेश तिवारी

Read more

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने पर बल दिया

आईजीआईएमएस के विस्तार के साथ यहाँ 2500 बेड  एवं एमबीबीएस की 250 सीटों की आवश्यकता पर बल. स्वास्थ्य के क्षेत्र में 3400 करोड़ रूपये के बजट का प्रावधान. पटना के एम्स और आईजीआईएमएस में चिकित्सा क्वालिटी के संदर्भ में प्रतिर्स्पद्धा होनी चाहिए. पीने के स्वच्छ पानी और खुले में शौच से मुक्ति से 90 प्रतिशत बीमारियों से छुटकारा. दीक्षांत समारोह में अंग्रेजों के समय से चली आ रही लिबास पहनने की परम्परा में बदलाव करने की जरूरत. पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान के चौथे वार्षिक दीक्षांत समारोह के अवसर पर नवीनीकृत गहन चिकित्सा इकाई का उद्घाटन शिलापट्ट का अनावरण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने संस्थान के आईसीयू, एनआईसीयू और एडवांस कार्डियक सेंटर का निरीक्षण किया. संस्थान के निदेशक प्रो0 डॉ0 एन0आर0 विश्वास ने मुख्यमंत्री को शॉल और प्रतीक चिन्ह (जिसमें संस्थान के नव निर्माणाधीन भवन की 3-डी छवि है और जिसका शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वर्ष 2011 में किया था) भेंटकर स्वागत किया. . दीक्षांत समारोह के मौके पर मुख्यमंत्री ने आईजीआईएमएस के ऑडिटोरियम में संस्थान के 34 वर्षों की यात्रा में हासिल की गई उपलब्धियों से संबंधित कॉफी टेबुल बुक का लोकार्पण किया. इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान के इस चौथे वार्षिक दीक्षांत समारोह में मुख्यमंत्री ने छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया. इस दीक्षांत समारोह में 22 छात्र-छात्राओं को पदक और प्रशस्ति पत्र जबकि 122 छात्र-छात्राओं को उपाधि प्रदान की गयी. 26 जनवरी को सस्थान के छात्र-छात्राओं द्वारा दहेज प्रथा के खिलाफ नाटक का मंचन किया

Read more

IGIMS ने दी कैंसर पीड़ित बच्चे को नई जिंदगी

IGIMS पटना में कैंसर पीड़ित बच्चे की जान बचाकर अस्पताल के कैंसर विभाग ने एक बार फिर मिसाल कायम की है. मौत की दहलीज पर पहुंच चुके एक गरीब परिवार के बच्चे का ना सिर्फ इलाज किया बल्कि उसे नई जिंदगी दी है. IGIMS के कैंसर विभाग के हेड डॉ अविनाश पांडे ने बताया कि एक 5 साल के बच्चे को सांस लेने में तकलीफ और फीवर की शिकायत थी. एक्स रे के बाद गांव में उसका गलत इलाज किया गया और करीब 3 हफ्ते तक टीबी और टायफायड की दवा चलाई गई. इससे उस बच्चे की हालत बिगड़ गई, जिसके बाद उसे IGIMS के चाइल्ड डिपार्टमेंट में एडमिट कराया गया. उसके गरीब पैरेंटे्स के पास इलाज के लिए भी पैसे नहीं थे. उसके बचने के चांसेज नहीं के बराबर थे. इसके बाद उसे कैंसर विभाग में शिफ्ट किया गया. डॉ अविनाश पांडे ने बताया कि साइटोलॉजी के बाद बिहार सरकार की अमृत योजना के तहत सस्ती दवाओं से उसका इलाज शुरू किया गया. एक हफ्ते में ही बच्चे की हालत में तेजी से सुधार हुआ और करीब एक महीेने की इंटेसिव थेरेपी के बाद अब उसे नॉर्मल एक्स रे और स्वास्थ्य के साथ अस्पताल से छुट्टी मिल गई.

Read more