सरकारी आवास को निजी संपत्ति ना समझें तेजस्वी

1,पोलो रोड स्थित आवास खाली करने के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा— 1,पोलो रोड स्थित सरकारी आवास खाली कर चाबी भवन निर्माण व आवास विभाग को सौंपने के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा- अब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को 5-7 दिनों में 5, देशरत्न मार्ग स्थित आवास खाली कर देना चाहिए। पोलो रोड स्थित आवास से मैं कोई सामान लेकर नहीं जा रहा हूं ताकि यहां आने वालों को कोई दिक्कत नहीं हो। सारे सामान के साथ आवास छोड़ कर अस्थायी तौर पर आवंटित हार्डिंग रोड स्थित 25 ए आवास में मैं जा रहा हूं। सुशील मोदी ने आगे कहा कि सरकारी आवास के लिए इतनी लड़ाई, मोह-माया अच्छी नहीं है। 29 वर्ष के तेजस्वी के पास कुल 52 सम्पति और 5 मकान जिनमें पटना में 3 आवास, गोपालगंज में एक आवास और दिल्ली में चार मंजिला आलीशान मकान हैं। जुलाई, 2017 के अंतिम सप्ताह में नई सरकार बनी। राजद के करीब आधे दर्जन मंत्री बंगला खाली नहीं करने के लिए कोर्ट चले गए। तेजस्वी उसके डेढ़-दो महीने बाद कोर्ट गए। हाईकोर्ट के सिंगल बेंच से हारने के बाद डब्बल बेंच में गए। कोर्ट का अंतिम निर्णय आने तक सरकार इंतजार कर रही थी। अब डब्बल बेंच ने भी बंगला खाली करने का आदेश दे दिया है। ऐसे में तेजस्वी को बंगला खाली कर देना चाहिए। डिप्टी सीएम ने कहा कि अगर तेजस्वी स्वयंमेव बंगला खाली नहीं करते हैं तो भवन निर्माण विभाग कानूनसम्म्त कार्रवाई करेगी। वैसे उम्मीद करता हूं कि वे स्वतः बंगला खाली कर

Read more

कब से पटनावासियों के घर पाइप से पहुंचेगी गैस

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | बहुप्रतीक्षित पाइप से गैस की आपूर्ति फरवरी महीने से पटना के घरों में शुरू हो जायेगी. ऐसा बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा. वे यहां पेट्रोलियम व नेचुरल गैस रेगुलेटरी बोर्ड की ओर से बिहार के 21 जिलों में पाइपलाइन से गैस वितरण हेतुं 10वें निविदा राउंड समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. साथ ही मोदी ने गेल इंडिया से 9वें निविदा राउंड के दौरान अगले 5 साल में पटना के 50 हजार घरों में पाइप से एलपीजी आपूर्ति के लक्ष्य को संशोधित कर बढ़ाने को कहा. मोदी ने बताया कि फुलवारीशरीफ में सीएनजी गेट स्टेशन की स्थापना के लिए सरकार ने 100 करोड़ कीमत की डेढ़ एकड़ जमीन 48 करोड़ में उपलब्ध कराने जा रही है. मार्च तक पटना में 3 सीएनजी स्टेशन तथा 2019-20 में 4 नए स्टेशन स्थापित होंगे. सरकार बिल्डिंग बाईलॉज में संशोधन करेगी ताकि बहुमंजिली इमारतों में निर्माण के दौरान ही गैस का पाइप भी लगाया जा सके. सीएनजी व बैट्री चालित वाहनों के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए सरकार रजिस्ट्रेशन शुल्क कम करने पर विचार कर सकती है. मोदी ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 1 दिसम्बर, 2018 तक बिहार के 70 लाख गरीबों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए हैं. 01 अप्रैल, 2014 को मात्र 23.5 प्रतिशत (38 लाख घरों) के मुकाबले बढ़ कर 31 दिसम्बर, 2018 को 68.36 प्रतिशत यानी 1.53 करोड़ घरों में एलपीजी कनेक्शन हैं. पूरे देश में मार्च, 2019 तक 5 करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन देने के

Read more

‘यूनिवर्सिटी और स्कूल शिक्षकों को भी अब हर महीने वेतन’

बिहार सरकार अब अपने शिक्षकों को हर महीने नियमित रुप से वेतन का भुगतान करेगी. ना सिर्फ यूनिवर्सिटी टीचर्स बल्कि स्कूल टीचर्स को भी हर महीने रेगुलर सैलेरी देने की व्यवस्था हो गई है. ये कहा है बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने. शनिवार को सुशील कुमार मोदी ने महाविद्यालय व विश्वविद्यालय शिक्षकों व शिक्षकेत्तर कर्मियों के तीन-चार महीने विलम्ब से हो रहे वेतन भुगतान की समीक्षा की और निर्देश दिया कि सभी शिक्षकों व कर्मियों को प्रति माह नियमित वेतन भुगतान किया जाए. उन्होंने कहा कि प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा के शिक्षकों व कर्मियों के वेतन भुगतान के लिए बिहा कैबिनेट ने वित्तीय वर्ष के प्रारंभ में ही एकमुश्त राशि की स्वीकृति दे दी है, इसलिए अब हर बार आवंटन के लिए वित्त विभाग से अनुमति लेने की जरूरत नहीं है. डिप्टी सीएम ने कहा कि पहले महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों को 3 महीने की एकमुश्त राशि मुख्यालय से निर्गत की जाती थी, जिसे शिक्षकों व कर्मियों के खाते में जाने में महीने भर का अतिरिक्त समय लग जाता था. इसलिए बैठक में निर्णय लिया गया कि विश्वविद्यालय को छह माह की वेतन राशि एकमुश्त अग्रिम भेज दी जायेगी, जिसे पी एल खाते में रखा जायेगा. इस खाते से विश्वविद्यालय हर महीने राशि निकाल कर वेतन का भुगतान कर सकेगा. सभी शिक्षकों का डेटा बेस होगा तैयार प्राथमिक से माध्यमिक शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए अब मुख्यालय से बिहार शिक्षा परियोजना के माध्यम से सीधे जिला शिक्षा पदाधिकारी को राशि निर्गत कर दी जायेगी ताकि प्रत्येक माह ससमय

Read more

“हम हैं बड़े दिलवाले, हमारे दिल में है सबके लिए जगह”

बिहार की सियासत से जुड़ी सबसे बड़ी शादी आजकल खूब चर्चा में है. पूर्व रेल मंत्री लालू के बड़े बेटे की शादी जो हो रही है. बिहार की सियासत शुरू ही लालू से होती है. तो बेटे की शादी की चर्चा तो होगी ही. ये बहुचर्चित शादी 12 मई को हो रही है. और फिलहाल शादी के लिए निमंत्रण का दौर चल रहा है. मंगलवार को अपनी शादी का न्योता लेकर पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के घर पहुंचे. तेजप्रताप ने सुशील मोदी को शादी में आने का न्योता दिया.  सुशील मोदी ने भी शादी में आने का निमंत्रण स्वीकार किया है. शादी का कार्ड देकर निकले तेजप्रताप ने कहा कि राजनीति की बातें अलग होती हैं और सामाजिक जिम्मेवारियां अलग होती हैं. राजनीति में सबकुछ चलता रहता है. उन्होंने कहा कि ये शादी का माहौल है. ऐसे में मैं उनको कार्ड देने आया था. तेजप्रताप ने मोदी से मुलाकात की तस्वीर भी ट्वीट की. बिहार के मा. उप-मुख्यमंत्री श्री @SushilModi जी को अपने विवाह का निमंत्रण दिया। लाख राजनीतिक और मनूवादी विद्वेष हम पर थोपी जाए, हम बहुजन समाज के लोग कृष्ण के वंशज हैं। हमारा दिल बहुत बड़ा है इसमें सब के लिए जगह है। pic.twitter.com/AUzhI2DLGv — Tej Pratap Yadav (@TejYadav14) May 1, 2018 बता दें कि राजनीति के धुर विरोधी लालू और सुशील मोदी एक-दूसरे पर हमले का कोई मौका नहीं चूकते. लेकिन शादी-विवाह के मौके पर एक-दूसरे के घर जरूर जाते हैं. हाल ही में सुशील मोदी के बेटे की शादी

Read more

‘राजद के शासन की याद ताजा हो गई’

तेजप्रताप के विवादित बयान पर बखेड़ा खड़ा हो गया है. एक ओर जदयू नेताओं ने इसपर तगड़ा पलटवार किया है वहीं सुशील मोदी ने  इसे लालू फैमिली की हताशा बताया है. जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि बिहार में शहाबुद्दीन, राजबल्लभ और अनंत सिंह जैसे लोगों की जब हेकड़ी निकल गई तो फिर तेजप्रताप क्या चीज हैं. वे भी अपनी कैटेगरी तय कर लें. इधर डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने इसपर हैरानी जताते हुए कहा लालू प्रसाद की सभी बेटियों की शादी में मैं शरीक हुआ, उन्हें आशीर्वाद दिया. राजनीति और पारिवारिक समारोहों का आयोजन, दोनों दो चीजं हैं. लेकिन लालू के बेटे मेरे बेटे की शादी में हंगामा की धमकी दे रहे हैं. लालू बताएं क्या ऐसी धमकी उचित है? देखिए क्या कहा था तेजप्रताप ने- https://youtu.be/ytH6kdQkf8M मोदी ने पूछा कि यह किस तरह का संस्कार है? जिन्हें बड़ों का सम्मान करना तक नहीं आता, उन्हें भविष्य का नेतृत्वकर्ता बनाने का दावा किया जा रहा है.  सुशील मोदी ने कहा कि तेजप्रताप के इस बयान के बाद राजद काल की याद ताजा हो गई है. लालू जब बिहार के सीएम थे तब कैसे अपराधियों का उत्साह चरम पर था और लोग भय के साये में जीने को विवश थे. तेजप्रताप फिर उसी संस्कृति को दोहराने की कोशिश कर रहे हैं. वे भय का माहौल बनाना चाहते हैं. लेकिन बिहार में कानून का राज है. पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें- https://goo.gl/uNrtt2

Read more

मिट्टी घोटाले पर हाईकोर्ट सख्त

बिहार के बहुचर्चित मि्टटी और जमीन घोटाले को लेकर पटना हाईकोर्ट ने सरकार को नोटिस जारी किया है. हाईकोर्ट ने सरकार से 6 हफ्ते में जवाब देने को कहा है कि इस मामले में अबतक क्या कार्रवाई हुई है. हाईकोर्ट ने एडवोक्ट मणिभूषण सेंगर की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सरकार को नोटिस जारी किया है. लगातार मुसीबत में फंसे लालू एंड फैमिली के लिए परेशानियां कम होती नहीं दिख रही हैं. जिस जमीन की मिट्टी बेचने का ये मामला है, उसे लेकर भी लालू और उनके बेटे लगातार जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं. बता दें कि इस मामले का खुलासा बीजेपी नेता सुशील मोदी ने इसी साल अप्रैल महीने में किया था. सुशील मोदी ने आरोप लगाया था कि 5 लाख घनफुट मिट्टी को तीन महीने में हाइवा ट्रक की 1 हजार ट्रिप लगाकर पटना जू पहुंचाया गया. इतनी मिट्टी लालू प्रसाद के निर्माणाधीन मॉल के दो अंडर ग्राउंड फ्लोर के अलावा कहां से मिल सकती थी. सगुना मोड़ स्थित इसी निर्माणाधीन मॉल से जुड़ा है मामला सुशील मोदी ने तत्कालीन बिहार सरकार से सवाल किया था कि मिट्टी भराई से प्राणी संरक्षण का क्या वास्ता है? क्या इसके लिए उनसे अनुमति ली गई थी? सुशील मोदी ने आगे कहा कि केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने पटना जू के लिए जिस मास्टर प्लान और मास्टर ले-आउट को स्वीकृति दी, उसमें भी मिट्टी भराई के काम का कोई उल्लेख नहीं है. राज्य सरकार बताये कि बिना प्लान और बिना स्वीकृति के 90 लाख की मिट्टी भराई का काम कैसे हुआ.   पूरी

Read more

‘सृजन घोटाले की हो CBI जांच’

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने आज फिर सुशील मोदी पर आरोप लगाते हुए भागलपुर में सृजन घोटाले की सीबीआई जांच की मांग की है. पटना में अपने आवास पर प्रेस कॉनफ्रेन्स में लालू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सुशील मोदी को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की है. लालू ने कहा कि सरकार के संरक्षण में ये घोटाला हुआ है और ये घोटाला 1000 करोड़ से ज्यादा का है. उन्होंने कहा कि सृजन का पैसा रियल स्टेट में लगा है. लालू ने बिहार सरकार की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि पूरे मामले की लीपापोती हो रही है. नीतीश ने अपने चहेते अफसरों को इस मामले की जांच में लगाया है जिससे इस मामले पर लीपापोती की जा सके. इसलिए इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए. लालू ने इस मामले में सुशील मोदी के अलावा शहनवाज हुसैन, गिरिराज सिंह और बीजेपी सांसद मनोज तिवारी की संलिप्तता का आरोप लगाया है. लालू ने कहा कि वे इस मामले में CAG को स्पेशल ऑडिट की मांग करेंगे.

Read more