नहीं रहे आइपीआरडी के पूर्व संयुक्त निदेशक

पूर्व लोकसेवक का निधन सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पूर्व संयुक्त निदेशक द्विजेंद्र पति शर्मा का निधन हो गया. वे 84 वर्ष के थे. वे पिछले कुछ समय से लगातार अस्वस्थ चल रहे थे. वे अपने पीछे दो पुत्र.और एक पुत्री छोड़ गए हैं. द्विजेंद्र पति शर्मा का निधन शिवपुरी स्थित उनके आवास ‘अन्नपूर्णा आनंद निलयन’ में हो गया. इस बारे में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पूर्व अधिकारी जितेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि उनका दाह संस्कार राजधानी के बांस घाट पर हुआ. स्वर्गीय शर्मा का द्वादश कर्म 29 मई को होगा. सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों एवं कई गणमान्य लोगों ने उनकी मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है. डी पी शर्मा के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने शोक एवम दुख व्यक्त कियासूचना एवम जनसम्पर्क विभाग के सेवा निवर्त संयुक्त निदेशक डी पी शर्मा,(द्विजेन्द्र पति शर्मा)के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ,नेता प्रतिपक्ष तेजस्वीप्रसाद यादव ने गहरी शोक संवेदना वयक्त करते हुए कहा कि स्वर्गीय डी पी शर्मा जी योग्य, कर्मठ ,जानकार जनसम्पर्क अधिकारी के रूप में जाने जाते थे. वे लंबे समय तक मुख्यमंत्री सचिवालय से भी जुड़े रहे. उनके निधन से जनसम्पर्क क्षेत्र को अपुर्णीय छती हुई है. ईस्वर उनकी आत्मा को चिर शांति दे. ईश्वर उनके परिजनों को इस शोक के समय धैर्य एवम सहन-शक्ति दे. PNC

Read more

बिहार के एक और जिले में कोरोना का खुल गया खाता

बिहार कोरोना अपडेट: पॉजीटिव केस 366, स्वस्थ- 64आज सामने आए 19 मामले जिनमें गोपालगंज में 6 पॉजिटिव मिले हैं. वहीं मुंगेर में एक और मरीज मिला हैै जिसके बाद मुंगेर मेंं अब कुल 92 मरीज हो गए हैं.अररिया,सीतामढ़ी और शेखपुरा में भी आज कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की पुुष्टि हुई. कैमूूूर में आज चार और पेशेंट मिले हैं. जबकि जहानाबाद के घोषी में तीन और कोरोना पॉजिटिव मिले. बिहार में अब 28 जिलों में कोरोना की पहुंच हो गई है. सीतामढ़ी में 26 साल के जिस युवक को पॉजिटिव पाया गया है, वह गाजियाबाद से आया था. स्वास्थ्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि उसके बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है. बिहार में अब कुल मरीजों की संख्या 366 हो गई है. अच्छी बात यह है कि आज सात और मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए. इसके बाद अब स्वस्थ होने वालों की कुल संख्या 64 हो गई है. इस बीच मंगलवार को केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सभी राज्यों के आईटी मिनिस्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में यह साफ कर दिया है कि अब सभी आईटी कंपनीज का काम 31 जुलाई तक वर्क फ्रॉम होम होगा. पहले यह लिमिट 30 अप्रैल तक थी जिसे अब बढ़ाकर 31 जुलाई कर दिया गया है. पूरी खबर के लिए क्लिक करें https://bit.ly/3aPtoBj पीएनसी

Read more

घर से निकलने से पहले जरा पढ़ लीजिए यह खबर

कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु प्रभावी लाॅकडाउन के दौरान यात्री वाहनों के परिचालन को नियंत्रित करने के लिए मुख्य सचिव के डायरेक्शन के आलोक में परिवहन विभाग ने जारी किया निर्देश कोरोना वायरस से संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु पूर्ण लाॅकडाउन लागू है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु प्रभावी लाॅकडाउन के दौरान यात्री वाहनों के परिचालन को नियंत्रित करने के लिए मुख्य सचिव के डायरेक्शन के आलोक में परिवहन विभाग ने सभी जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक को निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने निर्देश जारी किया गया है। लाॅकडाउन का मूल उद्देश्य है कि लोग अपने घरों में रहें, ताकि बाहरी लोगों से कम-से-कम सम्पर्क हो सके एवं संक्रमण न फैले।

Read more

बिहार के इस अस्पताल में भी अब होगी कोरोना की जांच

ICMR ने बिहार के एक और अस्पताल को दी कोरोना जांच की अनुमति RMRI, IGIMS, PMCH और DMCH के बाद अब SKMCH मुजफ्फरपुर को भी ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) से कोरोना की जांच की अनुमति मिल गई है. जल्द ही वहां सैंपल जांच की प्रकिया शुरू हो जाएगी. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने इसकी पुष्टि की है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि बिहार में अब पांच जगहों पर जांच होगी जिससे कोरोना की जांच में तेजी आएगी. कोरोना वायरस से बचने के लिए सूबे में सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला तेजी से काम कर रहा है. अभी तक 64 कोरोना पाॅजिटिव मरीजों में से 23 लोग कोरोना पर विजय प्राप्त कर पूरी तरह स्वस्थ हुए हैं. और ऐसे कई मरीज हैं जिनकी स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है. आज गया में भी एक मरीज ने कोरोना को मात दी है. मंगल पांडेय ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का ही परिणाम है कि सबसे अधिक घनत्व वाले राज्य बिहार में पाॅजिटिव मरीजों की संख्या कम हैं. राष्ट्रीय स्तर पर भी जहां कोरोना के केस 4 दिनों में दोगुना होते थे, वहीं अब 6 दिनों में इतने मामले आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार साथ मिलकर कोरोना महामारी को जड़ से उखाड़ फेंकने की दिशा में हरसंभव प्रयास कर रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि शनिवार को जहां एनएमसीएच, पटना में चार मरीजों ने कोरोना को मात दी है, वहीं रविवार को एएनएमसीएच, गया के एक कोरोना पाॅजिटिव की रिपोर्ट निगेटिव आई है.

Read more

बिना परीक्षा के ही पास हो गए ये बच्चे

बिहार के शिक्षा विभाग ने क्लास वन से लेकर क्लास 9 और क्लास 11 के सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों को अगले कक्षा में सीधे प्रमोट कर दिया है. बिना परीक्षा के सभी सरकारी स्कूलों के इन बच्चों को प्रमोट कर दिया गया. इसकी वजह लॉक डाउन है जिसके कारण बिहार के सभी स्कूल 14 अप्रैल तक बंद है. हालांकि मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट अभी आना बाकी है.

Read more

बिहार के मैप के साथ देखिए कोरोना अपडेट

कोरोना केसेज के मामले में बिहार अब तक भाग्यशाली रहा है. यहां 4 अप्रैल तक सिर्फ 32 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. पटना समेत कुछ जिलों में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों की मौत को कोरोना से जोड़कर देखा जा रहा है. इसे लेकर बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि हर मौत को कोरोना से जोड़कर देखना उचित नहीं. उन्होंने बताया कि बिहार के मेडिकल कॉलेजों में अलग-अलग वजह से कई लोगों की मौत हुई है, इसलिए इन सभी को कोरोना से जोड़ना कहीं से भी सही नहीं है. आपको बता दें कि 4 अप्रैल 2020 तक बिहार में 32 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 3 लोग ठीक हो कर घर जा चुके हैं जबकि मुंगेर के एक मरीज की मौत हुई है.

Read more

बिहार में कोरोना इफेक्ट, स्कूल-कॉलेज बंद

बिहार सरकार ने कोरोना से बचाव को लेकर 31 मार्च तक सभी स्कूल कॉलेजों को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है. बिहार दिवस कार्यक्रम का आयोजन रद्द करते हुए बिहार में 31 मार्च तक किसी भी सभा रैली या अन्य आयोजन पर रोक लगा दी गई है. इसके साथ ही पार्क, जू, मॉल, कोचिंग और सिनेमा हॉल भी 31 मार्च तक बंद रहेंगे। स्कूल कॉलेजों में होने वाली परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई है। हालांकि सीबीएसई की परीक्षा पर रोक नहीं लगाई गई है। कोरोना से बचाव को लेकर बिहार में अलर्ट 31 मार्च तक बिहार के सभी स्कूल-कॉलेज बंद पार्क, जू, मॉल, कोचिंग, सिनेमा हॉल भी रहेंगे बंद स्कूल और कॉलेजों की परीक्षाएं भी स्थगित सिर्फ सीबीएसई की परीक्षा रहेगी जारी किसी सभा, रैली, आयोजन पर भी रोक बिहार में स्वास्थ्य कर्मियों की छुट्टियां रद्द बिहार दिवस कार्यक्रम भी सरकार ने किया रद्द

Read more

कतरनी चावल के उत्पादन के लिए प्रोत्साहन देगी सरकार

भागलपुर कतरनी चावल की विशिष्टता को  देखते हुए सरकार ने इसके और विकास करने का निर्णय लिया है. कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने कहा कि इस क्रम  में बिहार कृषि विश्वविद्यालय को राज्य सरकार द्वारा राशि उपलब्ध करा दी गई  है. इस राशि से कतरनी चावल के बीज के गुणवत्ता तथा उत्थान हेतु  अनुसंधान, कतरनी चावल का प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से किसानों के बीच  कतरनी धान के आधार बीज का मिनी किट वितरित किया जायेगा, जो कि कतरनी चावल के क्षेत्र विस्तार में सहायक होगा. कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को  इसके गुणवत्तापूर्ण बीज उत्पादन, प्रसंस्करण एवं इसके मार्केटिंग का  प्रशिक्षण दिया जायेगा. साथ ही, कतरनी चावल के प्रसंस्करण और मिलिंग से  संबंधित व्यावसायियों/ किसानों को राज्य से बाहर विशेष कर बासमती  उत्पादक समूहों तथा प्रसंस्करण इकाइयों का परिभ्रमण कराया जायेगा. File pic प्रेम कुमार ने कहा कि अभी हाल ही में बिहार के विशेष उत्पाद कतरनी धान, जर्दालु आम एवं  मगही पान को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिली है. राज्य के इन तीनों विशिष्ट  उत्पादों को बौद्धिक सम्पदा अधिकार के अंतर्गत भारतीय बौद्धिक सम्पदा के रूप  में पंजीकृत किया गया है तथा इसे भौगोलिक परिदर्शन में शामिल किया गया  है. यह राज्य के लिए बड़े गौरव की बात है. ऐसा राज्य के किसानों एवं  बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, भागलपुर के वैज्ञानिकों के अथक प्रयास से  संभव हो पाया है.

Read more

सीट बंटवारे पर बोले मुख्यमंत्री

2019 लोकसभा चुनाव में बिहार की 40 सीटों में से किसे कितनी सीट मिलेगी, इसपर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहली बार बयान दिया है. सीएम ने कहा कि सीट बंटवारे पर फैसला जल्द ही हो जाएगा. एनडीए के सभी घटक दल बीजेपी, जदयू, लोजपा और रालोसपा के मुख्य नेता एक साथ बैठेंगे और इस मसले को हल करेंगे. उन्होंने कहा कि सीटों को लेकर आमने-सामने बात होगी. अमित शाह से मुलाकात के बाद लोक संवाद में सीएम ने बीजेपी अध्यक्ष से मुलाकात पर  कहा कि उनसे कई मुद्दों पर बात हुई है. लेकिन बंद कमरे में जो बातें हुईं उसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता. उन्होंने ये भी कहा कि जितनी बातें मीडिया में आ रही थीं, उनपर तो अमित शाह ने बोल ही दिया. सीएम नीतीश के मुताबिक, एक महीने में सीट बंटवारे को लेकर बातचीत संभावित है. बीजेपी के प्रस्ताव पर जदयू और अन्य घटक दल मिलकर बात करेंगे.

Read more

खैनी खाने वालों को राहत: बिहार में फिलहाल पाबंदी नहीं

बिहार में खैनी खाने वालों के लिए बड़ी राहत वाली खबर है. पिछले कई दिनों से इसकी पाबंदी को लेकर मचे हंगामे के बाद सोमवार को सरकार ने साफ कर दिया कि फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है. सोमवार को संवाददाताओं से बात करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि खैनी(तंबाकू) की खेती करने वाले किसानों को पहले वैकल्पिक खेती के लिए मोटिवेट किया जाएगा. इसके लिए अभियान चलाया जाएगा. इसे लगातार जारी रखा जाएगा ताकि किसान तंबाकू की खेती ना करें. उन्होंने कहा कि फिलहाल खैनी पर कोई पाबंदी राज्य सरकार नहींं लगाएगी.

Read more