“शिक्षा में शून्य निवेश नवाचार” पर आवासीय प्रशिक्षण

कोइलवर/भोजपुर (आमोद कुमार)| कोईलवर प्रखंड के संकुल संसाधन केंद्र मध्य विद्यालय महम्मदपुर में अरविन्दो सोसायटी के तत्वावधान में एक नवाचार मंच, शिक्षकों के लिये, शिक्षकों के द्वारा “शिक्षा में शून्य निवेश नवाचार” पर आधारित शिक्षकों का दो दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया. प्रशिक्षण के क्रम में शिक्षा में शून्य निवेश नवाचार से संबंधित ग्यारह विन्दुओं यथा: कला-शिल्प से सर्वांगीण विकास, खेल-खेल में शिक्षा, सामुदायिक सहभागिता, अभिनव शिक्षण तकनीक, बाल संसद, दैनिक अखबार, छात्र प्रोफाइल, भविष्य सृजन, सरल अंग्रेजी अधिगम, कान्सेप्ट मैपिंग और चित्रकथा के माध्यम से शिक्षा पर विस्तृत चर्चा की गई.
प्रशिक्षण के मास्टर ट्रेनर विनीत कुमार भट्ट के द्वारा शिक्षकों को प्रशिक्षण के क्रम में बताया गया कि विद्यालय में उपलब्ध संसाधन के अलावा शिक्षक शून्य निवेश नवाचार के तहत बच्चों के अंदर समयबद्धता, स्वास्थ्य, स्वच्छता, आपदा सुरक्षा, सामुहिकता,नेतृत्व क्षमता को विकसित कर सकते हैं. इस क्रम में शिक्षक-शिक्षिकाओं के अनुभवों को भी सदन में रखा गया. शिक्षक प्रतिभागी के रुप में शिक्षक राजाराम सिंह ‘प्रियदर्शी’ ने विचार सुझाया कि विद्यालय का चेतनासत्र एक ऐसा सशक्त माध्यम है जो बच्चों को सीखने-सिखाने के मार्ग को प्रशस्त करता है. बाल संसद बच्चों का एक ऐसा मंच है, जहां वे अपने विचारों को खुलकर रखते हैं. हर शिक्षक सिखाने के क्रम में कोई न कोई गतिविधि को प्रयोग में लाते हैं जिसमें कोई निवेश नहीं होता. उन्हीं गतिविधियों को अन्य के साथ शेयर करने की जरूरत होती है.
प्रशिक्षण में शिक्षक विनोद कुमार सिंह, अशोक कुमार निराला, हरेराम राय, रवि मिश्रा, अविनाश द्विवेदी, राजेंद्र प्रसाद, कृष्णा सिंह, मनोज कुमार सुमन,नौशाद, आनंद, संजय, संयुक्ता कुमारी, अर्चना, उषा,प्रियंका, रीमा, मंजू, उर्मिला, रेणु, जयश्री सुप्रिया, सीमा,संगीता सहित संकुल के सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं ने अपनी उपस्थिति देते हुए शून्य निवेश नवाचार के तहत बच्चों को सिखाने के व्यवहारिक पहलुओं को आत्मसात करने का कार्य किया और कक्षा-कक्ष में उतारने का संकल्प लिया. प्रशिक्षण सराहनीय तरीक़े से संपन्न हुआ.