7 खाद्य पदार्थ जो एक्सपायर नहीं होते !

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | हमारे आस-पास कई खाद्य पदार्थ हैं जो कुछ घंटों के बाद बासी या ख़राब हो जाते हैं, लेकिन कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी हैं जो इस्तेमाल नहीं होने पर भी हमेशा या बहुत दिनों तक के लिए अच्छा रह सकते हैं या उन्हें फ्रीज या डिहाइड्रेट कर रखा जा सकता है. ऐसे ही हमारे आस-पास 7 खाद्य पदार्थ ऐसे हैं जो जल्द खराब नहीं होते हैं या कभी खराब नहीं होते. आइये जानते हैं वे कौन कौन से खाद्य पदार्थ हैं –
1. सफेद चावल : ऐसे कई शोधकर्ता हैं जिन्होंने पाया है कि पॉलिश किये हुए या सफेद चावल को 40 डिग्री फ़ारेनहाइट से कम तापमान वाले ऑक्सीजन मुक्त कंटेनरों में संग्रहीत कर लगभग 30 वर्षों तक इसके पोषक तत्व और स्वाद को बनाए रखा जा सकता है. वही दूसरी ओर ब्राउन राइस, जो चोकर की परत में प्राकृतिक तेलों की उपलब्धता के कारण छह महीने से अधिक ठीक नहीं रह पाता है.
2. शहद (हनी) : हनी यानि मधु यानि शहद अधिमानतः एकमात्र भोजन है जो एक परिपूर्ण रसायन है और मधुमक्खियों की करतूत के कारण हमेशा के लिए खराब नहीं होता। जब मधुमक्खियां फूलों पर बैठती हैं तो फूलों से निकाला गया पराग मधुमक्खियों के शरीर में मौजूद एंजाइमों के साथ मिल जाता है जो पराग की संरचना को बदल देता है. पराग आगे चलकर सरल शर्करा में टूट जाता है और मधुमक्खियों के छत्ते में जमा हो जाता है. शहद बनाने का प्रोसेस तथा शहद की सीलिंग, मुख्य रूप से शहद के अविश्वसनीय जीवन-काल के लिए जिम्मेदार है.
3. नमक: चूंकि सोडियम क्लोराइड एक खनिज है जो पृथ्वी के प्राकृतिक घटकों से लिया जाता है, इसका शेल्फ-लाइफ एक प्राकृतिक परिणाम के रूप में आना चाहिए. नमक का उपयोग सदियों से अन्य खाद्य उत्पादों को संरक्षित करने के साधन के रूप में किया जाता है क्योंकि यह उनके सभी नमी को बाहर निकाल सकता है. लेकिन यह इंगित नहीं करता है कि टेबल नमक हमेशा के लिए अच्छा रहेगा. विशेषज्ञों का कहना है कि टेबल नमक में मिलाया गया आयोडीन नमक के शेल्फ-लाइफ को कम कर देता है जिसका मतलब है कि यदि लेबल कहता है कि यह आयोडीन युक्त नमक है, तो यह पांच साल से अधिक नहीं चलेगा. अतः, आम तौर पर खाने के नमक का जीवन काल 5 वर्ष माना जा सकता है.
4. सोया सॉस: जब तक सोया सॉस का बोतल खोला न जाए, यह काफी लंबे समय तक ठीक रहता है. लेकिन फिर भी यह सोया सॉस के टाइप और इसमें उपयोग किए जाने वाले योजक पर भी निर्भर करता है. अगर सोया सॉस के कंटेनर को इस्तेमाल करने के लिएखोल दिया जाता है और इसे रेफ्रिजरेटर में रखा जाता है तो यह साल्टी मसाला कई वर्षों तक ठीक रहता है.
5. चीनी: कई अन्य खाद्य वस्तुओं की तरह, चीनी की भी भंडारण प्रक्रिया यह निर्धारित करती है कि चीनी लंबे समय तक चलेगी या नहीं. दानेदार और पाउडर चीनी को नमी से मुक्त करने के लिए एयरटाइट स्थिति में रखा जाना चाहिए। हालाँकि खुदरा विक्रेताओं से हमें चीनी के निर्माण की तारीखें पता करने की आवश्यकता होती है, चीनी निर्माताओं का कहना है कि चीनी यदि कड़ा और भूरा हो गया हो तो भी तो भी यह खाने योग्य रहता है.
6. शुद्ध मेपल (maple) सिरप: शुद्ध मेपल सिरप, तथा अन्य कमर्शियल शक्कर जैसे दानेदार शक्कर और शहद में पनपने वाले किसी भी प्रकार के माइक्रोबियल विकास को ख़त्म करने के लिए इनमें लड़ने की क्षमता स्वयं निहित होती है. बंद बोतल में रखा मेपल सिरप हमेशा के लिए ठीक रहता है. लेकिन फिर भी अगर इसमें फफूंदी का निर्माण हो जाता है, तो इसे एक निश्चित डिग्री तक उबाल कर, इसके सतह को पतला करके एक साफ और हवा से भरे कंटेनर में डालने से इसकी सभी प्रकार की समस्याएं ख़त्म हो जाती है.
7. घी: जैसा की मालूम है, घी को तब तक उबाला जाता है जब तक इसमें निहित पूरी नमी न निकल जाये. यही कारण है कि यह जेनेरली खराब नहीं होता है. जब घी को ठंडे तापमान के तहत ठीक से बंद कंटेनर में रखा जाता है, तब तक यह लगभग 100 वर्षों तक भी खराब नहीं होता है.
इस बारे में यदि आपके पास कोई जिज्ञासा या प्रश्न है, तो आप इसके लिए एक विशेषज्ञ से परामर्श कर सकते हैं और अपने सवालों के जवाब पा सकते हैं.