SC ने कहा शहाबुद्दीन की जगह है जेल

By pnc Sep 30, 2016

जस्टिस पिनाकी घोष और जस्टिस अमिताव रॉय की बेंच ने सुनाया फैसला

शहाबुद्दीन ने  सीवान कोर्ट में सरेंडर किया 




सुप्रीम कोर्ट ने राजद के  बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन की जमानत रद्द कर दी है. शहाबुद्दीन को पटना हाईकोर्ट से जमानत मिली थी. राजीव रोशन की हत्या मामला में सुप्रीम कोर्ट ने पटना हाई कोर्ट के फैसले को निरस्त कर दिया है. कोर्ट ने शहाबुद्दीन को हिरासत में ले कर वापस जेल भेजने का निर्देश दिया.जस्टिस पिनाकी घोष और जस्टिस अमिताव रॉय की बेंच ने यह  फैसला सुनाया हैं.सुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालत को निर्देश दिया है कि जल्द से जल्द ट्रायल पूरा करे और पहले इन्हें जेल भेजें.उधर फैसला सुनाये जाने पर शहाबुद्दीन ने कहा कि मैं कोर्ट के फैसले का सम्मान करता हूँ.शहाबुद्दीन ने  सीवान कोर्ट में सरेंडर कर दिया. जहां से उन्हें जेल भेजा जाएगा.

SHAHABUDDIN

शहाबुद्दीन के वकील शेखर नाफड़े ने कई तकनीकी पहलुओं के सहारे जमानत रद्द ना करने के लिए जोरदार पैरवी की थी. उन्होंने दलील दी कि चंदा बाबू के जिस तीसरे लड़के की हत्या का आरोप उनके मुवक्किल पर है, उस हत्या के समय तो वो जेल में था.वहीँ  चंदा बाबू के वकील प्रशांत भूषण ने कोर्ट से कहा था कि शहाबुद्दीन जेल में था, लेकिन अपनी मर्जी से जब चाहता था, बाहर आ जाता था और ये बात तो सीवान के मजिस्ट्रेट ने भी अपनी रिपोर्ट में बताई थी.

शहाबुद्दीन के वकील ने दलील दी थी कि उनके मुवक्किल को चार्जशीट की कॉपी तक नहीं दी गई. कोर्ट ने चार्जशीट वाले आरोप पर जब बिहार सरकार के वकील से पूछा तो बिहार सरकार के पास कोई जवाब नहीं था. जिस पर कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि ये तो गंभीर बात है कि 17 महीने तक अभियुक्त को चार्जशीट की कॉपी नहीं दी गई. प्रशांत भूषण ने इस आरोप का जवाब देते हुए कहा था कि शहाबुद्दीन ने कभी भी चार्ज सीट की मांग नहीं की. ऐसे में ये आरोप बेबुनियाद है.गौरतलब है कि सीवान में पहले से ही किसी अप्रिय घटना न घटे इसके लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किए  गए है .जिले के कई आला अधिकारी कैंप  कर रहे हैं.

Related Post