राष्ट्रपति ने दिए संगीत नाटक अकादमी और फेलोशिप पुरस्कार

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप और वर्ष 2015 के लिए संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार दिए. संगीत नाटक अकादमी का फेलोशिप (अकादमी रत्न) तथा संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार (अकादमी पुरस्कार) कलाकारों तथा कला क्षेत्र के शिक्षकों और विद्वानों को दिया जाने वाला प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार है.

academy award




राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भारतीय रंगमंच की नामी शख्सियतों एम एस सथ्यू, प्रसिद्ध गायक एस आर जानकी रमन, विजय कुमार किचलू और हारमोनियम वादक तुलसीदास बोरकर को प्रतिष्ठित संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप प्रदान की.

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Sangeet Natak Akademi Award-2015 to Shri T.N. Sankaranthan, in the field of Puppetry, at the investiture ceremony of the Sangeet Natak Akademi Fellowships and Sangeet Natak Akademi Awards-2015, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on October 04, 2016.

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Sangeet Natak Akademi Award-2015 to Shri Mashkoor Ali khan, in the field of Hindustani Vocal Music, at the investiture ceremony of the Sangeet Natak Akademi Fellowships and Sangeet Natak Akademi Awards-2015, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on October 04, 2016.

The President, Shri Pranab Mukherjee presenting the Sangeet Natak Akademi Award-2015 to Smt. Mandakini Trivedi, in the field of Mohiniattam (Dance), at the investiture ceremony of the Sangeet Natak Akademi Fellowships and Sangeet Natak Akademi Awards-2015, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on October 04, 2016.s2016100490394s2016100490397

उनके साथ ही नृत्य, नाटक और संगीत क्षेत्र की 35 अन्य चर्चित हस्तियों को यहां राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल में भव्य समारोह में 2015 का अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया.पारंपरिक गायन चकरी के लिए पहचान पाने वाले जम्मू कश्मीर के प्रख्यात लोक गायक अब्दुल राशिद हाफिज समेत आठ अन्य को पारंपरिक कला में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया. अकादमी पुरस्कार के तहत एक लाख रूपये नकद, एक ताम्रपत्र और एक अंगवस्त्रम प्रदान किया जाता है.

संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप (अकादमी रत्न सदस्यता) और संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार कला क्षेत्र का प्रतिष्ठित सम्मान है. अकादमी की फेलोशिप प्रदान किये जाने वाले कलाकारों में 85 वर्षीय सथ्यू भारतीय रंगमंच का बड़ा नाम हैं जिन्हें बंटवारे पर आधारित उनकी क्लासिक फिल्म ‘गरम हवा’ के लिए जाना जाता है.