आरा की साधना को मिला नूरफ़ातिमा सम्मान

भोजपुर की रंगकर्मी साधना श्रीवास्तव को मिला नूर फातिमा सम्मान

रंगकर्मी साधना श्रीवास्तव
नूर फातिमा सम्मान से सम्मानित होती साधना श्रीवास्तव ,

पटना ;’प्रयास’ संस्था, एकता मंच और बिहार आर्ट थिएटर के संयुक्त सहयोग से नूर फातिमा जयंती समारोह नूर फातिमा अवार्ड से सम्मानित किया गया । प्रयास संस्था ,एकता मंच और बिहार आर्ट थियेटर प्रति वर्ष रंगकर्म और पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़े एक-एक हस्ताक्षर को नूर फातिमा अवार्ड से सम्मानित भी करता आ रहा हैं ।
भोजपुर आरा की रहने वाली साधना श्रीवास्तव का लगाव बचपन से ही नाटकों के प्रति था । घर में सांस्कृतिक वातवरण रहने से इन्होंने नाटक और अभिनय के क्षेत्र में ही अपना कैरियर बनाना शुरू किया। इनकी बड़ी बहन श्यामली श्रीवास्तव भी भोजपुरी फिल्मों और टीवी सीरियल में काम करती हैं। इन्होंने स्व.श्याम मोहन अस्थाना के भी कई नाटकों में काम किया है और दर्शकों को अपने अभिनय से मंत्रमुग्ध किया है। कालिदास रंगालय में आयोजित सम्मान समारोह में इन्हें नूर फातिमा सम्मान से सम्मानित किया गया। इस मौके पर नाबार्ड के डा.सुनील कुमारपूर्व आईएएस – शिवनंदन सहाय,प्रयास के महासचिव – मिथलेश सिंह, और वॉइस प्रेसीडेंट – श्यामल अहमद बांके बिहारी,कमांडेंट – मुन्ना कुमार उपस्थित रहे ।




अभिनेत्री साधना श्रीवास्तव

आपको बता दें कि साधना ने संजय उपाध्याय के साथ विदेशिया ,श्री धर और मनोज कुमार सिंह के साथ भी कई नाटकों में भूमिका निभाई है जिन्हें राष्टीय स्तर के नाट्यप्रतियोगिताओं में कई बार बार विशेष सम्मान मिल चुका है। इंटर यूनिवर्सिटी डांस और गायन प्रतियोगिता में भी इन्हें प्रथम पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।साधना नाटक के साथ साथ शार्ट फिल्मों में भी नजर आती हैं।उनका लक्ष्य है कि वे एक बेहतर अभिनेत्री बने और सभी भूमिकाओं का निर्वहन करें और एक दिन राष्ट्रीय स्तर पर भी नाम कमाएं।

PNC DESK