सोनपुर को राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में किया जायेगा विकसित : राजीव

सोनपुर (राजेश तिवारी की रिपोर्ट) | शुक्रवार को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के लोक संपर्क एवं संचार ब्यूरो पटना द्वारा ऐतिहासिक हरिहर क्षेत्र सोनपुर मेला में “सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास“ (कठोर परिश्रम और साहसिक निर्णयों के परिणाम) विषय पर फोटो प्रदर्शनी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया.
मुख्य अतिथि राजीव प्रताप रूडी ने कार्यक्रम में लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सोनपुर मेला को एक महीने का नहीं बल्कि पूरे वर्ष के लिए मेला के रूप में मनाया जाना चाहिए. सरकार की ऐसी बहुत सारी जन कल्याणकारी योजनाएं हैं जिनके बारे में जानकारी देने के लिए सोनपुर मेले में स्थायी रूप से पवेलियन का निर्माण होना चाहिए. उन्होंने बताया कि नमामी गंगे प्रोजेक्ट के तहत बनने वाला बिहार का सबसे खूबसूरत घाट सोनपुर में ही है. उन्होंने कहा कि भारत में दो ही सबसे प्रसिद्व व ऐतिहासिक ग्रामीण मेले हैं – एक सोनपुर मेला तथा दूसरा पुष्कर मेला. ये दोनों मेले मुख्य रूप से पशु मेला के रूप मे ही जाने जाते है.

रूडी ने कहा कि बहुत कम लोग हमारे राष्ट्रीय जलीय जीवों के बारे में जानते हैं. सोंस व डॉल्फिन वे राष्ट्रीय जलीय जीव हैं जो गंडक एवं गंगा के किनारों पर पाए जाते हैं. डॉल्फिन के बचाव को लेकर हमेें आगे बढ़ना चाहिए ताकि सोनपुर में पर्यटक डाॅल्फीन को भी देखने आये और सोनपुर डाॅल्फीन स्वर्ग के रूप में जाना जाये. सोनपुर मेला केवल मेले के रूप मे ही नहीं बल्कि पर्यावरण के लिहाज से भी बहुत महत्वपूर्ण है जिसके लिए लोगों को आगे आना चाहिए. उन्होंने केन्द्रीय पर्यटन मंत्री का अभिनन्दन करते हुए कहा कि स्वराज दर्शन योजना के तहत भारत सरकार द्वारा आवंटित रााशि का इस्तेमाल सोनपुर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भी किया जा रहा है.
कार्यक्रम के संरक्षक सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अपर महानिदेेशक एस.के.मालवीय ने कहा कि इस फोटो प्रदर्शनी का मुख्य उद्देश्य केन्द्र सरकार की लोक जन कल्याणकारी योजनाओं नीतियों एवं कार्यक्रमों के बारे में लोगों को जानकारी देना तथा उन्हे जागरूक करना है. उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा लोगों के विकास के लिए उठाये गये ऐतिहासिक कदमों और नीतियों से आम लोगों को अवगत कराना भी है.
बताते चलें कि इस मासिक अभियान के दौरान केन्द्र सरकार की उपब्धियों पर आधारित लगभग 100 चित्रों की प्रदर्शनी के अलावे परिचर्चा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, जादू प्रदर्शन, चलचित्र प्रदर्शन एवं प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जायेगा.
इससे पहले कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन स्थानीय सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने किया. मौके पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अपर महानिदेशक एस.के.मालवीय, निदेशक विजय कुमार, सहायक निदेशक एन.एन.झा, क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी पवन कुमार सिन्हा, मनीष कुमार, क्षेत्रीय प्रचार सहायक सुनील कुमार चौधरी, नवल किशोर झा, सर्वजीत सिंह मौजूद थे.




कार्यक्रम की शुरूआत अपर महानिदेेेशक ने जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखा कर की. रैली में स्थानीय विद्यालयों के छात्र/छात्राओं समेत मेले में आये पर्यटकों ने भी हिस्सा लिया.