क्या बिहार में रंगदारी प्रथा फिर से शुरू हो रही है ?

गोलीबारी से डरे दवा कारोबारियों ने किया सड़क जाम
पटना एम्स के सामने दवा दुकानों से रंगदारी की मांग
डीएसपी के सुरक्षा अश्वासन के बाद हटा जाम
पुलिस ने की व्यापारियों के साथ बैठक

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । फुलवारी शरीफ थानान्तर्गत पटना AIIMS के सामने तीन दवा दुकानों से बाईक सवार बदमाशों द्वारा पांच लाख की रंगदारी मांगने को लेकर की गई गोलीबारी से डरे दवा कारोबारियों ने शुक्रवार को एम्स के आस पास की सभी दुकानों को बंद करके करीब चार घंटे तक नेशनल हाइवे जाम कर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया. दवा कारोबारियों के जाम के कारण सैंकड़ो वाहनो की कतार लग गयी. इस जाम में एम्स के डायरेक्टर की गाड़ी भी काफी देर तक फंसी रही. रंगदारी किंग्स गैंग के द्वारा मांगी गई. किंग्स गैंग ने दुकान के सामने ताबड़तोड़ फायरिंग (Firing) भी की. उसके बाद दुकान के अंदर पर्चा फेंक कर चलते बने. पर्चे में साफ तौर पर लिखा था कि तीनों दुकानदारों को पांच लाख की रंगदारी देनी होगी.

रंगदारों द्वारा गोलीबारी के विरोध में यहां के दवा दुकानों को बंद कर प्रदर्शन कर रहे कारोबारियों ने प्रशासन से जान माल की सुरक्षा की मांग कर रहे थे. मौके पर पहुंचे थानेदार रफिकुर रहमान ने जाम कर रहे लोगो को समझाया. लेकिन लोग मानने को तैयार नही हुए. इसके बाद मौके पर पहुंचे डीएसपी संजय कुमार ने दवा कारोबारियों को सुरक्षा का पूरा आश्वासन दिया. डीएसपी के आश्वासन के बाद लोग नेशनल हाइवे से हटे और सड़क पर आवागमन सुचारू हो पाया. डीएसपी ने दवा कारोबारियों के साथ बैठक भी की. उधर पुलिस ने गोलीबारी कर भाग रहे बदमाशो का सीसीटीवी फुटेज निकालकर उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है. सीसीटीवी कैमरे साफ दिख रहा है कि बाइक पर सवार होकर अपराधी आते हैं और दुकान के अंदर पर्चा फेंक कर फरार हो जाते हैं. पास ही के एक अन्य सीसीटीवी कैमरे में कैद तस्वीरों में एक मोटरसाइकिल पर तीन अपराधियों का आना और वहां फायरिंग करना स्पष्ट दिख रहा है.