एम्स में दरभंगा के शख्स की कोरोना से मौत, पटना के कई और मरीज पॉजीटिव

पटना एम्स में कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या लगातार बढती जा रही है. रविवार को दरभंगा के 65 वर्षीय एक शख्स की एम्स में इलाज के दौरान कोरोना से मौत हो गयी. बिहार में रविवार को 131 नए मरीज मिले हैं जिसके साथ बिहार के कुल कोरोनावायरस संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 9117 हो गई है. 7156 मरीज अब तक स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं . बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण से रिकवरी रेट 78 प्रतिशत है अब तक इस बीमारी से 62 लोगों की जान जा चुकी है. पटना एम्स के कोरोना नोडल पदाधिकारी डॉ संजीव कुमार सिंह ने कोरोना से एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि करते हुए बताया की दरभंगा निवासी मरीज को साँस में तकलीफ की शिकायत पर इक्कीस जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. इसके अलावा पटना के पांच मरीजोंं और मुजफ्फरपुर से आये एक डॉक्टर की जांच रिपोर्ट एम्स में कोरोना पॉजिटिव आई है. रोजाना कई संक्रमित मरीज बाहर से भी रेफर होकर एम्स में इलाज के लिए आ रहे हैं जिनकी जांच रिपोर्ट यहाँ भी पॉजिटिव बता रही है. फुलवारी के भुसौला दानापुर के कोरोना संक्रमित एक पचास वर्षीय व्यक्ति के अलावा पटना के बाढ़ के बिचली मलाही निवासी एक चार साल का बच्चा ,अशियाना नगर फेज टू निवासी 45 साल के शख्स का रिपोर्ट पॉजीटिव आया है. बिहटा के महावीर नगर निवासी 32 वर्षीय युवक सहित पटना के दरियापुर की 25 वर्षीया युवती और मुजफ्फरपुर के एक 70 वर्षीय डॉक्टर भी एम्स में भर्ती हुए हैं जिनकी रिपोर्ट पॉजीटिव

Read more

एम्स में नर्स डे पर हुआ ब्लड डोनेशन

अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस पर एम्स में ब्लड डोनेशन कैम्प और पौधारोपणनर्सो की सेवा अमूल्य – निदेशक एम्स पटना एम्स के निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने कहा कि नर्सो की सेवा अमूल्य है उनका योगदान की कोई तुलना या मूल्य नहींं लगाया जा सकता है. नारी तो सदियों से पूज्यनीय रही हैं और नर्सो ने अपनी सेवा भाव से मरीजो में जान फूंकने का अदम्य कार्य करती चली आ रही है. उन्होंने कहा की भले ही हम चिकित्सको के पास इलाज की तकनीक और अन्य चिकित्सकीय सुविधाओं का ज्ञान अधिक होता है लेकिन नर्सो की सेवा ही मरीजो को स्वस्थ्य करने में सबसे ज्यादा अहम होती है. पटना एम्स में विश्व नर्सिंग दिवस पर नर्सो को एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने हौसला अफजाई की. इस अवसर पर एम्स निदेशक ने पौधारोपण भी किया. वहीँ एम्स के नर्सिंग कॉलेज के प्रिंसिपल इंचार्ज रथिश नायर ने बताया की नर्सिंग की जन्मदात्री फ्लोरेंस नाइटिंगेल की 200 वीं जयंती के सम्मान में एम्स में कार्यक्रम किया गया है. उन्होंने बताया की इस साल को उनकी दो सौवीं जयती को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने “नर्स और मिडवाइफ का वर्ष” घोषित किया गया है. नर्सिंग सुपरीटेंडेंट राम्या एस ने नर्सिंग दिवस की बधाई देते कहा कि यह पेशा बहुत ही सत्कार वाला है, जिस में नर्सों को मरीजों की देखभाल कर उन को नई जिंदगी प्रदान करनी होती है. नर्सिंग के असिस्टेंट प्रोफ़ेसर हंसमुख जैन ने बताया की चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में आज इस एतिहासिक दिन है इस अवसर पर ब्लड डोनेशन

Read more

सेना के हेलीकॉप्टर से बरस रहे फूल

कोरोना की लड़ाई में स्वास्थ्यकर्मियों, मेडिकल स्टाफ्स, चिकित्सकोंं, पुलिस जवानों और सभी कोरोना वैरियर्स की हौसलाफजाई के लिए सेना के हेलीकॉप्टर ने की एम्स अस्पताल के ऊपर फूलों की बारिश कोरोना संकट से जूझ रहे चिकित्सको, नर्सिंग स्टाफ्स, पुलिसकर्मियों सहित अग्रिम मोर्चा पर तैनात अन्य सभी स्वास्थ्यकर्मियों को सम्मान देने व कोरोना से लड़ाई में उनका हौसला बढ़ाने के लिए देश की सेना के हेलीकॉप्टर ने पटना एम्स अस्पताल के ऊपर से फूल बरसाए. सेना की ओर से हॉस्पिटलों के ऊपर फूल बरसाकर कोरोना मरीजों की जान बचाने में जी जान से जुटे सभी कोरोना वैरियर्स के जज्बे को सलाम करने का अनूठा प्रदर्शन देख एम्स कैम्पस में जुटे चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ्स, पुलिस जवानों और अन्य सभी स्वास्थ्य कर्मियों ने सेना के हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा होता देख तालियां बजाकर सेना का आभार जताया.देखिए वीडियो- https://www.youtube.com/watch?v=dMtIXNa7ZYk पटना एम्स अस्पताल के ऊपर से दस बजे सेना हेलीकॉप्टर जब फूल बरसाने लगे तो आस पास की सड़कों और घरों कॉलोनियों के लोगों की नजर ठहर गयी और सबों ने तालियों की गड़गड़ाहट और हाथ हिलाकर सेना जवानों को धन्यवाद दिया. पटना एम्म्स के ऊपर से तीन बार चक्कर काटकर सेना के हेलीकॉप्टर ने फूलों की बारिश की. हेलीकॉप्टर से फूलों की बारिश से पूरा एम्स पटना के परिसर झूम उठा . पटना से अजीत

Read more

बिहार में एक और कोरोना मरीज की मौत

वैशाली के राघोपुर निवासी 35 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव मैरीज का पटना एम्स में मौत 21 मार्च को मुंगेर के युवक की भी पटना एम में हुई थी मौत सबसे पहले सबसे बड़ी खबर. बिहार में सभी सरकारी कार्यालय 20 अप्रैल से खुल जाएंगे. हालांकि 3 मई तक देशव्यापी लॉक डाउन लागू है लेकिन बिहार में नीतीश सरकार ने अपने सभी सरकारी कार्यालयों को 20 अप्रैल से खोलने का फैसला किया है. इधर बिहार में कोरोना से दूसरी मौत वैशाली के रहने वाले 35 वर्षीय युवक की पटना एम्स में हो गयी. इससे पहले मुंगेर निवासी युवक की मौत भी पटना एम्स में ही हुई थी. पटना एम्स प्रशासन ने पुष्टि की है कि वैशाली निवासी कोरोना पॉजिटिव युवक ने दम तोड़ दिया है. एम्स के नोडल ऑफिसर डॉ नीरज अग्रवाल ने बताया कि वैशाली निवासी 35 वर्षीय मरीज को 14 अप्रैल को एम्स में लाया गया था. उसे ब्रेन में संक्रमण, इंसेफेलाइटिस ,बुखार से बेहोशी सहित अन्य तरह की शिकायतें थी. उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था. 15 अप्रैल को उसका रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आया था. उन्होंने बताया कि उसकी हालत नाजुक बनी हुई थी जिससे उसे आइसोलेशन वार्ड में वेंटिलेटर पर रखा गया था. उसके परिवार के तीन लोग अभी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं जिनका रीपोर्ट कोरोना निगेटिव आया था.बता दें कि पटना एम्स में जिस युवक का कोरोना का इलाज कराया जा रहा था उसका इलाज पटना एम्स से पहले राघोपुर, फिर खुसरूपुर और पटना बाइपास के पॉपुलर हॉस्पिटल में हो चुका था . इस युवक

Read more

पटना एम्स से भी अब घर बैठे ले सकते हैं डॉक्टरी सलाह

पटना AIIMS ने जारी किया नंबर रविवार , सोमवार और मंगलवार को 12 से 2 बजे तक बुधवार को 10 से 4 बजे तक लोग फोन करके डॉक्टरों से सलाह ले सकते हैं. बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर है. IGIMS के बाद अब पटना AIIMS ने भी मरीजों के लिए टेली मेडिसिन की सुविधा शुरू की है. मरीज अस्पताल में कॉल कर विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह ले सकेंगे. मरीज अस्पताल में कॉल कर विशेषज्ञ डॉक्टर से सलाह ले सकेंगे. पटना एम्स में टेलीमेडिसीन के प्रभारी सह इमजेंसी एंड ट्रामा के हेड डॉ अनिल कुमार ने बताया कि ये सेवा दो दिन पूर्व से ही शुरू हो गई थी. पिछले दो दिन में करीब 22 लोगों ने परामर्श लिया है. बक्सर , बेतिया , दानापुर ,फतुहा ,पटनासिटी से फोन पर लोगों ने परामर्श लिया है. अधिकतर लोगों ने कोरोना के संबध में जानकारी. किसी ने गले में खरास तो किसी ने सूखी खांसी के बारे में भी पूछा. उन्होंने बताया कि रविवार और सोमवार को छुट्टी है मगर बारह से दो बजे तक वह खुद रहेंगे. इधर एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने अधीक्षक डॉ सीएम सिंह को जल्द डाक्टरों का रोस्टर बनाने का आदेश देते हुये बताया कि पिछले दो दिनों में मिला अच्छा रेस्पॅान्स देखते हुये बुधवार से तीन शिफ्ट में दस से चार बजे तक विशेषज्ञ डॉक्टरों से जारी किए गए इस नंबर 6122451923 पर फोन करके परामर्श ले सकते हैं.

Read more

क्या बिहार में रंगदारी प्रथा फिर से शुरू हो रही है ?

गोलीबारी से डरे दवा कारोबारियों ने किया सड़क जाम पटना एम्स के सामने दवा दुकानों से रंगदारी की मांगडीएसपी के सुरक्षा अश्वासन के बाद हटा जामपुलिस ने की व्यापारियों के साथ बैठकपटना (ब्यूरो रिपोर्ट) । फुलवारी शरीफ थानान्तर्गत पटना AIIMS के सामने तीन दवा दुकानों से बाईक सवार बदमाशों द्वारा पांच लाख की रंगदारी मांगने को लेकर की गई गोलीबारी से डरे दवा कारोबारियों ने शुक्रवार को एम्स के आस पास की सभी दुकानों को बंद करके करीब चार घंटे तक नेशनल हाइवे जाम कर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया. दवा कारोबारियों के जाम के कारण सैंकड़ो वाहनो की कतार लग गयी. इस जाम में एम्स के डायरेक्टर की गाड़ी भी काफी देर तक फंसी रही. रंगदारी किंग्स गैंग के द्वारा मांगी गई. किंग्स गैंग ने दुकान के सामने ताबड़तोड़ फायरिंग (Firing) भी की. उसके बाद दुकान के अंदर पर्चा फेंक कर चलते बने. पर्चे में साफ तौर पर लिखा था कि तीनों दुकानदारों को पांच लाख की रंगदारी देनी होगी. रंगदारों द्वारा गोलीबारी के विरोध में यहां के दवा दुकानों को बंद कर प्रदर्शन कर रहे कारोबारियों ने प्रशासन से जान माल की सुरक्षा की मांग कर रहे थे. मौके पर पहुंचे थानेदार रफिकुर रहमान ने जाम कर रहे लोगो को समझाया. लेकिन लोग मानने को तैयार नही हुए. इसके बाद मौके पर पहुंचे डीएसपी संजय कुमार ने दवा कारोबारियों को सुरक्षा का पूरा आश्वासन दिया. डीएसपी के आश्वासन के बाद लोग नेशनल हाइवे से हटे और सड़क पर आवागमन सुचारू हो पाया. डीएसपी ने दवा कारोबारियों के साथ बैठक भी

Read more

कैंसर की रोक थाम के लिए पटना एम्स चलायेगा जागरूकता कार्यक्रम

चार से आठ फरवरी तक चलेगा जागरूकता कार्यक्रम भारत मे हर साल 10 लाख नये कैंसर के मरीज कैंसर को बढ़ावा दे रहा है युवाओं में बढ़ती धुम्रपान की लत फुलवारीशरीफ/पटना (अजित की रिपोर्ट)। सम्पूर्ण विश्व में 4 फरवरी को “विश्व कैंसर दिवस” मनाया जाता है. हर साल इस बिमारी से लाखों लोगों की मौत हो जाती है. समाज के हर वर्ग में तेजी से बढ़ रही इस बीमारी के प्रति जागरूकता ही इसका सबसे बड़ा बचाव है. अगर इस बीमारी का पता समय पर चल जाता है तो इलाज बेहतर हो सकता है. भारत में हर साल 10 लाख कैंसर के मरीज सामने आते हैं और उनमें से 7 लाख मरीजों की मौत हो जाती है. ये बातें पटना एम्स की रेडियो थेरेपी विभागाध्यक्ष डा०प्रीतांजलि सिंह ने बताया. उन्होंने आगे कहा कि ये आकड़े खुद बता रहे हैं कि देश में कैंसर की क्या तस्वीर है. खान-पान में बदलाव और बदलती जीवनशैली कैंसर का प्रमुख वजह बनता जा रहा है. चालीस प्रतिशत कैंसर सिर्फ तंबाकू के सेवन से होता है. युवाओं में बढ़ती धुम्रपान की लत कैंसर को बढ़ावा दे रहा है. ये बीमारी सरकार के लिए बड़ी चुनौती बनती जा रही है. कैंसर की रोकथाम कैसे हो और लोगों में इसके प्रति जागरुकता कैसे बढ़े, इसके लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल ने इस वर्ष कैंसर दिवस पर थीम आई एम एंड आई विल यानी “मैं हूं और मैं रहूंगा / रहूंगी” – है. जागरूकता ही इसका सबसे बड़ा बचाव है और यदि कोई कैंसर से बचना चाहता है

Read more