नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल का छापामारी अभियान

कोइलवर (आमोद कुमार) | नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने बिहार की नदियों में तीन महीने के लिए बालू उत्खनन पर रोक के बावजूद कोइलवर में बालू उत्खनन कर रहे नावों की धड़पकड़ के लिये जिला प्रशासन ने सोन नदी छापेमारी अभियान चलाया. इस दौरान पुलिस ने बालू लोड दो नाव को जब्त किया है. वही 4 मजदूर भी हिरासत में लिए गए हैं. बाकी मजदूर सोन नदी में कूद भाग निकलने में सफल रहे.

सोमवार को सदर एसडीओ अरुण प्रकाश, एसडीपीओ पंकज कुमार, खनन पदाधिकारी प्रमोद कुमार, कोईलवर थानाध्यक्ष रंजीत कुमार समेत पुलिस बल सोन नदी में निर्माणाधीन पुल के खंभे के समीप अवैध रूप से बालू मजदूर बालू काट रहे थे जिसकी सूचना पर प्रशासन हरकत में आया. छापेमारी के लिये भारी संख्या में पुलिस बल को आता देख निर्माणाधीन पुल से सटे बालू का अवैध उत्खनन कर रहे नाव और उस पर सवार मजदूर सोन नद के रास्ते गंगा नदी की ओर भाग निकले. पुलिस ने दो नाव को पकड़ जब्त व चार मजदूर को हिरासत में लिया है. बाकी दर्जनों मजदूर नदी में कूद भाग निकले. एसडीपीओ पंकज कुमार ने बताया कि अवैध बालू उत्खनन को लेकर प्रशासन द्वारा आने वाले दिनों में छापेमरी अभियान जारी रखेगी. मालूम हो कि सोन नद में जलस्तर वृद्धि के साथ सारण, वैशाली व पटना जिला के सैकड़ो नाव कोईलवर पुल के समीप बालू उत्खनन करने पहुँचते है. जो कोईलवर में निर्माणाधीन सिक्स लेन पुल के समीप से अंधाधुंध बालू का उत्खनन कर नदी के रास्ते ही डोरीगंज, हाजीपुर, सोनपुर या अन्य जगहों बालू ले जाते है.