इस सुपर हाइटेक गिरोह के बारे में जानकर हैरत में पड़ जाएंगे आप

पटना पुलिस ने किया हाइटेक गिरोह का पर्दाफाश
फर्जी वेबसाइट बनाकर ऑनलाइन बेच देते थे चोरी की बाइक

 




पटना के बेउर में पुलिस ने एक ऐसे बाइक चोर गिरोह को पकड़ा है जिसके हाइटेक अंदाज से पुलिसवालों के भी होश उड़े हुए हैं. सिपारा में वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस गश्ती के हत्थे चढ़े सिगोड़ी थाना इलाके के रोगानियाडीह निवासी राहुल के सहारे पुलिस ने एक हाइटेक अंतरजिला बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है जो चोरी की बाइक को नक्सलियों को सप्लाई करता था. चोरी की बाइक को यह गिरोह फर्जी वेबसाइट और ई मेल आईडी बनाकर OLX पर डाल आसानी से अच्छे दामो में बेच देता था.

पुलिस के  मुताबिक चोरी की बाइक नक्सली इलाकों में भी बेची जाती थी. इसका खुलासा होने पर पुलिस टीम भी सकते है. पुलिस का मानना है कि नक्सलियों के इलाके में चोरी की बाइक बेचने के पीछे शातिरों की यह मंशा रही होगी कि उन इलाके में पुलिस की सक्रियता कम होती है. OLX पर डालने से पहले शातिर हाइटेक अन्तरजिला चोर गिरोह के सदस्य बाइक के इंजन और चेचिस का नम्बर भी बदल देते थे.  बेउर और जक्कंनपुर थाने की संयुक्त पुलिस टीम ने पटना, अरवल, जहानाबाद और गया इलाके में ताबड़तोड़ छापेमारी करके इस गिरोह के तीन अन्य सदस्यों को गिरफ्तार करते हुए चोरी की 6  बाइक बरामद की है.

SSP के निर्देशन में बनी विशेष पुलिस टीम इस बड़े बाइक चोर गिरोह के अन्य फरार सदस्यों को दबोचने के लिए पटना से लेकर अरवल जहानाबाद और गया इलाके में भी छापेमारी कर रही है. इसकी जानकारी पटना के वरीय आरक्षी अधीक्षक मनु महाराज ने दी. SSP ने बताया की फर्जी वेबसाइट के जरिये OLX साइट पर डालकर चोरी की बाइक और मोबाइल बेचने वाले एक दूसरे गिरोह का पर्दाफाश भी किया गया है, जिसके सरगना समेत दो अपराधियों सरोस अख्तर उर्फ़ बाबा और उसके सहयोगी लवकुश कुमार को  ऑपरेशन विश्वास के तहत चलाए जा रहे अभियान के तहत दानापुर के सगुना मोड़ के पास से गिरफ्तार किया गया है. SSP ने बताया कि दोनों गिरोह एक-दूसरे के साथ तालमेल बिठाकर बाइक व स्मार्ट फोन के साथ ही कम्प्यूटर को फर्जी वेबसाइट के सहारे OLX पर डाल मनमानी कीमतों में बेच डालते थे ताकि पुलिस और खरीदार को दोनों को भरमाया जा सके. इससे पहले चोरी की बाइक और अन्य सामानों का फर्जी दस्तावज भी तैयार किया जाता था जिससे कि पुलिस और खरीदार को इनपर शक न हो पाए. पुलिस फर्जी दस्तावज तैयार करने वाले लोगों को दबोचने के लिए विशेष रणनीति के तहत जुटी है.

पटना पश्चमी के सिटी एसपी रविन्द्र कुमार ने बेउर थाने में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन कर विस्तृत रूप से जानकारी देते हुए बताया कि 29- 30 जनवरी की रात सिपारा पुल के पास पुलिस गश्ती दल ने पल्सर बाइक से जा रहे राहुल(सिगोड़ी) को पकड़ा. राहुल जिस पल्सर बाइक को चला रहा था वह बेउर थाना इलाके से ही चुराई गयी थी. राहुल की निशानदेही पर बेउर व जक्कंनपुर थाने की पुलिस की संयुक्त टीम ने पटना से लेकर अरवल , जहानाबाद और गया में छापेमारी की और 6 मोटरसाइकिलें बरामद करते हुए चार अपराधियों को गिरफ्तार किया.

पटना से चुरायी गयी बाइक को गया और गया से चुरायी गयी बाइक को पटना इलाके में खपाया जाता था. पुलिस टीम को गिरफ्तार चोरों ने अपने अन्य साथियों के नामों का खुलासा किया है जिनकी गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम छापेमारी कर रही है. पुलिस टीम उन लोगों तक पहुँचने में जुटी है जिन लोगों ने चोरी की बाइक खरीदी है. पुलिस को गिरफ्तार अपराधियों के फर्जी वेबसाइट बनाकर OLX के जरिये चोरी की बाइक मनमानी कीमत लगाकर बेचने की जानकारी मिली है.  बेउर थाने में प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिटी एसपी वेस्ट रविन्द्र कुमार के साथ एएसपी राकेश दुबे और फुलवारी शरीफ एएसपी राकेश कुमार भी मौजूद रहे.

 

रिपोर्ट- फुलवारीशरीफ से अजीत