नहीं कम हुई परेशानी, बैंकों और ATM के सामने लंबी कतारें

चौथे दिन भी बैंकों और एटीएम में लगी रही लम्बी कतार 
किसी बैंक में पैसा नहीं, तो किसी एटीएम में रूपये समाप्त 
pnc-bank-line बड़े नोट बंद किए जाने के बाद बैंक खुलने के चौथे दिन रविवार को भी पुराने नोट बदलने या उन्हें जमा कराने तथा नकदी निकासी के लिए बैंकों और एटीएम बूथों के बाहर लंबी कतारें लगी हैं.  सरकार की ओर से 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य ठहराए जाने के बाद उनके इस्तेमाल और वापसी के लिए शहर में बैंको और एटीम में लोगों को घंटो लाइन में लगने के बाद भी सभी लोगों को नए रूपये का दीदार नही हुआ . पटना के फुलवारी में केनरा बैंक में रुपया नही आने से लाइन में लगे लोगो ने हो हंगामा किया . शहर की एटीएम मशीने देखने की वस्तु बनकर रह गयी तो जिस एटीएम से रूपये निकलने की जानकारी मिली तो वहां लम्बी लाइन लग गयी . थोड़ी ही देर में एटीम मशीनों से रुपया उगलना बंद हो जा रहा था जिससे खुदरा रूपये के लिए मारा मारी का आलम जस का तस बना हुआ है .कई जगह एटीएम से नहीं निकल रहा पैसा, लोग गुस्से में, शटर बंद होने के बावजूद लोग लाइनों में खड़े थे .  जिन मशीनों में नकदी रखी गई थी, उनमें सुबह से ही लोगों की कतारों के कारण कम समय में ही राशि समाप्त हो गई . कई उपभोक्ताओं ने कहा की सरकार हमारा पैसा ले रही है और बदले में महज चार हजार ही दे रही है .अधिकांश बैंकों में दोपहर होते-होते 100, 50, 20 10 रुपये के छोटे नोट समाप्त हो गए. दो हजार के नोट से खरीदारी में कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा  है . सरकार का निर्देश है की नोटों को बदलवाकर एक दिन में सिर्फ 4000 रुपये कैश ले सकते हैं और बकाया राशि आपके खाते में जमा हो जाएगी . इसके अलावा यदि आप किसी दूसरे बैंक में पैसा जमा कराने के लिए जाते हैं तो आपको पहचान पत्र प्रस्तुत करना होगा .

रिपोर्ट- फुलवारीशरीफ से अजीत