ट्रेन से एक करोड़ के नोट बरामद

उधना एक्सप्रेस में एक करोड़ के नोट बरामद

करीब एक करोड़ मूल्य के हैं 500 और 1000 के पुराने नोट




दो महिला सहित चार लोग हिरासत में

pnc-note-baramad1

काला धन को लेकर शुरू हुए हंगामे के बीच रविवार को पटना के दानापुर में 500 और 1000 के पुराने नोटों की बड़ी खेप पकड़ी गई है. जानकारी के मुताबिक दानापुर रेलवे सुरक्षा बल ने गुप्त सूचना के आधार पर दानापुर-उधना (9064 ) एक्सप्रेस के थ्री एसी कोच में सीट के नीचे तीन बैगों में छिपा कर रखा हुआ कुल 98,50,000 का नोट पकड़ा है. इस सम्बन्ध में दानापुर आरपीएफ के इन्स्पेक्टर आर के कच्छवाहा ने बताया कि नोट बंदी की घोषणा के बाद मंडल के वरीय आरपीएफ के कमान्डेंट चन्द्रमोहन मिश्र के दिशानिर्देश पर नोटों को पकड़ने के लिए स्टेशनों और गाड़ियों में विशेष अभियान चलाया जा रहा है. इसी अभियान के तहत गुप्त सूचना के आधार हमने अपने सहयोगी एएसआई वीणा कुमारी और सुरक्षाबालों के साथ मिल कर करीब 4 बजे दानापुर स्टेशन के प्लेटफ़ॉर्म तीन-चार पर खड़ी दानापुर-उधना एक्सप्रेस के थ्री एसी के बी-१ कोच में जांच करना शुरू किया . इस कोच में तीन बैग भर सीट के अन्दर छिपाया गया पुराना बंदी के 500 और 1000 के कुल 98,50,000 रूपये पकड़ा गया है . साथ में दो महिला सहित चार लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है . इस में पटना के दरियागंज स्थित राजधानी मार्किट में हरिओम टेक्सटाइल का मालिक एवं खुसरूपुर निवासी नितेश कुमार के अलावा इस का स्टाफ पटनासिटी निवासी संतोष कुमार साथ में इनकी पत्नी मालती देवी और मरुफगंज पत्नासिटी की सोनी कुमारी  सरहज शामिल है . नितेश इन तीनों को ट्रेन में चढ़ाने आया था . इस के लिए पटनासिटी से 12 नबम्बर को थ्री एसी का तीन टिकट कटाया गया था ,जो वेटिंग लिस्ट में था . पकड़े गए सभी नोटों को आयकर विभाग को सौंप दिया गया है . हरिओम टेक्सटाइल के मालिक नितेश ने बताया कि यह रुपया सूरत के व्यापारी को देने जा रहे थे . जहाँ से उधार में पूजा में साड़ी लाया गया था . बिक्री में यह सारे नोट मिले थे . नोटबंदी होने से सभी नोट मेरे पास जमा हो गया था . जिसे व्यापारियों को लौटने जा रहा था .

रिपोर्ट- दानापुर से चन्द्रशेखर