स्थापना दिवस के मौके को यादगार बना दिया

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | रवीन्द्र परिषद की ईकाई और संगीत विद्यालय “गीत भवन” का 62वां स्थापना दिवस समारोह शुक्रवार 9 अगस्त को पटना के रवीन्द्र भवन के श्रोताकक्ष में में धूम-धाम से मनाया गया. इसमें गीत भवन के विभिन्न संकायों के छात्र-छात्राओं ने गीत, संगीत और नृत्य पर एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम किया और इस मौके को यादगार बना दिया. इस भव्य मौके पर सभी संकायों के शिक्षक एवं छात्र-छात्राओं ने अपनी-अपनी कला का बखूबी से प्रदर्शन किया.

कार्यक्रम की शुरूआत गणेश वंदना से हुई. शास्त्रीय संगीत और नृत्य की अपनी प्रस्तुति से बच्चों ने अपनी काबलियत का लोहा मनवाया. इस मौेके पर अपनी प्रस्तुति देने वाली कलाकारों में सुदीक्षा, अविका, हर्षिता, प्रोनिशा, विद्या, नीतिज्ञा, समेरा, उन्नति, आशिका, प्रियंवदा, अंतरा, स्तुति, नलिनी आर्य, रितिका, अतुल, प्रणव, श्रेया, सुनिधि, विशाखा आदि आदि शामिल थी.




बताते चलें, गीत-भवन की स्थापना सन 1957 में हुई थी और इसका नामाकरण इंदिरा देवी ने किया था जो स्वयं गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर की भतीजी थी. स्थापना के बाद सबसे पहले गीत-भवन में रविंद्र संगीत एवं नृत्य की विद्या का ही शिक्षण हुआ करता था, परंतु आज इसका आकार काफी बढ़ गया है और यहां शास्त्रीय संगीत, गिटार, तबला, कथक, भरतनाट्यम, अंकन कला, बांग्ला भाषा का प्रशिक्षण भी दिया जाता है. आज यहां 400 से अधिक छात्र-छात्राएं प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं एवं हमारे यहां से प्रशिक्षित छात्र-छात्राओं ने अपनी विद्याओं में महारत हासिल करके अपने-अपने प्रशिक्षण केंद्र चलाकर जीविका अर्जित कर रहे हैं.

इस अवसर पर रविंद्र परिषद के सभापति प्रभास राय, सचिव अशोक तालापात्र, ट्रेजरर निशित बोस, देवाशीष रॉय, प्रदीप्तो मुखर्जी एवं गीत-भवन के विशिष्ट सदस्यगण, विशिष्ट गुणीजन एवं अन्य अतिथिजन उपस्थित थे. इस दौरान बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं के अभिभावक और परिजन के साथ बड़ी संख्या में शहर के प्रबुद्ध श्रोता मौजूद थे.