नारकीय जिंदगी जीने को मजबूर दानापुर के कई कॉलोनी के लोग

6 माह जलजमाव के बीच रहते है लोग

अतिक्रमण से बंद हो गए नाले 




नहीं है जिला प्रशासन का ध्यान 

ग्रेटर पटना में शामिल दानापुर के कई कॉलोनियों में बरसात और नाले का पानी सालों भर सड़क पर भरा होने के कारण जीवन जीना दूभर हो गया है. गंदा पानी, बदबू, मच्छरों का आतंक और बीमारी की आशंका, इस पानी में दहशत की यह कहानी शामिल है. इन रिहायशी इलाकों में पानी का निकासी नहीं होने से सड़क पर पानी बहता रहता है. यहां तक की घरों के अंदर भी नाले का पानी घुसा हुआ है.

unnamed-3 unnamed-4

सगुना मोड़ से खगौल रोड के आस पास के मुहल्ले आरपीएस कॉलोनी, लेखा नगर, ऊर्जा नगर, विजय नगर ,एजी कालोनी, विजय सिंह पथ, द्वारिकापुरी समेत कई अन्य कॉलोनियों में जलजमाव की समस्या से कई वर्षो से लोग जूझ रहे है. भाजपा वरिष्ठ नगर अध्यक्ष दिलीप कुमार ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि बरसात के दिनों में करीब 6 माह तक जलजमाव की समस्या बरकरार रहती है. नाला निर्माण नहीं होने से घरों से निकलने वाला पानी आस पास के खाली भूखण्ड में जमा रहता है जिससे बरसात में नारकीय स्थिति हो जाती है. सड़क पर जलजमाव से स्कूली बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होती है. बच्चे गंदे पानी के बीच से गुजर कर स्कूल आते-जाते है. बृद्धजनों और बीमार महिलाओं को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. जलजमाव से विभिन्न प्रकार की बीमारी की आशंका बनी रहती है.मच्छर का प्रकोप वैसे ही दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है.

कॉलोनी में निजी स्कूल के प्राचार्य चन्द्रदीप यादव, रामदयाल, मुंद्रिका प्रसाद सिंह, छात्रा साक्षी कुमारी, ए के ओझा ने बताया कि आधा दर्जन से अधिक कॉलोनियों के 30 हजार से अधिक लोग जलजमाव से प्रभावित है. इन समस्या का प्रमुख कारण खगौल कैंट रोड के बगल में गुजरने वाले सरकारी पैन को बिल्डर और भूमाफियाओं ने मिट्टी भरकर अतिक्रमण कर लिया है. जिससे जल निकासी पूरी तरह बंद हो गया है. बरसात और घरों का गंदा पानी कॉलोनी के खाली भूखण्ड में गिरने से जलजमाव की समस्या उत्पन्न हो जाती है. इस समस्या के निदान के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि , सांसद रामकृपाल यादव, विधायक आशा सिन्हा द्वारा मुख्यमंत्री, नगर विकास मंत्री, मुख्य सचिव  बिहार ,नगर विकास, विभाग के प्रधान सचिव को कई बार पत्र लिखकर इस समस्या से अवगत कराया गया.पर वर्षो से कॉलोनीवासी जलजमाव का दंश झेलने को मजबूर है. उन्होंने सरकार से मांग किया है की जल्द इन समस्याओं का निपटारा किया जाय नहीं तो हजारों लोग सड़कों पर आंदोलन के लिए मजबूर हो जाएंगें.

दानापुर से चंद्रशेखर की रिपोर्ट