मुख्यमंत्री नीतीश कुमार live …

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर बिहार में मेगा वैक्सीन ड्राइव की शुरुआत

Read more

करें तो क्या करें .. वकील और उनके साथ काम करने वाले ..

वकील और उनके साथ काम करने वाले लोगों के समक्ष भूखमरी की समस्या कर्ज में डूब रहे रहेें लाखों परिवारबिहार के 150 न्यायालयों के लगभग 1.5 लाख अधिवक्ताओं, उनके सहयोगियों जैसे मुंशी … पटना ; विधि प्रकोष्ठ भाजपा बिहार के संयोजक और हाईकोर्ट के एडवोकेट टी एन ठाकुर ने कहा है कि न्याय दिलाने वाले बिहार के 150 न्यायालयों के लगभग 1.5 लाख अधिवक्ताओं, उनके सहयोगियों जैसे मुंशी और अन्य लोगों के समक्ष भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गई है. कोरोना इफेक्ट के कारण जिला व अनुमंडल न्यायालयों में लगभग 18 माह से ठीक ढंग से कार्यवाही नहीं चल पा रही है.दूसरी तरफ पटना उच्च न्यायालय में अभी 53 की जगह 20 जज है, वर्चुयल माध्यम से बहुत कम मामलों की सुनवाई हो पाती है.रेगुलर बेल और एन्टीसेपेट्री बेल के हजारो मामले पेंडिंग है जिनका बेल हो जाने की संभावना है वो भी महीनों महीनों से जेल मे बंद है.सुप्रीम कोर्ट, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ,गुजरात उच्च न्यायालय दिल्ली उच्च न्यायालय में है। बिहार में भी सभी सरकारी कार्यालय प्राईवेट संस्थान सभी खुल चुके है करोना के मामले भी एक दम कम हो गये हैं। वैक्सीन भी चार करोड़ लोग ले चुके है।माननीय मुख्य न्यायाधीश पटना हाईकोर्ट संजय कैरोल से हम आग्रह करते हैं कि यथाशीघ्र बिहार के न्यायालयों समेत पटना हाईकोर्ट पटना मे कोविड गाईडलाईन का पालन करते हुए फिजिकल कोर्ट शुरू हो . जिससे लाखों परिवारों राहत मिल सके .

Read more

एप्प बनाएं और जीतें 50 लाख रुपये

नई दिल्ली : दुनिया के लिए मेक इन इंडिया एप्प विकसित करने का एक अभिनव अवसर! AmritMahotsav ऐप इनोवेशन चैलेंज 2021 में भाग लें, और आप जीत सकते हैं 50 लाख की राशि । 16 श्रेणियां के अंतगर्त बनने वाले एप्प को आप my gov पर जाकर या नीचे दिए लिंक पर खुद को रजिस्टर कर सकते हैं । https://innovateindia.mygov.in/app-innovation-challenge/केवल भारतीय उद्यमी और स्टार्ट-अप सूचीबद्ध के रूप में विभिन्न श्रेणियों में अपनी प्रविष्टियां जमा करने के पात्र हैं। हाई स्कूल और कॉलेज के छात्रों को भी भागीदारी के लिए माना जा सकता है क्योंकि इनमें से अधिकांश छात्र, विशेष रूप से जो इंजीनियरिंग के क्षेत्र में हैं, उभरते हुए उद्यमी हैं और प्रौद्योगिकी के आगामी रुझानों के अनुकूल होने वाले पहले व्यक्ति हैं। इसके अलावा, प्रतिभागियों को प्रत्येक टीम में 4 से अधिक प्रतिभागियों वाली टीमों में प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। अंतिम तिथि है 30 सितम्बर 2021 अमृत ​​महोत्सव ऐप इनोवेशन चैलेंज 2021 में निम्नलिखित 16 श्रेणियां शामिल हो सकती हैं: संस्कृति और विरासतस्वास्थ्यशिक्षासामाजिक मीडियाइमर्ज टेककौशलसमाचारखेलमनोरंजनकार्यालयस्वास्थ्य और पोषणकृषिव्यापार और खुदराफिनटेकमार्गदर्शनअन्यइन अनुप्रयोगों की पहचान करने के अलावा, प्रतिभागी इन ऐप्स को अधिक अनुकूलनीय और सभी के लिए उपयुक्त बनाने के लिए अपने विचारों में पिच कर सकते हैं, और प्रौद्योगिकी में प्रगति को बनाए रखने के लिए उभरती हुई तकनीकों को शामिल करने के तरीकों को शामिल कर सकते हैं, जिसके लिए व्यवसायों को अगले कुछ वर्षों के लिए एक दृष्टि की आवश्यकता होती है। प्रतिभागियों को उन ऐप्स की तलाश करने का भी सुझाव दिया

Read more

कोविड ‘डिमेंशिया’ को तेज करेगा-क्लाइव कुकसन

वर्तमान में लगभग 55 मिलियन लोग मनोभ्रंश के साथ जी रहे हैं, नई दिल्ली : वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि कोविड ‘मनोभ्रंश महामारी’ को तेज करेगा। विशेषज्ञ इशारा करते हैं कि वायरस कुछ रोगियों में दीर्घकालिक मस्तिष्क क्षति का कारण भी बन सकता है। वर्तमान में लगभग 55 मिलियन लोग मनोभ्रंश के साथ जी रहे हैं, यह आंकड़ा दशक के अंत तक तक बढ़ने की भविष्यवाणी की गई है।लंदन में क्लाइव कुकसन द्वारा वैज्ञानिकों और मनोचिकित्सकों ने चेतावनी दी है कि कोरोनोवायरस के मस्तिष्क पर अपक्षयी प्रभाव “मनोभ्रंश की महामारी” में आग में घी डालने का काम करेगा जो दशक के अंत तक को प्रभावित करेगा। डिमेंशिया संघों के वैश्विक महासंघ, अल्जाइमर डिजीज इंटरनेशनल ने समस्या के पैमाने को बेहतर ढंग से समझने और इससे निपटने के तरीकों की सिफारिश करने के लिए एक विशेषज्ञ कार्य समूह का अनावरण किया।अब तक के तमाम अध्ययनों के आधार पर विशेषज्ञों ने बताया है कि सार्स-सीओवी-2 वायरस और इसके म्यूटेशन के कारण संक्रमितों के मस्तिष्क और न्यूरोलॉजिकल गतिविधियों पर भी बुरा प्रभाव देखने को मिल रहा है। इसका असर कम समय या फिर लंबे वक्त के लिए भी हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक कोविड-19 संक्रमित एक तिहाई रोगियों ने कई तरह के तंत्रिका संबंधी लक्षणों का अनुभव किया। इसके दीर्घकालिक प्रभाव के तौर पर भविष्य में लोगों को स्ट्रोक जैसी दिक्कतों का खतरा बढ़ जाता है। एडीआई के मुख्य कार्यकारी पाओला बारबारिनो ने कहा, “हम लोगों को अनावश्यक रूप से डराना नहीं चाहते हैं, लेकिन दुनिया भर के कई डिमेंशिया विशेषज्ञ

Read more

कोरोना के नए वेरिएंट C.1.2 का अब खतरा

नई दिल्ली : विश्व अभी कोरोना के तीसरे वेरिएंट डेल्टा पर ही काम कर रहा है वहीं कोरोना के नए वैरिएंट सी.1.2 ने विश्व स्वास्थ्य संगठन की चिंता बढ़ा दी है। डेल्टा से भी ज्यादा संक्रामक इस वैरिएंट पर डब्लूएचओ की तकनीकि प्रमुख डॉ. मारिया वॉन ने ट्वीट करके कहा है कि सी.1.2 के बारे में ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के शोधकर्ताओं को धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने सबसे पहले सी.1.2 के बारे में स्वास्थ्य संगठन को जानकारी दी और अपनी शोध को भी साझा किया। अब तक सी .1.2 के 100 से ज्यादा मामले आए सामनेविश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि दक्षिण अफ्रीका में 21 मई को इस वैरिएंट का पहला मामला सामने आने के बाद दुनिया भर में अब तक इस वैरिएंट के 100 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की तकनीकि प्रमुख का कहना है कि हमें इस नए वैरिएंट के और भी सीक्वेंस के बारे में पता करने की आवश्यकता है। क्योंकि, अभी तक डेल्टा वैरिएंट ही सबसे ज्यादा संक्रामक प्रतीत हो रहा है। सबसे ज्यादा खतरनाक हो सकता है नया वैरिएंटपूरी दुनिया डेल्टा वैरिएंट से खतरे को लेकर परेशान थी, इस बीच इस नए वैरिएंट ने खोज ने समस्याओं को और बढ़ा दिया है। वैज्ञानिकों ने कहा कि यह नया वैरिएंट शरीर में वैक्सीनेशन से बनी प्रतिरक्षा प्रणाली को आसानी से मात दे सकता है। ऐसे में एक बार फिर सभी लोगों के लिए कोरोना का खतरा बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। तेजी से

Read more

जेपी और लोहिया के विचार नहीं हटाये जा सकते -लालू

दिल्ली- लोहिया और जेपी के विचारों को अब जेपी विश्वविद्यालय में नहीं पढ़ाये जाने पर छात्रों की तीखी प्रतिक्रिया मिल रही है वहीं राजद के मुखिया ने इस खबर पर ट्वीट कर अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी है उन्होंने कहा है कि जयप्रकाश जी के नाम पर अपनी कर्मभूमि छपरा में 30 वर्ष पूर्व जेपी विश्वविद्यालय की स्थापना की थी।अब उसी यूनिवर्सिटी के सिलेबस से संघी बिहार सरकार तथा संघी मानसिकता के पदाधिकारी महान समाजवादी नेताओं जेपी-लोहिया के विचार हटा रहे है।यह बर्दाश्त से बाहर है।सरकार तुरंत संज्ञान लें । इधर पाठ्यक्रम से लोहिया और जेपी के विचार हटाने पर छात्र संघ भी आंदोलन के मूड में हैं ।

Read more

उर्दू के प्रसिद्ध लेखक अली जावेद का निधन

देश के संस्कृतिकर्मियों में शोक की लहर प्रगतिशील लेखक संघ के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष और उर्दू के प्रसिद्ध लेखक अली जावेद का मंगलवार आधी रात को दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल में निधन हो गया। वे 68 साल के थे । उनके निधन पर देश भर के साहित्यकारों में गहरा शोक है ।संस्कृतिकर्मियों तथा लेखक संगठनों ने गहरा शोक व्यक्त किया है और सांप्रदायिकता तथा फ़ासीवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में उनके योगदान को याद किया है। जनवादी लेखक संघ (जलेस) की ओर से जारी संदेश में कहा गया है कि इस कठिन समय में साथी अली जावेद का जाना देश के लोगों के लिए एक सदमा लगा है । हाल ही में वो ब्रेन हैमरेज के शिकार हुए थे 13 अगस्त को उन्हें ब्रेन हैमरेज हुआ था । बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उन्होंने मंगलवार की देर रात सांस ली। दिल्ली विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग से सेवानिवृत्त प्रो. अली जावेद ने जे एन यू से एमए और पीएचडी की उपाधि ली थी। इन दिनों वे प्रगतिशील लेखक संघ के कार्यकारी अध्यक्ष थे और इससे पहले उसके महासचिव रहे। 2012 से 2016 तक वे अफ्रीकन एण्ड एशियन राइटर्स यूनियन के भी अध्यक्ष रहे।

Read more

जारी होगा 125 रुपया का सिक्का

पटना: “इस्कॉन (ISKCON) की स्थापना करने वाले और हरे कृष्ण भक्ति आंदोलन के प्रवर्तक माने जाने वाले श्री भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद जी की 125वीं जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 125 रुपये का विशेष स्मृति सिक्का जारी करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मौके पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ये सिक्का जारी करेंगे। इसके पहले भी नेता जी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती पर भी 125 रुपये का विशेष स्मृति सिक्का जारी किया गया था ।

Read more

समाज के अंतिम पायदान की हकीकत से रूबरू कराती है ‘हाशिए पर हसरत’-हरिवंश

बहुत से विकास के कार्य हो रहे हैं लेकिन यह सच्चाई है कि लगभग सारी चीजें अंतिम पायदान के लोगों तक नहीं पहुंच पाई है -हरिवंश हरिवंश ने कहा कि नीतीश कुमार ने मुसहर जाति से आने वाले जीतन राम मांझी को भी सीएम बनाया। यह भी समाज का एक यथार्थ है। सभी की यह मांग होती है कि समाज के अंतिम पंक्ति के लोगों का उद्धार हो लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा संभव नहीं हो पाता है -अवधेश नारायण सिंह समाज के मार्मिक दृश्य की दस्तावेज और जीवंत कृति है यह पुस्तक भीम सिंह भवेश की पुस्तक का विधान परिषद सभागार में लोकार्पण प्रख्यात लेखक सह पत्रकार भीम सिंह भवेश की पुस्तक “हाशिए पर हसरत” का लोकार्पण सोमवार को बिहार विधान परिषद के सभागार में किया गया। प्रभात प्रकाशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम का पुस्तक का लोकार्पण राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश, बिहार सरकार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह और बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर हरिवंश ने कहा कि हाशिए पर हसरत अपने आप में ही पूरी किताब के बारे में बता रहा है। उन्होंने कहा कि यह पुस्तक समाज के मार्मिक दृश्य की दस्तावेज और जीवंत कृति है। बिना संवेदना के कोई कुछ नहीं लिख सकता है लेकिन मुसहर जाति से आने वाले लोगों के लिए लेखक ने जो कुछ लिखा है वह अद्भुत है। यह किताब सामूहिक जीवन के प्रयास का सत्य है, जिसे हम गागर में सागर भी कह सकते हैं। किताब का उल्लेख करते हुए हरिवंश

Read more

शुरू हुई यमुना दर्शन यात्रा ..

प्रसिद्ध थिंक टैंक और जाने माने समाजसेवी के एन गोविंदाचार्य की यमुना दर्शन यात्रा शुरू हो गई है कुछ तस्वीरें …… आज से #यात्रा_प्रारंभ🙏यमुनादर्शनयात्रा एवं प्रकृतिकेंद्रितविकास पर संवाद यमनोत्री से #प्रयागराज तक #रेणुकामातामंदिरदर्शन, #सिरमौर, #हिमाचलप्रदेश फेसबुकपेज से साभार

Read more