“विद्यालय सुरक्षा जागरूकता दिवस” का आयोजन

कोइलवर/भोजपुर (आमोद कुमार की रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम (सुरक्षित शनिवार) के अंतर्गत सरकारी एवं निजी विद्यालयों में 1-15 जुलाई तक विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है तथा 1-5 जुलाई तक “कचरा महोत्सव” का भी आयोजन होना है. इसके तहत कोईलवर प्रखंड के मध्य विद्यालय काजीचक में 4 जुलाई को “विद्यालय सुरक्षा जागरूकता दिवस” का आयोजन किया गया. सर्वप्रथम चेतनासत्र में विद्यालय के शिक्षक व पूर्व वरीय साधनसेवी कोईलवर, राजाराम सिंह “प्रियदर्शी” के द्वारा विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम के विभिन्न चरणों की जानकारी दी गई. बच्चों को बताया गया कि भूकंप के झटके आने पर बिल्डिंग से बाहर निकलने का प्रयास करें, बिजली का स्वीच आफ कर दें, दौड़े नहीं, बाहर किसी पेड् के नीचे खड़े न हों. विद्यालय के छात्र-छात्राओं को भूकंप के जोखिम से बचाव के उपाय के तहत फोकल शिक्षक प्रदीप कुमार के द्वारा माकड्रील कराया गया. इसके तहत ‘झूको, ढको,पकड़ो. आग लगने पर नीचे झूको, लूढ़को और नीचे की तरफ निकलने का प्रयास करो. किसी साथी को चोट लगने पर उसे कंधे पर उठाकर या कपड़े पर सुलाकर प्राथमिक उपचार हेतु ले जाने का सामूहिक प्रयास करो.

विद्यालय के छात्र-छात्राओं में बाल संसद के पुष्पा, रुखसार, सोनम, दीपा, प्रीति, चंदन, डबलु, सुरेंद्र, सुहैल, उपेंद्र सहित कई बच्चों ने माकड्रील में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. इस कार्यक्रम में विद्यालय के शिक्षक सुमन,संजय, कमाल अशरफ,लालदेव वर्मा और उषा की भी सराहनीय भूमिका रही. शिक्षक राजाराम सिंह “प्रियदर्शी” के द्बारा बताया गया कि विद्यालय में चल रहे स्वच्छता कार्यक्रम के तहत 5 जुलाई को भी विभागीय शिड्यूल के अनुसार “कचरा महोत्सव”का आयोजन किया जायेगा और बच्चों और ग्रामीणों में कचरा को इधर-उधर न फेंककर निर्धारित स्थल पर रखने हेतु प्रेरित करने का कार्य किया जायेगा. शिड्यूल के आलोक में 15 जुलाई तक विद्यालय में कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों एवं अभिभावकों को प्रेरित करने का सार्थक प्रयास जारी रहेगा.