लॉकडाउन 4.0 में बिहार

लॉकडाउन 4.0 में नया क्या है!

आखिरकार देश में लॉक डाउन का चौथा चरण लागू हो गया है. 18 मई से 31 मई तक के लिए लॉकडाउन 4.0 लागू किया गया है. 12 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में इतना तो साफ कर दिया था कि लॉक डाउन फोर होगा. उन्होंने यह भी कहा था कि लॉक डाउन 4.0 नए रंग रूप में होगा. इसके बाद लोग अंदाजा लगा रहे थे कि लॉक डाउन 4.0 में छूट मिलेगी. कई दुकानें खुलेंंगी और लोग घर से बाहर निकल पाएंगे. लेकिन फिलहाल ऐसा कुछ भी होता हुआ नहीं दिख रहा है. एक नजर बिहार में लागू प्रमुख बातों पर–




√ भीड़ भाड़ संभावित किसी भी जगह या एक्टिविटी पर रोक जारी रहेगी. स्कूल-कॉलेज, सिनेमा हॉल, मॉल, मंदिर मस्जिद, गुरुद्वारा,चर्च, होटल, रेस्टोरेंट, हवाई यात्रा कोई भी सार्वजनिक आयोजन, सभा, समारोह,कोचिंग आदि पर रोक जारी

√ रेलसेवा पर रोक नहीं है, सिर्फ मेट्रो रेल पर रोक है.

√ अब आप परमिशन लेकर अपनी गाड़ी से एक राज्य से दूसरे राज्य जा सकते हैं

√ रेड जोन,बफर जोन या ऑरेंज जोन घोषित करने का निर्णय राज्य खुद करेंगे

राज्य आपसी सहमति से बस या अन्य परिवहन सेवा का परिचालन दिशानिर्देशों के मुताबिक कर सकते हैं

√ मेडिकल स्टाफ, डॉक्टर, नर्स, एंबुलेंस, पारामेडिकल स्टाफ, सैनिटरी पर्सनल, खाली या भरे गुड्स/कार्गो ट्रक को राज्य के अंदर या बाहर आने-जाने पर कोई रोक नहीं होगी.

लॉकडाउन 4.0 दिशानिर्देश
लॉकडाउन 4.0 दिशानिर्देश

नई गाइडलाइन्स पर नजर डालने से साफ हो जाता है कि इसमें पिछले लॉक डाउन की तुलना में मामूली फेरबदल किया गया है. इसके पीछे विशेषज्ञ कोरोनावायरस संक्रमण का बढ़ता दायरा मान रहे हैं. लॉक डाउन 4 की घोषणा करने में भी जिस तरह से देरी हुई है उससे भी साफ है कि केंद्र सरकार भी नया कुछ लागू करने में काफी संकोच कर रही थी. मई महीने में विशेष रूप से प्रवासी मजदूरों के अपने घर लौटने के कारण बिहार और उत्तर प्रदेश के साथ कई राज्यों में संक्रमण काफी तेजी से बढ़ा है इसे देखते हुए माना जा रहा है कि लॉकडाउन 4.0 में ज्यादा छूट नहीं दी गई है. हालांकि जिस तरह से बिहार में पहले इलेक्ट्रॉनिक इलेक्ट्रिक मोबाइल शॉप हार्डवेयर शॉप और उसके बाद किताब और चश्मे की दुकानों को बारी-बारी से सप्ताह के 3 दिन खोलने की इजाजत दी गई है. सूत्रों के अनुसार वैसे ही धीरे-धीरे अन्य सामानों के दुकान खोलने की इजाजत दी जाने की संभावना है. पटना डीएम कुमार रवि ने फिलहाल किसी भी फेरबदल से इंकार करते हुए पहले से जारी पाबंदियों को जारी रखने की बात कही है.

पीएनसी