बेरोजगारी की बजी थालियाँ, सरकार को नौजवानों ने घेरा

आरा,5 सितंबर. समय 05 बजकर 05 मिनट, स्थान..आरा का गोला मोहल्ला मोड़…आमतौर पर भीड़भाड़ रहने वाले इस जगह पर कुछ युवा अचानक थालियों को पीटने लगते हैं और उधर से गुजरने वाले हर शख्स की कदमें रुक जाती है. सभी देखने लगते हैं कि आखिर क्या होने लगा! कोई ये समझता है कि नुक्कड़ नाटक की शायद प्रस्तुति होगी लेकिन थोड़ी देर आंखे जब टकटकी लगाए देखती हैं तो पता चलता है कि ये युवा साथी कोई और नही बल्कि भाकपा माले के कार्यकर्ता हैं जो थाली पीटकर सरकार के विरोध अपना विरोध जता रहे हैं.

बेरोजगारी हटाओ देश बचाओ अभियान के तहत आरा के नौजवानों ने थालीपीठ कर अपना विरोध दर्ज कराया और बेरोजगारी के खिलाफ नारे भी लगाए. भाकपा माले ने सरकार से मांग किया कि देश के नौजवानों को रोजगार की गारंटी देनी होगी. उन्होंने सरकार से बेरोजगार नौजवानों को ₹10000 बेरोजगारी भत्ता देने की मांग की.




मोदी और नीतीश के विरोध में युवाओं ने जमकर नारे लगाए. CPIML प्रत्याशी राजू यादव, सचिव दिलराज प्रीतम, अधिवक्ता अमित कुमार गुप्ता उर्फ बंटी नेता प्रतिपक्ष आरा नगर निगम भाकपा माले कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों के आगे घुटने टेक चुकी है. मोदी सरकार अदानी अंबानी के हाथों देश को बेच रही है. एयरपोर्ट बैंक रेलवे का निजीकरण कर रही है. करोड़ों लोगों को छटनी कर रही है. मुनाफे में भी कार्यरत सरकारी उपक्रमों में हिस्सेदार बना रही है और नौजवानों को रोजगार मांगने पर पकौड़ा तलने को सलाह दे रही है. एमबीए,एमसीए,एमटेक, बी टेक इंजीनियर करोड़ों की संख्या में बेरोजगार होकर देश के सड़कों पर घूम रहे हैं और देश के अंदर निजीकरण का दौर जारी है. निजीकरण पर रोक लगाया जाए रोजगार की क्रांति की जाए अन्यथा आने वाले दिनों में पूरे देश के नौजवान नीतीश व मोदी सरकार के खिलाफ रोजगार के सवाल पर जबरदस्त आंदोलन करेंगे.

थाली पीटकर विरोध के सवाल पर बंटी नेता ने कहा कि जब सरकार थाली बजाकर कोरोना भगा सकती है तो हम बेरोजगारी के लिए आवाज उठाने में इसका उपयोग क्यों नही कर सकते. मोदी सकरार को उसकी भाषा मे ही ये जवाब है. आज का यह थाली पीटने का कार्यक्रम सांकेतिक था लेकिन यह कार्यक्रम रोजगार के सवाल पर बड़े रूप में खड़ा किया जाएगा.

कार्यक्रम में शामिल प्रमुख लोगों में राजू यादव दिलराज परीक्षण अधिवक्ता अमित कुमार गुप्ता बंटी निशांत कश्यप, सुरेंद्र राम, अशोक राम, त्रिलोकी राम, मुकेश रजक, गोलू कुमार, विक्रांत ,विवेक कुमार, गौतम कुमार, संजय कुमार, सनी, सुमित कुमार, बिट्टू कुमार, उत्तम कुमार, आदित्य कुमार, संजय कुमार केसरी, रोहित, जितेंद्र पासवान, विकास कुमार मोहम्मद वसीम, सूरज सहित कई नौजवान शामिल थे.

दिलराज प्रीतम

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट