ऐश्वर्या राय बच्चन और फरहान अख्तर ने बांधा समां

मुंबई (ब्यूरो रिपोर्ट) | महिलाओं को सक्षम, सशक्त और रूपांतरित करने के संकल्प को समर्पित एक म्यू्जिक इवनिंग में बॉलीवुड सितारों ने चार चांद लगा दी. मौका था मुंबई के बांद्रा फोर्ट एम्फीथिएटर में बहुप्रतीक्षित ललकार कॉन्सर्ट का, जिसमें सिंगर-एक्टर-प्रोड्यूसर फरहान अख्तर के साथ शान, शंकर-एहसान-लॉय, आईडीवा गर्ल्स कुशा कपिला, डॉली सिंह, मेज़बान शिबानी दांडेकर और गौरव कपूर एक भव्यन म्यूशजिकल परफॉर्मेंस दी. इस दौरान ऐश्वर्या राय बच्चन ने जावेद अख्तर द्वारा लिखी गई कविता मर्द का पाठ किया, जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया. यह कविता बुराई को मिटाते हुए एक आदमी होने का सही अर्थ याद दिलाता है.

पॉपुलर फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया, फरहान अख्तर की मर्द और जाने माने फ़िल्म निर्माता फ़िरोज़ अब्बास ख़ान के बीच एक अनोखे सहयोग से बहुप्रतीक्षित ललकार कॉन्सर्ट को लेकर खुद फरहान ने कहा कि हमें लैंगिक समानता के बारे में युवा पीढ़ियों को शिक्षित करने की आवश्यकता है. तभी हम उनसे अपेक्षित बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं. ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ सफलतापूर्वक एक प्रभावी उपकरण के रूप में इस बदलाव को शुरू करने में कामयाब रहा है. दर्शकों द्वारा दिखाए गए उत्साह से यह साबित होता है कि अब अधिक से अधिक लोग लिंग भेद के खिलाफ कदम बढ़ाने के लिए तैयार हैं.




पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की कार्यकारी निदेशक पूनम मुत्तरेजा के अनुसार ने कहा कि ललकार हर उस आवाज को एकजुट करने का प्रयास है, जो महिलाओं को सक्षम, सशक्त और रूपान्तरित करना चाहती है. महिलाओं को यह बताना जरूरी है कि वह कुछ भी कर सकती है. शो के निर्माता फिरोज अब्बास खान ने कहा कि ललकार लोगों से ऐसे पुराने मिथकों को चुनौती देने का आग्रह करता हैं, जो लैंगिक भेदभाव को बढ़ावा देते हैं. व्यक्ति के साथ ही बदलाव की शुरुआत होती है. संगीत एक एकीकृत तत्व है जो विभिन्न पृष्ठभूमि के लोगों को जोड़ने में मदद करता है.

आपको बता दें कि ललकार म्यूतजिक कंसर्ट के जरिये पीएफआई के लोकप्रिय एडुटेनमेंट शो ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ के संदेश को भी आगे बढ़ाया गया. इस शो की राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन पर अपने बहुप्रतीक्षित तीसरे सीजन के साथ वापसी हो चुकी है. अभिनेता फरहान अख्तर दूसरे सीज़न से इस शो से जुड़े हुए हैं. ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ एक युवा डॉक्टर स्नेहा माथुर की प्रेरक यात्रा के इर्द-गिर्द घूमती है, जो मुंबई में अपने आकर्षक कैरियर को छोड़ कर अपने गांव में काम करने का फैसला करती है.
पॉपुलेशन फाउंडॆशन ऑफ इंडिया, मैं कुछ भी कर सकती हूं के तीसरे सीज़न का निर्माण करने के लिए आरईसी फाउंडेशन और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन द्वारा समर्थित है. वर्तमान में इसे दूरदर्शन पर प्रसारित किया जा रहा है और यूट्यूब पर स्ट्रीम किया जा रहा है.