ऐश्वर्या राय बच्चन और फरहान अख्तर ने बांधा समां

मुंबई (ब्यूरो रिपोर्ट) | महिलाओं को सक्षम, सशक्त और रूपांतरित करने के संकल्प को समर्पित एक म्यू्जिक इवनिंग में बॉलीवुड सितारों ने चार चांद लगा दी. मौका था मुंबई के बांद्रा फोर्ट एम्फीथिएटर में बहुप्रतीक्षित ललकार कॉन्सर्ट का, जिसमें सिंगर-एक्टर-प्रोड्यूसर फरहान अख्तर के साथ शान, शंकर-एहसान-लॉय, आईडीवा गर्ल्स कुशा कपिला, डॉली सिंह, मेज़बान शिबानी दांडेकर और गौरव कपूर एक भव्यन म्यूशजिकल परफॉर्मेंस दी. इस दौरान ऐश्वर्या राय बच्चन ने जावेद अख्तर द्वारा लिखी गई कविता मर्द का पाठ किया, जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया. यह कविता बुराई को मिटाते हुए एक आदमी होने का सही अर्थ याद दिलाता है. पॉपुलर फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया, फरहान अख्तर की मर्द और जाने माने फ़िल्म निर्माता फ़िरोज़ अब्बास ख़ान के बीच एक अनोखे सहयोग से बहुप्रतीक्षित ललकार कॉन्सर्ट को लेकर खुद फरहान ने कहा कि हमें लैंगिक समानता के बारे में युवा पीढ़ियों को शिक्षित करने की आवश्यकता है. तभी हम उनसे अपेक्षित बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं. ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ सफलतापूर्वक एक प्रभावी उपकरण के रूप में इस बदलाव को शुरू करने में कामयाब रहा है. दर्शकों द्वारा दिखाए गए उत्साह से यह साबित होता है कि अब अधिक से अधिक लोग लिंग भेद के खिलाफ कदम बढ़ाने के लिए तैयार हैं. पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की कार्यकारी निदेशक पूनम मुत्तरेजा के अनुसार ने कहा कि ललकार हर उस आवाज को एकजुट करने का प्रयास है, जो महिलाओं को सक्षम, सशक्त और रूपान्तरित करना चाहती है. महिलाओं को यह बताना जरूरी है कि वह कुछ भी कर सकती

Read more