अभिनेता को खुद पर नियंत्रण रखना होगा – नागेंद्र पांडेय

20 दिवसीय नाट्यकार्यशाला के पांचवें दिन संगीत और नृत्य के क्लास में झूमें प्रतिभागी

प्रशिक्षण प्राप्त करने के दौरान कलाकार

आरा। रेडक्रॉस के बगल में स्थित मंगलम द वेन्यू में चल रहे अभिनव एवं एक्ट की ओर से आयोजित स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित 20 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के पांचवे दिन प्रतिभागियों ने संगीत के बारे में जाना। इस दौरान प्रशिक्षक नागेंद्र पांडेय ने बच्चों को म्यूजिक के गुर सिखाये।उन्होंने शास्त्रीय संगीत, लोक संगीत के बारे में बताया। वहीं फ़िल्म अभिनेता अजय साह ने एक्टिंग के साथ साथ एक्टर के चलने के सही तरीके को बताया। प्रतिभागियों ने इस कार्यशाला के बारे में बताते हुए कहा कि ये पहला अवसर है जब हम बच्चों की कुछ नया सीखने को मिल रहा है।




छात्रा खुशी गुप्ता ने बताया कि मुझे क्लास करके बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैं पहले से संगीत की क्लास करती थी। लेकिन यहां मुझे कुछ नया सीखने को मिल रहा है। संगीत के साथ-साथ मुझे एक्टिंग के नए नए गुर सीखने के लिए मिल रहे हैं, मुझे यहां आकर अच्छा लग रहा है।

कार्यशाला में संगीत सीख रहे बच्चे

वहीं प्रशिक्षण ले रहे छात्र शुभम दुबे ने बताया कि वो लगातार पांच दिनों से वर्कशॉप का हिस्सा हैं। पांच दिनों में अभिनय की बारीकियों से समझा है। इसके साथ ही म्यूजिक के बारे में भी जानने की कोशिश की। वर्कशॉप में मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। सबसे खास चंद्रभूषण पांडेय का क्लास लगा। क्योंकि उन्होंने सबसे पहले बताया कि एक अभिनेता के लिए रोड ही उसके लिए विवि होती है। वो जो कुछ भी सीखता है, यहां से ही सीखता है और मुझे वर्कशॉप में आकर बहुत अच्छा लग रहा है। उन्होंने कहा कि दो सालों से लॉकडाउन के बाद आरा शहर में एक ऊर्जावान कार्यक्रम के तहत इसकी शुरुआत हुई है। ऐसे ही माहौल हमेशा बना रहे।

फ़िल्म अभिनेता अजय शाह बच्चों को मूवमेंट सिखाते हुए

छात्र उज्ज्वल कुमारेश ने बताया कि म्यूजिक के बारे में मुझे बेसिक गुर सीखने को मिला है। लेकिन मैं यहां अभिनय को सीखने आया था। परंतु यहां आने के बाद मुझे बहुत कुछ सीखने को मिल रहे है। एक्टिंग के बारे में भी मुझे बारीकियों से सिखाया गया है। इन पांच दिनों में मैंने बहुत कुछ सीखा है। वहीं छोटे बच्चों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है। क्योंकि वो लोग जड़ से मजबूत होंगे। मैं चाहता हूं और भी लोग यहां वर्कशॉप में सीखने आये। इस अवसर पर पर रवींद्र भारती, कृष्णनेन्दू ,मनोज श्रीवास्तव समेत कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

सत्य प्रकाश की रिपोर्ट